Breaking News

मंदसौर छोटी बड़ी खबरे : 20 Jun 2019

खनिज विभाग द्वारा 1 जैसीबी व 3 ट्रेक्टरों किये जप्त

मन्दसौर। खनिज विभाग द्वारा रेत माफियाओं पर सख्त कार्यवाही कर रात्रि में 1 जैसीबी एवं 3 ट्रेक्टरों को ग्राम सरसोद मगरा तहसील दलौदा से मुरम खनिज का अवैध उत्खनन करते पकड़ा गया। वाहनो को जप्त कर पुलिस अभिरक्षा में थाना दलौदा में रखा गया है। वाहनों पर म.प्र. गौण खनिज अधिनियम 1996 के नियम 53 के तहत कार्यवाही की जावेगी। समस्त प्रकार के खनिजों के अवैध उत्खनन, परिवहन, भण्डारण की प्रभावी रोकथाम हेतु भविष्य में भी खनिज विभाग द्वारा निरंतर कार्यवाही की जारी रहेगी। कार्यवाही के दौरान खनिज अधिकारी मेजर सिंह जमरा, खनिज निरीक्षक श्रीमती तिनु सिंह डावर एंव विक्रमसिंह सिसौदिया, नरेंद्र सिंह तोमर, देवीलाल, अय्युब मेव, भवंरलाल तथा जांच दल मौजूद था।


साफ्टवेअर के कारण विलम्बित हो रही है सेवानिवृत्तों की पेंशन

पेंशनर महासंघ ने आयुक्त कोष एवं लेखा को लिखा पत्र

मन्दसौर। विगत 8-10 माह में सेवानिवृत्त होने वाले मंदसौर जिले के कर्मचारी अपने सेवानिवृत्ति पश्चात् मिलने वाले स्वत्वों तथा पी.पी.ओ. को लेकर परेशान हैं, क्योंकि मंदसौर जिला पेंशन पायलेट प्रोजेक्ट आईएफएमआईएस के अन्तर्गत होने से पेंशन संबंधी सभी कार्य आनलाईन करना पड़ रहे है। संबंधित कर्मचारी द्वारा पेंशन प्रकरण तैयार कर कम्प्यूटर से डाटा डाला जाता है तो उसमें फीडअप नहीं हो पाता है। वांछित सुधार करने पर डाटा डिलिट हो जाता है। प्रक्रिया पुनः आरंभ और डिलिट का कार्य महिनों चलता है। ऐसे में सेवानिवृत्ति माह के अन्त तक कर्मचारी को पी.पी.ओ. कलेक्टर कार्यालय में कलेक्टर महोदय के हाथों सम्मानित होते हुए प्राप्त करना स्वप्न सी बात हो गई है। पेंशनर सेवानिवृत्ति के बाद आफिसों के चक्कर लगाने में सक्रिय है, 7-8 माह तक साटवेअर प्रकरण स्वीकार ही नहीं कर रहा। इन परिस्थितियों में सेवानिवृत्त कर्मचारी के संस्था प्रधान पेंशन नियम 64 के अनुसार कार्यवाही कर तत्कालिक राहत प्रदान कर रहे है जो म.प्र. सिविल सेवा (पेंशन) नियम 1976 के नियम 57, 59 एवं 74 के भावना की विपरित है।

सेवानिवृत्त एवं पेंशनर नागरिक महासंघ जिला मंदसौर के अध्यक्ष श्रवण कुमार त्रिपाठी, पेंशन फोरम प्रभारी जगदीश न्याती, सचिव नन्दकिशोर राठौर, संगठन सचिव मोहनलाल गुप्ता ने आयुक्त, कोष एवं लेखा भोपाल को पत्र भेजकर मांग की है कि आईएफएमआईएस साटवेअर को शिघ्र अपग्रेड किया जाए एवं जब तक अपग्रेड कार्य नहीं हो तब तक संबंधित जिला कार्यालय को मेनुअली कार्य करने की अनुमति दी जावे जिससे जिले के पेंशनरों को समय पर पेंशन प्राप्त हो सके।


संगठन से ही आदर्श समाज का निर्माण होता है- तिवारी

गुर्जरगौड़ ब्राह्मण समाज द्वारा प्रतिभा सम्मान समारोह सम्पन्न

मन्दसौर। प्रतिभाएं हर घर में होती है यदि समाज इन प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करें तो वे और अधिक मुखरित हो कर अपने अपने लक्ष्य तक पहुंच कर अपने परिवार और समाज को गौरवान्वित कर सकती है। ये उदगार व्यक्त किये चेतन्य आश्रम के पूज्य संत श्री महेश चेतन्य महाराज ने। आप जीवागंज स्थित जगदीश विलास में श्री गुर्जरगौड़ ब्राहम्ण समाज द्वारा स्व.डाडम चन्द्र जोशी व स्व.मनोरमा जोशी की स्मृति में आयोजित प्रतिभा सम्मान समारोह को संबोधित कर रहे थे। आपने कहा कि प्रतिभाओं को हर जगह सम्मान मिलता है किंतु समाज के मंच पर सम्मान मिलना सबसे बड़े गर्व की बात होती है। महाराज श्री ने गुर्जरगौड़ ब्राह्मण समाज को इस रचनात्मक आयोजन के लिये साधुवाद दिया।

आपने समाज द्वारा जगदीश विलास में पशुपतिनाथ मंदिर के प्रतिष्ठापक ब्रह्मलीन स्वामी श्री प्रत्यक्षानन्द जी महाराज की प्रतिमा स्थापित करने के संकल्प की सराहना की व इस पुनीत कार्य के लिए अपनी ओर से 5100 रु सहयोग राशि प्रदान करने की घोषणा की। उन्होंने गुर्जर गोड़ ब्राह्मण समाज द्वारा आगामी रथयात्रा महोत्सव में नगर व अंचल के सभी सनातन वैष्णव परम्परा के समाजजनों को सम्मिलित करने की पहल पर प्रसन्नता व्यक्त की ।

समारोह के विशिष्ट अतिथि अ.भा.गुर्जरगौड़ ब्राह्मण महासभा के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष राजेश तिवारी ने कहा कि समाज का संगठन यदि रचनात्मक सोच के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन करे तो समाज को एक आदर्श स्वरूप प्रदान किया जा सकता है। मन्दसौर में गुर्जरगौड़ ब्राह्मण समाज ने आदर्श समाज निर्माण की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाया है बच्चों को अपने समाज के आंगन में जब प्रोत्साहन मिलता है तो यह उनके जीवन की एक बड़ी उपलब्धि होती है। श्री तिवारी ने जगदीश विलास में स्वामी प्रत्यक्षानन्द जी महाराज की प्रतिमा स्थापना के लिए 11 हजार रू.देने की घोषणा की।

समाज के वरिष्ठ कवि व दूरदर्शन-आकाश वाणी के लोक गायक श्याम कुमार चौबे, सुंदरकांड के प्रस्तुतकर्ता प.सुनील पुरोहित ने अपने गायन व समाज की युवा प्रतिभा गुंजन पुरोहित ने वायलिन पर शास्त्रीय राग प्रस्तुत कर सभी को मंत्र मुग्ध कर दिया, टीवी व फिल्मी पर्दे पर अपनी कला प्रदर्शित करने वाले युवा विपिन जोशी ने अपनी मिमिक्री से मनोरंजन किया।


निर्धारित अवधि में गैस सिलेण्डर उपभोक्ता को उपलब्ध करवाया जाना वितरण एजेंसी का उत्तरदायित्व

जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोषण फोरम ने किया आदेश पारित

मन्दसौर। जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोषण फोरम जिला पीठ मंदसौर ने एक महत्पूर्ण आदेश पारित करते हुए प्रकरण क्र. 183/18 (नाथूलाल पिता रामचन्द्र भांभी बनाम संचालक मुल्तानपुरा इण्डेन ग्रामीण वितरक मुल्तानपुरा में) में अनावेदक मुल्तानपुरा इण्डेन ग्रामीण वितरक के विरूद्ध आदेश पारित करते हुए अनावेदक की सेवा में त्रुटी माना तथा परिवादी को मानसिक त्रास हेतु दो हजार रू. अदा करने तथा परिवादी को वाद व्यय एक हजार रू. अदा करने का आदेश दिया।

प्रकरण की जानकारी देते हुए परिवादी के अभिभाषक प्रमोद बैरागी ने बताया कि ग्राम रलायता निवासी नाथुलाल भांभी ने मुल्तानपुरा इण्डेन ग्रामीण वितरक के यहां 15 सितम्बर 2018 को ऑनलाईन कॉल करके सिलेण्डर रिफिल हेतु बुक करवाया था। अनावेदक वितरक कं. द्वारा 18 सितम्बर 2018 को बुकिंग के आधार पर केश मेमो रू. 896 का जनरेट किया लेकिन 26 सितम्बर 2018 तक परिवादी को सिलेण्डर उपलब्ध नहीं करवाया गया। जिस पर परिवादी ने टोल फ्री नम्बर पर शिकायत की तथा 28 सितम्बर को अपने अधिवक्ता के माध्यम से अनावेदक को विधिक सूचना पत्र भिजवाया। सूचना पत्र मिलने के बाद दिनांक 1 अक्टूबर 2018 को अनावेदक गैस वितरक द्वारा परिवादी को गैस सिलेण्डर 954 रू. 50 पैसे में उपलब्ध करवाया। परिवादी के अनुसार इस आधार पर उसे आर्थिक हानि उठानी पड़ी तथा उसे मानसिक त्रास हुआ। जिस पर परिवादी ने रिफिल बुकिंग करवाने के पश्चात् विलम्ब से गैस वितरण किये जाने के आधार पर सेवा में त्रुटि बताते हुए आर्थिक नुकसानी व मानसिक रूप से परेशानी हेतु प्रतिकर दिलाये जाने हेतु धारा-12 उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम 1986 के अंतर्गत परिवाद प्रस्तुत किया।

फैोरम ने परिवाद, अनावेदक की ओर से प्रस्तुत जवाब, उभयपक्षों की ओर से प्रस्तुत शपथपत्रों एवं दस्तावेजों का गहनता से परीक्षण कर व तर्कों को सुनकर अनावेदक के विरूद्ध उक्त आदेश पारित किया। तथा अपने आदेश में कहा कि अनावेदक गैस वितरण एजेंसी अपने उपभोक्ताओं को रिफिल हेतु बुकिंग किये जाने के बाद गैस वितरण हेतु कम्पनी द्वारा जारी निर्देशों का पालन नहीं करती है। गैंस बुकिंग के पश्चात व कैश मेमो जनरेट होने के बाद निर्धारित अवधि में गैस सिलेण्डर उपभोक्ता को उपलब्ध करवाया जाना वितरण एजेंसी का उत्तरदायित्व है। जिसका पालन हस्तगत मामले में अनावेदक कंपनी द्वारा नहीं किया गया है जो निश्चित तौर पर अनावेदक की अपने उपभोक्ता के प्रति सेवा में त्रुटि को परिलक्षित करती है। जिससे परिवादी को आर्थिक नुकसानी के साथ मानसिक त्रास भी हुआ है जिसके लिये परिवादी समुचित प्रतिकर पाने का अधिकारी है।

परिवादी की ओर से सफल पैरवी अभिभाषक प्रमोद बैरागी, सहायक अभिभाषक देवीलाल कुमावत ने की।


13 जुलाई को होगा नेशनल लोक अदालत का आयोजन

मंदसौर। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली एवं मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर के दिशा-निर्देशानुसार तथा माननीय जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष महोदय जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मंदसौर श्री तारकेवर सिंह के मार्गदर्शन में 13 जुलाई 2019 शनिवार को जिला स्तर पर एवं तहसील न्यायालय भानपुरा, गरोठ, सीतामऊ, नारायणगढ़ में नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया जाना है।

उक्त नेशनल लोक अदालत में, न्यायालय में लंबित आपराधिक प्रकरण, परक्राम्य अधिनियम की धारा 138 के अंतर्गत चैक बाउंस प्रकरण, बैंक रिकवरी संबंधी मामले, मोटर दुर्घटना दावा संबंधी प्रकरण, वैवाहिक प्रकरण, श्रम विवाद, भूमि अधिग्रहण संबंधी प्रकरण, विद्युत एवं जलकर, बिल संबंधी प्रकरण (चोरी के मामलों को छोड़कर), सेवा मामले जो सेवा निवृत्ति संबंधी लाभों से संबंधित प्रकरण, राजस्व प्रकरण (जिला न्यायालय एवं उच्च न्यायालय में लंबित) एवं प्रीलिटिगेशन आदि राजीनामा योग्य प्रकरणों का निराकरण किया जाना है।

तत्संबंध में उक्त लोक अदालत में क्लेम प्रकरणों के अधिक से अधिक निराकरण किये जाने हेतु सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मंदसौर रईस खान द्वारा बैंक अधिकारीगण, बीमा कंपनियों के अधिकारीगण एवं क्लेमेन्ट एडवोकेट्स के साथ निरन्तर बैठक का आयोजन किया जा रहा है।


खाद्य एवं औषधि विभाग ने कि दलौदा में कार्यवाही

बिना चेतावनी वाली सिगरेटों को किया नष्ट, खराब पोहा . जलेबी को भी हटवाया

मंदसौर। बुधवार 19 जून को खाद्य सुरक्षा अधिकारी कमलेश जमरा के नेतृत्व में विभाग ने दलौदा की खाद्य संस्थानों का निरीक्षण किया। इस दौरान अधिकारी ने कई संस्थानों का निरीक्षण किया व दिशा निर्देश देने के साथ कार्यवाही भी की।

विभाग द्वारा दलौदा के भंडारी कॉलोनी में स्थित ओसवाल किराना से खोपरा बुरा का नमूना जांच हेतु लिया, जिसे जांच हेतु खाद्य परिक्षण प्रयोगशाला भोपाल भेजा गया।

खाद्य सुरक्षा अधिकारी कमलेश जमरा ने जानकारी देते हुए बताया कि साथ ही ओसवाल किराना से डिजारम ब्लेक ब्रांड सिगरेट के लगभग 08 पैकेट रखे मिलें। जिन पर सचित्र चेतावनी कुछ भी नहीं पाया गया, जबकि 85 प्रतिशत होना चाहिए। सिगरेट एवं अन्य तम्बाकू पैकेट पर सचित्र चेतावनी अधिनियम 2003 के अनुसार सचित्र चेतावनी 85 प्रतिशत से कम नहीं होना चाहिए, उक्त पैकेटों को जिनकी कीमत लगभग 6000 रूपये थी, दुकान संचालक की सहमति पर मौके पर ही जलाकर नष्ट किये गये।

इसके बाद विभाग द्वारा दलौदा के ही विभिन्न रेस्टोरेन्टों व होटलों का निरीक्षण भी किया गया। जिसमें अमृत होटल से लगभग 2 किग्रा जलेबी व 2 किग्रा पोहे जो कि खराब हो चुके थे होटल संचालक की सहमति से नष्ट करवायें। इसके साथ श्री जमरा द्वारा अन्य होटल संचालकों को साफ सफाई बनाए रखने, ताजा खाद्य सामग्री ही विक्रय करने, खाद्य पदार्थो को ढक्कर रखने तथा पीने के पानी वाले परिसर में स्वच्छता बनाए रखने के दिशा निर्देश भी प्रदान किये।


नशे के दुष्परिणामों से स्वयं, परिवार, समाज प्रभावित होता है : नशे को ना जीवन को हा कहे- श्रीमती चौहान

मंदसौर। नारकोटिक्स विंग के प्रभारी अतिरिक्त पुलिस महानिर्देशक विपिन माहेश्वरी (भा.पु.से) के निर्देशन एवं जी.जी. पाण्डेय भा.पु.से पुलिस महानिरिक्षक नारकोटिक्स विंग के मार्गदर्शन में 20 से 26 जून तक चलाए जा रहे नशा मुक्ति एवं जनजाग्रति अभियान के तहत कल 20 जून को जिला जेल मंदसौर में नारकोटिक्स विंग मंदसोर द्वारा नशा मुक्ति व जनजाग्रती कार्यक्रम आयोजित किया गयां जिसमें बंदीयों को जेल से रिहा होने के बाद नशा आदि बुराईयों को छोडकर परीवार समाज में सम्मान के साथ जीवन जीते हुए समस्त बुराईयों की जड नशे को छोडने के लिये प्रेरक उद्बोधन देते हुए नारकोटिक्स विंग मंदसौर अतिरिक्त पुलिस अघीक्षक श्रीमती मीना चौहान ने कहा कि ईश्वर प्रदत्त मानव जीवन की सार्थकता व महत्व तभी है जब हम इस बहमुल्य करोडो अरबों के शरीर को नशे के अधिन करके दो कोडी का बना देेते है। इसलिये जेल से रिहा होते समय फिर जीवन में दोबारा किसी भी प्रकार का नशा नही करेगे यह दृढ संकल्प करके जाना चाहिए। श्रीमती चौहान द्वारा नशे के दुष परिणामों के बारे में बताया गया एवं इससे दूर रहने की सलाह दी गयी।

मुख्य स्वास्थ्य चिकित्सा अधिकारी महेश मालवीय ने कहा कि नशे के अभ्यस्त व्यक्ति के कारण परिवार समाज व राष्ट्र का ही नुक्सान नही होता स्वयं भी समय से पहले अपने जीवन को बर्बाद कर देता है। जिस युवा पीढी से राष्ट्र को काफी अपेक्षा है वही पीढी नशे के लत के कारण अपने लक्ष्य के भटकर उन्नती के स्थान पर अवनती के स्थान पर पहुॅच जाता है । इसलिये नशे से दूर रहे।

जिला जेल अधीक्षक एन.एस राणा ने भी नशे के दुष्परिणामों से अवगत कराते हुए नशा न करने की सलाह दी एवं कई उदाहरणो के माध्यम से नशे से होनी वाली हानियों के बारे बताया । स्वास्थ रहने के लिये योग आवश्यक है एवं स्वस्थ शरीर के लिये नशा से दूर रहे।

इस अवसर पर पंतजली योग संगठन जिलाध्यक्ष बंशीलाल टांक ने विश्व योग दिवस के उपलक्ष्य में योग का महत्व बताते हुए निरूद्ध कैदियों को विभिन्न बिमारीयो से बचने के लिये संबंधि योग प्रणयामों का अभ्यास कराया।

समाजसेवी एमपीसिंह परिहार ने भी कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त किये। इस अवसर पर डॉ एमएल कश्यप, जिला मिडिया अधिकारी जिला चिकित्सालय डॉ सिद्धार्थ पाटीदार, नारकोटिक्स प्रकोष्ठ मंदसौर के प्रभारी उनि भरत चावडा,उनि राजवीरसिंह कुशावह, प्रधान आरक्षक रूपेश शर्मा, आरक्षक दिपक शुक्ला एवं जेल का स्टॉफ उपस्थित था। अंत में आभार डिप्टी जेलर सुभद्रा ठाकुर ने माना।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts