Breaking News

भारत पेंशनर्स समाज ने कलेक्टर को ज्ञापन देकर पेंशन दिलाने की मांग की

Story Highlights

  • 70 वर्षीय महिला को 10 वर्ष से बैंक द्वारा नहीं दी जा रही परिवार पेंशन

मन्दसौर। भारतीय स्टेट बैंक मुख्य शाखा मंदसौर द्वारा श्रीमती बिटाणुबाई को परिवार पेंशन का भुगतान 10 वर्ष से अधिक समय से नहीं हो पाया है। 70 वर्षीय बिटाणुबाई पेंशन के लिये कई बार बैंक व कोषालय के चक्कर काट चुकी है लेकिन आज तक उसे परिवार पेंशन नहीं मिल पाई।
भारत पेंशनर्स समाज जिला शाखा मंदसौर के अध्यक्ष सी.एम. जोशी एवं उपाध्यक्ष ऋषभकुमार कोठारी ने बताया कि बिटाणुबाई परिवार पेंशन लेने के लिये 10 वर्ष से बैंक में उपस्थित नहीं हो सकी। सात वर्ष से अधिक समय तक बैंक में अनुपस्थित रहने पर बैंक द्वारा उसे मृत मानकर पेंशनर के खाते में पेंशन जमा करना बिना किसी अधिकृत सूचना के बंद कर दिया गया। उक्त प्रक्रिया से अनभिज्ञ बिटाणुबाई 1 मार्च 2017 को बैंक में उपस्थित होकर पंेशन की मांग की तो बैंक अधिकारियों द्वारा पेंशन देने से इंकार कर दिया व कहा कि उनकी परिवार पेंशन बंद कर दी है। जबकि नियमानुसार 6 वर्ष से अधिक अनआहरित पेंशन के भुगतान का प्रावधान है। इस नियम की अवहेलना करते हुए बैंक द्वारा पेंशनर की पेंशन जमाकर उसका भुगतान नहीं किया जा रहा है और ना ही कोई सहायता कर अथवा विधिवत मार्गदर्शन पेंशनर को दिया जा रहा है। पेंशनर से इस संबंध में जिला कोषालय से भी सम्पर्क किया जिस पर वहां से बैंक को पेंशन भुगतान हेतु लिखा गया।
पेंशन नहीं मिलने पर बिटाणुबाई ने भारत पेंशनर्स समाज के पदाधिकारियों से सम्पर्क किया गया। जिस पर अध्यक्ष सीएम. जोशी, प्रभारी अध्यक्ष जी.के. शर्मा व उपाध्यक्ष ऋषभ कोठारी, संगठन मंत्री धर्मवीर गुप्ता ने कलेक्टर को एक ज्ञापन दिया तथा बिटाणुबाई की समस्या से अवगत कराया। भारत पेंशनर समाज ने कलेक्टर से मांग की कि 6 वर्ष से अधिक अवधि तक अनआहरित पेंशन का भुगतान कोषालय संहिता के सहायक नियम 387 में प्रावधान किया गया है। तद्अनुसार बैंक को निर्देशित कर भुगतान कराया जावे। कलेक्टर ने इस संबंध में कार्यवाही का आश्वासन दिया गया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts