Breaking News

पुलिस ने बचने के लिए करवाई थी प्लास्टिक सर्जरी

शातिर 420 संजय सोनी को फर्जी दस्तावेजों से ऋण प्राप्त करने के आरोप में ढ़ाई वर्ष का कारावास एवं अर्थदण्ड

मन्दसौर। पुलिस थाना शहर मन्दसौर के एक प्रकरण में तृतीय अपर सत्र न्यायाधीश रुपेश गुप्ता द्वारा आरोपी संजय उर्फ सत्यनारायण पिता गोपाल सोनी निवासी मन्दसौर को धारा 420, 467, 468 भा.द.वि. के अपराध में दो-दो वर्ष तथा धारा 471 भा.द.वि. के अपराध में ढ़ाई वर्ष का सश्रम कारावास तथा कुल दो हजार रूपये के अर्थदण्ड से दण्डित किये जाने का आदेश पारित किया है।

लोक अभियोजक प्रफुल्ल यजुर्वेदी ने जानकारी देते हुए बताया कि 29.05.2012 को एस.डी.एफ.सी. बैंक मन्दसौर के प्रतिनिधि द्वारा नगर पुलिस अधीक्षक मन्दसौर को इस आशय की शिकायत की थी कि संजय उर्फ सत्यनारायण सोनी अनेक अनैतिक गतिविधियों में लिप्त होकर बड़े पैमाने पर लाखों की चोरी व नकबजनी के अपराध में लिप्त है। तब बैंक द्वारा ऋणी संजय सोनी के द्वारा ऋण हेतु प्रस्तुत किये गये दस्तावेजों की गहन जाँच की तब पता चला कि ऋणी संजय द्वारा किसी अन्य महिला के नाम की नगरपालिका सम्पत्ति कर की रसीद स्वयं द्वारा प्रमाणित कर फर्जी दस्तावेज बनाकर तथ्यों की छिपाकर बैंक से सुनियोजित तरीके से रूपया हड़पने के लिए ऋण प्राप्त किया था। पुलिस थाना शहर मन्दसौर के उपनिरीक्षक बृजभुषण हिरवे द्वारा प्रकरण में अनुसंधान कर ऋण सम्बन्धी दस्तावेज जप्त किये गये। प्रकरण में अभियोजन द्वारा हस्तलेख विशेषज्ञ सहित 12 साक्षियों के कथन कराये गये तथा दस्तावेज प्रदर्शित कराये गये। जिनके आधार पर विद्वान न्यायाधीश महोदय श्री रुपेश गुप्ता द्वारा आरोपी के विरूद्ध अपराध प्रमाणित माना। उल्लेंखनीय है कि संजय सोनी द्वारा राजस्थान में अनेकों चोरी की वारदातों को अंजाम दिया तथा पुलिस से बचने के लिए चेहरे की प्लास्टिक सर्जरी करवाई तथा सत्यनारायण से नाम बदलकर संजय कर लिया था। प्रकरण में अभियोजन की ओर से सफल पक्ष समर्थन लोक अभियोजक प्रफुल्ल यजुर्वेदी द्वारा किया गया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts