Breaking News

पुलिस लेगी अब फिंगर प्रिंट तकनीक का सहारा

वारदात में अपराधी द्वारा छोड़ी गई हाथों की छाप से उसका पता देशभर में कहीं पर भी लगाया जा सकेगा। पुलिस विभाग ने अपराधियों का रिकॉर्ड ऑनलाइन करने के साथ-साथ फिंगर प्रिंट भी अपडेट करना शुरू कर दिए हैं। इनकी सहायता से देशभर में कहीं भी वारदात करने वाले अपराधियों की पहचान हो सकेगी। हाल ही में इसके लिए सिटी कोतवाली में भी फिंगर प्रिंट मशीन लगाई है। इसमें एक साल से अधिक सजा पाने वाले अपराधियों के फिंगर प्रिंट लिए जा रहे हैं।

मंगलवार को सिटी कोतवाली में फिंगर प्रिंट लाइव स्कैनर इंस्टॉल किया। स्कैनर में थाना क्षेत्र के ऐसे सभी अपराधियों के फिंगर प्रिंट लिए जाएंगे जिन्हें कोर्ट ने एक साल से अधिक सजा सुनाई है। स्कैनर जिले में दो सिटी कोतवाली व नाहरगढ़ थाने में लगाए गए है। अपराधियों के फिंगर प्रिंट का डाटा जिला फिंगर प्रिंट कार्यालय, स्टेट क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो व नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो में रखे जाएंगे। हालांकि यह काम पहले भी किया जाता था। लेकिन अब रिकॉर्ड ऑनलाइन रखे जाएंगे। इससे देशभर में कहीं पर भी आपराधिक घटना होने पर फिंगर प्रिंट की मदद से अपराधियों की पहचान हो सकेगी। फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट विनयकुमार मिश्रा ने बताया मंगलवार को सिटी कोतवाली में स्कैनर लगाया है।

पहले कागज पर ही लिए जाते थे फिंगर प्रिंट

इससे पहले अपराधियों के फिंगर प्रिंट एक प्रारूप में कागजों पर लिए जाते थे। फिर उन्हें तीनों शाखाओं में संभाल कर रखा जाता था। इससे किसी भी घटना या अपराध में फिगर प्रिंट मैच करने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता था। अब ऑनलाइन रिकॉर्ड होने से तत्काल जानकारी उपलब्ध हो सकेगी।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts