Breaking News

भगवान महावीर की रथ यात्रा निकली

जन्म दिवस पर मंदिरजी में लगाएं दीपक-आचार्य श्री चन्द्रसागरजी महाराज

मन्दसौर। जनकुपुरा स्थित श्री दिगम्बर जैन महावीर जिनालय का स्थापना दिवस दो दिवसीय धार्मिक कार्यक्रमों के हर्षोल्लासपूर्वक मनाया गया।  आयोजन के समापन अवसर पर प.पू. 108 आचार्य श्री चन्द्रसागरजी महाराज के सानिध्य में जिनालय से भगवान महावीर की रथयात्रा निकाली गई। रथयात्रा से पूर्व हुई धर्मसभा में आचार्यश्री अपने प्रवचनों में कहा कि जिनालयों के स्थापना दिवस धर्ममय वातावरण में मनाए जाने से युवा पीढ़ी धर्म की ओर अग्रसर होती है। आपने कहा जैसे लोग अपना जन्मदिन मनाते है। वैसे ही मंदिर का जन्मदिवस है। आचार्य श्री ने बताया कि जन्मदिन पर केक काटना व मोमबत्ती बुझाना पाश्चात्य संस्कृति का अंधानुकरण है। आपने कहा कि जन्मदिन पर मन्दिरों में जाकर भगवान के समक्ष दीपक लगाना चाहिये ना कि बुझाना चाहिये। आपने बताया कि केक पर उस व्यक्ति का लिखा नाम आप चाकू से काट देते हो अर्थात प्रतीक रूप में आप उसकी हत्या के दोषी बन गए। इससे अनंतानंत पाप का आश्रव होता है।  रथयात्रा के मार्ग मे स्थान-स्थान पर साधर्मीजनों ने भगवान की पूजन आरती की। महिलाओं ने भक्तिनृत्य किये। महिला मण्डल सदस्यों ने एक जैसे परिधान में पंक्तिबद्ध चलते हुए रथयात्रा की शोभा बढ़ाई। समाजजन भगवान महावीर के जयकारे लगाते हुए चल रहे थे।

इस अवसर पर सकल जैन समाज अध्यक्ष सज्जनलाल जैन, सकल दिगम्बर जैन समाज अध्यक्ष राजकुमार पाटनी, महावीर जिनालय ट्रस्ट अध्यक्ष शांतिलाल बड़जात्या, सचिव सुरेश कुमार पाटनी, कोषाध्यक्ष पं. अरविंद जैन सहित बड़ी संख्या में समाजजन रथयात्रा में सम्मिलित हुए।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts