Breaking News

भूतभावन भगवान श्री पशुपतिनाथ मंदिर सहित आज शिवालयों में उमडेगा जन सैलाब

महारूद्र्राभिषेक, चारों पहर की चार विशेष आरतीसभी शिवालयों में की गई है आकर्षक विद्युत साज सज्जा

मंदसौर। आज सोमवार को शिवालयों में शिवभक्तों की महाशिवरात्रि पर्व पर अपार भीड उमडेगी, सैकडो, नर-नारी बढ-चढकर पूजा अर्चना अभिषेक में भाग लेकर धर्मलाभ लेगें, शिवना तट पर विराजित जगप्रसिद्ध भूत भावन भगवान श्री पशुपतिनाथ महादेव मंदिर पर सुबह 04 बजे गर्भगृह के पट खुलेगे तथा प्रातः 6 बजे विशेष पूजन अभिेषेक किया जाएगा, रात्रि में चार पहर के चार रूद्राभिषेक, चार आरती होगें।

भगवान श्री पशुपतिनाथ प्रातःकालीन आरती मण्डल के सरंक्षक प.दिलीप शर्मा, महासचिव ज्योतिप्रकाश जाजपुरीया प्रवक्ताद्य जगदीश पुरूषवानी, उमेश परमार ने बताया कि इस वर्ष भगवान शिव के प्रियवार सोमवार 4 मार्च को महाशिवरात्री का संयोग बना हैं, इस दिन भगवान श्री पशुपतिनाथ महादेव की अष्टमुखी प्रतिमा का पहला अभिषेक मण्डल की ओर से प्रातः 06 बजे किया जाएगा शिवरात्रि पर्व पर भूतभावन भगवान की रात्रिकालीन पूजा-अर्चना का विशेष महत्व होता हैं, उन्होने बताया कि इसी क्रम में आरती मण्डल की ओर से रात के चारो पहर में चार अभिषेक तथा चार विशेष आरती के आयोजन होगें रातभर मंदिर में भजन-कीर्तन चलेगें शिवरात्रि पर ग्रामीण क्षेत्रों से कई भजन मण्डलियां यहां आती हैं इसके अलावा नगर के कई शिवभक्त रात्रिकालीन पूजा-अर्चना में शामिल होते हैं, रातभर शिवभक्ति का अनूठा संगम यहा दिखाई देता है।

मण्डल के विष्णु नारायण कश्यप, लोकेन्द्र भटनागर, राजेन्द्र हेडा, गोपाल व्यास, सुरेन्द्र चौहान, गोटू, चन्द्रप्रकाश शर्मा, छोटू, अनिल मसानिया, राम राठौर, सुनिल महाबली, बाबू गुर्जर, राजु परमार, विक्की गौसर, राजू लालवानी, राजेश राठौर, राजेश सोलंकी, लोकेन्द्र कुमावत, किशन व्यास, मनजित सिंह जेठडा, पप्पु चंदवानी, सरवेश्वर चौधरी, अशोक मोरधानी, कमलेश सिसौदिया, जगदीश पालीवाल, दिलीप पालीवाल, सूरज बैरागी, सुनिल कुमावत, मेक कुमावत, प्रवीण कुमावत, सोनू गुर्जर, महेश परमार, अजय बसेर, अरिवन्द मेहता, श्याम भावसार, मिथुन वप्ता, स्नेहील शर्मा, शैलन्द्रसिंह राठौर, वैभव मराठा, राजकुमार पोरस, के.सी. जोशी, गोलु शाह, गज्जु साहू, अशोक लावाणी, आदित्य मारोठिया, प्रवीण शर्मा, राजु भाई सतिदाशानी, मयंकपूर्ण बैराठी, पुखराज सोनी, कुणाल कश्यप, आशीष गुप्ता, संजय तुगनावद, दिनेश सेवानी, अनिल सोनी, अशोक आइका, अंकित हेडा, रवि अग्रवाल, किशोर शास्त्री, आदि ने सुबह व रात्रिकालीन आयोजनो में भाग लेकर धर्माजनों से धर्मलाभ लेने का आहवान किया।

रातभर होगा विशेष श्रृंगार

मण्डल प्रवक्ता उमेश परमार ने बताया कि, भगवान आशुतोष की रात्रिकालीन आराधना के संदर्भ में रात्रि 10 बजे से पूजन कर महारूद्रपाठ श्ुरू होगा और फिर भी अभिषेक शुरू किया जावेगा, रातभर प्रतिमा का विशेष श्रृंगार किया जाएगा चारो अभिषेक व आरती के समय प्रतिमा का श्रृंगार बदला जाएगा हर बार आकर्षक नयनाभिराम श्रृंगार किया जाएगा एवं धर्मालुजनों को प्रसाद वितरित किया जाएगा।

सभी शिवलायों में आकर्षक विद्युत साज सज्जा की गई

मंदसौर नगर के अति प्राचीनतम शिवालयों जिनमें नीलकण्ड महादेव, जागेश्वर महादेव, भूतेश्वर महोदव, अमलेश्वर महादेव, विश्वपति महादेव, तापेश्वर महादेव, बडकेश्वर महादेव, वटकेश्वर महादेव, मंछाूपर्ण महादेव, भूरीया महादेव, जलेश्वर महादेव, सिद्धेश्वर महादेव, अभिनन्देश्वर महादेव, नरबदेश्वर महोदव सहित अनेक मंदिरो में साफ सफाइ कर विशेष विद्युत साज सज्जा आज महाशिवरात्री के पर्व को लेकर की गई है इन शिवालायों में प्रसादी एवं ठंर्डाई की व्यवस्था भी की गई है।

अखण्ड रामायण पाठ का आयोजन शुरू

सर्किट हाउस के समीप पशुपतिनाथ मंदिर द्वार के यहां स्थित भटनागर कृषि फार्म हाउस पर स्थित अति प्राचीन नर्बदेश्वर महोदव मंदिर पर पंपरानुसार तीन दिवस की अखण्ड रामायण पाठ का आयोजन विधि विधान से रविवार को शुरू हुआ, यहां अखण्ड रामायण का पाठ तीन दिवस तक चलेगा व महाशिवरात्री पर्व पर विशेष संपुट के साथ चौपाईयों का अनुवादन भजन मंडलियों द्वारा किया जावेगा। राम जी लोकेन्द्र भटनागर ने बताया कि, नर्बदेश्वर महादेव मंदिर पर विगत 36 वर्षो से महाशिवरात्री के उपलक्ष्ण् में अनवरत्त रूप से पाठ होता चला आ रहा है यहां इस वर्ष भी पाठ शुरू हो गया हैं, 5 मार्च के दिन पूर्णावर्ति होगी और 6 मार्च को महाप्रसादी का आयोजन किया जावेगा, उन्होंने धर्मलाभ लेने का आहृ्वान किया।

आज पर्व पर भी रेलिंग के अंदर प्रवेश नहीं कर पाएंगे भक्त

आगामी त्योहारों को ध्यान में रखते हुए शनिवार को कलेक्टर धनराजू एस की अध्यक्षता में शांति समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक के दौरान निर्देश देते हुए सभी समुदायों को कहा कि आगामी महाशिवरात्रि के पर्व को ध्यान में रखते हुए महाशिवरात्रि पर्व के दिन पशुपतिनाथ मंदिर के गर्भगृह में रेलिंग के अंदर श्रद्धालुओं को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। मंदिर की व्यवस्था ना बिगड़े इसके लिए श्रद्धालु रेलिंग के बाहर से भगवान पशुपतिनाथ का दर्शन करेंगे।

कोई भी श्रद्धालु नहीं होगा वीआईपी

मंदिर में प्रवेश करने के दौरान सभी श्रद्धालुओं को एक समान समझा जाएगा। किसी भी श्रद्धालुओं को विशेष प्रकार की सुविधाएं प्रदान नहीं की जाएगी। पशुपतिनाथ मंदिर पर सीसीटीवी कैमरे चालू रहेंगे। चेन स्कैनिंग न हो इसके लिए विशेष पुलिस व्यवस्था की जाएगी। समाजजन किसी प्रकार की कही पर भी कोई संदिग्ध चीज होने पर तुरंत पुलिस को बताएं। जिससे उचित कार्यवाही की जा सके।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts