Breaking News

भगवान पशुपतिनाथ महादेव के दरबार में सजा छप्पन भोग का नैवेद्य

महारूद्र पाठ, हवन, महाअभिषेक कर बाबा का हुआ आर्कषक श्रृंगार, उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

मंदसौर। रविवार को जग प्रसिद्ध भूतभगवान श्री पशुपतिनाथ महादेव मंदिर का नजारा बदला हुआ था, सुबह 8 बजें से ही हवन, पूजन, मंत्रोच्चार की गुज रह-रह कर पुरे परिसर में गुंजायमान हो रही थी। कई ध्वजा चढाने में व्यस्त था तो कोई पुरे मंदिर को फूलों से सजाने में मशगुल था, हर तरफ भक्ति का माहौल दिखाई दे रहा था। दोपहर 11.30 बजे भोले बाबा पशुपतिनाथ महादेव का महाअभिषेक पंचाम्रत से किया गया इसके बाद भांग, गन्ने के रस से भी  अभिषेक किया गया । दोपहर में भगवान का मनमोहक श्रृंगार कर बाबा को छप्पन भोग का नैवेद्य लगाया गया।

शिवना तट पर विराजित भगवान श्री पशुपतिनाथ महादेव को प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी छप्पन भोग का नैवेद्य 2 सितम्बर रविवार को लगाया गया। भगवान श्री पशुपतिनाथ प्रातः काल आरती मण्डल के सरंक्षक पं. दिलीप शर्मा, अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार, महासचिव ज्योति प्रकाश जाजपुरीया, प्रवक्ता जदीश पुरूसवानी, उमेश परमार ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि 56 क्विंटल छप्पन भोग को 1001 थाल में सजाकर बाबा को चढाया गया। भगवान का मनमोहक श्रंगार किया गया। सुबह 9 बजें विद्वान पंडित राकेश भट्ट के आर्चायरत में 51 पण्डितों की मण्डली द्वारा पूर्जा अर्चन की गई। मंदिर शिखर पर विशालकाय ध्वजा मण्डल के सदस्यों द्वारा पूजन अर्चन कर चढाई गई साथ ही परिसर में स्थित अन्य मंदिरों के शिखर पर भी ध्वजा चढाई गई। महाअभिषेक कर भगवान को फूलों, चंदन, अबीर, गुलाल, अक्षत्र, कमल के फूलों से विशेष श्रंगार किया गया। इसके बाद नाना प्रकार के शुद्ध देशी घी से बनी छप्पन भोग की मिठाईयॉं को नैवेद्य भगवान को अर्पण किया गया। इसके बाद महाआरती का अनूठा आयोजन किया गया। शंख, घडियाल, डमरू, ढोल, मजीरों बज उठे। शाम यह खाटु श्याम मित्र मण्डल नीमच की भव्य भजन संध्या भी शुरू हुई । छप्पन भोग महोत्सव में मण्डल के पदाधिकार सुबह से सक्रीय रहे।

 

इन मिठाईयां बढाई शोभा . नैवेद्य में इस वर्ष यह मिठाईयां प्रमुख रूप से बनाई गई है। जिन्हे गर्भग्रह में सजाया गया जिसमें मख्खन बडा, केसर रोल, मोहननाथ, चन्द्रकला, मोतीपाक, मेसुरपाकर, ईमरती, खोपरापाक, काला जामुन, भांग पेडे, मटेडी, घेवर, मालपुए, रबडी, मिटी कचोरी, बेसन चक्की, उडद की फिनी, सलामी पेडे, बेसन पपडी, अजनवाईन पपडी, खट्टा मिट्टा मिक्चर, खीर, पुडी, दाल, बिडे, सहित 15 तरह के छोटे बडे लड्डु साथ ही भांग के पेडो ने शोभा बढाई ।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts