Breaking News

मंदसौर की बिटियां की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत पर

कड़ी कार्यवाहीं की मांग को लेकर ज्ञापन सौपा

मंदसौर। राजस्थान के भीलवाड़ा जिले के ग्राम बिगोद में अग्रवाल समाज मंदसौर के सुरेश गोयल की बिटियां ज्योति अग्रवाल की संदिग्ध परिस्थितियों में मृत्यु होने पर परिजनों के साथ अग्रवाल समाज सहित शहर के गणमान्यजनों ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के नाम एक ज्ञापन पुलिस कंट्रोल रूम पर नगर पुलिस अधीक्षक राकेश मोहन शुक्ला को सौपा और दोषियों पर कड़ी कार्यवाहीं की मांग की। ज्ञापन लेकर नगर पुलिस अधीक्षक ने तत्काल इस सम्बन्ध में भीलवाड़ा पुलिस अधीक्षक डॉ रामेश्वर सिंह से चर्चा की और  परिजनों और मंदसौर के अग्रवाल समाज व गणमान्यजनों के आक्रोश से अवगत कराया। उधर घटना की जानकारी जैसे ही परिजनों ने समाज अध्यक्ष नरेन्द्र अग्रवाल और समाजसेवी सुनिल बंसल को दी उन्होने तत्काल सांसद सुधीर गुप्ता को अवगत कराया जिस पर श्री गुप्ता ने दुरभाष पर भीलवाडा सांसद सुभाष बहेडिया और पुलिस अधीक्षक से चर्चा कर घटनाक्रम से अवगत कराया।

मृतक ज्योति का अंतिम संस्कार 22 अगस्त को मंदसौर में होने के बाद आज उठावना स्थानीय महाराजा अग्रसेन मांगलिक भवन नरसिंह पूरा में सम्पन्न होने के बाद परिजनों के  साथ बड़ी संख्या में अग्रवाल समाज, शहर के गणमान्यजन और महिलाओं के साथ शहर की सड़कों पर प्रदर्शन निकालकर पुलिस कंट­ोल रूम पहुंचे, इस दौरान मंदसौर की बेटी को न्याय मिले के नारे लगाये जा रहे थे। कंट्रोल रूम पर सौपे ज्ञापन में  बिटियां ज्योति के पिता सुरेशचन्द्र गोयल द्वारा कहा गया कि उनकी बेटी ज्योति का विवाह 6 वर्ष पूर्व भीलवाड़ा जिले के बिगोद निवासी रमेंशचन्द्र नागोरी के बेटे दीपक से हुआ था। विवाह के बाद से पति, सास, ससुर, देवर, देवरानी और परिजन लगातार दहेज के लिये प्रताड़ित कर मारपीट करते थे। इस बात की जानकारी ज्योति ने दूरभाष पर व मंदसौर आने के दौरान कई बार बताई थी। जिसके बाद अनेक बार पति, सास, ससुर, देवर और देवरानी को समझाया था लेकिन उनकी आदत में कोई परिवर्तन नहीं हुआ। 21 अगस्त को उन्हें अपने जवाई मुकेश अग्रवाल निवासी गाडरवाड़ा राज.से सूचना मिली की ज्योति को उसके ससुराल वालों ने जहर देकर मार दिया है जो भीलवाड़ा अस्पताल में है।सूचना मिलते ही हम वहां पहुंचे तो ज्योति की मौत हो चूकी थी लेकिन उसके  पास  उसका पति, सास, ससुर सहित ससुराल पक्ष से कोई भी मौजूद नहीं था। मेरी बेटि को जहर देकर मारने वालों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर कठोर से कठोर कार्यवाहीं की जाये। ज्ञापन का वाचन अग्रवाल समाज अध्यक्ष नरेन्द्र अग्रवाल ने किया, आभार समाजसेवी सुनिल बंसल ने माना।

ज्ञापन लेकर नगर पुलिस अधीक्षक राकेश मोहन शुक्ला ने तत्काल समाजजनों के सामने ही भीलवाड़ा पुलिस अधीक्षक डॉ रामेश्वर सिंह से दुरभाष पर चर्चा की और उन्हें अवगत कराया कि मंदसौर की बिटियां ज्योति की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत से मंदसौर के अग्रवाल समाज और शहर के गणमान्यजनों में काफी रोष है, हजारों की संख्या में शहरवासी परिजनों के साथ ज्ञापन देने आये है। चर्चा के दौरान भीलवाड़ा पुलिस अधीक्षक ने आश्वस्त किया कि पुलिस पूरे मामलें में जांच कर रहीं है दोषियों पर कड़ी कार्यवाहीं की जायेगी। नगर पुलिस अधीक्षक श्री शुक्ला ने ज्ञापन मप्र के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान को भेजे जाने का भरोसा दिलाया और कहा कि इस मामलें में कानूनन रूप से जो भी संभव हो सकेगा वह मंदसौर पुलिस प्रशासन भी करेगा।

ज्ञापन  पर हस्ताक्षर करने वालों में  नगर पालिका अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार, समाज के वरिष्ठजन नंदकिशोर अग्रवाल, राजमल गर्ग अंकित, राजेन्द्र अग्रवाल,  मोहनलाल गोयल, सुरेश गोयल, महेश गोयल, श्रवण अग्रवाल, ब्रज कबाड़ी, दामोदर गोयल, गोपाकृष्ण मंगल, रामेश्वर गर्ग, दिनेश गोयल, पप्पु गोयल, ओम अग्रवाल सर, सत्यनारायण अग्रवाल, जगदीश अग्रवाल, राजकुमार सिंहल, अनूप अग्रवाल, विश्वमोहन अग्रवाल, अशोक अग्रवाल, अरूण शर्मा, डॉ कुशल शर्मा, शरद बंसल, दिलीप अग्रवाल, प्रियांश भट्ट, ललीत गुप्ता, महावीर गर्ग, विनोद सांखला, राजु अग्रवाल, जयंत पिपलोदिया, पं पंकज उपाध्याय, मनिष अग्रवाल, पवन मिण्डा, यशवंत श्रीवास्तव, राधेश्याम झंवर, अजीत कर्नावट, नितीन एरन, मंगल कहार, राजेन्द्र बंसल, परदेशी गुप्ता, अनिल सिंहल, गोपी अग्रवाल,राकेश गोयल, संतोष गोयल, ब्रजेश गर्ग, पंकज गर्ग, सत्यप्रकाश गर्ग, कमलेश अग्रवाल, देव मित्तल, यशवंत गोयल, गोपाल गर्ग, अनिता मेहता, पूनमचंद छिंगावत, हर्षित सिंहल, मोहित बेरागी, विवेक मित्तल, अशोक जैन, सुमित मित्तल, मुकेश गुप्ता, सुशील जैन, राधेश्याम अग्रवाल, गोपाल गुप्ता, किशन गोयल, बंटी माहेश्वरी, नीतिन पामेचा, धर्मवीर रत्नावत, अनिश अग्रवाल, शुभम अग्रवाल, मोनू कबाड़ी, सौरभ ग्वाला, प्रकाश अग्रवाल, पंकज अग्रवाल, लविश सिंहल, महावीर मित्तल, अनिल अग्रवाल हरिश अग्रवाल, श्रीमती मोनिका एरन, ज्योति अग्रवाल, मनिषा कोठारी, विमला चंदानी, कलाबाई, संगीता शर्मा, सहित बड़ी संख्या में अग्रवाल समाज, शहर के गणमान्यजन और मातृशक्ति उपस्थित थे।

 

जनप्रतिनिधियों ने की मदद

घटना की जानकारी जैसे ही बिटियां के परिजनों ने मंदसौर में अग्रवाल समाज अध्यक्ष नरेन्द्र अग्रवाल और समाजसेवी सुनिल बंसल को दी तो उन्होने सांसद सुधीर गुप्ता तथा भीलवाड़ा में अपने परिचित शिवसेना प्रमुख आशीष जोशी, विजय अग्रवाल को अवगत कराया जिस पर सांसद श्री गुप्ता ने भीलवाड़ा सांसद सुभाष बहेड़िया और पुलिस अधीक्षक डॉ रामेश्वरसिंह से दुरभाष पर चर्चा की। उधर भीलवाड़ा शिवसेना प्रमुख श्री जोशी व श्री अग्रवाल भी तत्काल भीलवाड़ा अस्पताल पहुंचे और पूरे दिन मंदसौर से गये परिजनों के साथ रहकर मदद की। बिटियां का पोस्टमार्टम करवाकर मंदसौर भेजने तक में उन्होंने भरपूर सहयोग दिया। घटना की खबर जब मंदसौर अग्रवाल समाज के वरिष्ठ सत्यप्रकाश अग्रवाल को लगी तो वे उस समय भीलवाड़ा में ही थे और तत्काल परिजनों की मदद के  लिये भीलवाड़ा अस्पताल पहुंच गये।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts