Breaking News

न्याय के लिये दर दर की ठोकरे खा रहा है दलित

Hello MDS Android App

अनुसूचित जाति का एक व्यक्ति न्याय के लिये दर दर की ठोकरे खा रहा है। लेकिन उसे न्याय नही मिल पा रहा है न तो पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही की जा रही न प्रशासन द्वारा। गा्रम नाहरगढ तह सीतामउ के पंकज पंवार की गांव के दंबगो द्वारा झोपडी तोड दी गई व जाति सूचक शब्द बोलते हुए उसके साथ गाली गलौच व जान से मारने की धमकी दी। जिसकी शिकायत पंकज द्वारा अजाक थाने, नाहरगढ थाना, कलेक्टर जनसुनवाई, सीएम हेल्प लाईन, पीएमओ तक को दर्ज कराई लेकिन कोई कार्यवाही नही हुई। श्री पंवार ने बताया कि गांव के ब्रजराजसिंह पिता मांगुसिंह, महेश माली पिता रामचंद्र, रामचरणसिंह पिता भगवतसिंह, महेशचंद्र पिता जग्गनाथ, शिवनारायण पिता गोवर्धनलाल, युवराजसिंह पिता विनोद, गोपालसिंह, युसुफ, मनोहर पिता बद्रीलाल, सुरेश पिता कचरमल, कारू माली सहित इनके साथियो द्वारा मेरी नीजि जमीन को हतियाने के लिये मुझे जबरन परेशान किया जा रहा है। आए दिन मेरे साथ मारपीट कर जाति सूचक शब्द बोले जाते है तथा जान से मारने की धमकी दी जाती है। इनके द्वारा 2 अगस्त को लगभग 4.30 बजे मेरे घर आए और मेरे साथ व मेरे पिताजी के साथ मारपीट करते हुए बोले तु यहा से चल जा नही तो हम सब मिल कर तुझे जान से मार देगे। ये लोग मेरे घर से कई सामान भी उठाकर ले गये जिसकी भी शिकायत मेरे द्वारा की गई। इनकी दंबगताई के चलते पुलिस द्वारा इन पर कोई कार्यवाही नही की जा रही है उल्टा मुझ दलित को जबरन परेशान किया जा रहा है वह इनके द्वारा पुलिस से सांठगांठ कर मुझे जबरन झुठे केस में फसाने की धमकी दी जा रही है। जबकि मेरे पास मेरी जमीन की रजिस्ट्री सब मौजूद थे लेकिन ये साठ गाठ कर मेरी जमीन हडपने के लिये मुझे जान से मारना चाहते है। इनको पुलिस का संरक्षण प्राप्त है जिसकी शासन द्वारा दलितो व पिछडो के लिये कई योजनाए संचालित कर रखी है लेकिन इसके विपरित आज एक दलित न्याय के लिये दर दर की ठोकरे खा रहा है उसकी कोई सुनने वाला नही है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *