Breaking News

पांडव मार्केट की तीसरी मंजिल रहेगी की टूटेगी!

बगैर अनुमति निर्माण पर समझौता शुल्क के 56 लाख 8 हजार 274 रुपए की वसूली के लिए नपा एक साल से लगातार प्रयास कर रही थी। सफलता नहीं मिलने पर ने 26 अप्रैल 2016 को बड़ी कार्रवाई की। पांडव मार्केट पहुंचकर तीसरी मंजिल पर निर्माणाधीन 26 दुकानों को अवैध घोषित कर उन्हें सील कर दिया था। दुकानों काे सील करने के बाद राशि वसूल के लिए चेतावनी-पत्र भेजे गए। अब सख्ती दिखाते हुए हथौड़ा चलाने का निर्णय किया है। इसके लिए अतिक्रमण तोडू दस्ते को तैयार करने के लिए कहा गया है।

एक साल पहले दी गई थी अंतिम चेतावनी- समझौता शुल्क वसूली के लिए एक साल से हो रहे हैं। नपा ने 16 फरवरी 2016 को अंतिम चेतावनी-पत्र जारी किया था। इसके पूर्व नपा ने 1 जनवरी 2016 और 8 जनवरी 2016 को नोटिस भेजे थे लेकिन राशि जमा नहीं हुई थी। इस पर नपा ने अप्रैल में दुकानों का सील कर दिया था।

अवैध घोषित कर चुके हैं
पांडव मार्केट के बगैर अनुमति निर्माण को नपा अवैध घोषित कर चुकी है। नियमों के मुताबिक इस निर्माण के लिए नपा ने 56 लाख का समझौता शुल्क तय किया है। इसके बाद ही नपा इस प्रकरण पर सुनवाई करेगी। लंबे समय से राशि वसूली नहीं होने पर अब नपा अवैध निर्माण को हटाने की कार्रवाई करेगी। हिमांशु भट्ट, नपा सीएमओ

रिकाॅर्ड हमारे पास है
हमने नपा कार्यालय में निर्माण अनुमति के आवेदन दिए थे। इसका रिकाॅर्ड हमारे पास है। इसके बाद भी नपा ने हम पर 56 लाख का समझौता शुल्क आरोपित कर दिया। हमने इस शुल्क को लेकर न्यायालय में वाद लगा रखा है। इसके बाद भी नपा निर्माण तोड़ने के नोटिस दे रही है। हमारे प्रकरण की फाइल भी नपा में नहीं मिल रही है। नारायण मनवानी, पांडव मार्केट निर्माणकर्ता

अवैध घोषित कर चुके हैं
पांडव मार्केट के बगैर अनुमति निर्माण को नपा अवैध घोषित कर चुकी है। नियमों के मुताबिक इस निर्माण के लिए नपा ने 56 लाख का समझौता शुल्क तय किया है। इसके बाद ही नपा इस प्रकरण पर सुनवाई करेगी। लंबे समय से राशि वसूली नहीं होने पर अब नपा अवैध निर्माण को हटाने की कार्रवाई करेगी। हिमांशु भट्ट, नपा सीएमओ

रिकाॅर्ड हमारे पास है
हमने नपा कार्यालय में निर्माण अनुमति के आवेदन दिए थे। इसका रिकाॅर्ड हमारे पास है। इसके बाद भी नपा ने हम पर 56 लाख का समझौता शुल्क आरोपित कर दिया। हमने इस शुल्क को लेकर न्यायालय में वाद लगा रखा है। इसके बाद भी नपा निर्माण तोड़ने के नोटिस दे रही है। हमारे प्रकरण की फाइल भी नपा में नहीं मिल रही है। नारायण मनवानी, पांडव मार्केट निर्माणकर्ता

नवंबर में हुई थी नपती
बगैर अनुमति हुए निर्माण के मामले में नपा ने नवंबर में ही सख्त कार्रवाई के संकेत दिए थे। टीम ने 24 नवंबर को तीसरी मंजिल की दुकानों की नपती कराई। इसके बाद निर्माण तोड़ने के लिए टेंडर जारी कर किए। प्रक्रिया पूरी करने के बाद नपा ने 10 जनवरी की पीआईसी बैठक में टेंडरों को स्वीकृति दे दी। साथ ही अनुबंध प्रक्रिया पूरी कर ली।

16 दुकानदारों को भी नपा ने नोटिस दिए
नपा रिकाॅर्ड के मुताबिक पांडव मार्केट का निर्माण 2008 में हुआ। इसकी तीसरी मंजिल का निर्माण बगैर अनुमति हुआ है। दूसरी मंजिल के निर्माण में भी अनुमति और अन्य प्रक्रिया का पालन नहीं हुआ है। दूसरी मंजिल पर भी दुकानें बनाकर उन्हें बेच दिया। इन 16 दुकानदारों को भी नपा ने नोटिस दिए हैं। तीसरी मंजिल की दुकानों पर मार्केट निर्माता नारायणदास मनवानी का कब्जा है। इसलिए नपा इसी हिस्से को सील कर कार्रवाई कर रही है।

पांडव मार्केट जिसकी तीसरी मंजिल तोड़ने की कार्रवाई नपा करेगी।

निर्माण तोड़ने व मलबा हटाने का काम 15 दिन में होगा
नपा सहायक यंत्री सुधीर जैन ने बताया कि पांडव मार्केट की तीसरी मंजिल पर बनी 25 दुकानों को तोड़ने का काम सबसे पहले होगा। निर्माण तोड़ने और मलबा हटाने का काम 15 दिन में पूरा हो जाएगा।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts