Breaking News

बेस्ट ऑफ फाइव प्रणाली से होगी 6 विषयों की परीक्षा

Hello MDS Android App

मंदसौर। कक्षा 9वीं के परीक्षाफल में सीसीई की गतिविधियों का अधिभार दिया जाएगा। सत्र 2016-17 से कक्षा 9वीं में सतत् एवं व्यापक शिक्षा मूल्यांकन प्रक्रिया (बेस्ट ऑफ फाइव प्रणाली) लागू की गई है। इस मूल्यांकन प्रक्रिया के अंतर्गत विद्यार्थियों के वार्षिक परीक्षाफल निर्धारण के लिए परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए कुल अंकों के प्रतिशत में शैक्षिक क्षेत्र एवं सह- शैैक्षिक क्षेत्र के लिए निर्धारित किए गए है। इस पद्धति से विद्यार्थियों का न केवल पाठ्यपुस्तकों से अर्जित ज्ञान का अपितु अन्य जीवनोपयोगी दक्षताओं का भी आंकलन होगा।

33 प्रतिशत से कम अंक पर होंगे अनुत्तीर्ण
शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय प्राचार्य एवं समन्वयक पृथ्वीराज परमार ने बताया कि कक्षा 9वीं की वार्षिक परीक्षा में प्राप्तांकों की गणना हेतु बेस्ट ऑफ फाइव प्रणाली अपनाई गई है। इस प्रणाली में 6 विषयों की परीक्षा ली जाएगी उनमें से जिन 5 विषयों में विद्यार्थी को सबसे अधिक अंक प्राप्त होंगे, उन्हें अंको की गणना करते समय परिणाम में शामिल किए जाएंगें। उन्होंने स्पष्ट किया कि यदि किसी विद्यार्थी को त्रैमासिक, अद्र्धवार्षिक एवं वार्षिक परीक्षा में अधिभार देने के बाद किसी एक विषय या दो विषय में 33 प्रतिशत से कम अंक प्राप्त होते है तो उस विषय में पूरक की पात्रता होगी। दो से अधिक विषयों में 33 प्रतिशत से कम अंक होने पर विद्यार्थी को वार्षिक परीक्षाफल में अनुत्तीर्ण घोषित किया जाएगा।

भारत की तीन थीमों को किया शामिल
सतत् एवं व्यापक शिक्षा अन्तर्गत सह शैक्षिक क्षेत्र के लिए माह वार थीम में सबल भारत, गौरवमयी भारत, प्रखर भारत, प्रतिभाशाली भारत, समर्थ भारत, संकल्पित भारत, संस्कारित भारत आदि को शामिल किया गया है। गतिविधियों के अंतर्गत प्रश्नोत्तरी, हस्तशिल्प, काष्टकला, आशुभाषण, निबंध लेखन, विश्लेषण क्षमता परीक्षण, आकृति एवं तार्किक परीक्षण, मानसिक परीक्षण, चित्रकला, प्रोजेक्ट एवं मॉडल निर्माण, विज्ञान के अनुप्रयोग, लघुनाटक, लोक गीत आदि को सम्मिलित किया गया है। कक्षा 9वीं में त्रैमासिक परीक्षा के लिए 10 प्रतिशत, छ: माही परीक्षा के लिए 10 प्रतिशत, वार्षिक परीक्षा के लिए 60 प्रतिशत अधिभार एवं शेष 20 प्रतिशत बालसभा में सीसीई अंतर्गत विभिन्न गतिविधियों में अर्जित अंक का अधिभार दिया जाकर वार्षिक परीक्षाफल तैयार किया जाएगा।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *