Breaking News

पुलिस को कह देना शाहरुख का फोन था

1 दिसंबर को 1 करोड़ रुपए फिरौती को लेकर कालाखेत स्थित डायमंड शोरूम पर बदमाशों ने फायरिंग की थी। एक माह से अधिक समय तक रिकाॅर्डिंग पास में रखने के बाद भी पुलिस फरार आरोपी की गिरफ्तारी नहीं कर सकी। 10 जनवरी को बदमाशों ने फिर व्यापारी अजय पर नीमच में हमला कर दिया। आरोपियों के हौसले कितने बुलंद हैं, इसका अंदाजा खुद फरार आरोपी शाहरुख द्वारा मंदसौर डायमंड ज्वैलर्स संचालक सुनील से की गई बात से होता है। ऑडियो में सुनील व शाहरुख के बीच करीब 11 मिनट 20 सेकंड बात हुई। इसमें उसने खुद यह बात स्वीकार कि पुलिस उसका कुछ नहीं बिगाड़ सकती, वह पुलिस से सेटिंग कर लेगा और ज्यादा पुलिस के पास जाएगा तो वह उसे मरवा देगी। ऑडियो में करीब 10 बार शाहरुख ने बातचीत पुलिस को जाकर बताने का कहा।

आरोपियों से जुडे़ लोगों से पूछताछ हुई शुरू

घटना के बाद मंदसौर पुलिस ने सख्ती दिखाना शुरू की। बुधवार को आरोपियों से जुड़े प्राॅपर्टी व्यापारियों से पूछताछ की। सिटी कोतवाली पुलिस ने तीन लोगों से पूछताछ कर 6 लोगों को नोटिस जारी किए। पिपलियामंडी मेें 5 लोगों से पूछताछ की। नई आबादी पुलिस ने एक से, वायडीनगर पुलिस ने 5 से पूछताछ की।

नेताओं ने दबाव बनाकर छुड़वाया, अब फरार

दिसंबर में ज्वैलर्स पर फायरिंग मामले में पुलिस ने आरोपियों से जुडे़ व्यापारियों से पूछताछ शुरू कर एक संदिग्ध को हिरासत में भी लिया। नगर के प्रतिष्ठित नेता ने रात को पुलिस पर दबाव बनाकर उसे छुड़वा दिया। बताया जाता है कि वह संदिग्ध दो दिन से फरार है। पुलिस जांच के अनुसार आरोपी शाहरुख दो दिन पहले मंदसौर आया और संदिग्ध सहित तीन से चार लोगों से मिलकर भी गया। ऐसा रुख देखकर अब पुलिस ने भी सिफारिश करने वाले नेताओं का रिकाॅर्ड जमा करने की योजना बनाई है।

दिसंबर के गोलीकांड में फरार शाहरुख की अब गिरफ्तारी क्यों नहीं हो सकी जबकि आरोपी ने नीमच में भी गोलीकांड को अंजाम दे दिया।

आरोपी की गिरफ्तारी को लेकर दबिश दी जा रही है लेकिन सफलता नहीं मिली। नीमच गोलीकांड के बाद बुधवार को आरोपियों से जुड़े लोगों से भी पूछताछ की है।

आरोपी व डायमंड ज्वैलर्स संचालक के बीच बातचीत का आॅडियो वायरल हुआ है। इसमें आरोपी को पुलिस का कोई खौफ नहीं है। क्या पुलिस के भी आरोपियों से तार जुड़े हुए हैं।

आरोपी ने व्यापारी को धमकाने के लिए ही फोन किया था इसलिए वह ऐसी बात क्यों कहेगा जिसमें वह किसी भी प्रकार से डर दिखाए। जहां तक पुलिस के आरोपियों से पुलिस के तार जुड़ने वाली बात है तो उसके कोई एविडेंस नहीं हैं।

आरोपी आजम को प्रतापगढ़ में सरेंडर कराने में एक एसआई की भूमिका संदिग्ध थी। उसे लेकर क्या कार्रवाई हुई।

आरोप लगने के बाद एसआई को मामले से हटा दिया है। इसके बाद अब नई टीम ही काम कर रही है।

आरोपियों के संपर्क में रहे व्यापारियों को लेकर तो लिस्टिंग भी पहले की जा चुकी है। गोलीकांड के बाद ही पूछताछ क्यों शुरू हुई।

पहले भी पुलिस ने पूछताछ के लिए आरोपी के करीबी को हिरासत में लिया था लेकिन नेताओं के दबाव के बाद उसे छोड़ना पड़ा। इस बार भी वह सस्पेक्टेड है। इस बार की पूछताछ में यदि कोई बीच में आता है तो उसे भी सार्वजनिक किया जाएगा।

आरोपी आजम खां व अंसार खां को कोर्ट में पेश नहीं किया जा सका है

आजम व अंसार कोर्ट में पेश नहीं हुए हैं। कोर्ट ने अगली तारीख 12 जनवरी निर्धारित है।

गुंडागर्दी : मंदसौर-नीमच में प्रतापगढ़ जिले के बदमाशों ने व्यवसायियों में फैलाई दहशत

2005 में सलीम लाला व फिरोज लाला का था आतंक

प्रतापगढ़ जिले के आरोपियों ने आतंक मचाया है। 2005 में सलीम लाला व फिरोज लाला का आतंक रहा। इसके बाद अब आजम व अंसार का। मादक पदार्थों की व डोडाचूरा की तस्करी और फिर ठेकों से राजस्थान के बदमाशों की जिले में एंट्री शुरू हुई। आपसी खींचतान में हत्याएं भी हुईं। डोडाचूरा ठेका बंद होने के बाद से अब प्राॅपर्टी व फिरौती को लेकर हत्याएं हो रही हैं। जिले में बाबू बावरी हत्याकांड, अनिल त्रिवेदी हत्याकांड, गोपाल सोनी गोलीकांड, ठन्ना हत्याकांड और अब डायमंड ज्वेलर्स गोलीकांड में इनका हाथ होने के प्रमाण सामने आए हैं।

यह हैं आरोपियों के आपराधिक रिकाॅर्ड

सरेंडर होने के बाद भी अब तक नहीं कर पाए कोर्ट में पेश

डायमंड शोरूम पर गोलीकांड के आरोपी आजम ने प्रतापगढ़ में सरेंडर किया। इसके बाद मंदसौर कोर्ट ने राजस्थान पुलिस को 27 दिसंबर को प्रोडक्शन वारंट पर लाने के निर्देश दिए। राजस्थान पुलिस ने बल की कमी बताकर आजम को कोर्ट में पेश नहीं किया। 6 जनवरी अगली तारीख तय की गई। इस दौरान राजस्थान के सभी केस में जमानत मिलने पर राजस्थान पुलिस आरोपी आजम व अंसार को मंदसौर जेल में शिफ्ट कर गई। निर्धारित तारीख को आरोपियों के मंदसौर जेल में होने के बाद भी पुलिस कोर्ट में पेश नहीं कर सकी। कोर्ट ने अगली तारीख 12 जनवरी दी।

आजम पर एनडीपीएस, हत्या के प्रयास व षड्यंत्र सहित 12 केस दर्ज

अखेपुर निवासी आजम पिता कयूम खां पर प्रतापगढ़, नीमच व मंदसौर में करीब 12 केस दर्ज हैं। इसमें प्रतापगढ़ के 6 प्रकरणों में एनडीपीएस, घर में घुसकर मारपीट, हत्या का प्रयास, षड्यंत्र, आर्म्स एक्ट, अरनोद के 2 प्रकरणों में 420, षड्यंत्र, नीमच कैंट में हत्या का प्रयास, सिटी कोतवाली मंदसौर में हत्या, हत्या का प्रयास, मारपीट, आर्म्स एक्ट की धाराओं में तीन केस दर्ज हैं।

अंसार पर हत्या, हत्या का प्रयास, जुआ, मारपीट के 14 सहित 19 केस दर्ज हैं

जैपुरा निवासी अंसार पिता बुंदू खां पर कुल 19 केस दर्ज हैं। इसमें सिटी कोतवाली मंदसौर में हत्या, हत्या का प्रयास, जुआ एक्ट, आर्म्स एक्ट, मारपीट के 14 केस, भावगढ़ थाने में मारपीट व रंगदारी , धमकी, जान से मारने की धमकी, मारपीट के तीन केस, थाना हथुनिया में हत्या के प्रयास का एक एवं बिरलाग्राम नागदा में हत्या करने के लिए अपहरण जैसी धाराओं में केस दर्ज हैं।

शाहरुख . शाहरुख बोल रहा हूं

सुनील . हां बोलो

शाहरुख. मैंने जो कहा था, उसका क्या हुआ तू पुलिस का खेल मत खेल पुलिस तुझे घर में मरवा देगी। हमारा रिकाॅर्ड पुलिस से ही पूछ ले। यह अंसार, आजम और मेरा मेटर है। पुलिस क्या कर लेगी। जा पुलिस को कह देना शाहरुख का फोन था।

सुनील. मैं किसी को कहने नहीं गया। अब कोई मेरे घर पर पूछने आया तो क्या करूं, आप मुझे अपने विश्वास वाले का नाम बता दो, मैं उसे रुपए दे देता हूं।

शाहरुख. विश्वास की बात मत कर, विश्वास में तू दूसरे को भी मरवाएगा।

सुनील. आप मेरा गुप्ता कचौरी के पास वाला प्लाॅट ले लो, डायमंड ज्वैलर्स ले लो। मुझे मेरे रुपए दे दो और आप आपके ले लो। मैं बहुत कर्जे में हूं इसलिए मैंने पहले ही बाजार में दुकान का सौदा उतार रखा है।

– शाहरुख. मुझे नहीं चाहिए प्लाॅट, तू किसी को बेच और रुपए दे।

सुनील. किस को बेचूं, पार्टी बता दो उसे बेच देता हूं। आप कहो जिसे बेच दू, आप अपना पैसा ले लेना और मुझे मेरा दे देना।

शाहरुख. प्लाट एक नंबर का है या दो नंबर का।

सुनील. एक नंबर का है।

शाहरुख. एक काम कर, व्यापारियों में पता कर, आजम के मिलने वालों से मिल और आजा।

सुनील. मैं किसको ढूंढू, आप ही नाम बता दो। मैं उसके पास चला जाता हूं।

शाहरुख. तू पता कर ले, इस बात को जितना बढ़ाएगा उतना घाटे में जाएगा। रतलाम वाले को भी मैं समझा दूंगा।

सुनील. मैं तीन-चार टुकड़े में दे देता हूं।

शाहरूख. नहीं दो टुकड़े में दे दे।

आॅडियो के अंश…

दबिश दे रहे, लोगों से पूछताछ जारी है

एपी सिंह, एएसपी

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts