Breaking News

पराजय के कारणों को ढूंढने के लिए पूर्व सांसद ने बंद कमरे में की चर्चा

मंदसौर। पूर्व सांसद एवं कांग्र्रेस की कद्दावर नेता मीनाक्षी नटराजन ने शुक्रवार को जिला कांग्रेस कार्यालय पर कांग्रेस नेताओं व संगठन पदाधिकारियो व आम कांग्रेसजनो से चर्चा की। सुश्री नटराजन ने प्रत्येक कार्यकर्ता की मन की बात जानने एवं संगठन मजबूती के लक्ष्य को लेकर के कांग्रेसजनो से व्यक्तिगत रूप से चर्चा की। कांग्रेसजनो के साथ वन टू वन चर्चा करने के साथ ही उन्होने कांग्रेसजनो को एकता व अनुशासन के साथ संगठन मजबूती हेतु बल दिया।

इससे पूर्व सुश्री नटराजन ने मिडीया से चर्चा करते हुये कहा कि प्रदेश में नवीन कांग्रेस सरकार पहले दिन से ही प्रदेशवासियो के भरोसे पर खरा उतर रही है। सरकार के शुरू के छः माह औपचारिक माने जाते थे लेकिन इस सरकार ने पहले दिन किसानो का कर्जा माफ करने का ऐलान किया, फिर बालिकाओं के लिये 51 हजार राशि देने का ऐलान आदी अनेक जनकल्याण के फैसले लिये है। उन्होनें मीसाबंदी पेंशन के मामले में भी मिडीया द्वारा पुछे गये सवालो का जवाब दिया।

भरोसेमंद सूत्रों के अनुसार कांग्रेस की कद्दाव नेता ने जिले भर से आए कांग्रेस के कार्यकर्ताओं से कांग्रेस से जिले में कांग्रेस की तीन विधानसभा क्षेत्रों में कांग्रेस की हुई पराजय के कारणों को भी ढूंढने का प्रयास किया गया। बताया जाता हैं कि सभी ने अपने अपने हिसाब से श्री नटराजन के सामने हार के कारणों को रखा। इसी दौरान कांग्रेस के दो नेताओं के समर्थक आपस में गुथमगुथा हो गए स्थिति हाथापाई तक पहुंच गई थी। अन्य कांग्रेस जनों द्वारा बीच बचाव करने पर मामला शांत हुआ। हालांकि इस घटना को लेकर भिन्न भिन्न चर्चाएं चौक चौराहें पर हो रही है।

इस अवसर पर बडी संख्या में उपस्थित प्रदेश कांग्रेस, जिला कांग्रेस, शहर ब्लॉक कांग्रेस, विभिन्न प्रकोष्ठो एवं विभागो के अध्यक्षगण एवं आम कांग्रेस कार्यकर्तागण उपस्थित थे।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts