Breaking News

मंदसौर छोटी बड़ी खबरे : 18 August 2019

बोलेरो में पकड़ा सट्टा 18 हजार जब्त

मंदसौर। अफजलपुर पुलिस ने राजगढ जिले के ग्राम माचलपुर निवासी याकूब को बोलेरो वाहन में सट्टा खाते हुए धर दबोचा। पुलिस ने उसके कब्जे से 18 हजार रूपये नगद व सट्टे का हिसाब जब्त किया है।


वैन पलटने से वाहन चालक घायल

मंदसौर। रविवार को प्रातः ग्राम बसई के निकट मारूति वेन के पलट जाने से वाहन चालक वासुदेव निवासी खिलचीपुरा मंदसौर घायल हो गए है। उनके हाथ में फैक्चर होने से उपचार हेतु निजी अस्पताल ले जाया गया। वैन समाचार पत्रों के बंडल लेकर मंदसौर से भानपुरा की ओर जा रही थी कि हादसा हो गया।


संस्कार ज्ञान शिविर का आयोजन, ढेड सौ बच्चों ने लिया भाग

मंदसौर। श्री केशरिया आदिनाथ श्रीसंघ के द्वारा चौधरी कॉलोनी स्थित रूपचॉद आराधना भवन चातुर्मास अंगर्गत प्रतिदिन विविध धार्मिक गतिविधियों आयसोजित रही हे। साध्वी श्री अनंतगुणाश्रीजी मसा आदि ठाणा 10 की पावन निश्रा से एवं साध्वी श्री परमप्रसन्नाश्रीजी मसा व अन्य साध्विवयों की पावन निश्रा में प्रति रविवार को प्रातः 9 से 11.30 बजे तक बच्चों को धार्मिक ज्ञान देने के लिये संस्कार ज्ञान शिविर आयोजित किये जा रहे हे। रूपचॉद आराधना भवन में श्रीसंघ के द्वारा संस्कार शिविर का आयोजन हुआ 150 बच्चो ने भागीदारी की। मंदसौर नगर के सभी क्षैत्रो के बच्चो इस ज्ञान शिविर में पहुॅचे और उन्होने जैन धर्म व संस्कारो का ज्ञान प्राप्त किया। साध्वी श्री परमप्रसन्नाश्रीजी मसा ने बच्चो को शिविर में जैन धर्म के 24 तीर्थकर, 45 आगामों देववंदन चेत्यवंदन, लोगस्य नमोत्थुणम आदि विशिष्ट क्रियाआ का जाप की प्रथामिकता जानकारी दी लगभग 2 धंटे से अधिक तक चले इस शिविर में आत्मसात किया । शिविर के समापन के पश्चात श्रीसंघ के द्वारा सभी बच्चो को स्वामी वात्सालय कराया गया तथा  प्रभावना वितरित की गई। शिविर की व्यवस्थाओं मे श्रीसंघ अध्यक्ष दिलीप डांगी, सचिव संदीप घंीग,, कोषाध्यक्ष छोटेलाल जैन, चातुर्मास समिति अध्यक्ष मनोज जैन, सचिव पंकज खटोड, समाजसेविका अनिता मुरडिया ने सहयोग प्रदान किया। श्रीसंघ के द्वारा प्रति रविवार लगाये जा रहे संस्कार ज्ञान शिविर आगामी समय में भी जारी रहेगा।


सुभाषाजी मसा की प्रेरणा से वाध्याय भवन में हो रही प्रतिदिन धार्मिक गतिविधिया

मंदसौर। उपाध्याय श्री मनोहरमुनिजी मसा की आज्ञानुवर्ती साध्वी श्री कुसुमलताजी मसा की सुशिष्या साध्वी सुभाषाजी मसा व साध्वी  श्री आंकाशाजी मसा आदिठाणा 2 चातुर्मास जैन दिवाकर स्वाघ्याय भवन में विराजित है। साध्वीगणो की पावन प्रेरणा व निश्रा में प्रतिदिन धार्मिक गतिविधियों आयेाजित हो रही है तथा इन गतिविधियों में बडी संख्या में स्थानकवासी जैन समाज के श्रावक श्राविकाओं शामिल हो रहे है प्रात 9 से 10 बजे तक प्रवचन व सांय काल 8.30 से 9.30 बजे तक जैन दिवाकर स्वाध्याय भवन में नवकार महामंत्र के जाप हो रहे हे इन दोनो गतिविधियों में बडी संख्या में धर्मालुजन आकर धर्मलाभ ले रहे है। इसके साथ ही प्रतिदिन प्रात 6 से 7 बजे तक भक्तामबर पा्रर्थना व ध्यान शिविर लगाया जा रहा है। दोपहर 3से4 बजे सूर्यास्त के समय महिलाओं का प्रतिक्रमण जैन दिवाकर स्वाध्यायभवन साध्वीजी की प्रेरणा व निश्रा में हो रहा है। इनमें बडी संख्या में महिलाओं भागीदारी कर रही है। श्रीसंघ ने सभी गतिविधियों में सभी भागीदारी करने की अनुरोध किया है।


आज नपा परिषद की बैठक

मंदसौर मुख्य नगर पालिका अधिकारी श्री आरपी मिश्रा ने बताया कि आज दिनांक 19 अगस्त सोमवार को प्रात 11.30 बजे नपा सभाग्रह में नपाध्यक्ष मो हनीफ शेख की अध्यक्षता में नपा परिषद की बेठक रखी गयी है। इस बैठक् में 122 प्रकरण परिषद के विचारार्थ रखे जायेगे। सभी पार्षदों को बैठक की सुचना भेजी गयी है।


बोहरा समाज ने किया वृक्षारोपण

सीतामऊ। पर्यावरण को बढ़ावा देने के लिए बोहरा समाज की माऊखेड़ा दरगाह पर नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि राजेश गिरोठिया, पूर्व नप अध्यक्ष अनिल पांडे, पार्षद नवीन त्रिवेदी, बोहरा समाज के जनाब मुल्ला इब्राहिम भाई सैफी, मुर्तजा (बाबु)भाई शब्बीर भाई, जाफर भाई, हुसैनी भाई, फिरोज भाई,  अब्बास भाई सहित समाज के वरिष्ठजन एवं युवाजन मौजूद थे। बोहरा समाज द्वारा पूरे दरगाह परिसर में विभिन्न प्रकार के पौधे लगाए एवं पर्यावरण की महत्वत्ता को बढ़ावा दिया।


बाढ़ व अतिवृष्टि क्षेत्र हैदरवास में गेहूं वितरण का किया गया

मन्दसौर।  जिले में बाढ़ एवं अतिवृष्टि के पश्चात ऐसे व्यक्ति जिनके मकान पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए। खाद्य सामग्री पूरी तरह से खराब हो चुकी है। ऐसे लोगों का पटवारियों के द्वारा सर्वे किया गया था। गांव हैदर वास में पटवारी सर्वे के आधार पर 148 परिवारों को चिन्हित किया गया है। पटवारी सर्वे के आधार पर एक परिवार को 50 किलो गेहूं सहकारी उचित मूल्य की दुकान के माध्यम से वितरित किया जा रहा है। गेहू वितरण का कार्य आज प्रातः 9 बजे से प्रारंभ हो चुका है। ऐसे परिवार जिनके घर पर रखा सभी सामान जिसमें गद्दा, बेड, रजाई, उनके वस्त्र जो पूरी तरह से खराब हो चुके हैं। ऐसे लोगों को सरकार के माध्यम से आर्थिक सहायता प्राप्त हो जाए। इसके लिए तहसीलदार, नायब तहसीलदार द्वारा प्रकरण भी बनाए गए हैं।


जल शक्ति अभियान के अंतर्गत हुआ पेंशनर-डे का आयोजन

मन्दसौर। जिला पेंशन अधिकारी श्री विजय सिंह नरेठी ने बताया कि जल शक्ति अभियान अंतर्गत पेंशनर-डे का आयोजन हुआ। पेंशनर-डे का अयोजन जिला चिकित्सालय के सामने डे केयर सेंटर में हुआ। जिसमें जिले के पेंशनर उपस्थित हुये। संगोष्ठीआ में बताया कि यह दिन सेवानिवृत्त अधिकारीयों, कर्मचारियों एवं पेंशनरों के लिए जल शक्ति अभियान को समर्पित किया गया है। इस आयोजन का उदेश्यि जल संवर्धन, जल प्रबंधन, जल की बचत, वनों की उपयोगिता, जल का उपयोग, कृषि में जल का उपयोग, वनों का विकास-विस्तार, मृदा संरक्षण आदि के बारे में जागरूकता उत्पन्न की जाना है।  जलशक्ति अभियान हेतु आयोजित कार्यक्रम में पेंशनरों सहभागिता प्रदान की एवं सभी ने संकल्पा लिया की मै जल शिक्ति अभियान अंतगर्त ‘’ संचय जल बेहतर कल’’ के लिये स्वीयं जल की बूंद-बूंद बचाने एवं संरक्षण का प्रयास करूंगा। मैं जल का सूझ-बूझ से उपयोग एवं बचत करूंगा साथ ही अन्यन परिचितों एवं समाज को भी जागरूक करने का प्रयास करूंगा।

पेंशनर डे आयोजन में जिला पेंशन अधिकारी श्री नरेटी ने वित्तीतय बजट के समान वाटर बजट बनाकर जल की मितव्य यीता पर जोर दिया। उपसंचालक सामाजिक न्याकय श्री जै.के. जैन द्वारा बताया गया कि जल मंत्रालय द्वारा मंदसौर जिले को जल अतिदोहन जिले में शामिल किया है। इसलिए जिले में जल जागरूकता बढाने के उद्देश्यज से अलग-अलग गतिविधियां आयोजित कर सभी को जागरूक किया जा रहा है। इसके अंतर्गत आज पेंशनर डे-पर संगोष्ठीय का आयोजन किया गया है।  कार्यक्रम का संचालन जिला सचिव नंदकिशोर राठोर ने किया। आभार कन्हैेलाल सोनगरा ने माना। कार्यक्रम में सहायक पेंशन अधिकारी श्री अश्विन कटारिया ने सभी वरिष्ठोंद से जल संचय के लिये वचन पत्र भरवाकर जल अपव्य य से बचने की अपील की।


बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में स्वास्थ्य विभाग सक्रिय

हैदरवास में किया गया दवाइयों का छिड़काव

मन्दसौर। बाढ़ एवं अतिवृष्टि के पश्चात स्वास्थ्य विभाग द्वारा लोगों के स्वास्थ्य परीक्षण के संबंध में लगातार कार्य किया जा रहा हैं। बाढ़ प्रभावित सभी क्षेत्रों में दवाइयों के छिड़काव का कार्य लगातार जारी है। इसके अंतर्गत मंदसौर तहसील की हैदरवास गांव में आज स्वास्थ्य विभाग द्वारा पूरे गांव में दवाई छिड़काव का कार्य किया गया। इसके अंतर्गत पूरे जिले में 5 दल बनाए गए हैं। यह सभी दल अलग-अलग विधानसभा क्षेत्र में जाकर अनुविभागीय अधिकारी के माध्यम से स्वास्थ्य परीक्षण के संबंध में कार्यवाही कर रहे है। इसके साथ ही हर विधानसभा स्तर पर भी कामबेक्ट टीम भी बनाई गई है। यह टीमें जिन लोगों के घरों में पानी घुस गया था एवं जहां पर पानी की वजह से बहुत ज्यादा स्थिति खराब हो गई थी। उन लोगों का लगातार स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। उन्हें एंटीबायोटिक, ओआरएस, एलर्जी की दवाइयां एवं पानी साफ हो इसके लिए क्लोरीन की दवाई भी दी जा रही हैं। इसके साथ ही उषा एवं आशाओं, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की एएनएम को भी स्वास्थ्य के संबंध में जरूरी दवाइयां उपलब्ध कराई गई है। जिससे ग्रामीण जनों को आसानी से स्वास्थ्य के लिए दवाइयां उपलब्ध हो सकें। जिला स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा अपने अधीनस्थ सभी डॉक्टरों को निर्देश दिए गए हैं, कि अगर उनके पास कोई रेफर का केस आता है, तो उसका तुरंत उपचार किया जाए। इसके साथ ही सभी को मुख्यालय में बने रहने के भी निर्देश दिए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले से लेकर ग्राम स्तर तक स्वास्थ्य की बेहतर व्यवस्था की गई है।
जिले में जिन क्षेत्रों में मलेरिया का प्रभाव दिखने लगा है। उस क्षेत्र में स्वास्थ्य विभाग द्वारा मलेरिया फीवर सर्वे भी किया गया है। साथ ही क्षेत्र में मलेरिया का प्रभाव खत्म हो जाए। इसके लिए मलेरिया दवाई का छिड़काव भी किया गया है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा आम लोगों से यह गुजारिश की गई है, कि सभी लोग डेंगू मच्छर पैदा ना हो एवं मलेरिया का प्रभाव ना हो। इसके लिए गमले, कूलर, टायर आदि में 7 दिनों से अधिक साफ पानी नहीं रखें। ऐसे सभी पात्र को खाली करके रखें। जिससे मलेरिया के मच्छर अर्थात डेंगू पनप न सके।


चंचल मन पर काबू करने के लिए आत्मज्ञान से प्राप्त विवेक की आवश्यकता होती है – चैतन्यानन्दगिरीजी म.सा.

मंदसौर। शरीर के अंदर मन विद्यमान रहता है। जो बहुत चंचल है। इंद्रियों के वश में आकर इस सांसारिक मोह माया के जाल में फसकर जन्म मृत्यु के चक्र में जीवन परिहन्त बंधा रहता है। इस चक्र से मुक्ति पाने का एक ही माध्यम है। वो आत्मज्ञान है। इससे प्राप्त करके मनुष्य विवेक वान बन जाता है। इस सांसारिक मोह को छोड़कर भगवत भक्ति लग जाता है। जिससे वह मोक्ष को प्राप्त होता है।  यह बात दिव्य आधात्मिक सत्संग में संत श्री चौतन्यानन्दगिरीजी महाराज ने केशव सत्संग भवन खानपुरा में कहीं। उन्होंने कहा कि यदि आत्मज्ञान प्राप्त करने के लिए गुरु की आवश्यकता होती है। जो आत्मज्ञान देने में योग्य हो। परन्तु पहली प्राथमिकता ये होती है कि जो आत्मज्ञान प्राप्त करना चाहता है वह शिष्य योग्य हो। यदि गुरु ज्ञान देने में कुशल नहीं है तो ऐसा ज्ञान किस काम का। जिसको प्राप्त कर वह अपना उधार नहीं कर सके। इसी लिए कहते है ज्ञान देने वाले गुरु का कुशल होना आवश्यक है। साथ ही शिष्य को ज्ञान अर्जन करने के प्रति उत्सुक होना आवश्यक है। इसके लिए उससे एकाग्र चित होकर ज्ञान प्राप्त करना पड़ेगा। यह वह जब कर सकता है जिस समय वह मन की इंद्रियों पर काबू पाले।


मनुष्य के जीवन में दुआओं का असर दिखाई नहीं देता लेकिन असर होता अवश्य है-मुनिश्री

मंदसौर। मनुष्य के जीवन में दुआओं तथा बदुआओ का असर अवश्य होता है,सत युग मे इनका असर हाथो हाथ हो जाता था,कल युग मे चाहे असर हाथों हाथ न हो लेकिन होता अवश्य है। इसलिए मनुष्य को जीवन में हमेशा भलाई और लोगों की मदद के कार्य करते रहना चाहिए ताकि जीवन रूपी खाते में दुआओ का बैलेंस बढ़ता रहे। कई बार मनुष्य बड़ी विपत्ति में घिर जाता है कोई रास्ता नहीं दिखाई देता और अचानक ही वह विपत्ति दूर हो जाती हैं ,इसके पीछे उसके द्वारा किए गए अच्छे कार्य तथा मिलने वाली दुआएं ही होती है जिसके कारण बड़ी से बड़ी परेशानियां हल हो जाती है।

यह बात धर्म सभा को संबोधित करते हुए दिगंबर मुनि 108 समबुद्ध सागर जी महाराज ने कही ।आपने कहा कि धर्म के मार्ग पर चलने वाले मनुष्य को निरंतर जीवन में सफलता मिलती रहती है ,धर्म का प्रभाव भले ही दिखाई ना दे लेकिन धार्मिक व्यक्ति के जीवन पर होता अवश्य है।आपने कहा कि मनुष्य जब  ह्रदय मन से ईश्वर की भक्ति में लीन हो जाता है वह सीधे ही ईश्वर से कनेक्ट हो जाता है।  मुनिश्री  ने कहा कि जिस मनुष्य के मन में क्रोध कषाय लोग वासना ने जगह बना रखी हो वह कभी ईश्वर की भक्ति नहीं कर सकता ।इसलिए इन सभी विकृतियों के मेल को मन से निकाले ताकि प्रभु और गुरु की भक्ति को आपके मन में स्थान मिल सके। मुनिश्री 108 सवार्थ सागर महाराष्ट्र ने कहा कि क्षमा के भाव को रखने वाला मनुष्य ही जीवन के मूल्यों को समझ सकता है। इस छोटे से जीवन में  दोस्तों के साथ साथ दुश्मनों की गलतियों को भी क्षमा करके उन्हें गले लगाएं।

रविवार को मुनिश्री के अमृत वचन को श्रवण करने के लिए क्षेत्रीय विधायक यशपाल सिंह सिसोदिया पुत्र डॉक्टर भानु प्रताप सिंह के साथ मुनि श्री के चरणो में पहुंचे तथा उनसे आशीर्वाद प्राप्त कर प्रवचनो का लाभ लिया। धर्म सभा के अंत में विधायक सिसोदिया ने कहा कि दिगंबर संत जैसे तपस्वीयो का सानिध्य आशीर्वाद तथा उनके अमृत प्रवचन ओं का लाभ सौभाग्यशाली मनुष्य को ही मिल पाता है उन्हीं में से एक  मैं भी हूं जिन्हें आज गुरुवर का आशीर्वाद मिला है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts