Breaking News

प्रसंग शीतला सप्तमी पर्व का : माता मंदिरों में लगा मंहिलाओं का तांता,अर्द्धरात्रि से ही शुरू हो गया था पूजा अर्चना का दौर

Hello MDS Android App

मंदसौर। शीतला सप्तमी का पर्व 08 मार्च 18 गुरूवार को नगर सहित अचंलों में हर्षाेल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर नगर के शीतला माता मंदिरों पर विशेष रूप से सज्जित किया गया था। परिवार में सुख शांति,समृद्धि एवं उत्तम स्वास्थ्य को लेकर शीतला माता की जाने वाली पूजा अर्चना को लेकर महिलाओं में एक दिन पूर्व विविध प्रकार के व्यंजनों को बनाकर माताजी को नैवेद्य चढ़ाया गया। महिलाओं द्वारा शनिवार रविवार की अर्द्धरात्रि से ही माता के मंदिरों में पूजा अर्चना का दौर शुरू कर दिया गया था। जो रविवार को दोपहर तक निरंतर चलता रहा। नगर के हर शीतला माता मंदिर महिलाओं से पटे थे। महिलाओं ने लम्बी लम्बी कतारें लगाकर माताजी का पूजन वंदन किया।

ढोकले व ओलिये का नैवेघ
शीतला सप्तमी पर माताजी के पूजन के दौरान मातृशक्ति द्वारा मीठे ढोकले व चालव दही से निर्मित नमकीन व मीठे ओलिये का नैवेघ माता को चढाया गया। शीतला सप्तमी के अवसर पर नगर से दो किमी दूर बायपास रोड़ के निकट स्थित लगभग 350 वर्ष पूराने अतिप्राचीन श्री खिड़की माता मंदिर परिसर में नगर पालिका परिषद् द्वारा एक दिवसीय मेले का आयोजन किया गया। जिसमें नगर सहित विभिन्न अंचलों से आये श्रद्धालुओं ने पहुॅचकर माताजी के दर्शन वंदन कर धर्मलाभ लिया। इस इवसर पर नपा द्वारा यहॉ भजन संध्या का आयोजन भी किया गया था जिसमें माता रानी के भजनों का खूब आनंद लिया गया।

 

सीतामऊ में भी मना पर्व
गुरूवार को शीतला सत्पमी का पर्व धार्मिक उल्लास एवं श्रद्धापुर्वक मनाया गया। महिलाओं ने व्रत उपवास रखकर शीतला माता की पुजा अर्चना व आराधना करने अपने घर परिवार की सुख समृद्धि की कामनाए की तथा श्रद्धापुर्वक रात को बनाया गया ठण्डा भोजन मां को अर्पित कर सेवन किया।

महिला पुलिस की सक्रीय भागीदारी
नगर में शीतला माता के दो दरबार है जहां महिलाओ की इस दिन पुजन हेतु भारी भीड उमडती है फल स्वरूप धक्का मुक्की व भीड के बीच महिलओ को पुजन करना पडती है एवं परेशानी भी झेलना पर बाध्य होना पडता है। इस बार इन स्थलो पर महिला पुलिस की मौजुदगी में भीडभाड की स्थिति निर्मित नही हुई। महिलाओ को कतारो में लगना पडा एवं बारी-बारी से दो-दो महिलाओ ने शांतिपुर्ण मॉं की पुजा अर्चना व आराधना की। महिला पुलिस की सक्रीय भागीदारी को नगरवासीयो ने काफी सहारा एवं प्रमुख धार्मिक पर्वो पर इसी प्रकार की व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने की मांग पुलिस प्रशासन से की।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *