Breaking News

मंदसौर ओडीएफ प्लस घोषित पर आज भी खुले मे शौच जारी

मंदसौर। प्रधानमंत्री स्वच्छता अभियान के अंतर्गत यूं तो मंदसौर शहर को ओडीएफ सिटी (खुले में शौच मुक्त नगर) व ओडीएफ प्लस घोषित किया जा चुका है। हकीकत में यहां अब भी लोग खुले में शौच कर रहे हैं। नगर के विभिन्न क्षेत्रों में यह स्थिति है। धानमंडी क्षेत्र के तो व्यापारी तक इस विषय में नपा को दो बार आवेदन कर सूचित कर चुके हैं। नपा ने अब तक इस पर कोई ध्यान नहीं दिया। यहां के सैकड़ों गरीबों के घरों मे शौचालय नही हैं। औरतें, बच्चे, पुरुष, सब खुले मे शौच जाते हैं।  सब नदी किनारे मैदान में शौच के लिए जाते हैं। महिलाओं के साथ अक्सर छेड़छाड़ की घटनाएं होती हैं।  चारों तरफ शौच जाने वालों की लाइन लगती है। आवेदन करने के बावजूद नगरपालिका ने शौचालय नहीं बनवाए। इसके बावजूद नगरपालिका परिषद और जिला प्रशासन ने इसे ओडीएफ प्लस घोषित कर दिया है।

यूं तो मंदसौर नगर को जनवरी 2017 में ही ओडीएफ सिटी घोषित कर दिया है। यह घोषणा टीपीआई (थर्ड पार्टी इन्स्पेक्शन) द्वारा नगरपालिका क्षेत्र के हजारी रोड, किटियानी के स्लम एरिया, मयूर कॉलोनी, कैलाशनगर के आवासीय क्षेत्र, सदर बाजार, बस स्टैंड के कमर्शियल एरिया, फिरदौस स्कूल खानपुरा, मां संतोष ज्ञान स्कूल व शिवना नदी के पास स्पेशल लोकेशन पर निरीक्षण कर किया गया। इसके बाद भी नगर के कई क्षेत्र ऐसे हैं जहां अब भी लोग खुले में शौच कर रहे हैं। धानमंडी क्षेत्र में लाेगाें द्वारा खुले में शौच करने से परेशान होकर व्यापारियों ने 18 नवंबर 2017 को एवं 14 मार्च 2018 को आवेदन देकर खुले में शौच से आ रही परेशानी से अवगत कराया था। व्यापारियों के अनुसार क्षेत्र में साफ-सफाई नहीं होने व रहवासियों द्वारा खुले में शौच करने से वातावरण दुर्गंधभरा हो जाता है। धानमंडी स्थित व्यापारी अशोक कामरिया और व्यापारी आदित्य मालू ने बताया खुले मे शौच को लेकर स्वच्छता एप व नपा दोनों में आवेदन दिया है लेकिन हालात वही के वही हैं। अब तक कोई निदान नहीं हुआ। इसी प्रकार शिवना किनारे भी लोग खुले में शौच कर रहे हैं।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts