Breaking News

भगवान पशुपतिनाथ मंदिर में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़, श्रावण मास का हुआ आगाज

मंदसौर। श्रावण मास का आगाज मनोकामना अभिषेक के साथ सोमवार को हुआ। इस अवसर पर भगवान पशुपतिनाथ मंदिर सहित जिले के अन्य सभी शिव मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ रही। शिवालयों में ‘हर-हर महादेव” के जयकारे गूंज उठे। पहले सोमवार से ही श्रावण मास की शुरुआत होने से भक्तों का तांता लगा रहा। श्री पशुपतिनाथ महादेव में सुबह से ही अभिषेक प्रारंभ हो गए। साथ ही ‘मनोकामना” अभिषेक भी प्रारंभ हुआ। श्री पशुपतिनाथ महादेव मंदिर में पुलिस व प्रशासन की विशेष व्यवस्थाएं रही है। शहर सहित जिले भर के शिवालयों में भक्तों के पहुंचने का सिलसिला देर रात तक चलता रहा।

सोमवार से श्रावण का महीना प्रारंभ हो गया इस बार श्रावण के पहले दिन ही सोमवार होने से भगवान पशुपति नाथ मंदिर सहित अन्य शिवालयों में भक्तों का तांता अलसुबह से ही लगना शुरु हो गया। और देर रात तक भक्त आते-जाते रहे। श्री पशुपतिनाथ महादेव मंदिर में भक्तों की सुरक्षा के लिए कई व्यवस्थाएं की गई। अल सुबह 4 बजे से श्री पशुपतिनाथ मंदिर गर्भगृह के पट खुल गए। भगवान पशुपतिनाथ महादेव का पहला अभिषेक सुबह 6 बजे से प्रात:कालीन आरती मंडल द्वारा किया गया। उसके बाद महाआरती हुई।

पशुपतिनाथ मंदिर के गर्भगृह के पट तड़के 4 बजे से खुल गए। भगवान पशुपतिनाथ महादेव का पहला अभिषेक सुबह 6 बजे से प्रातःकालीन आरती मंडल द्वारा किया गया। उसके बाद महाआरती हुई। इस दौरान बड़ी संख्या में श्रद्धालु मंदिर पशुपतिनाथ मंदिर पहुंच चुके थे। इस अवसर पर भगवान की प्रतिमा का आकर्षक श्रृंगार भी किया गया। कई श्रद्धालुओं ने महाआरती में भी भाग लिया। सुबह से लेकर रात्रि तक भगवान के दर्शनों के लिए श्रद्धालु आते रहे। जानकारी अनुसार सोमवार को करीब 25 हजार श्रद्धालुओं ने भगवान पशुपतिनाथ के दर्शन किए। गर्भगृह सहित पूरे मंदिर परिसर में पुलिस बल तैनात रहा।

मनोकामना अभिषेक हुआ प्रारंभ

गायत्री परिवार एवं सामाजिक संगठनों के तत्वावधान में भगवान श्री पशुपतिनाथ के श्रावण मास का 9वां मनोकामना अभिषेक का शुभारंभ सोमवार को हुआ। शुभारंभ संत श्री नित्यानंदजी महाराज, रामचैतन्यजी महाराज, देवानंदजी महाराज, महेश चैतन्यजी महाराज, रामशरणजी ब्रह्यचारी के सानिध्य में हुआ। संत नित्यानंदजी महाराज ने भगवान शंकर की आराधना का पवित्र मास श्रावण में मनोकामना अभिषेेक को दिव्य अनुष्ठान बताते हुए इसमें सम्मिलित होने वाले समस्त अभिषेकार्थियों की मनोकामना पूर्ति के लिए भगवान से मंगलकामना की। विधायक यशपालसिंह सिसौदिया ने कहा कि मनोकामना अभिषेक में आने वाले श्रद्धालुओं को अभिषेक के साथ ही भगवान पशुपतिनाथ के दर्शन का लाभ सहज ही प्राप्त हो जाता है। सामाजिक समरसता मंच के संरक्षक गुरूचरण बग्गा ने मनोकामना अभिषेक को भगवान शिव की आराधना का एक महत्वपूर्ण अनुष्ठान बताया। साथ ही जिलेवासियों से इस अनुष्ठान में भाग लेने की अपील की। प्रथम सोमवार को ही 500 अभिषेकार्थियों ने अभिषेक में भागीदारी की। अभिषेक दो पारियों में अभिषेक संपन्न हुआ। अभिषेक प्रतिदिन प्रथम पारी प्रात: 8 .30 बजे से तथा द्वितीय पारी प्रात: 11 बजे से होगी।

 

मनोकामना अभिषेक के मंत्रों से गूंज उठा परिसर

श्रावण के साथ ही मंदिर परिसर में ही मनोकामना अभिषेक प्रारंभ हो गया। गायत्री परिवार के विद्ववतजनों ने अभिषेक के मंत्रों से शुरुआत की। पहले दिन भी अनेक श्रद्धालु अभिषेक में शामिल हुए। इसके शुभारंभ पर विधायक यशपालसिंह सिसौदिया, भाजपा जिलाध्यक्ष देवीलाल धाकड़, गुरुचरण बग्गा सहित अनेक गणमान्य लोग भी शामिल है।

जागेश्वर मंदिर में हुआ महारूद्राभिषेक

शहर किला रोड पर नीम चौक स्थित प्राचीन जागेश्वर महादेव मंदिर में सुबह अभिषेक के बाद विशेष श्रृंगार हुआ। रात में संगीत कार्यक्रम व भजन संध्या भी हुई। श्रावण में प्रतिदिन सुबह 7.30 से 8.30 तक विद्वान पंडितांे द्वारा वैदिक मंत्रोच्चार द्वारा अभिषेक होगा।

पुलिस की माकूल व्यवस्था रही

सीएसपी राकेश मोहन शुक्ला ने बताया कि श्रावण सोमवार को देखते हुए पशुपतिनाथ मंदिर व शहर में सुरक्षा व्यवस्था के विशेष इंतजाम किए गए है। मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था को तीन सेक्टर में बांट कर जिम्मेदारों को प्रभार सौंपे गए है। सुबह से लेकर देर रात तक मंदिर में प्रवेश द्वार, गर्भगृह से लेकर निकासी द्वार व पूरे परिसर में पुलिस जवान तैनात रहे। शहर में मोबाइल टीम भी सक्रिय रही। पूरी व्यवस्था में करीब 150 से अधिक अधिकारी व जवान तैनात रहे।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts