Breaking News

पेंशनर महासंघ ने वरिष्ठजनों का सम्मान कर मनाया स्थापना दिवस

बुजुर्गों की सही जगह परिवार व समाज है, वृद्धजन केन्द्र नहीं-श्री बंधवार

मन्दसौर। सेवानिवृत्त एवं पेंशनर नागरिक महासंघ जिला मंदसौर ने अपना स्थापना दिवस नगरपालिका मंदसौर अध्यक्ष श्री प्रहलाद बंधवार के मुख्य आतिथ्य, वरिष्ठ कृषि वैज्ञानिक श्री नरेन्द्रसिंह सिपानी के विशेष आतिथ्य, पेंशनर महासंघ अध्यक्ष श्री श्रवण कुमार त्रिपाठी की अध्यक्षता एवं उप संचालक सामाजिक न्याय श्री जे.के. जैन के सानिध्य में नगरपालिका मंदसौर सभागृह में 80, 85, 90, 95 एवं 100 वर्ष आयु पूर्ण कर चुके महासंघ के 75 सदस्यों का दशपुर मण्डी व्यापारी संघ के पूर्व अध्यक्ष एवं समाजसेवी श्री गजराज जैन के सौजन्य से प्राप्त शाल, श्रीफल से सम्मान कर मनाया।
कार्यक्रम की शुरूआत अतिथियों के सरस्वती एवं भारत माता चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन के बाद मोहनलाल गुप्ता के संगठन गीत ‘‘जीवन में कुछ पाना है तो मन को मारे मत बैठो’’ से हुई।
अतिथियों का परिचय महासंघ जिला सचिव नन्दकिशोर राठौर के द्वारा एवं स्वागत जिलाध्यक्ष श्रवण कुमार त्रिपाठी, कन्हैयालाल सोनगरा, ओमप्रकाश मिश्रा, राजेन्द्र पोरवाल, राजेन्द्र पाठक  एवं श्रीमती शकुन्तला चौहान द्वारा किया गया।
इस अवसर पर बोलते हुए श्री बंधवार ने कहा कि पेंशनर महासंघ ने बुजुर्गों का सम्मान परिवार की तरह किया है। बुजुर्गों की सही जगह परिवार व समाज है, वृद्धजन केन्द्र नहीं। विदेशों में वृद्धजनों को ओल्ड होम में रखने की परम्परा है किन्तु भारत में हम अपने बुजुर्गों को परिवार में ही सम्मान व आदर के साथ रखते है। जिसमें परिवार को वृद्धजनों के अनुभवों का आशीर्वाद तो मिलता ही है साथ ही वृद्धजन पोते पोतियों के मध्य अपने को अकेला महसूस नहीं करते है। जहाँ मूलधन से ज्यादा ब्याज प्यारा लगता है वहीं पोते-पोतियों को भी माता-पिता से अधिक प्यार दादा दादी से मिलता है।
उपसंचालक सामाजिक न्याय  श्री जे.के. जैन ने कहा कि शासन 100 वर्ष आयु वाले वृद्धजनों को 1000 रू. की राशि प्रदान कर उनका सम्मान करता है जबकि 80 से उपर आयु वाले वृद्धजनों का सम्मान पेंशनर महासंघ द्वारा किया जाता है। यह एक अच्छी परम्परा है। शासन द्वारा 60 वर्ष से 79 तक के बीपीएल परिवार को 450 रू. पेंशन और 80 वर्ष के बीपीएल धारक को 500 रू. पेंशन की पात्रता घोषित की है। शासन ने अबकी बार मतदान में दिव्यांग, अतिवृद्ध, अस्वस्थ्यता से चलने फिरने में असमर्थन मतदाताओं को घर से घर तक की सुविधा मतदान हेतु प्रस्तावित की है। ऐसे मतदाता पूर्व में ही अपने बीएलओ को इस तथ्य की जानकारी दे देंगे तो उन्हें मतदान केन्द्र तक लाने ले जाने की सुविधा निःशुल्क मिलेगी। सभी वरिष्ठजन शत प्रतिशत मतदान कराने में सहयेाग करे।
वरिष्ठ कृषि वैज्ञानिक श्री सिपानी ने कहा कि स्व. दौलतरामजी पटेल द्वारा स्थापित महासंघ अपने उद्देश्यों के साथ सक्रिय है। बिना किसी भेदभाव के सभी वर्गों के वरिष्ठों का सम्मान महासंघ का मूल उद्देश्य है यहां 95 वर्ष के समद मोहम्मद खान का भी सम्मान हो रहा है तो बालागंज के 90 वर्षीय पन्नालाल चौहान एवं दलौदा के 90 वर्षीय उम्मेदराम धाकड़ का भी सम्मान हो रहा हैं।
श्री त्रिपाठी ने कहा कि महासंघ सेवानिवृत्तों का ही नहीं आम वरिष्ठ नागरिकों को भी सदस्य बनाता है और सम्मान करता है। यह महासंघ अपने स्थापत्य उद्देश्य ‘‘आम बुढ़ापा पेंशन और सम्मान चाहता है’’ को लेकर कार्य करता है। आगामी समय में महासंघ बिना किसी भेदभाव के सभी वरिष्ठ नागरिकों को जैसे अमेरिका 1500 डालर (1500 गुणित 73 = 109500 रू. लगभग मासिक) पेंशन देता है उसी प्रकार भारत में भी प्रत्येक वरिष्ठ नागरिक हेतु 5000 रूपये मासिक पेंशन (आम बुढ़ापा पेंशन चाहता है) की मांग केन्द्र व राज्य सरकार से करेगा।
कार्यक्रम का संचालन श्री रमेशचन्द्र चन्द्रे ने किया एवं आभार श्री अजीजल्लाह खान ने माना। राष्ट्रगान व स्वल्पाहार पश्चात् कार्यक्रम का समापन हुआ।
नन्दकिशोर राठौर

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts