Breaking News

बिना किसी आह्वान के जावद फिर रहा बंद

जावद। बिना किसी आह्वान के जावद नगर एक बार फिर बंद रहा है। समूचे नगर में कारोबार बंद रहने से त्योहार के मौके पर लोग चाय-नाश्ते और दवाई तक के लिए तरस गए। वहीं पुख्ता सुरक्षा इंतजाम के बीच नगर में ईद मिलादुन्नबी का जुलूस निकला है।

जिला मुख्यालय से 18 किमी दूर 20 हजार की आबादी वाला जावद नगर विखं मुख्यालय है, लेकिन 2015 से बिना किसी आह्वान के समूचा नगर वर्ग विशेष के त्योहारों पर बंद रहता है। बाजार खुलवाने की अब तक की जिला और पुलिस प्रशासन की कोशिश विफल रही है। शनिवार को बिना किसी आह्वान के जावद नगर बंद रहा। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच ईद मिलादुन्नबी का जुलूस निकला। जिला और पुलिस प्रशासन के अधिकारी पूरी मुस्तैदी के साथ मोर्चा संभाले नजर आए।

मेडिकल खोलने की मांग

मुस्लिम समाज के सलीम अब्बासी, शफी मेवाफरोश, बुंदू भाई, अशरफ मेवाफरोश, मुबारिक रंगरेज सहित अन्य लोगों ने एसडीओपी से मुलाकात की। उनसे मेडिकल खुले रखने की मांग की।

पूर्व में मंदसौर तक पहुंची थी नाराजगी

जावद से बंद की शुरुआत हुई थी, लेकिन यह आग नीमच-मंदसौर तक पहुंची थी। गरोठ, भानपुरा और आसपास के अन्य क्षेत्र भी बंद रहे थे। अब समय के साथ जावद, अठाना सहित अन्य कस्बे बंद रहते हैं।

बंद की शुरुआत का कारण

3 अप्रैल 2015 को नगर में हनुमान जयंती का चल समारोह निकल रहा था। तभी खुर्रा चौक क्षेत्र में एक धार्मिक स्थल से कुछ लोगों ने पथराव कर दिया था। इस घटना के बाद नगर में सांप्रदायिक विवाद की शुरुआत हुई थी। पुलिस और प्रशासन के स्थिति संभालने के बाद भी तीन दिन तक नगर में हालात असामान्य बने रहे थे। वरिष्ठ अधिकारियों ने तत्कालीन जावद टीआई पीयूष चार्ल्स सहित अन्य अधिकारियों पर कार्रवाई भी की थी।

अब तक यह कोशिशें-

– नगर के व्यापारियों की बैठक ली जा चुकी है। समझाइश भी दी गई।

– प्रशासन ने सख्त रूख अपनाते हुए आवश्यक वस्तु अधिनियम व खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत भी कार्रवाई कराई। सैंपलिंग कराई।

– तत्कालीन कलेक्टर-एसपी कई बार व्यापारियों के साथ बैठक कर चुके हैं। शांति समिति में संवाद स्थापित कर चुके हैं।

– जनप्रतिनिधि भी नागरिकों के साथ व्यापारियों से चर्चा कर चुके हैं।

‘ईद मिलादुन्नबी के मौके पर नगर बंद रहा है। मुस्लिम समाज के कुछ सदस्यों ने मेडिकल स्टोर खुले रखने की मांग की है। उन्होंने इस आशय के लिए एक पत्र दिया है। कोशिश करेंगे कि आगामी दिनों में मेडिकल स्टोर खुले रहें। अत्यावश्यक सेवा में होने के कारण मेडिकल स्टोर संचालकों को सूचना पत्र भी भिजवाएंगे। – नरेंद्र सोलंकी, एसडीओपी जावद

प्रशासन कोशिश कर चुका है

‘नगर में त्योहार के दौरान बाजार खुले रहे इसके लिए जिला व पुलिस प्रशासन कोशिश कर चुका है। लेकिन अब तक की कोशिश असफल रही है। लोग समझाइश के बावजूद कारोबार खोलने के लिए राजी नहीं है। सुरक्षा के लिए जिला व पुलिस प्रशासन अलर्ट रहता है। – गरिमा रावत, एसडीएम जावद

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts