Breaking News

प्री मानूसन की बारिश ने ही खोल दी विद्युत वितरण कम्पनी की पोल, हवा के एक झोके से ही हो जाती है बिजली गुल, घंटो परेशान रहते हैं आमजन

मंदसौर। अभी तो प्री मानूसनी वर्षा ही हुई है। और विद्युत विभाग की पोल खुलना प्रारंभ हो गई है। मानसूनी बारिश से पूर्व हो रही थोड़ी बहुत बारिश में ही विभाग ने कैसा रखरखाव किया है यह नजर आने लगा है। अभी तक जितनी बार भी बारिश हुई है उतनी बार बिजली बारिश के कुछ छिंटे धरती पर गिरते ही बंद हो जाती है और मंगलवार बुधवार की रात हुई बारिश में तो कई क्षेत्रोें मे रातभर बिजली गायब रही। यही नहीं आंशिक हवा भी नहीं झेल पा रहे है विद्युत विभाग के तार और उनमें कही पर भी हो जाता है फॉल्ट और फॉल्ट को ढूंढने के कारण घंटों भीषण गर्मी में आमजन को परेशान हो पड़ रहा है।

मई माह में कि थी रखरखाव के नाम पर घंटो कटौती
हमेशा की तरह इस बार भी विद्युत विभाग ने मई माह में बारिश पूर्व रखरखाव के नाम नगर के अलग अलग क्षेत्रों मेें अलग अलग दिन घंटों कटौती कर बिजली तारों और डिपियों की मरम्मत कि थी। लेकिन अब जब बारिश के कुछ छींटे गिरते ही बिजली बंद हो जाती है तौ विभाग ने कटौती कर कैसा रखरखान किया वह उजागर हो रहा है।

बीती रात तो घंटो गायब रही बिजली
इस बार सीजन की सबसे तेज बारिश मंगलवार बुधवार की रात्रि हो हुई। जैसे ही बारिश प्रारंभ हुई लगभग पूरे शहर की बिजली सप्लाई बंद हो गई। कुछ क्षेत्रों में तो एक घंटे बाद बिजली आ गई लेकिन कई क्षेत्रों में रात्रि को लगभग 12 बजे बंद हुई बिजली सुबह 7.30 बजे आ पाई। जिससे लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा।

सोशल मीडिया पर लोगों ने निकाली भड़ास
जरा सी बारिश में बिजली गायब हो जाने से गर्मी में परेशान नगरवासियों ने अपनी भड़ास सोशल मीडिया पर निकाली और विद्युत कम्पनी के विरूद्ध खुलकर अपने पक्ष रखें। विद्युत कम्पनी की इन गतिविधियों के कारण इसके छींटे सत्ता पक्ष पर भी आ रहे है।

शुरूआती दिनों में ये हाल तो आगे क्या होगा
लोगों को अब यह डर सताने लगा है कि अभी तो मानसूनी वर्षा की शुरूआत भर हुई है और बिजली विभाग यह स्थिति है। ऐेसे में आगे क्या होगा यह डर लोगों को सताने लगा है।

उर्जा विभाग को लेकर प्रभारी मंत्री भी है चिंतित
उर्जा विभाग की गतिविधियों के कारण जहॉ जनप्रतिनिधियों में भी आक्रोश है। वहीं प्रभारी मंत्री श्रीमती चिटनीस भी चिंता ग्रस्त है। और इसी चिंता को उन्होने विगत् दिनों उर्जा विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर जाहिर भी किया व निर्देशित भी किया कि वे जनप्रतिनिधियों के साथ बैठकें कर हर समस्या का निदान करें। हालांकि चिटनीस के निर्देशों का बहुत ज्यादा असर उर्जा विभाग पर हुआ है यह देखने को नहीं मिला।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts