Breaking News

मंदसौर छोटी बड़ी खबरे :09 Dec 2019

छुट्टी बढ़ाने के लिए फरार एसआई का मेडिकल आवेदन कार्यालय में आया होगा। इस संबंध में मुझे अभी जानकारी नहीं है। -हितेश चौधरी, एसपी, मंदसौर

राज्य स्तरिय थाई बॉक्सिंग प्रतियोगिता का हुआ समापन

मंदसौर। नगर में पहली बार राज्य स्तरिय थाई बॉक्सिंग प्रतियोगिता का समापन रविवार को हुआ। मध्यप्रदेश के विभिन्न जिलो से आये बडी संख्या में प्रतिभागियो ने प्रतियोगिता में खेल कौशल का प्रदर्शन किया। प्रतियोगिता का समापन पूर्व मंत्री नरेन्द्र नाहटा, पूर्व विधायक नवकृष्ण पाटील के विशिष्ट आतिथ्य, जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रकाश रातडिया के मुख्य आतिथ्य में किया गया। समारोह की अध्यक्षता नगर पालिका अध्यक्ष हनीफ शेख ने की।  इस दौरान विशेष अतिथि के रूप में मुकेश काला, महेन्द्रसिंह गुर्जर, परशुराम सिसोदिया, डॉ योगेन्द्र कोठारी, डॉ नितिन जैन उपस्थित थे। समारोह के दौरान मध्यप्रदेश थाई बॉक्सिंग एसोसिएशन के सचिव संदीप सैनी, संरक्षक सोमिल नाहटा, विकास भंडारी विशेष रूप से उपस्थित थे। इस दौरान प्रतियोगिता में प्रथम मंदसौर, द्वितीय धार एवं तृतीय स्थान पर इंदौर की टीम रही जिन्हें मंचासीन अतिथियो ने पुरस्कृत किया।


संजय गांधी उघान को विकसित किया जायेगा

समारोह के दौरान एसोसिएशन के मिडीया प्रभारी सुरेश भाटी द्वारा मंदसौर नगर में खेलो के आयोजनो के साथ ही सामाजिक व अन्य आयोजन के लिये आवास व्यवस्था के अनुकूल स्थान विकसित करने पर बल दिया। इस दौरान संजय गांधी उघान को विकसित करने की मांग नपाध्यक्ष मोहम्मद हनीफ शेख से की गयी जिस पर नपाध्यक्ष मोहम्मद हनीफ शेख ने संजय गांधी उघान में आवासीय कमरो के निर्माण के साथ ही रिर्सोट के रूप में संजय गांधी उघान को विकसित करने की घोषणा की ताकी खेलो के छोटे आयोजनो, सामाजिक एवं वैवाहिक आयोजन हेतु उपयुक्त स्थान उपलब्ध हो सके। इस दौरान एसोसिएशन ने नपाध्यक्ष मोहम्मद हनीफ शेख की घोषणा का स्वागत करते हुये उनका आत्मीय भावस से आभार माना।


दशपुर विद्यालय में विद्यार्थियों को यातायात सुरक्षा, व नेत्रदान के महत्व से अवगत कराया गया

मन्दसौर। दशपुर विद्यालय में प्रातःकालीन प्रार्थना सभा में विद्यालय प्राचार्य श्री वर्गीस पी.वी. के निर्देशन में लायंस क्लब द्वारा विद्यार्थियों को पर्यावरण के प्रति जागरूक करने, यातायात के नियमों से अवगत कराते हुए नेत्रदान के लिये प्रेरित किया गया।

नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. किशोर शर्मा ने विद्यार्थियों को नेत्रों में होने वाले रोग व उनके निदान की जानकारी देते हुए अपने परिजनों व आस-पड़ोस के लोगों को नेत्रदान के महत्व को समझाते हुए नेत्रदान हेतु प्रेरित करने का अनुरोध किया। साथ ही लायन विकास अग्रवाल ने विद्यार्थियों को यातायात नियमों के विषय में समझाया।

विद्यार्थियों ने भी समस्त जानकारी को बहुत ही शांत भाव से सुना साथ ही लायंस क्लब के सदस्यों को अपनी जिज्ञासा संबंधी प्रश्न पूछे जिनके उत्तर लायंस क्लब के विकास अग्रवाल व नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. किशोर शर्मा ने दिये। प्रश्न पूछने पर विद्यार्थियों को लायंस क्लब के सदस्यों द्वारा पुरस्कृत किया गया। विद्यालय के छात्र वेदिश गेहलोत ने दशुपर विद्यालय की ओर से आभार प्रेषित करते हुए धन्यवाद उद्बोधन दिया।

इस अवसर पर विद्यालय के प्राचार्य वर्गीस पी.वी., उपप्राचार्य प्रिंस वी थामस, व्यवस्थापक हकीमप्रसाद शर्मा, लायंस क्लब अध्यक्ष विकास भंडारी, सचिव रत्नेश कुदार, लायन डॉ. देवेन्द्र पुराणिक, विकास अग्रवाल, पारस जैन, गौरव रत्नावत, डॉ. किशोर शर्मा सहित समस्त शिक्षक एवं विद्यार्थी उपस्थित थे।


वार्ड क्र 2 में प्रधानमंत्री आवास का हुआ भूमिपूजन

मंदसौर। मप्र शासन के नगरीय प्रशासन मंत्री व विकास विभाग भोपाल के निर्देशानुसार दिनांक 6 दिसम्बर से 12 दिसम्बर तक प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के बीएलसी घटक अंतर्गत स्वीकृत प्रधानमंत्री आवास योजना भूमिपूजन किये जाने हेतु भूमिपूजन सप्ताह का आयोजन किया जा रहा हैं नपाध्यक्ष मो हनीफ शेख के निर्देश पर प्रतिदिन मंदसौर नगर के ऐसे वार्ड जहॉ प्रधानमंत्री आवास योजना के प्रकरण स्वीकृत हुये है तथा जहॉ प्रधानमंत्री आवास योजना का निर्माण शुरू करने हेतु भूमिपूजन कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं इसी तारतम्य में कल वार्ड क्र 2 इंद्रा नगर झुग्गडी झोपडी में गेदकुवर पति स्व श्री मोहनसिंह के निवास पर प्रधानमंत्री आवास योजना  का भूमिपूजन किया गया।


पितृ स्मृति में दीन बंधुओ को भोजन एवं रक्तदान कर दिया अनूठा संदेश

मंदसौर। यू तो दिवंगत परिजनो की आत्मा की शांति के लिए लोग अपने स्तर पर कई कर्म करते है, तो कई अन्न तो कोई वस्त्र, तो कोई धनधान्य तो कोई सोना-चांदी मंदिरो में दान आदि का कार्य कर स्वंय की आत्मा की शांति महसुस करते है। लेकिन इन सबके बावजुद जो सच्ची मानवता की सेवा में अपना कुछ अंशदान दिवगंतो की स्मृति में करता है वही सर्वाेत्तम पुण्य माना जाता है। इसी परिप्रेक्ष्य में सेवानिवृत्त शिक्षक स्व. श्री रमेशचंद्र परमार की तृतीय पुण्य स्मृति को अक्षुर्ण बनाए रखने के लिए जहां एक ओर पीडित मानवता की सेवार्थ दीन बंधुओ को भोजन कराया वही किसी को स्वास्थ्य लाभ देने के लिए रक्तदान कर अपनी सच्ची श्रद्धाजंलि अर्पित की। इस अवसर पर स्थानीय जिला चिकित्सालय स्थित रक्तदान कोष में जाकर 5 यूनिट रक्तदान किया गया। इस अवसर पर रक्तदान प्रेरणादायी होता है। रक्तदान से सभी व्यक्ति को प्रेरणा लेना चाहिए रक्तदान साहस का भी प्रतिक है जिससे हम एक साथ कई लोगो की सेवा का उदाहरण देते है। परोपकार के पुण्य कार्य को लेकर यहा रक्तदान उमेश परमार, अनुप परमार, विशाल सैनी, नरेद्र श्रीमाल, अंशुमन आदि ने किया। इस अवसर पर परमार परिवार की मातुश्री सीतादेवी परमार, हेमंत परमार, महेश परमार, अशोक परमार, ओम परमार, चंद्रशेखर परमार सहित अनेकजन उपस्थित थे।


जिला एवं ब्लाक स्तरीय अधिकारी करे प्रत्येक माह छात्रावासो का निराकरण

साप्ताहिक अंतर विभागीय समीक्षा बैठक संपन्न

मंदसौर। सीईओ जिला पंचायत ऋषभ गुप्ता की अध्यक्षता में साप्ताहिक अंतर्विभागीय समीक्षा आयोजित की गई। बैठक के दौरान उन्हो्ने निर्देश दिये कि जिले में संचालित समस्त अनुसूचित जाति एवं आदिम जाति कल्याण विभाग के छात्रावासों का प्रत्येक माह निरीक्षण कर निर्धारित प्रारूप में जिले के सभी अधिकारी जानकारी प्रदान करें।  उन्होाने जिले में संचालित मध्यान्ह भोजन योजना के अंतर्गत भी जिलाधिकारी द्वारा आकस्मिक जांच कर प्रतिवेदन प्रारूप भेजने के निर्देश दिए। हाईकोर्ट के जितने भी प्रकरण है उनका समय सीमा में जवाब प्रस्तुत करें। जवाब देने के पश्चात, हाईकोर्ट का अंत में क्या निर्णय आता है उसको भी देखे। उर्वरक वितरण में नियमों का पालन किया जाए। सिंगल यूज प्लास्टिक का कम से कम उपयोग हो इसके लिए सभी नगर परिषद इसका व्यापक प्रचार-प्रसार करें। सीएम हेल्पलाइन में 100 दिवस से अधिक लंबित प्रकरणों के संदर्भ में निर्देश दिये कि आगामी सात दिवस में ऐसे सभी प्रकरणों का उचित निराकरण करें।  बैठक के दौरान अपर कलेक्टर श्री बीएल कोचले एवं सभी जिला अधिकारी मौजूद थे।


मातृ मृत्यु की सूचना देने पर कलेक्टर द्वारा दिए जाएंगे 1 हजार रुपये

मंदसौर।  जिले में मातृ मृत्यु दर की सूचना किसी भी व्यक्ति विशेष द्वारा स्वास्थ्य विभाग को देने पर कलेक्टर के द्वारा पुरस्कार राशि के रूप में 1 हजार रुपये प्रदान किए जाएंगे। जिनकी मृत्यु गर्भावस्था के दौरान या शिशु जन्म के 42 दिन के अंदर होना चाहिए। अगर इस तरह की मातृ मृत्यु की सूचना देने पर 1 हजार रुपये प्रदान किए जाएंगे।


 

 

 

 

 

 

 

 

 

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts