प्री मानसून की वर्षा से अन्नदाता के चेहरे खिले : खेतों की ओर किया रूख, तैयारियों में जुटे किसान

Hello MDS Android App

मंदसौर। नई उम्मीद को लेकर क्षेत्र का अन्न्दाता किसान एक बार फिर अपने खेतों की ओर चल पड़ा है। किसान के नाम पर पर इन दिनों खूब राजनीतिक रोटियां सेकी जा रही है। इन  दिनों किसानों के शुभचिंतक और किसानों को चाहने वाले चारो ओर मिल जाएंगे। प्रदेश की राजनीति का केन्द्र किसान ही बना हुआ है। लेकिन वास्तव में इन सब बातों से दूर किसान अपनी रोजी रोटी की फ्रिक को लेकर आगामी बारिश की सीजन को देखते हुए खेतों को तैयार करने में जुट गया है।

प्री मानसून से किसानों को जागी उम्मीद
पिछले 3 से 4 दिनों में समूचे अंचल में हुई बारिश से किसानों के चेहरे पर कुछ रौनक जरूर आई है। जिसके बाद किसान अपने अपने खेतों को तैयार करने में लग गये है। किसान खेत को जोतकर मिट्टी पलटने का कार्य कर रहे है। जिससे कि आगामी फसल अच्छी हो।

सोयाबीन का रहता है अधिक रकबा
यूं तो क्षेत्र में सभी प्रकार की फसलें उगाई जाती है। लेकिन मंदसौर व आस पास के क्षेत्रों में सर्वाधिक रकबा सोयाबीन का ही होता है। ओर इसी फसल से लोगो की दीपावली मनती है। क्योकि मंदसौर की अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से कृषि पर ही निर्भर है। जून जुलाई में सोयाबीन की बोवनी होती है जो अक्टूबर नवम्बर में कटकर मंडीयों में पहुंचती है जिससे बाजार में पैसा की आवक बढ़ती है।

भावों को लेकर दुखी है क्षेत्र का किसान
नोटबंदी के बाद से सोयाबीन हो या लहसुन या फिर अन्य फसले किसी के भावों में भी ज्यादा तेजी विगत् दो वर्षो से देखने को नहीं मिली है ।जिससे क्षेत्र का किसान दुखी व परेशान है। लेकिन फिर भी नई उम्मीद के साथ किसान खेतों को तैयार करने में लगा है।

खेत तैयार करने के सामनों की खरीददारी में व्यस्त किसान
खेतों को तैयार करने के लिए उपयोगी वस्तुओं की खरीददारी में किसान व्यवस्त है। कोई टेªक्टर पार्टस खरीद रहा है तो कोई उपयोगी दवाईयॉ ले रहा है। कुल मिलाकर क्षेत्र का हर किसान अपने खेत को आगामी फसल के लिए अच्छे अच्छे तरीके से तैयार करने में जुटा है।

25 जून के बाद से प्रारंभ हो सकती है बोवनी
मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार प्री मानसून की बारिश क्षेत्र में हुई है और सक्रिय मानसून 15 जून के बाद से क्षेत्र में आ जाएगा। जिसके बाद यदि तीन से चार बार अच्छा पानी गिर जाता है तो 25 जून के बाद किसान बोवनी प्रारंभ कर सकते है।

यह कहना है किसानों का
क्षेत्र के किसान मांगीलाल ने बताया कि दो दिन की बारिश से उम्मदी जागी है अच्छा पानी गिरने व अच्छी फसल होने की उम्मीद लग रही है। मल्हारगढ़ के किसान कृष्णपाल सिंह ने बताया कि जिस प्रकार उमस व गर्मी का वातावरण उससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि इस बार बारिश अच्छी होगी इसलिए सभी किसान खेतों को अच्छे से तैयारी करने में जुट गए है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *