Breaking News

मंदसौर की एक पंचायत प्रदेश में अव्‍वल

स्वकराधान योजना में सरकार 5 लाख रुपए से अधिक वसूली करने वाली पंचायत को वसूली राशि से दोगुना राशि प्रोत्साहन में देती है। दलौदा को वसूले 35 लाख पर 70 लाख मिलने जा रहे हैं। राशि विकास पर खर्च होगी। इसी से प्रेरित होकर क्षेत्र में नए उद्योग भी लगातार दस्तक दे रहे हैं। जिला मुख्यालय से 17 किमी दूर 20 वार्डों वाली ग्राम पंचायत दलौदा की आबादी 11500 है। सरपंच विपिन जैन ने 22 महीने के कार्यकाल में 2800 मकानों वाली पंचायत ने टैक्स वसूली राशि 69 लाख रुपए कर ली है। कुछ नया करने की शुरुआत के तौर पर उन्होंने हाट बाजार व प्रगति चौराहा पर दुकानों का निर्माण कराया, यहां करीब 40 हजार रुपए महीना किराया का स्थायी आमदनी का स्त्रोत तैयार किया। कुछ दुकानों की नीलामी से प्राप्त राशि को वार्डों में सीसी रोड, बिजली पोल, स्ट्रीट लाइट, पेयजल की नई लाइन सभी वार्डों में बिछाने के साथ नल कनेक्शन दिए हैं। दलौदा में हर घर में 35 किलो कचरा संग्रहण के मान से बड़ा डस्टबिन मुफ्त दिया है।

इन वसूलियों से हर साल हो रहा 25 लाख का इजाफा

लोगों के सुझाव से ही सब संभव हुआ, 65 गलियां रोड बनी

पिछले साल पंचायत टैक्स वसूली में प्रदेश में अव्वल थी, इस बार 35 लाख वसूल हो चुके हैं। लोगों को सुझाव से ही संभव हो पाया है। दलौदा की 65 गलियों में रोड बन गए हैं। 700 पाेल पर एलईडी लगा चुके हैं। कई हिस्सों में नई लाइन डालकर 400 नए नल कनेक्शन दिए। हर घर स्वच्छता मुहिम से जुड़ा है। बिजली, पानी जैसी परेशानी अब नहीं है। लोगों के सुझाव से ही सब संभव हो पाया है। विपिन जैन, सरपंच ग्राम पंचायत दलौदा

बरसों से पंचायत की आमदनी 8 से 10 लाख सालाना रही। 11 मार्च 2015 को विपिन सरपंच बने। उन्होंने आय के नए स्त्रोत से 2015-16 में 34 लाख वसूले और इस साल 35 लाख वसूले हैं। मूलभूत समस्याएं खत्म हुई तो लाेगों को टैक्स भरने की समझाइश का असर भी दिखा। पंचायत अब प्रकाशकर, भवन कर, जमीन नामांतरण, भवन अनुमति, विज्ञापन शुल्क, नीलामी पर लगातार काम कर रही है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts