Breaking News

मंदसौर की महिला पर भोपाल STF की कार्यवाही : बांग्लादेश से जुड़ रहे तार

भोपाल। एसटीएफ में एक महिला और उसके बेटे के पास से तीन किलो नशीली दवा बरामद की है। पुलिस का दावा है कि पावडर के रूप में प्रदेश में पहली बार इतनी बड़ी मात्रा में यह मादक पदार्थ पकड़ा गया है। गिरोह के तार बांग्लादेश से जुड़े हैं। महिला बिहार में भी नशीली दवा की तस्करी के आरोप में जेल जा चुकी है। बरामद नशीले पदार्थ की कुछ मात्रा के इस्तेमाल दवा बनाने में भी होता है, लेकिन दवा डॉक्टर की सलाह के बाद ही मेडिकल स्टोर से ली जा सकती है।

यह जानकारी मंगलवार को विशेष पुलिस महानिदेशक पुरुषोत्तम शर्मा, एडीजी अशोक अवस्थी ने संयुक्त रूप से दी। स्पेशल डीजी ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर सोमवार को भोपाल के मुख्य रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर-6 की तरफ बने ऑटो स्टैंड के पास संदिग्ध हालत में खड़ी एक महिला और युवक को हिरासत में लिया गया। तलाशी में उनके पास पॉलीथिन में पैकेट के रूप में रखा संदिग्ध मादक बरामद हुआ। पावडर के रूप में मिला तीन किलो मादक पदार्थ जांच में नशीला पदार्थ पाया गया। महिला की पहचान मंदसौर के गांधी नगर में रहने वाली यास्मीन पत्नी नूर मोहम्मद (48) के रूप में हुई। उसके साथ मिला युवक यास्मीन का बेटा साबिर हुसैन (25) निकला।

भोपाल-इंदौर सहित देश की कई राज्यों में है नेटवर्क

एडीजी अशोक अवस्थी ने बताया कि शुरूआती पूछताछ में यास्मीन का भोपाल-इंदौर सहित देश के कई राज्यों में नेटवर्क है। मूलतः नागपुर की रहने वाली शकुंतला उर्फ यास्मीन के पिता मंदसौर के कलेक्टर कार्यालय में नौकरी करते थे। शकुंतला की पहली शादी नरेंद्र कुमार नाम के व्यक्ति से हुई थी। लेकिन कुछ दिनों बाद ही पति को छोड़कर शकुंतला मंदसौर निवासी नूर मोहम्मद के साथ रहने लगी। वह मादक पदार्थों की तस्करी करता था। वर्ष-2003 में शकुंतला उर्फ यास्मीन और उसका पति नूर मोहम्मद 400 ग्राम गांजा के साथ गिरफ्तार हुई। संदेह का लाभ पाकर यास्मीन को कोर्ट ने बरी कर दिया, लेकिन नूर मोहम्मद तभी से जेल में है। इसके बाद यास्मीन तीसरे आदमी आसिफ के साथ रहने लगी।

सासाराम जेल में बंद हो चुकी

बिहार के सासाराम में पुलिस ने वर्ष-2014 में यास्मीन और साबिर को गिरफ्तार किया था। तब यास्मीन को 8 माह की सजा हुई थी। बाद में यास्मीन को जमानत मिल गई। जेल से छूटने के बाद यास्मीन ने फिर नशीले पदार्थ की तस्करी करना शुरू कर दिया।

बांग्लादेश से जुड़ रहे तार

एसपी(एसटीएम) राजेश सिंह भदौरिया ने बताया कि मां-बेटे को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है। अभी तक की पूछताछ में यास्मीन और उसके पुत्र ने दिल्ली, मुंबई, भोपाल, इंदौर, राजस्थान, उत्तरप्रदेश, बिहार के कई होटल, बार, रेस्टारेंट में मादक पदार्थ बेचने की बात कबूल की है। यह खेप लेकर दोनों बनारस जाने वाले थे। यह घातक नशा लैब में तैयार किया जाता है। विशेषकर मुंबई में इसके कई जगह अड्डे है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts