Breaking News

भोपाल कार्यशाला में प्रदेश भर के 6 हजार से अधिक फार्मासिस्ट ने लिया भाग

फार्मासिस्ट समाज और चिकित्सक के बीच की महत्वपूर्ण कड़ी-प्रो. उपमन्यु

मन्दसौर। म. प्र. फार्मेसी कौंसिल द्वारा आयोजित एक दिवसीय रिफ्रेशर कार्यशाला का आयोजन भोपाल के समन्वय भवन में किया गया। स्वास्थ्य विभाग की ए. सी. एस. गोरी सिंह सहित पूर्व मंत्री  बाबूलाल जैन, जन अभियान परिषद् के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रदीप पांडे, फार्मेसी कौंसिल के अध्यक्ष ओमप्रकाश जैन एवं  कौंसिल रजिस्ट्रार सुरभि तिवारी उपस्थित रही। इस कार्यक्रम में प्रदेश के लगभग 6000 फार्मासिस्ट उपस्थित थे।
कार्यशाला को संबोधित करते हुए प्रो. निरज उपमन्यु ने कहा कि फार्मासिस्ट समाज और चिकित्सक के बीच की एक महत्वपूर्ण कड़ी है जिसका संबंध सीधे-सीधे तौर पर व्यक्ति के जीवन से जुडा होता है शायद इसीलिए कहा जाता है कि ‘जहाँ दवा वहाँ फार्मासिस्ट’।
कौंसिल के अध्यक्ष ओम प्रकाश जैन ने कहा कि पहली बार कौंसिल कमरे से निकल कर बाहर आई है । फार्मासिस्टो के हितो हेतु सतत प्रयास हो रहे है जैसे ऑनलाइन प्रक्रिया आदि और आगे भी जारी रहेगे। मै सदैव फार्मासिस्ट साथियो के साथ खडा हू। एमपीपीए और पीपीए एसोसिएशन द्वारा कुछ मांगे भी रखी गई जिसमे फार्मासिस्ट को प्राथमिक उपचार करने की अनुमति दी जाए, प्रथक संचालनालय बनाया जाए, फार्मेसी कौंसिल के चुनाव कराए जाय, मानदेय, नियमतिकरण, फार्मेसी एक्ट 1948 सख्ती के साथ लागू हो। फार्मासिस्ट की तमाम समस्याओं को सबके सामने रखा गया। अंत में ए.सी.एस. गोरी सिंह को ज्ञापन भी देकर मांग की कि फार्मासिस्ट समाज का एक जिम्मेदार व्यक्ति होता है जो अलग अलग क्षेत्रो मे चाहे मेडिकल स्टोर्स, दवा कंपनी,शासकीय दवा वितरण केन्द्रो मे सक्रियता के साथ काम करते है अतः सभी विषयो पर गंभीरता से विचार विमर्श करके सरकार के सामने पक्ष रख कर उचित निर्णय लिये जाए।
समापन पर कौंसिल की  रजिस्ट्रार सुरभि तिवारी ने आभार व्यक्त किया और कहा कि सभी रजिस्टर्ड फार्मासिस्ट कौंसिल द्वारा आयोजित आगे की रिफ्रेशर कोर्स मे इसी तरह उपस्थित हो कर कौंसिल का सहयोग प्रदान करे। उक्त जानकारी फार्मासिस्ट दीपक मिश्रा ने दी।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts