Breaking News

मंदसौर छोटी बड़ी खबरे – 07-11-2018

छात्रों के साथ अभिभावकों ने भी लिया प्रतियोगिताओं में बढ़-चढ़कर भाग

कबीर इंटरनेशनल स्कूल में मनाया गया दीपोत्सव पर्व

मन्दसौर। कबीर इंटरनेशनल स्कूल पिपलियामंडी में दीपोत्सव पर्व हर्षाेल्लास से मनाया गया। विद्यालय में समस्त अभिभावकों के लिए रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें समस्त अभिभावकों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। साथ ही छात्र-छात्राओं के लिए दीया डेकोरेशन, थाली डेकोरेशन एवं गरबा प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें कक्षा नर्सरी से चौथी तक शत-प्रतिशत विद्यार्थियों ने भाग लिया।
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि व निणार्यक के रूप में मनीषा गोयल, प्रीति अग्रवाल, दिया हरजानी और मान्या हरजानी उपस्थित हुए। रंगोली प्रतियोगिता में प्रथम स्थान कक्षा पहली की छात्रा निष्ठा विश्वकर्मा के अभिभावक सुश्री अंकिता सुथार एवं द्वितीय स्थान कक्षा चौथी के छात्र अमन पाटीदार के अभिभावक सुश्री पुनम पाटीदार एवं तृतीय स्थान कक्षा यूकेजी के छात्र मयंक पाटीदार के  अभिभावक रेखा पाटीदार ने प्राप्त किया। साथ ही प्रतियोगिता में भाग लेने वाले समस्त प्रतिभागियों को विद्यालय द्वारा विशेष उपहार प्रदान किए गए। थाली डेकोरेशन प्रतियोगिता में प्रथम स्थान कक्षा चौथी के नैतिक चौधरी ने प्राप्त किया एवं दीपक डेकोरेशन प्रतियोगिता में कक्षा दूसरी के छात्र सार्थक गुप्ता ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। कक्षा नर्सरी से चौथी तक समस्त वर्गों में गरबा प्रतियोगिता में विभिन्न छात्रों को आकर्षक उपहार भी प्रदान किए गए।
कार्यक्रम के अंत में अभिभावकों का गरबा आयोजित किया गया, जिसमें महिला गरबा में प्रथम पुरस्कार सुश्री कविता गुप्ता एवं पुरुष गरबा में प्रथम पुरस्कार में श्री रामनिवास सेन ने प्राप्त किया। इस अवसर पर विद्यालय के डायरेक्टर डॉ कमलेश पमनानी एवं डॉ. रश्मि पमनानी, मैनेजिंग डायरेक्टर श्रीमती कोमल परमार एवं समस्त विद्यालय स्टाफ उपस्थित था। विद्यालय के डायरेक्टर श्री कमलेश पमनानी ने दीपावली की बधाई दी। विद्यालय में उपस्थित अभिभावकों द्वारा विद्यार्थियों की प्रस्तुति की सराहना की गई। कार्यक्रम की रूपरेखा एवं संचालन शिक्षिका श्रीमती प्राची काबरा द्वारा किया गया।

सभी श्रेणी के कामगारो को मतदान के दिन सवैतनिक अवकाश प्रदान किया जाये – कलेक्‍टर श्री श्रीवास्‍तव

            मंदसौर 6 नवम्बर 18/ कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री ओमप्रकाश श्रीवास्‍तव ने आदेश जारी किये है कि विधानसभा निर्वाचन-2018 में मतदान के दिन 28 नवम्बर को किसी भी कारोबार, व्यवसाय, औद्योगिक उपक्रय या किसी अन्य स्थापना में काम करने वाले प्रत्येक व्यक्ति को मतदान करने के लिए सवैतनिक अवकाश प्रदान किया जायेगा। मतदान के दिन चाहे वे दैनिक/आकस्मिक कर्मी है, को मतदान दिवस के लिये मतदान हेतु सवैतनिक अवकाश प्रदान किया जायेगा। अवकाश अवधि में उसका वेतन/भत्ता नहीं काटा जायेगा। इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यवसाय स्वामी (नियोक्ता) पर लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 135  ख की उपधारा 3 के अंतर्गत दण्‍डात्‍मक कार्यवाही की जायेगी।


शासकीय व अशासकीय भवनों/ संपत्तियों पर नारे लिखना व बैनर लगाने पर होगी सख्त कार्यवाही

मंदसौर 6 नवम्बर 18/ कलेक्टर श्री ओमप्रकाश श्रीवास्तव ने आदेश जारी करते हुए सभी को निर्देशित किया कि शासकीय व अशासकीय भवनों/ संपत्तियों पर नारे लिखे जाते हैं। बैनर लगाए जाते हैं, पोस्टर चिपकाए जाते हैं। विद्युत एवं टेलीफोन के पोल पर चुनाव प्रचार से संबंधित झंडियां, बैनर लगाए जाते हैं। जिसके कारण शासकीय संपत्ति का स्वरूप विकृत हो जाता है। इस संबंध में शासन द्वारा मध्य प्रदेश संपत्ति विरूपण निवारण अधिनियम 1994 के तहत कार्यवाही की जाएगी। इस अधिनियम की धारा 3 में उल्लेख है कि कोई भी संपत्ति के स्वामी की लिखित अनुज्ञा के बिना सार्वजनिक दृष्टि में आने वाली किसी भी संपत्ति को स्याही, रंग या किसी अन्य पदार्थ से लिखकर या चिन्हित करके उसे विरूपित करने पर जुर्माने से जो 1 हजार तक का हो सकेगा दंडनीय होगा। शासकीय कार्यालय एवं शासकीय भवन की दीवारों पर किसी भी प्रकार के नारे लिखकर विकृत किया जाता है। विद्युत एवं टेलीफोन के पोल पर झंडियां लगाई जाती हैं अथवा ऐसे पोस्ट एवं बैनर लगाकर शासकीय संपत्ति को विकृत किया जाता है तो ऐसे पोस्टर एवं बैनर हटाने के लिए जिले के प्रत्येक थाने में लोक संपत्ति सुरक्षा दस्ता तत्काल प्रभाव से कार्यवाही करेगा।

 


जिले के केबल ऑपरेटर्स को केबल अधिनियम 1995 के निर्देशों का पालन करना होगा

मंदसौर 6 नवम्बर 18/   केबल टेलिविजन अधिनियम 1995 का सभी स्थानीय केबल ऑपरेटर्स को पालन करना अनिवार्य है। बिना जिला मीडिया प्रमाणन एवं निगरानी समिति (एमसीएमसी) की अनुमति के चुनाव के दौरान कोई भी विज्ञापन जारी न करें। केबल ऑपरेटर्स ऐसा कोई भी विज्ञापन जारी नहीं करेंगे जो कि विधि के प्रतिकूल हो।

भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार प्रत्येक रजिस्ट्रीकृत राष्ट्रीय और राज्यीय राजनैतिक दल तथा चुनाव लड़ने वाला अभ्यर्थी जो टेलीविजन चैनल पर विज्ञापन प्रसारित करवाने का प्रस्ताव रखता है, उसे 3 दिन पूर्व जिला स्तरीय मीडिया प्रमाणन एवं निगरानी समिति से अनुमति लेना अनिवार्य है तथा गैर रजिस्ट्रीकृत राष्ट्रीय और राज्य स्तरीय राजनैतिक दल तथा चुनाव लड़ने वाले अभ्यर्थी को 07 दिन पूर्व जिला स्तरीय मीडिया प्रमाणन एवं निगरानी समिति से अनुमति लेना अनिवार्य है।  इसी अधिनियम की धारा 13 में यह भी प्रावधान है कि निर्देशों का उल्लंघन करने पर केबल ऑपरेटर्स के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जायेगी। अर्थदण्ड भी किया जा सकता है और सामान जप्ती की भी कार्यवाही की जायेगी। इसके अलावा मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी मध्यप्रदेश भोपाल द्वारा दिये गये निर्देशानुसार केबल ऑपरेटर्स प्रतिदिन प्रसारित किये गये कार्यक्रमों समाचारों आदि की पिछले 24 घंटे की रिकार्डिंग डीवीडी अगले दिन मीडिया प्रमाणन एवं निगरानी समिति के कार्यालय में जमा करेंगे।


विज्ञापनों के सम्बन्ध में आयोग ने जारी किए दिशा-निर्देश

                मंदसौर भारत निर्वाचन आयोग ने निर्वाचन अवधि के दौरान प्रकाशित होने वाले विज्ञापनों के लिए मार्गदर्शी सिद्धांतों को प्रभावशील कर लागू किया है।

निर्वाचन आयोग द्वारा जारी गाइड लाइन में आदर्श आचार संहिता को सर्वोपरि मान्य किया गया है। आयोग ने कहा है कि समाचार माध्यमों से प्रकाशित-प्रसारित करने के पूर्व विज्ञापनों के मामले में यह सुनिश्चित किया जाए की उनमें नैतिकता एवं शिष्टता हो तथा किसी की भी धार्मिक भावनाओं को आघात ना पहुंचे।

आयोग ने स्पष्ट दिशा निर्देश जारी किए है कि ऐसा कोई विज्ञापन प्रकाशित नही किया जाए जो किसी भी जाति, धर्म, रंग, पंथ और राष्ट्रीयता का उपहास करता हो। ऐसा विज्ञापन जो संविधान के किसी भी उपबंध के विरूद्ध हो, प्रकाशित एवं प्रसारित नहीं होना चाहिए।

इसी प्रकार अपराध करने, हिंसा करने या लोगों को भड़काने की प्रवृत्ति रखता हो, किसी भी प्रकार की अश्लीलता दर्शाता हो, राष्ट्रीय समप्रतीक का अनादर करता हो, नारी के लिए किसी भी प्रकार से अपमानजनक हो या उपहास करता हो, दहेज, बाल विवाह जैसी सामाजिक बुराईयों से लाभ उठाता हो आदि से संबंधित विज्ञापन प्रकाशित एवं प्रसारित नहीं किए जाने चाहिए।


उम्मीदवार को शपथ पत्र के सभी कालम भरने होंगे : विदेश में स्थित चल-अचल संपत्ति का ब्यौरा भी देना होगा

            मंदसौर 6 नवम्बर 18/ विधानसभा चुनाव में उम्मीदवार को प्रारूप 26 में शपथ पत्र प्रस्तुत करना होगा। चुनाव आयोग के निर्देशानुसार शपथ पत्र में उम्मीदवार के नाम पर विदेश में कोई संपत्ति है तो विदेश में जमा राशि, अपनी चल अचल संपत्ति का ब्यौरा भी देना अनिवार्य है। यह शपथ उसे पब्लिक नोटरी या ओथ कमिश्नर अथवा प्रथम श्रेणी मजिस्ट्रेट के समक्ष लेनी है। शपथ पत्र का कोई कालम भी खाली नहीं छोड़ना है। शपथ पत्र नामांकन की अंतिम तिथि के  दिन 3 बजे तक जमा किया जा सकता है। माननीय उच्चतम न्यायालय के निर्णय अनुसार यदि कोई अभ्यर्थी शपथ पत्र में कोई भी कालम खाली छोड़ता है एवं इस आशय की जानकारी यदि रिटर्निंग अधिकारी ने सूचना द्वारा अभ्यर्थी को दे दी है एवं इस सूचना उपरांत भी अभ्यर्थी अपने शपथ पत्र में कालम पूर्ण नहीं भरता या निर्वाचन आयोग द्वारा प्रदत्त चैक लिस्ट अनुसार नया शपथ पत्र निर्धारित समयावधि में प्रस्तुत नहीं करता तो ऐसी स्थिति में उच्चतम न्यायालय के निर्देशानुसार अभ्यर्थी का नाम-निर्देशन पत्र निरस्त कर दिया जाएगा। जिला निर्वाचन अधिकारी ने राजनैतिक दलों को अवगत कराया है कि अभ्यर्थी नामांकन प्रस्तुत करते समय अपने शपथ पत्र में कोई भी कालम रिक्त न छोड़े। यदि किसी कालम में कोई जानकारी निरंक है तब वहां “शून्य” या “लागू नहीं होता” लिखा जाना चाहिए।


13-14 नवम्बर को प्रदेश में रहेंगे मुख्य चुनाव आयुक्त

श्री कान्ता राव ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के मुख्य चुनाव आयुक्त एवं चुनाव आयुक्त द्वय 13 एवं 14 नवम्बर को प्रदेश में विधानसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा करेंगे। आयोग 13 नवम्बर को इंदौर में उज्जैन, इंदौर और नर्मदापुरम संभाग की समीक्षा करेगा। इसी दिन आयोग द्वारा होटल जहानुमां पैलेस भोपाल में शाम 7:30 बजे से राजनैतिक दलों के साथ बैठक की जाएगी। मिन्टो हॉल, भोपाल में 14 नवम्बर को चम्बल, रीवा, शहडोल, जबलपुर, भोपाल, ग्वालियर और सागर संभाग की निर्वाचन गतिविधियों की आयोग द्वारा समीक्षा की जाएगी।

विधानसभा निर्वाचन 2018 के मान्यता और गैर मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों की स्टार प्रचारकों की सूची सीईओ मध्यप्रदेश की वेबसाईट पर उपलब्ध रहेगी। मान्यता प्राप्त राजनैतिक दल द्वारा 40 और पंजीकृत दलों द्वारा 20 स्टार प्रचारकों के नाम 9 नवम्बर तक आयोग को प्रस्तुत किया जाना चाहिए।

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा सी-विजिल मोबाईल एप्प बनाया गया है। इस पर निरन्तर शिकायतें प्राप्त हो रही हैं। अभी तक सबसे अधिक 102 शिकायतें सागर जिले से प्राप्त हुई हैं। प्रदेश में कुल 1046 शिकायतें प्राप्त हुईं, जिसमे से 1008 शिकायतों का निराकरण किया जा चुका है।


पुलिस थाना वायडी नगर मंदसौर द्वारा चुनाव आचार संहिता के दौरान मुस्तैदी से 6 साल से फरार चल रहे स्थाई वारंटी को 12 बोर का देशी कट्टा मय जिंदा राउंड के गिरफतार किया

पुलिस थाना वायडी नगर मंदसौर द्वारा चुनाव आचार संहिता के दौरान मुस्तैदी से 6 साल से फरार चल रहे स्थाई वारंटी को 12 बोर का देशी कट्टा मय जिंदा राउंड के गिरफतार किया  श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय श्री मनोज कुमार सिंह, अति0 पुलिस अधीक्षक महोदय श्री सुंदर सिंह कनेष नगर पुलिस अधीक्षक महोदय के मार्गदर्शन एवं निरीक्षक विनोद सिंह कुशवाह थाना प्रभारी वायडी नगर मदंसौर के निर्देषन में दिनांक 05.11.18 को भुनियाखेडी फंटा यात्री प्रतीक्षालय के पास से बबलू उर्फ हेमन्त सिंह पिता नारायण सिंह राठौर उम्र 34 साल निवासी राजपुरिया थाना हतूनिया जिला प्रतापगढ राजस्थान के कब्जे से 12 बोर का देशी कट्टा मय जिंदा राउन्ड जप्त किया व आरोपी बबलू उर्फ हेमन्त को धारा 25,27 आर्म्स एक्ट में गिरफतार कर अपराध क्रमांक 528/18 दिनांक 5.11.18 को पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। उक्त आरोपी का माननीय उच्च न्यायालय से प्रकरण क्रमांक 112/2012 धारा 324,294,506 भादवि में स्थाई वारंट जारी था। जिसकी पुलिस को पिछले 6 साल से तलाश थी।  उक्त सराहनीय कार्य में प्रआ 650 संतोष मुनिया, आरक्षक 459 चंद्रप्रकाश, आरक्षक 929 हैप्पीसिंह, आर.145 प्रमोद व्यास, आर. 112 मेघसिंह, आर 358 सुनील चौधरी का विशेष योगदान रहा।


 

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts