Breaking News

बारिश का नहीं ले रहा थमने का नाम : इस वर्ष औसत से ज्यादा हो चुकी बारिश

मंदसौर. शहर में मंगलवार-बुधवार रात लगभग दो घंटे हुई रिकॉर्डतोड़ बरसात ने पूरे मंदसौर को पानी-पानी कर दिया। इस दौरान लगभग पांच इंच बरसात दर्ज की गई। मंगलवार सुबह तक मंदसौर में 42 इंच बरसात हो चुकी थी। मल्हारगढ़ तहसील में भी झमाझम बरसात होने से बुगलिया नाला भी उफान पर आया व तेलिया तालाब को भरने वाला नाला भी अपने वास्तविक स्वरूप में आ गया। नाले में कई अवरोध होने से पानी यश नगर, मेघदूत नगर के घरों में घुस गया। नारायणगढ़ क्षेत्र में झमाझम बरसात से मंदसौर-मनासा मार्ग चार घंटे तक बंद रहा। इधर गांधीसागर बांध का जलस्तर 1291 फीट तक पहुंच गया है। पानी की आवक 4.28 लाख क्यूसेक हो रही है। शिवना ने भी बुधवार को भगवान पशुपतिनाथ महादेव की मूर्ति के नीचे के चार मुखों का जलाभिषेक कर दिया।

शहर में 2006 के बाद अब जाकर रिकॉर्डतोड़ बरसात हुई है। मंगलवार-बुधवार की रात एक से तीन बजे के बीच हुई तेज बरसात से शहर की कई कॉलोनियों व निचले क्षेत्रों में जलजमाव हो गया। तेलिया तालाब को भरने वाला नाला ओवरफ्लो होने से यश नगर, मेघदूत नगर की कई गलियों में पानी भर गया। यश नगर में तो घरों में कमर-कमर तक पानी लगभग सात-आठ घंटे भरा रहा। हिस्सों में पानी भर गया। यश नगर में विधायक यशपालसिंह सिसौदिया का घर भी टापू बन गया। डिगांव-बसई मार्ग पर शकरखेड़ी-खेड़ा के बीच तुम्बड़ के नदी की पुल में दरार आने से एक तरफ का यातायात बंद किया गया है।

शहर सहित जिले में मंगलवार की शाम को फिर से मानसून सक्रिय हो गया। तीन दिनों के अंतराल के बाद फिर से बारिश का दौर शुरु हो गया। दोपहर में तेज गर्मी का दौर रहा। इसके बाद शाम होते-होते तेज बारिश शहर में हुई। करीब आधे घंटे ठंडी हवाओं के साथ तेज बारिश हुई। वहीं बुढ़ा, बालागुढ़ा सहित जिले के अन्य स्थानों पर भी शाम को बारिश हुई। कुछ दिन बारिश से राहत के बाद फिर से मानसून के सक्रिय होने और बारिश की संभावना भी मौसम विभाग द्वारा बताई जा रही है। जिले में कुछ स्थानों पर तेज बारिश हुई है। फिलहाल जिले में औसत से ज्यादा बारिश हो चुकी है।

पशुपतिनाथ महादेव के चार मुंह का हुआ अभिषेक

शिवना नदी में भी पानी की आवक तेज होने से भगवान श्री पशुपतिनाथ महादेव के गर्भगृह में पानी प्रवेश कर गया। अष्टमुखी प्रतिमा के नीचे के चार मुखों का अभिषेक करने के बाद नदी का पानी फिर उतरना शुरु हो गया।

1 घंटे से अधिक समय हुई तेज बारिश

नारायणगढ़. मंगलवार को यहां दोपहर बाद 1 घंटे से ज्यादा समय तक झमाझम बारिश हुई। करीब 4 बजे प्रारंभ हुई बारिश का दौर ५ बजे बाद तक चलता रहा। बारिश के चलते सड़कों पर पानी जमा हो गया। तेज बरसात के कारण नगर की कई प्रमुख चौराहों पर तालाब का रूप देखने को मिला। नीम चौक, सुभाष चौक, गांधी चौराहा सहित अन्य स्थानों पर 1 फीट से ज्यादा पानी जमा हो गया था। इस पानी से खेतों की हालत और ज्यादा खराब हो गई है। क्षेत्र के सभी और के कुएं ओवरफ्लो की स्थिति में है। किसानों द्वारा कुओं पर विद्युत पंप लगाकर पानी निकाला जा रहा है। खेतो में खड़ी सोयाबीन की फसल पर भी इस तेज बारिश से प्रभावित होगी।

डेढ़ तक हुई तेज बारिश

टकरावद. मंगलवार को दोपहर में डेढ़ घंटे तक बारिश हुई। दोपहर 3.30 बजे के बाद बारिश शुरू हो गई। जो 5 बजे तक जारी रही। शनिवार से बारिश कम पड़ गई थी और थोड़ी हवा और धूप भी निकल गई। इससे फसलों को लेकर किसान चिंतित हो गए।

अंचल में बारिश का दौर शुरू

लूनाहेड़ा. गांव सहित आसपास क्षेत्र में फिर से बारिश का दौर शुरु हो गया। पिछले तीन दिनों से मौसम खुला था। मंगलवार को दोपहर बाद रिमझिम बारिश का दौर शुरू हुआ जो देर शाम तक जारी रहा है।

मुंदेडी में हुई तेज बारिश

मुंदेडी. गांव सहित आसपास के क्षेत्र में सुबह से लोग गर्मी से परेशान रहे। साथ ही आसमान में बादलों की आवाजाही लगी रही। शाम करीब 4.30 बजे तेज बारिश शुरू हुई जो करीब 1 घंटे तक होती रही। बारिश के कारण फिर ग्राम की सड़कें तरबतर हो गई। सड़कों से पानी बह निकला। गांव के तलाई भी बहने लगी है।

यहां भी हुई तेज बारिश

लिंबावास. गांव लिंबावास में मंगलवार शाम को करीब १ घंटे तक तेज बारिश हुई। जानकारी अनुसार दो दिन मौसम खुला होने से क्षेत्र मे लोगों ने राहत की सांस ली थी। अब फिर से बारिश का दौर शुरु हो गया। लिंबावास, बुढा, नारायगढ सहित आसपास के क्षेत्र में कही एक घंटा तो कही आधा घंटा हुई बारिश जिसके चलते सड़के हुई। वहीं लिंबावास में अचानक शाम को चार बजे जोरदार बारिश शुरू हुई। जो करीब 1 घंटे तक जारी रही। इस बीच कई खेतों में पानी भर गया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts