Breaking News

भगवान श्री पशुपतिनाथ मंदिर मार्ग में बाधा बन रहे मकान को तत्काल हटावे

नपा ने मेला लगने से पूर्व हटाने का दिया था आश्वासन

मन्दसौर। कांग्रेस पार्षद एवं पूर्व नेताप्रतिपक्ष शाकेरा खेड़ीवाला ने बताया कि नगरपालिका के साधारण सम्मेलन दिनांक 20 सितम्बर 2017 को भगवान श्री पशुपतिनाथ मेले के बजट प्रस्ताव में बहस करते हुए मैंने मांग की थी कि लक्कड़पीठा ओव्हरब्रिज पर जाने हेतु धानमंडी में बाधा बन रहे मकान को मेला लगने से पूर्व तत्काल हटाया जावे क्योंकि 8 जनवरी 2010 के नगरपालिका के साधारण सम्मेलन में तत्कालीन कांग्रेस पार्षद युसुफ खेड़ीवाला ने एक प्रस्ताव प्रस्तुत करते हुए कहा था कि महाराणा प्रताप बस स्टेण्ड से भगवान श्री पशुपतिनाथ मंदिर तक सीधा मार्ग बनाया जाना आवश्यक है तब परिषद् में सर्व सम्मति से यह प्रस्ताव पास हुआ था। परन्तु इस प्रस्ताव पर अमल होते-होते पांच वर्ष लग गये तथा 2015 में लक्कड़पीठा ओव्हरब्रिज लिंक पुल व शिवना पुल तीनों 25 करोड़ की लागत से बनकर तैयार हुए। परन्तु अफसोस इस बात का है कि पिछले दो वर्षों से निर्मित इस मार्ग का पुरी तरह उपयोग नहीं हो पा रहा है। लक्कड़पीठा ओव्हरब्रिज तो मात्र पार्किग बन कर रह गया है। प्रस्ताव वर्ष 2010 में जिस भावना व मंशा के साथ रखा गया था वह पास हुआ था उसका कोई अर्थ ही नहीं रह गया है क्योंकि इस मार्ग में धानमण्डी पर एक मकान बाधा बना हुआ है जिसे दो वर्षों से नगरपालिका मात्र नोटिस देकर व चर्चा चल रही है कहकर हटा नहीं पा रही है। अधिग्रहण की कार्यवाही नगरपालिका द्वारा शुरू भी नहीं की गई है।

इस बहस का जवाब देते हुए नगरपालिका अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार ने परिषद् को आश्वस्त किया था कि भगवान श्री पशुपतिनाथ मेले से पूर्व इस मकान को हटाकर मार्ग चालु कर दिया जायेगा। इसके बाद कांग्रेस पार्षदगण मुख्य नगरपालिका अधिकारी सविता प्रधान से भी मिले थे, तब उन्होंने 15 दिन के अंदर मकान हटाने का आश्वासन दिया था। इन आश्वासनों के बावजूद न तो मकान केा हटाया गया है, केवल मात्र मकान मालिकों को 15 नवम्बर तक मकान खाली करने का नोटिस देकर सभी को आश्वस्त करने की कोशिश की जा रही है कि मकान हट जायेगा। 20 नवम्बर तक मेला ही समाप्त हो जायेगा व इस प्रकार इस मुद्दे को पुनः ठण्डा कर दिया जाएगा।

महाराणा प्रताप बस स्टेण्ड से सीधा भगवान श्री पशुपतिनाथ मंदिर तक मार्ग होना अति आवश्यक है क्योंकि मंदसौर शहर में भगवान श्री पशुपतिनाथ मंदिर पहुंचने के लिये सीधा व सुलभ मार्ग इतने वर्षों में नहीं है। मंदिर जिस प्रकार से भव्य है व उसके आसपास का विकास और पहुंच मार्ग भी मंदिर के हिसाब से होना आवश्यक है। महाराणा प्रताप बस स्टेण्ड से पशुपतिनाथ मंदिर तक सीधा मार्ग उपलब्ध होने के बाद सभी दर्शनार्थी नगर के इस मार्ग का ही उपयोग करेंगे। जिससे मंदसौर शहर के व्यापार व्यवसाय को लाभ होगा साथ ही सदर बाजार जैसे मुख्य मार्ग  पर जो जाम लगता है वह स्थिति भी समाप्त होगी।

ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष एवं पार्षद मो. हनीफ शेख, कांग्रेस पार्षद शाकेरा खेड़ीवाला, इस्माईल मेव, विजय गुर्जर, डिकपालसिंह भाटी, संगीता शर्मा, रंजना सुदीप पाटील, दीपिका खिंची, राजेन्द्र सोपरा, रूपल संचेती, सबीना आसिफ छीपा, नाजिया आरीफ बेग, रूकसार गोरी, मुमताज बी, हाजी रसीद, नारायण कुराडि़या, पूर्व पार्षद अशोक रैकवार, तरूण खिंची, राजेश बंधवार, शैलेन्द्र बघेरवाल, लियाकत नीलगर, संजय राठौर, जगदीश जटिया, सलीमुद्दीन शेख आदि ने कलेक्टर से मांग की है कि श्री पशुपतिनाथ मंदिर मार्ग में बाधा बन रहे मकान को तत्काल अधिगृहित कर हटाया जावे अन्यथा कांग्रेस पार्षद एवं पूर्व पार्षदों को आंदोलन के लिये मजबूर होना पड़ेगा।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts