Breaking News

निजी बैंकों के आदेश डाकघर के अस्तित्व पर कुठाराघात : डाकघर कर्मचारी यूनियनों ने नारेबाजी कर किया प्रदर्शन

मन्दसौर। भारत सरकार वित्त मंत्रालय द्वारा 10 अक्टोबर 2017 को एक नोटिफिकेशन जारी कर डाकघर के बचत बैंक सेवाओं को निजी बैंकों व अन्य सभी सरकारी बैंकों को करने का आदेश जारी करने के विरोध में डाकघर कर्मचारी यूनियनों के केंद्रीय मुख्यालय दिल्ली के निर्देश पर भोजन अवकाश के समय सम्पूर्ण देश में सभी कर्मचारियों ने भारी विरोध प्रदर्शन कर जोरदार नारेबाजी की। इसी कड़ी में मंदसौर में सभी कर्मचारियों द्वारा मुख्य डाकघर के सामने प्रदर्शन व नारेबाजी की।

करीब 150 से अधिक वर्षाे से डाकघर द्वारा बचत योजनाओं की आम जनता को सेवाएं प्रदान कर लाभ पंहुचा रही है व जनता का पूरा भरोसा डाकघर की बचत योजनाओं पर है ऐसे में अचानक इन सेवाओं को निजी बैंकों में देने का आदेश डाकघर के अस्तित्व पर कुठाराघात है जिसका सभी कर्मचारी व संघ विरोध करते है।

प्रदर्शन में कर्मचारी संघ से अजीत जैन, अभय भटेवरा, बी. एल. भट्ट, एम.एस. राजावत, एस. सी. कटलाना, राजेन्द्र भावसार, अभिषेक सोनी, अभिषेक रत्नावत आदि ने भारी संख्या में भाग लिया व भविष्य में इस विषय में मुख्यालय के निर्देशों पर तीव्र आंदोलन का भी आव्हान किया गया है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts