Breaking News

मंदसौर के छोटे बड़े समाचार – 09-Oct-2018

अच्छे लोगों के चले जाने से परिवार ही नहीं समाज की भी क्षति होती है

कमल जैन के निधन पर श्रद्धांजलि सभा में वक्ताओं ने कहा

मन्दसौर। प्रगतिशील लेखक संघ के राज्य सचिव मण्डल के सदस्य एवं प्रलेस मंदसौर इकाई के पूर्व अध्यक्ष वरिष्ठ कवि कमल जैन के असामयिक निधन पर प्रगतिशील लेखक संघ की मंदसौर इकाई एवं म.प्र. हिन्दी साहित्य सम्मेलन की जिला शाखा द्वारा श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया।
इस अवसर पर डॉ. चन्द्रशीला गुप्ता ने कहा कि बेबाकी और निर्भिकता उन लोगों में होती है जिनका अपना कोई स्वार्थ नहीं होता। कमल जैन ऐसे ही व्यक्ति थे। उन्होनंे कहा अच्छे लोगों के चले जाने से परिवार की ही नहीं समाज की भी क्षति होती है। कृषि वैज्ञानिक नरेन्द्र सिपानी ने कहा कि कमल जैन ने हमेशा वही किया जो सबके हित में था। उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि यही होगी कि उनकी तरह सोचें और उनकी तरह काम करें। वरिष्ठ पत्रकार विक्रम विद्यार्थी ने कहा कि कमल भाई सुख के नहीं दुःख के साथी थे। अन्याय, आडम्बर और रूढ़िवाद के खिलाफ उन्होनंे अपनी कलम चलाई। कामरेड महेश मिश्रा ने कहा कि कमल जैन को आदमीयत की पहचान थी। व्यक्ति चला जाता है लेकिन उसके कर्म और सिद्धांत हमेशा जिन्दा रहते हैं। वरिष्ठ पत्रकार डॉ. घनश्याम बटवाल ने कहा कमल जैन स्पष्टवादी सोच के बेबाक कवि थे। वे अपनी बात बेबाक तरीके से रखते थे, यही उनकी पहचान थी। डॉ. उर्मिला तोमर ने कहा कि कमल जैन गहन अध्ययनशील व्यक्ति थे वे सदैव पढ़ने के लिये प्रेरित करते थे। उनका चले जाना नगर के साहित्य जगत की नींव का दरक जाना है। कवियत्री आरती तिवारी ने कहा मूल्यों के प्रति दृढ़ कलमकार का अचानक चले जाना शहर के साहित्य समाज की अपूरणीय क्षति है।
प्रलेस मंदसौर इकाई अध्यक्ष रामनिवास शर्मा ने कहा कि प्रलेस इकाई ने एक अच्छा मित्र, अच्छा मानव और संवेदनशील व्यक्ति खो दिया है। कमल जैन के लेखन में यह सारे गुण मौजूद थे। उन्होनंे अपने नाम को सार्थक किया। प्रलेस सचिव कैलाश जोशी ने कहा कमल जैन ऐसे रचनाकार थे जो मानवीय सरोकारों से पूरी मजबूती के साथ खड़े रहे। सम्प्रदायवाद और साम्राज्यवाद के खिलाफ संघर्षशील रचनाकार के रूप में उनकी पहचान रही है। शायर असअद अंसारी ने कहा कमल जैन विचारधारा और सिद्धांतों के प्रति कटिबद्ध कवि के साथ ही कुशल संगठक भी थे। आलोक पंजाबी ने कमल जैन को भावनात्मक और सिद्धांत के स्तर पर खरा व्यक्तित्व बताया। म.प्र. हिन्दी साहित्य सम्मेलन के जिला संयोजक ब्रजेश जोशी ने कहा कि कमल जैन वरिष्ठ कवि और साहित्यकार के साथ ही एक अच्छे रंगकर्मी भी थे। रंगकर्म की उनमें गहरी समझ थी। डॉ. स्वप्निल ओझा ने उन्हें उन्मुक्त विचारों वाला व्यक्तित्व रेखांकित किया।
श्रद्धांजलि सभा में प्रलेस के सहसचिव हस्ती सांखला, नरेन्द्र अरोरा, अभिभाषक मोहनसिंह चौहान, मदनलाल शर्मा, कैलाशचन्द्र शर्मा, दिनेश कश्यप, धनराज धनगर, हेमन्त कछावा, मनीष सोनी, दलजीतसिंह हाड़ा ने भी स्व. कमल जैन के प्रति श्रद्धासुमन अर्पित किए। संचालन असअद अंसारी ने किया। अंत में दो मिनिट का मौन रख श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

लायंस क्लब ने कराया 350 जरूरतमंदों को भोजन

मन्दसौर। लायंस क्लब, मन्दसौर द्वारा लायन विकास अग्रवाल के सहयोग से गांधी चौराहे पर रोटी बैंक में लगभग 350 व्यक्तियों को भोजन करवाया।
फूड फॉर हंगर प्रकल्प के तहत आयोजित इस आयोजन में लायन पंकज पोरवाल, लायन सुभाष बग्गा, लॉयन मुकेश माहेश्वरी ने रोटी बैंक के कार्यकर्ताओं के साथ आऐ सभी व्यक्तियों को भोजन करवाया। लायंस अध्यक्ष लोकेन्द्र धाकड़ तथा सचिव कमल संगतानी में लायन विकास अग्रवाल का आभार व्यक्त किया।

मूर्तिपूजक जैन श्वेताम्बर युवा संगम के तत्वावधान में निशुल्क नेत्र परिक्षण शिविर हुआ

153 रोगियों में से 20 ऑपरेशन हेतु हुए चयनित

मंदसौर। मूर्तिपूजक जैन श्वेताम्बर युवा संगम एवं जैन दिवाकर श्री लाभमुनि नेत्र चिकित्सालय के तत्वावधान में रविवार 7 अक्टूबर को इंदिरा कॉलोनी किटयानी में निशुल्क नेत्र परिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें लाभमुनि नेत्र चिकित्सालय के डॉ नरेन्द्र आला व टीम द्वारा 153 रोगियों का परिक्षण किया गया जिसमें 20 रोगियों को ऑपरेशन हेतु चयनित किया गया।
                     आयोजक पंकज खटोड़ और प्रतीक चण्डालिया ने बताया कि रविवार को मूर्तिपूजक जैन श्वेताम्बर युवा संगम और जैन दिवाकर श्री लाभमुनि नेत्र चिकित्सालय के संयुक्त तत्वावधान में प्रथम बार नेत्र शिविर आयोजित किया गया। जिसमें विशेष रूप से सकल जैन समाज अध्यक्ष सज्जनलाल जैन, संयोजक सुरेन्द्र लोढा, बड़ेसाथ ओसवाल समाज अध्यक्ष बाबुलाल संचेती, युवा प्रकोष्ठ महामंत्री जयेश डांगी, पार्षद रूपल अशांशु संचेती उपस्थित थे।
              शिविर के आयोजन पर अतिथियों द्वारा युवा संगम को आयोजन के लिए शुभकामनाएॅ दी गई एवं सभी साथियों को सेवा के प्रकल्प करने की प्रेरणा दी गई।
            कार्यक्रम के प्रारंभ में मंगलाचरण हुआ जिसके बाद युवा संगम के उपाध्यक्ष पंकज खटोड़, कोषाध्यक्ष राजकुमार श्रीमाल, सहमंत्री शिखर धारीवाल, अनिल डांगी, सहकोषाध्यक्ष आशीष डूंगरवाल, संगठन मंत्री अमित छिंगावत, मनीष सगरावत, प्रवक्ता महेन्द्र छिंगावत, प्रचार मंत्री संदीप हींगढ़ कार्यकारिणी सदस्य नरेश चौरड़िया, सोनू पारख, संदीप बाफना, जितेन्द्र लोढा, पंकज पोरवाल, वैभग छिंगावत, अक्षय खाबिया, मनीष कचौरिया, अजय भाटीया, अशांशु संचेती द्वारा अतिथियों का स्वागत किया गया। संचालन महामंत्री प्रतीक चण्डालिया ने किया व आभार प्रवक्ता सुनिल जैन ने माना। यह जानकारी संगम के प्रवक्ता विजयेन्द्र फांफरिया ने दी।

साध्वी श्री मुक्तिप्रियाश्रीजी मसा की पावन निश्रा प्रेरणा व निश्रा में चेत्र परवाडी निकली

मंदसौर। साध्वी श्री मुक्तिप्रियाश्रीजी मसा आदिठाणा 7 की पावन निश्रा प्रेरणा व निश्रा में रूपचॉद आराधना भवन चौधरी कॉलोनी  में चेत्र परवाडी निकाली गयी। इसके अंतर्गत साध्वी श्री मृदुप्रियाश्रीजी, साध्वी श्री हर्षप्रियाश्रीजी मसा, साध्वी श्री अर्हमप्रियाश्रीजी मसा आदि की पावन निश्रा में बैण्ड बाजे के साथ केशरिया आदिनाथ श्रीसंघ चौधरी कॉलोनी की चेत्र परवाडी निकाली गयी। धर्मालुजनों ने बडी संख्या में इसमें सहभागीता कर पॉच जैन मंदिरों के दर्शन वंदन किये। यह चेत्र परवाडी नई आबादी स्थित सहस्तफणा पार्श्वनाथ श्वेताम्बर जैन मंदिर, श्री श्रेयांसनाथ जैन मंदिर नयापुरा रोड स्थित आदिनाथ श्वेताम्बर जैन मंदिर होते हुए खानपुरा स्थित श्री जगतवल्लभ पार्श्वनाथ श्वेताम्बर जैन मंदिर पहुॅची । खानपुरा दादावाडी जैन मंदिर में पार्श्वनाथजी की भक्ति का आयोजन हुआ। इसके उपरांत श्रीमति सीमा बहन पोखरना के मासखमण 31 उपवास की तपस्या के उपलक्ष्य में नवकारसी का आयोजन किया गया। खानपुरा पहुॅचने पर जैन श्वेताम्बर मूर्तिपूजक श्रीसंघ श्री संजय मुरडिया, पोखरना परिवार व अन्य कई धर्मालुजनों के द्वारा चेत्र परवाडी की अगवानी की गयी। इस चेत्र परवाडी में श्री केशरिया आदिनाथ श्रीसंघ अध्यक्ष दिलीप डांगी, सचिव संदीप धींग, कोषाध्यक्ष छोटेलाल जैन, चातुर्मास समिति अध्यक्ष योगगुरू सुरेन्द्र जैन, सचिव प्रवीण मुरडिया, कोषाध्यक्ष रोहिात संधवी,श्रीसंघ से जुडे पारस सालेचा, राजेश पालरेचा, पंकज खटोड, लोकेन्द्र जैन, डॉ प्रीति मुरडिया, अनिता मुरडिया, पारसमल जैन सहित कई धर्मालुजन शामिल हुये। चेत्र परवाडी के मार्ग में कई स्थानों पर जगह जगह साध्वी के आगमन पर गहुलिया की गयी तथा प्रभावना का भी वितरण किया गया।


पोषध में विवेक रखे- प्रसन्नचंद्रसागरजी

मंदसौर। पोषध जैन धर्म में एक ऐसी क्रिया है जिसके माध्यम से श्रावक श्राविका 1 दिवस का साधु साध्वी जीवन जी सकते है। हमे पोषध मेें क्या क्या विवेक रखना चाहिए इसका विचार करनाभ्ज्ञी जरूरी है। जैन आगमों में पोषध के 18 दोष बताये गये है। पोषध ऐा हो जिसमें साधु साध्वी जीवन अंगीकार करने का मन करें यदि ऐसा पोषध नही करते है तो हमें पोषध की आराधना का दोष लगता है इसलिये दोष रहित पोषक करे। उक्त उदगार परम पूज्य जैन संत श्री प्रसन्नचंद्रसागरजी ने तलेरा विहार स्थित चिद पुण्य आराधना भवन में कहे। आपने मंगलवार को यहॉ आयोजित धर्मसभा में कहा कि पोषध करने के दिवस पर आहार का विवेक रखना जरूरी है। यदि अधिक भोजन करोगे तो निंद आयोगी और आप धर्म आराधना नही कर पओगे। इसलिये सादा व पचने योग्य आहार ग्रहण करना चाहिए। यदि पोषध के दि अधिक मसाले वाला आहार ग्रहण किय तो विचारों में इसका असर दिखेगा तथा धर्मआराधना में मन लगने की बजाय काम वासना की और मन जायेगा। इसलिये कम मसाले का सादा आहार भरना चाहिए। पोषध के दिन आहार  के विवेक के सााि ही आभुषण धारण करने में भी विवेक रखे। पोषध के दिन सुती या साधारण वस्त्र ही पहने किमती वस्त्रो का त्याग करे। अधिक आभुषण व किमती वस्त्र पहनने से आपके मन में अंहकार आ सकता है कि मै दूसरा व्यक्ति जो पोषध कर रहा है उससे श्रेष्ठ है। प्रसन्नचंद्रसागरजी ने कहा कि पोषध के दिवस आज किसी की निंदा न करे अपना पुरा ध्यान धर्म आराधन में लगावे। पोषध के दिन यदि हम भोजन की चर्चा या उसकी निंदा करते है यह भी उचित नही है। आपने यह भी कहा कि किसी साधु साध्वी को आहार विराते समय आपने मन में भाव उच्च होना चाहिए यह विचार करना चाहिए कि मै भाग्यशाली हॅू तथा पूर्व कर्मो के पुण्य के कारण मुझे संतो साध्वियों को आहार विराने का लाभ मिला है। धर्मसभा में बडी संख्या में श्रावक श्राविकाओं ने संतश्री की अमृतमयी वाणी का लाभ लिया।


साध्वी अपूर्वप्रज्ञाजी मसा की पाव निश्रा में जैन दिवाकर  स्वाध्याय भवन में प्रतिदिन हो रहे है प्रवचन, जैन रामायण का श्रवण कर धर्मालुजन ले रहे है धर्मलाभ

मंदसौर। स्पष्ठ वक्ता, छोटे जैन दिवाकर श्री धर्ममुनिजी मसा की शिष्या साध्वी श्री अपूर्वप्रज्ञाजी मसा आदिठाणा 5 चातुर्मास हेतु जैन दिवाकर स्वाघ्याय भवन शास्त्री कॉलोनी में विराज रही है। चातुर्मास प्रारंभ हुए ढाई माह का समय पूर्ण हो चुका है तथा पर्यषण महापर्व के समापन के उपरांत भी प्रतिदिन प्रात 9 से 10 बजे तक साध्वी जी के जैन रामायण पर आधारिक दिव्य प्रवचन हो रहे है। इन प्रवचनों में बडी संख्या में श्रावक श्राविका  आ रहे है तथा प्रवचन का धर्मलाभ ले रहे है। साध्वी श्री अपूर्वप्रज्ञाजी मसा ने मंगलवार को सीता हरण का वृतान्त श्रवण कराते हुए राम के दूत के रूप में लका पहुॅचे हनुमान व रावण का संवाद श्रवण कराया। माता सीता का पता लगाने के लिये जब हनुमान लंका पहुॅचे तो रावण के पुत्र इन्द्रजीत जिसे मेघनाथ भी कहते है उसे हनुमान को बंदी बनाया लिया और  रावण के सामने उन्हे प्रस्तुत कियां। हनुमान ने रावण के दरबार मेे रावण को चेतावनी । यह वृतान्त प्रेरणा देता है कि राम का सच्चा अनुयायी है वह किसी से नही डरता है। आज नरेन्द्र नाहर के निवास पर जाप होगे- आज दिनांक 10 अक्टूबर मंगलवार को प्रातः 7 से सांय 7 बजे तक नरेन्द्र कुमार शांतिलाल नाहर किला रोड स्थित निवास पर  नवकार महामंत्र के जाप होगे। धर्मालुजन धर्मलाभ ले।

आजाद चौक में बनेगी सॉची के स्तुप की प्रतिकृति, मॉ महिषसूर मर्दिनी की 21 फिट मूर्ति विराजेगीमंदसौर। प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी जय भवानी ग्रुप के द्वारा नवरात्री पर्व धुमधाम से मनाया जायेगा। नवरात्री पर्व हेतु आजाद चौक में पुराने धण्टाघर के सामने मप्र के रायसेन जिले में स्थित सॉची के स्तुप की प्रतिकृति बनायी जा रही है। सांची के स्तुप की प्रतिकृति में मॉ महिर्षासूर मर्दिनी की 21 फिट उचाई की भव्य मूर्ति स्थापित की जायेगी। प्रतिदिन सांय 8 बजे नवरात्रि पर्व में यहॉ माताजी की महाआरती होगी तथा आरती के उपरांत गरबा नृत्य की प्रस्तुती भी दी जायेगी। नपाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार, जय भवानी ग्रुप के अध्यक्ष सुरेन्द्रसिंह चौहान, सचिव चन्द्रप्रकाश शर्मा, संयोजक पं दिलीप शर्मा ने भाग लेने की अपील की है।


आबिद भाई मच्छीवाला सीरत कमेटी के सदर मनोनीत

मंदसौर। अगले माह मुस्लिम समाज के द्वारा जश्ने ईदमिलादुनबी त्यौहार को हर्षोल्लास से मनाने हेतु मुस्लिम समाज के द्वारा सीरत कमेटी का पुन गठन किया गया है। सीरत कमेटी के सदर पद पर भाजपा जिला अल्पसंख्यक मोर्चा महामंत्री आबिदभाई मच्छीवाला को चुना गया है। विगत दिनों प्रतापगढ पुलिया खानपुरा के समीप स्थित अंजुमन कमेटी के कार्यालय परिसर में आयोजित मुस्लिम समाज की एक बैठक में श्री आबिद भाई मच्छीवाला को सीरत कमेटी का सदर चुना गया। इस बैठक में अजुमंन कमेटी के सदर मोहम्मद युनुस शेख, वक्फ कमेटी सदर अनवर एहमद मंसुरी एडव्होकेट, भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा जिलाध्यक्ष मोहम्मद शानुभाई, भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के दक्षिण मण्डल अध्यक्ष इकबालभाई बैली, उत्तर मण्डल अध्यक्ष नासीर दडवाल, मण्डल पदाधिकारी अफसर पठान, शकील नुरानी, जुल्फिकार शाह एवं मुस्लिम समाज के वरिष्ठजन उपस्थित थे। इन सभी ने श्री आबिदभाई मच्छीवाला को पुष्पहार पहनाकर स्वागत किया।


पेंशनर्स साथी से नहीं की जा रही है कोई अनुदान या सहयोग राशि की मांग : विद्युत मण्डल पेंशनर्स भ्रमित न होवे

मन्दसौर। जिला पेंशनर्स एसोसिऐशन विद्युत मण्डल के अध्यक्ष खूबचन्द शर्मा, उपाध्यक्षद्वय के.के. भारती, जे.एस. भाटी, सचिव राजेन्द्रसिंह चौधरी ने संयुक्त विज्ञप्ति में बताया कि विद्युत मण्डल की पेंशनर्स एसोसिऐशन द्वारा किसी भी पेंशनर्स साथी से अनुदान या सहयोग राशि की मांग नहीं की जा रही है और न ही कोई वसूली की जा रही है। कुछ शरारती तत्वों द्वारा सदस्यों को भ्रमित कर सातवें वेतनमान लागु होने पर अनुदान/सहयोग राशि की अवैध वसूली की जा रही है।
अतः सभी पेंशनर साथियों से निवेदन है किसी भी प्रकार की राशि (अनुदान/सहयोग) नहीं देवे। साथ ही अवगत कराया जा रहा है कि म.प्र. विद्युत मण्डल पेंशनर्स सहकारी साख संस्था मंदसौर उत्तरोत्तर प्रगति की ओर अग्रसर है। जिसमें अभी 535 से अधिक सदस्य है। तथा गत वर्ष का लाभांश सदस्यों को 15 प्रतिशत भी वितरित कियाजा रहा है। सदस्यों को दिये जाने वाले ऋण की सीमा भी रू. डेढ़ लाख से बढ़ाकर 1 लाख 80 हजार रू. कर दी गई है एवं ऋण पर ब्याज में 2 प्रतिशत की कमी कर दी गई है। अतः कोई भी सदस्य भ्रमित नहीं होवे। सदस्य बनकर अधिक से अधिक लाभ उठावे। संस्था अपने सदस्यों को ज्यादा से ज्यादा सुविधाएं एवं लाभ दिये जाने हेेतु कृत संकल्पित है।


दशपुर इनरव्हील क्लब ने महिलाओं के लिये आयोजित किया विशेष स्वास्थ्य शिविर

मन्दसौर। मंदसौर दशपुर इनरव्हील क्लब द्वारा महिलाओं के लिये निःशुल्क विशेष स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. आशीष राठौर, डॉ. अंजली सिसौदिया, डॉ. मनीष राठौर, मेग्निफेरा आयुर्वेद लाईफ साईंस के डॉ. आरती राठौर,  एवं विजय ओझा द्वारा महिलाओं का स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें उचित परामर्श व निःशुल्क दवाईयां दी गई।  यह शिविर में सन्घोष सामाजिक सेवा समिति की भावना शेखावत के सहयोग से सुविधा विहार किटयानी में आयोजित किया गया।
शिविर का शुभारंभ भगवान धनवन्तरी के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन के साथ हुआ। इस अवसर पर डॉ. आशीष राठौर ने संबोधित करते हुए कहा कि हमारी संस्कृति में पूजा का विशेष महत्व हैं पूजा से हमारे स्वास्थ्य पर भी वैज्ञानिक पर अनुकुल प्रभाव पड़ता है। आपने कहा कि स्वस्थ नारी समृद्ध भारत का ध्येय लेकर हम चले।
स्वागत उद्बोधन देते हुए क्लब अध्यक्ष तेजल चौरड़िया ने कहा कि महिला सशक्त तभी बन सकती है जब वह अपने आप को स्वस्थ रखेगी। इसलिये महिलाओं को अपने स्वास्थ्य के प्रति हमेशा जागरूक रहना चाहिए तभी वह अपने खुद के साथ-साथ परिवार का भी ख्याल रख सकेगी।
इस अवसर पर उपस्थित चिकित्सकों का स्वागत क्लब की नम्रता चावला, रिना भामावत आदि ने किया। अंत में आभार क्लब सचिव पूजा बग्गा ने माना।

राष्ट्रीय युवा मोर्चा भारत माता सेवा संघ की जिला इकाई की घोषणा

पिंटू ग्वाला जिलाध्यक्ष, रवि सुरावत जिला प्रभारी एवं विष्णु सूरा महामंत्री नियुक्त

मन्दसौर। राष्ट्रीय युवा मोर्चा भारत माता सेवा संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष रघुनाथ शर्मा, राष्ट्रीय संगठन मंत्री अभिषेकसिंह, प्रदेश अध्यक्ष धर्मेन्द्रसिंह सिसोदिया, प्रदेश महामंत्री केशव गिरी गोस्वामी, प्रदेश कोषाध्यक्ष नरेन्द्र माली द्वारा मंदसौर जिला कार्यकारिणी के लिए अनुशंसा की गई तथा मंदसौर जिला कार्यकारिणी प्रदेश प्रभारी कपिल माली की सहमती से घोषणा की गई !
जिसके अन्तर्गत जिलाध्यक्ष पिंटू ग्वाला, जिला प्रभारी रवि सुरावत, महामंत्री विष्णु सूरा, संरक्षक प्रभारी गोपाल धनगर, उपाध्यक्ष नंदकिशोर कुमावत, अनिल पुरी गोस्वामी, घनश्याम ग्वाला, संगठन मंत्री विशालसिंह सिसोदिया, चैनसिंह गोड़, प्रचार मंत्री अंकित गोराना, साहित्य मंत्री विनयसिंह सिसोदिया, संयुक्त मंत्री डॉ. कमलेश कुमावत, विजय पाटीदार, राहुल नेक्स, कोषाध्यक्ष अंकित भावसार, अंकेक्षण (ऑडिटर) लखन हारोड़, मीडिया प्रभारी सोनू गुप्ता, अभिषेक गोस्वामी, सोशल मिडिया प्रभारी प्रितेश नागदा, सह सोशल मिडिया प्रभारी कुणाल सोनी, प्राजुल बारोलिया, सहायक प्रमुख तरुण सोनी, यश जैन, कार्यकारिणी सदस्य समरथ चौधरी, रवि भावसार, नितेश ब्रिजवानी, बालकिशन मीणा, दीपक प्रजापत, सूरज पाटीदार, बबलू सिंह देवड़ा, सत्यनारायण सेन, दीपेश चौधरी, दीपक ग्वाला, सुरेंद्र कुमावत, अशोक पाटीदार, दीपक शर्मा, राजेश सांखला, प्रेम राठौर, महावीर माली, कुंदन सोनी, राजपाल सिंह, राकेश धनगर, अजय शर्मा, दुर्गेश पाटीदार, श्याम पाटीदार, कन्हैयालाल कुमावत को बनाया गया। उक्त जानकारी प्रदेश मिडिया प्रभारी प्रभुलाल कुमावत द्वारा दी गई !


माननीय जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री तारकेश्वरसिंह ने अपना घर में बच्चों के साथ मनाया जन्मदिवस

मन्दसौर। जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री तारकेश्वरसिंह ने बाल अपना घर के बच्चों के साथ हर्षोल्लास से अपना जन्म दिवस मनाया। श्री सिंह के साथ उनकी धर्मपत्नी श्रीमती उर्मिला सिंह, एडीजे श्री जे.सी. राठौर, सीजेएम श्री एस.के. सूर्यवंशी, योग गुरू बंशीलाल टांक भी उपस्थित थे। अपना घर के बच्चों ने पुष्पहारों से श्री सिंह का बहुमान कर आशीर्वाद लिया। अपना घर संस्थापक अध्यक्ष राव विजयसिंह ने अपना घर की गतिविधियों के संबंध में संज्ञान कराया। श्री सिंह ने बच्चियों को स्वल्पाहार कराकर उनसे संवाद करने पर उनसे प्रसन्नता जाहिर करते हुए अपना घर को सचमुच अपना घर ही कहकर नाश्ता-भोजन-शिक्षा के स्तर पर योग-जुड़ों-कराटे का प्रशिक्षण आदि सम्बन्ध में जानकारी दी।  बच्चों से बड़ी प्रसननता से हास-विनोद के पश्चात् श्री सिंह ने अपना घर में भोजनाशाला, शयन कक्ष आदि का अवलोकन कर प्रसन्नता जाहिर की।

योग द्वारा परिवार, समाज, राष्ट्र और विश्व कल्याण में अहम् भूमिका निभा रहे है पतंजलि योग शिक्षक-योग शिक्षकों का हुआ बहुमान

मन्दसौर।  पतंजली योग संस्थान हरिद्वार द्वारा योग को शहरी क्षेत्रों के साथ ही राष्ट्र के प्रत्येक गांवों को योग मय बनाने के उद्देश्य से प्रत्येक जिले में योग प्रचारकों की नियुक्ति की जाकर मंदसौर जिले में विनोद सेन एवं बालचंद आर्य की स्थापना होकर दोनों युवा प्रचारकों द्वारा फिलहाल गरोठ, भानपुरा, शामगढ़ क्षेत्र के गांवों में शिविर आयोजिहत कर 5-5 दिवसीय योग शिविर लगाकर निरन्तर योग कक्षाएं संचालित करने वाले योग शिक्षकों का सम्मान समारोह सीतामऊ हांडिया बाग गायत्री शक्तिपीठ में आयोजित हुआ जिसमें 40 से अधिक शिक्षक सम्मिलित हुए। सम्मान समारोह पतंजली संस्थान हरिद्वार से आये राज्य योग निरीक्षक श्री रजनकान्त के सानिध्य में सम्पन्न हुआ। मंदसौर जिला कार्यकारिणी पतंजली योग संगठन जिलाध्यक्ष बंशीलाल टांक, पतंजली योग संगठन महिला जिला प्रभारी श्रीमती नीलम कोड़ा, भारत स्वाभिमान जिला प्रभारी महेश कुमावत, योग प्रचारक विनोद सेन, बालचंद आर्य, जिला सेल्समेन ब्रजमोहन सोनी भारत स्वाभिमान पूर्व जिला प्रभारी कैलाश चौहान, सीतामऊ नगर अध्यक्ष श्रीमती हंसा जिरोटिया अतिथि रूप में मंचासीन थे।
प्रारंभ में अतिथियों द्वारा गायत्री माता के चित्र पर पुष्पहार धारण कराकर दीप प्रज्जवलन किया। अतिथियों का पुष्पहारों से बहुमान किया गया।
अतिथियों ने आदर्श योग शिक्षक हीरालाल परमार, सतीश गुप्ता, मनीश परिहार, दीपक काला, रामसुख माली, रामेश्वर खड़ावदा, विष्णु दलावदा, राधेश्याम सेन, महेश पिपल्दा, विष्णप्रसाद खड़ावदा आदि को प्रशस्ति पत्र एवं अंग वस़्त्र भेंटकर बहुमान किया गया।
भारत के ऋषि महर्षियों के भारत के प्राचीन योग को श्री रजनकान्त ने जाति-पंथ-मजहब, स्त्री-पुरूष आदि के बंधनों से मुक्त कर रोगमुक्त-हिंसा मुक्त-नशामुक्त संस्कारवान भारत बनाने के लिये बनाने के लिये वर्तमान युग के योग महर्षि स्वामी रामदेव और और चिकित्सा जगत मंे भारत के आयुर्वेद को पुनः प्रतिष्ठापित करने वाले वर्तमान युग के धनवन्तरी आचार्य बालकृष्णजी के द्वारा भारत ही नहीं विदेशों में भी अपनाये गये योग एवं आयुर्वेद पर प्रेरक उद्बोधन हुआ।
गौ रंजनकान्त ने कहा कि योग ऋषि स्वामी रामदेवजी का स्पष्ट कहना है कि योग न तो स्वामी रामदेव का है और ना ही किसी व्यक्ति विशेष अथवा संस्था सम्प्रदाय का हैं। योग सम्पूर्ण विश्व और मानव मात्र के लिये हमारे ़ऋषि महर्षियों की कल्याणकारी अनुपम वह देन है जिस पर सभी का समान रूप से अधिकार है और इसलिये भारत के इस योग को संयुक्त राष्ट्र द्वारा विश्व योग दिवस के रूप में स्वीकार किया जाकर जो मान्यता प्रदान की है उससे भारत को बड़ा गौरव मिला है।
रजनकान्त ने राष्ट्रहित में योग को गांव-गांव तक पहुंचाने में योगदान दे रहे सभी योग शिक्षकों की सराहना करते हुए कहा कि योगमय जीवन योगमय परिवार, समाज, राष्ट्र तथा विश्व के कल्याण के लिये योग सेवा में पतंजली योग शिक्षक बहुत बड़ी भूमिका निभा रहे है।
बंशीलाल टांक ने वर्तमान में देशी जैविक खाद के बजाय आरगेनिक जैविक खेती आदि कई रासायनिक उर्वरकों तथा कीटाणुनाशक दवाईयों के छिड़काव से पैदा खाद्यान्न, केमिकल रसायनों आदि से पैदाकर पकाये गये फल, सब्जियां से जिस प्रकार शारीरिक बिमारियांे से बीमार होने एवं तनावग्रस्त रहने से मानसिक रूप से भी परेशान होकर कई समस्याओं से जो ग्रसित है।, शारीरिक, मानसिक, सामाजिक, राजनैतिक आदि समस्त समस्याओं का यदि कहीं कोई समाधान बचा है तो वह है योग। प्रतिदिन योग करने वाले का जब शरीर स्वस्थ रहेगा कोई रोग नहीं होगा तो निश्चित रूप से वह तनाव मुक्त रहेगा और तब तनाव मुक्त मस्तिष्क से उसकी चिन्तन शक्ति रचनात्मक-सृजनात्मक होकर नकारात्मक नहीं, सकारात्मक  होगी। टांक ने जिले में योग प्रचारक विनोद सेन एवं बालचन्द आर्य द्वारा स्वामी रामदेवजी के निर्देशानुसार गांवों में जाकर योग शिविर लगाकर योग के प्रति ग्रामीणों में जनजाग्रति कर योग के साथ ही आयुर्वेद द्वारा रोग मुक्त रहने के जो सरल नुस्खे बताये जा रहे है उसकी सराहना की।
महेश कुमावत ने घर-घर में योग की अनिवार्यता बताते हुए पतंजली योग संगठन द्वारा देशभर में हो रहे विभिन्न सेवा कार्यों का संज्ञान करायसा। योग प्रचारक विनोद सेन, बालचंद आर्य ने भी योग के महत्व पर प्रकाश डाला।
इस अवसर पर बीजेपी जिलाध्यक्ष देवीलाल धाकड़ , जिला पंचायत अध्यक्ष प्रियंका गोस्वामी, पूर्व विधायक राधेश्याम पाटीदार ने भी उपस्थित होकर योग की महत्ता बताते हुए कहा कि योग भारतीय संस्कृति, संस्कारों के मूल में है। योग ऋषि स्वामी रामदेवजी ने जो योग हिमालय की कन्दराओं और कतिपय आश्रमों तक ही सीमित था उसे घर-घर में पहुंचा दिया है। विश्व योग दिवस के रूप में इसकी मान्यता ने भारत के प्राचीन जगद्गुरू पद पर प्रतिष्ठित रहने की मान्यता को पुनः प्रतिष्ठित कर दिया है। भारत के एक मात्र योग को अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मान्यता प्राप्त होना वास्तव में भारत के लिये बहुत बड़ी उपलब्धि हैं।
उपस्थित रहे- तहसील दलौदा समिति सदस्य तह. प्रभारी बालकृष्ण शर्मा, राकेश केलवा, हरनाथ गौड़, मुरलीधर ओसवाल, वरदीचंद वर्मा, अनिल घाटिया, जितेश घाटिया, राकेश पुरी, दिनेश चौहान, राजमल गौड़ आदि बड़ी संख्या में साधक एवं कार्यकर्ता उपस्थित हुए। संचालन राजेन्द्र राठौड़़ ने किया एवं आभार प्राचार्य मुकेश कारा ने माना।


धर्म व नाम की पहचान होने पर ; दफनाए शव को निकाल कर अंतिम संस्कार किया गया

बंसल की पहल पर मिली दिवंगत आत्मा को मुक्ति

मन्दसौर। मरणोपरान्त अंतिम संस्कार का हमारी संस्कृति में मान्य विधान है। जिसका पालन करने से दिवंगत आत्मा को मुक्ति मिलती है उसे मोक्ष प्राप्त होता है, सनातन परम्परा में गृहस्थी का अग्नि संस्कार ही होना चाहिये। इसलिये लगभग सवा माह पहले 30 अगस्त को जिस दिवंगत व्यक्ति का नाम व धर्म की जानकारी नहीं मिलने पर भूमिदाह कर दिया था। अब उसके धर्म व नाम की पहचान होने पर शव को पुनः उत्खनन किया गया व 9 अक्टूबर, मंगलवार को दिवंगत का अग्नि संस्कार किया गया। मृतक का नाम सारण है। वह पशुपतिनाथ भिक्षा वृत्ति करता था। नदी में डूबने से उसकी मृत्यु हो गई थी। निर्धारित समय में धर्म व नाम की पहचान न होने पर पुलिस द्वारा उसका शव दफना दिया गया था।
सामाजिक कार्यकर्ता सेवा बैंक के अध्यक्ष सुनिल बंसल को यह जानकारी मिली की मृतक का नाम सारण वर्धा हिन्दू था। उसकी पत्नी कमला भी भिक्षावृत्ति करती है तो उन्होनंे नपाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार के सहयोग से एस.डी.ओ. कार्यालय व पुलिस प्रशासन से सम्पर्क किया। सभी तथ्यों से सहमत होकर 9 अक्टूबर को शव को भूमि से बाहर निकाला गया। मुखाग्नि सुनिल बंसल ने दी। अंतिम संस्कार के समय बिल्लुभाई (चापड़ावाले), शंकर गिटी, दिनेश तंवर, नायब तहसीलदार श्री वर्मा, पुलिस अधिकारी रूपसिंह बेस, नगरपालिका कर्मचारी आदि गणमान्य नागरिक सम्मिलित हुए।
सामाजिक कार्यकर्ता श्री बंसल की पहल पर पूर्व में भी दफना दिये एक निराश्रित हिन्दू के शव को उत्खनन कर अग्नि संस्कार किया गया था। सामान्य रूप से निराश्रित व निर्धन दिवंगतों का अंतिम संस्कार व अस्थि विसर्जन भी वे सतत करते हैं।


पूरे वर्ष भर दिये जाते है परिवार के प्रत्येक व्यक्ति को 3-3 निःशुल्क ड्रेसे

150 गरबा मण्डल, 15000 फार्म, 150 बैनर एवं 7 लाख तक सूचना

आज दी जाएगी गरबा मण्डलों को प्रचार सामग्री वितरित

मन्दसौर। महावीर पुस्तकालय व वस्त्र वितरण समिति मंदसौर द्वारा इस बार नवरात्रि में अनोखा एवं विशेष प्रयास करते हुए जिले में कोई भी वस्त्र विहिन न हो इसके प्रयास किये जा रहे है। इसके लिये इस संस्था द्वारा आज नवरात्रि प्रारंभ पर 150 गरबा मण्डलों के माध्यम से 15,000 परिवारों को फार्म वितरित किये जायेंगे तथा निवेदन किया जाएगा कि वर्ष भर आपके पूरे परिवार के लिये 3-3 ड्रेसे व उपयोगी सामग्री निःशुल्क ले जावे एवं इसके लिये दूसरों को प्रेरित भी करे। इस तरह से जिले के सात लाख व्यक्तियों तक वस्त्र व अन्य जीवन उपयोगी सामग्री वितरण योजना को प्रचारित करने की योजना है। इस दौरान हर गरबा केन्द्र पर एक बैनर भी निःशुल्क वस्त्र हेतु लगाया जाएगा।
उक्त जानकारी देते हुए जिला गरबा मण्डल के संयोजक सावन सांखला एवं महावीर पुस्तकालय संस्था के अध्यक्ष महेन्द्र चौरड़िया ने बताया कि संस्था द्वारा आज गरबा आयोजकों एक-एक कीट/प्रचार सामग्री प्रदान की जाएगी। जिसमें एक बैनर, 100 पेम्पलेट एवं एक निवेदन पत्र प्रदान किया जाएगा। यह प्रचार सामग्री डी.के.वाय के बाहर, दशपुर कुंज रोड़ पर एवं श्री सावन सांखला के निवास स्थल शुक्ला चौक पर आयोजित कार्यक्रमों में गरबा आयोजकों को दी जाएगी। उक्त समिति ने पूर्व में 18 हजार कपड़े व 5 हजार जीवन उपयोगी सामग्री नगर व आसपास गांव में वितरित किये है व 10 हजार कपड़े  केरल के बाढ़ पीड़ितों हेतु भेजी जा चुकी है।
जिला गरबा मण्डल के संरक्षक हिम्मत डांगी, अध्यक्ष अशोक त्रिपाठी, संयोजक सावन सांखला, महामंत्री मनोज सांखला एवं महावीर पुस्तकालय समिति के चंदा कोठारी, प्रेमलता तलेरा, महेन्द्र चौरड़िया, गजराज जैन, प्रो. राजकुमार बाकलीवाल, निर्विकार रातड़िया, सीए दिनेश मुणत, समता खिंदावत, शिव फरक्या, सत्यनारायण केडिया, प्रहलाद काबरा, विनोद मेहता, अरूण शर्मा, मोहन रामचन्दानी आदि ने सभी गरबा आयोजकों एवं गरबा करने वाली बालिकाओ ंसे निवेदन किया है के इस पुनित कार्य में सहयोग प्रदान करे।

 

 

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts