Breaking News

पशुपतिनाथ मंदिर में छप्पन भोग महोत्सव की तर्ज पर हुआ अन्नकूट का आयोजन

भोले शंभू भोलेनाथ के जयद्योष से गूंज उठा पुरा परिसर, रामायण पाठ- महाआरती भी हुई

मंदसौर। जग प्रसिद्ध भूत भगवान श्री पशुपतिनाथ महादेव मंदिर परिसर रविवार को हर हर महादेव, भोलेशंभु- भोलेनाथ, ओम नमशिवाय, जय भोले की गुंज से गुजायमन हो उठा। अवसर था प्रातकाल आरती मण्डल द्वारा बाबा पशुपतिनाथ महादेव को अन्नकुट का भोग लगाने का। यहां सबसे पहले रामायण का पाठ और फिर भगवान को नाना प्रकार की मिठाईयों का भोग लगाया गया। छप्पन भोग महोत्सव की तर्ज पर अन्नकुट के नैवेद्य भोग लगाया गया।

भगवान श्री पशुपतिनाथ महादेव प्रातःकाल आरती मण्डल के संरक्षक पं दिलीप शर्मा, अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार, प्रवक्ता व पत्रकार उमेश परमार, जगदीश पुरूरवानी ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि दिपावली पर्व  पश्चात वर्षो से भगवान को अन्नकुट का भोग लगाया जाता है। इसी कडी में आज यह अनुष्ठान आयोजन हुआ। भगवान को नाना प्रकार के मिष्ठानों में ईमराती, नुक्ती के लडडु, कचोरी, गुंजीया, काजू के सोहन पपडी, काला जामुन, बालुशाही, मखनबडा, काजूरोल, मठडी, घेवर, दूधपाक, मैसूरपाक के साथ ही हलवा, खीर, सब्जी-पुडी का भोग थाल में सजाकर मंदिर में आर्कषक फुलों से श्रंृगार कर भोग लगाया गया साथ ही फलो का भी भोग लगाया गया। कोई 15-20 तरह की मिठाई इस आयोजन को लेकर बनाई गई थी। सुबह मंदिर परिसर स्थित रामजानकी मंदिर में रामायण का  पाठ भी हुआ, कोई एक घंटे तक रामायण की चौपाईयां मंदिर परिसर में गंुजायमान होती रही । उसके बाद इन चौपाईयां का हिंदी अनुवाद किया गया। राम जानकी मंदिर में पहले थाल सजाए गए उसके बाद प्रातः 11बजे पशुपतिनाथ का नयनाभिराम श्रंृगार कर अन्नकुट का नैवेद्य लगाया गया। दोपहर 11.30 बजे महाआरती हुई। इस आयोजन को लेकर गत दो दिवस से व्यापक रूप से तैयारियां जारी थी। इस अवसर पर प्रातकाल आरती मण्डल के सदस्य प्रहलाद बंधवार,  राजेंद्र हेडा, लोकेंद्र भटनागर, धर्मेन्द्र शर्मा, दिलीप पालीवाल, मारसाहब, हरिसिंह, योगेश जोशी, नारायण मामा पालीवाल, रमेश पालीवाल, राम राठौर सुरज बैरागी सहित धर्मालुजनों उपस्थित थे।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts