Breaking News

पशुपतिनाथ जी को वास्‍तु दोष नहीं लगता – स्वामी श्री शैलेषानंदजी महाराज

मंगल को उज्जैन के सुप्रसिद्ध स्वामी श्री शैलेषानंदजी  महाराज (ध्यानजी) मंदसौर पधारे। उनका भव्य स्वागत श्री पशुपतिनाथ महादेव मंदिर पर आगमन हुआ। संत श्री ने भगवान श्री पशुपतिनाथ महादेव की अष्टमुखी प्रतिमा का पूरे वैदिक मंत्रोचार के साथ पूजन व अभिषेक किया। इस अवसर पर मंदसौर नगर के गणमान्य नगारिकों के द्वारा उनका मंदसौर आगमन पर भव्य स्वागत किया। स्वामी श्री शैलेषानंदजी महाराज ने कि पशुपतिनाथ की पूजा अर्चना….
स्वामी श्री शैलेषानंदजी महाराज ने इलेक्ट्राहनिक मिडिया से चर्चा करते हुए कहा कि वे नीमच में दशहरा मैदान में आयोजित 101 कुण्डीय यज्ञ में शामिला होने के लिये उज्जैन से आये है। कोई भी यज्ञ भोले बाबा की कृपा के बगैर पूर्ण नही हो सकता है। इसी कारण मै पशुपतिनाथ के दर्शन के लिये यहां पहुॅचा हूॅ। आपने कहा मानव जीवन में अधिकारो के साथ कर्तव्यो का भी भाव होना जरूरी है। इसलिये मै जहां भी जाता हॅू वहां मानव मात्र को अधिकारो के साथ कर्तव्यो के प्रति सचेत रहने का संदेश देता हूॅ।
इससे पूर्व स्वामी श्री शैलेषानंदजी महाराज का पपू श्री दशरथभाई की उपस्थिति में भगवान पशुपतिनाथ महादेव मंदिर चैराहा शांत अद्वेत आश्रम उज्जैन के सदस्यगण अनुप जोशी, सुरेन्द्र कुमावत, रवि आचार्य, वासुदेव रावल, हेमन्त शर्मा द्वारा भव्य स्वागत किया गया। सर्वश्री महेन्द्रसिंह गुर्जर,राजेशसिंह रघुवंशी, रविन्द्रसिंह रांका, तरूण खिंची, अजय लोढा, डाॅ प्रीतिपालसिंह राणा, आशुतोष नवाल, संजय भाटी, मनजीतसिंह मनी, देवेन्द्र योगी, राजेश सोलंकी, डीएस तोमर ने श्री शैलेषानंदजी महाजराज का पुष्पहार पहनाकर स्वागत किया तथा संत श्री का आशीर्वाद प्राप्त किया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts