Breaking News

पशुपतिनाथजी की प्रतिमा के उद्गम स्थल की हो रही उपेक्षा

मन्दसौर निप्र। सामाजिक कार्यकर्ता सुनिल बंसल ने एक वक्तव्य में कहा कि भगवान श्री पशुपतिनाथ मंदिर की ख्याति पूरे देश व विश्व में बढ़ रही है, मंदसौर की पहचान पशुपतिनाथ मंदिर के कारण स्थापित हुई है। मंदिर का विकास, विस्तार भी खूब हो रहा है, मंदिर में धार्मिक गतिविधियां भी बढ़ रही है लेकिन एक मुख्य बिन्दू पर किसी का ध्यान नहीं जा रहा है वह यह कि भगवान पशुपतिनाथ की यह विराट प्रतिमा शिवना नदी के जिस स्थल पर प्रगट हुई थी उस स्थल के बारे में बहुत कम लोगों को जानकारी है। शिवना का यह स्थान भगवान की प्राकट्य स्थली है, इसकी लगातार उपेक्षा हो रही है जो दुखद व चिन्तनीय है।
श्री बंसल ने आगे कहा कि शिवना मैय्या तो पूरी तरह प्रदूषित हो रही है विशेष कर वह प्राकट्य स्थल तो बहुत ही उपेक्षा की गर्त में है वहां कोई ऐसा चिन्ह नहीं है कि किसी को मालूम हो सके कि इस स्थान से पशुपतिनाथ की प्रतिमा प्रकट हुई है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts