Breaking News

पुलिस ने युवराज की हत्या करने वाले तीनों शूटर को इंदौर से पकड़ा

मंदसौर. विहिप नेता युवराज सिंह चौहान से दीपक तंवर ने केबल को लेकर विवाद किया था। अभिनंदन नगर में दीपक तंवर ने केबल कनेक्शन में नुकसानी और वर्चस्व को लेकर हाथापाई से लेकर जान से मारने की धमकी तक युवराज सिंह चौहान को दे डाली थी। जिसको लेकर भी रिपोर्ट युवराज सिंह द्वारा रिपोर्ट दर्ज करवाई गई थी।

मृतक युवराज सिंह चौहान के हिस्ट्रीशीटर सुधाकर राव मराठा से काफी नजदीक संबंध थे। और बताया जाता है कि संदीप तेल की हत्या करवाने वाले रोहित शेट्टी से भी सुधाकर राव मराठा को पहली बार युवराज सिंह ने ही मिलवाया था। वहीं पुलिस सुत्रों की माने तो विहिप नेता युवराज सिंह की हत्या करने वाले आरोपियों की लोकेशन गुरुवार को इंदौर में मिली है। पुलिस टीम ने इसका लेकर इंदौर में भी दबिश दी है। पुलिस अधीक्षक हितेश चौधरी ने गुरुवार को हुई प्रेस वार्ता में कहा कि संदीप तेल की हत्या के मामले को लेकर भी जांच की जा रही है।

पहला कारण आ रहा केबल
मृतक युवराज सिंह चौहान से आरोपी दीपक तंवर नेकेबल को लेकर विवाद किया था। और हत्या में प्रथम दृष्टया केबल का कारण सामने आ रहा है। वहीं इसके अलावा सोनू गोस्वामी की 13 अक्टूबर 2017 को मछली मार्केट में गोली मारकर हत्या हुई थी।

सोनू गोस्वामी के लिए फैजान भी काम करता था। और लाला गोस्वामी सोनू गोस्वामी का भतीजा है। लाला गोस्वामी, फैजान और अंकित तंवर ने युवराज सिंह चौहान की गोली मारकर हत्या की। पुलिस सूत्रों के अनुसार रैकी में सुनिल गोस्वामी नामक युवक भी है। जो लाला गोस्वामी को रिश्तेदार बताया जा रहा है। पुलिस इस हत्याकांड को लेकर भी जांच की जा रही है। पुलिस अधीक्षक चौधरी ने बताया कि अभी तक विवेचना में मुख्य कारण में जो सामने आया है। वह केबल नेटवर्क की व्यवसायिक प्रतिद्वंद्विता है। और अन्य व्यवसायिक प्रतिद्धंद्विता को भी नकारा नहीं जा सकता है। सोनू गोस्वामी की हत्या के मामले को लेकर भी जांच की जा रही है। इसमें जो भी एंगल सामने आ रहे है। सभी पर पुलिस जांच कर रही है। एएसपी मनकामना प्रसाद ने बताया कि टीमें इंदौर, रतलाम, नीमच सहित अन्य स्थानों पर भेजी गई है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts