Breaking News

पशुपतिनाथ मंदिर में होगा महाशिवरात्री पर्व पर अभूतपूर्व आयोजन

महारूद्राभिषेक चारों पहर की चार विशेष आरती

मंदसौर। जगपसिद्ध भूत भावन भगवान श्री पशुपतिनाथ महादेव मंदिर पर शुक्रवार 21 फरवरी को महाशिवरात्री पर्व के उपलक्ष्य में अभूतपूर्व आयोजन किये जावेंगे। प्रातःकाल आरती मण्डल के तत्वाधान में प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी महारूद्राभिषेक आयोजित होगा, इस दिन सुबह 4 बजे गर्भगृह के पट खुलेंगें तथा प्रातः 6 बजे विशेष पूजन अभिषेक किया जावेगा। रात्रि में 4 पहर के 4 महारूद्राभिषेक, 4 आरती होगी।

भगवान श्री पशुपतिनाथ प्रातः काल आरती मण्डल के अध्यक्ष पं.दिलीप शर्मा, प्रवक्ता उमेश परमार ने यह जानकारी देते हुए बताया कि, इस वर्ष महाशिवरात्री पर्व पर भगवान श्री पशुपतिनाथ महादेव की अष्टमुखी प्रतिमा का पहला अभिषेक मण्डल की ओर से प्रातः 06 बजे किया जाएगा शिवरात्रि पर्व पर भूतभावन भगवान की रात्रिकालीन पूजा-अर्चना का विशेष महत्व होता हैं, उन्होने बताया कि, इसी क्रम में आरती मण्डल की ओर से रात के चारो पहर में चार अभिषेक तथा चार विशेष आरती के आयोजन होगें रातभर मंदिर में भजन-कीर्तन चलेगें शिवरात्रि पर ग्रामीण क्षेत्रों से कई भजन मण्डलियां यहां आती हैं इसके अलावा नगर के कई शिवभक्त रात्रिकालीन पूजा-अर्चना में शामिल होते हैं, रातभर शिवभक्ति का अनूठा संगम यहा दिखाई देता है। उन्होंने बताया कि, प्रातःकाल आरती मण्डल युवा टीम द्वारा भक्तजनों को सुबह से ही साबुदाने एवं मिष्ठानों से युक्त खीर 11 क्विंटल का भोग लगाकर वहीं पर वितरित किया जावेगा।

रात भर होगा विशेष श्रृंगार

भगवान आशुतोष की रात्रिकालीन आराधना के संदर्भ में प्रतिमाह का विशेष श्रृंगार किया जावेगा, चारों अभिषेक व आरती के समय प्रतिमा का श्रृंगार बदला जावेगा, हर बार आकर्षक नैयनाभीराम श्रृंगार किया जावेगा व 4 आरती भी की जावेगी और धर्मालुजनों को प्रसाद वितरित किया जावेगा। उन्होंने धर्मालुजनो से अधिक-से-अधिक संख्या में मंदिर पहुंचकर प्रातः व रात्रि में विशेष धर्मलाभ लेने की अपील की है।

अखण्ड रामायण पाठ का आयोजन शुरू

सर्किट हाउस के समीप पशुपतिनाथ मंदिर द्वार के यहां स्थित भटनागर कृषि फार्म हाउस पर स्थित अति प्राचीन नर्बदेश्वर महोदव मंदिर पर पंपरानुसार तीन दिवस की अखण्ड रामायण पाठ का आयोजन विधि विधान से गुरूवार को शुरू होगा, यहां अखण्ड रामायण का पाठ तीन दिवस तक चलेगा व महाशिवरात्री पर्व पर विशेष संपुट के साथ चौपाईयों का अनुवादन भजन मंडलियों द्वारा किया जावेगा। राम जी लोकेन्द्र भटनागर ने बताया कि, नर्बदेश्वर महादेव मंदिर पर विगत 37 वर्षो से महाशिवरात्री के उपलक्ष्ण में अनवरत्त रूप से पाठ होता चला आ रहा है यहां इस वर्ष भी पाठ शुरू हो गया हैं, 23 फरवरी के दिन पूर्णावर्ति होगी और इसी दिन महाप्रसादी का आयोजन किया जावेगा, उन्होंने धर्मलाभ लेने का आहृ्वान किया।

84वें शिव जयंती महोत्सव पर शोभायात्रा निकाली जावेगी

सीतामऊ प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय द्वारा आने वाली महाशिवरात्रि पर्व के उपलक्ष में 18 फरवरी मंगलवार 2020 को भगवान शिव की शोभायात्रा एवं कलश यात्रा दोपहर 2.00 बजे से निकाली जावेगी यह शोभायात्रा ब्रह्माकुमारी स्थित खेड़ा रोड से बस स्टैंड होते हुए नगर के मुख्य मार्ग से होते हुए पुनः ब्रह्माकुमारीज खेड़ा रोड प्रभु उपहार भवन के के प्रांगण में पहुंचेगी जहां पर शाम 5.00 बजे सदभावना समारोह मनाया जावेगा।

चार दिवसीय शिव जयंती महोत्सव मनाया जावेगा 12 ज्योतिर्लिंग की झांकी स्वर्णिम दुनिया की झांकी एवं राजयोग अनुभूति शांति कुटिया बनाई गई है जो 18 फरवरी से 21 फरवरी तक शाम 7ः00 से रात्रि 10रु00 बजे तक रहेगी जिस का दर्शन लाभ लेने के लिए एवं राजयोग अनुभूति करने के लिए अधिक से अधिक संख्या में पधार कर कार्यक्रम का लाभ लेवे।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts