Breaking News

भगवान पशुपतिनाथ महादेव मंदिर में उमड़ा श्रृ़द्धा का सैलाब

-शहर सहित अंचलभर से आए भक्त, ओम शिवाय के मंत्रों से गूंज उठे शिवालय

मंदसौर। सावन का पहले सोमवार को विष्व विख्यात भगवान पशपतिनाथ के दरबार में श्रृद्धा का सैलाब उमड़ा। शहर व जिले सहित दूरस्थ अंचलों से भक्त बाबा पशुपतिनाथ की अद्वितीय अष्टमुखी प्रतिमा के दर्शनों हेतु मंदसौर पहुंचे। सोमवार शाम को प्रतिमा का नयनाभिराम श्रृंगार भी किया गया।

सुबह से ही शहर के पशुपतिनाथ मंदिर, नीलकंठ महादेव, भुतेश्वर महादेव, तापेश्वर महादेव, धोलागिरी महादेव, घुम्टेश्वर महादेव, धनेश्वर महादेव, जलेश्वर महादेव, अवलेश्वर महादेव सहित तमाम मंदिरों पर भी श्रावण के भक्तों का आवागमन शुरू हो गया था। कोई भगवान शंकर को मनाने नंगे पैर शिवलयों तक पहुंचा तो किसी ने दिनभर निराहार रहकर भोले की भक्ति की। इसी तरह कई लोगों ने अपने घरों के आसपास स्थित शिवलयों पर महाभिषेक करवाकर शिव का आर्शीवाद लिया। पशुपतिनाथ मंदिर में भी अल सुबह से भक्तों का आवागमन शुरू हो गया, जो रात तक अनवरत जारी रहा। सुबह और शाम में जहां स्थानीय भक्तों का तांता लगा रहा, वहीं बाहर से आने वाले अधिकांश श्रद्धालुओं ने दोपहर में अष्टमुखी प्रतिमा के दर्शन कर बाबा को जल चढ़ाया और मनोकामना मांगी। भक्तों की भीड़ इतनी थी कि पशुपतिनाथ मंदिर के गर्भगृह में पैर रखने की भी जगह नहीं थी। इसके चलते मंदिर प्रबंध समिति व पुलिस बल के माध्यम से दर्षनों हेतु गर्भगृह में व्यवस्थाएं जुटाई जा रही थी।

मनोकामना अभिषेक में उमड़े भक्तवैसे तो हर श्रावण मास में हर दिन मनोकामना अभिषेक में भक्तों का तांता लगा रहता है, लेकिन आध्यात्मिक दृष्टि से श्रावण सोमवार का अपना अलग ही महत्व है। इसके चलते मनोकामना अभिषेक में सोमवार को बड़ी संख्या में भक्त उमड़े। नगर के अलावा अनेक बाहर से आए भक्तों ने भी मनोकामना अभिषेक में जोड़े से भाग लेकर आशुतोष भगवान पशुपतिनाथ के समक्ष अपनी मनोकमना रखी।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts