Breaking News

पं. रामनारायण शर्मा के नाम से प्रतिमा, चौराहा या मार्ग का नामकरण करने की मांग

मन्दसौर। नगरपालिका मंदसौर के अध्यक्ष एवं जिला प्रशासन व जनप्रतिनिधियों से राजेन्द्र काबरा ने मांग की है कि मंदसौर नगर में जिस तरह से कई मार्गों का नामकरण पूर्व में है व कई स्थानों पर पूर्व प्रतिष्ठित व्यक्तियों के नाम पर किये गये थे। उससे किसी को भी कोई आपत्ति नहीं है। पं. श्री रामनारायण शर्मा के नाम से भी नगर में प्रतिमा स्थापना या मार्ग का नामकरण या किसी भी नवनिर्मित भवन या बगीचे का नाम उनके नाम से होना चाहिये। मंदसौर के हजारों नागरिक यह जानते है कि शहर के अनन्त चतुदर्शी के पर्व, बस स्टेण्ड के बाजारी, श्री पशुपतिनाथ मंदिर परिसर स्थित बालाजी, गणपति चौक के मंदिर का नव निर्माण के अलावा कई धार्मिक आयोजनों में अग्रणी रहने वाले श्री शर्मा हिन्दूत्व धर्म की रक्षा करने वाले व्यक्ति थे। इसके अलावा हर समाज के सभी सामाजिक कार्यक्रमों में मुख्य अतिथि हुआ करते थे तथा उन कार्यक्रम आयोजकों की होंसला आफजाई किया करते थे। जब उनका स्वर्गवास हुआ था तब उनकी शवयात्रा में हजारों की संख्या में मंदसौरवासी स्वेच्छा से अपना व्यापार, व्यवसाय बंद करके उनकी अंतिम यात्रा में शामिल होकर अश्रुपुरित नयनों से उन्हें श्रद्धांजली दी थी। इतनी अधिक संख्या में शहरवासी सम्मिलित हुए थे जो आज तक किसी भी राजनेता या किसी अन्य महत्वपूर्ण व्यक्ति के देहावसान के अवसर पर नहीं हुए। इससे यह साफ लगता है कि श्री पं. रामनारायण शर्मा को शहर की जनता कितना चाहती थी। उनकी याद को स्थायी रूप से बनाए रखने के लिये उनके नाम से किसी चौराहे पर उनकी प्रतिमा लगाई जावे या किसी मार्ग या चौराहे का नामकरण उनके नाम से किया जावे।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts