Breaking News

मंदसौर छोटी बड़ी खबरे : 22 Sep 2019

गुर्जरगौड़ ब्राह्मण समाज जनों  ने प्रत्यक्षानन्दजी को श्रद्धांजलि दी

मन्दसौर। श्री गुर्जरगौड़ ब्राह्मण समाज के गौरव व भगवान श्री पशुपतिनाथ मंदिर के प्रतिष्ठापक ब्रह्मलीन स्वामी श्री प्रत्यक्षानन्द जी महाराज की 38 वीं पुण्य तिथी पर गुर्जरगौड़ ब्राह्मण समाजजनों ने युवाचार्य महेश चेतन्य जी महाराज के सानिध्य में श्री चौतन्य आश्रम मेनपुरिया में  उनकी प्रतिमा पर पुष्प मालाएं समर्पित  कर श्रद्धाजंलि अर्पित की। इस अवसर पर समाज के वरिष्ठ गोपालकृष्ण शर्मा एड.कवि व मालवी गीतकार श्याम कुमार चौबे, डॉ. गोपाल शर्मा, रूपनारायण जोशी, उपाध्यक्ष  प.जगदीश लाड़, प्रवक्ता ब्रजेश जोशी, ओम नारायण शर्मा,अनिल कुमार शर्मा एड. जोशी,पंकज शर्मा, वासुल चौबे आदि उपस्थित थे।


डूब प्रभावित बेटिखेड़ी व पायाखेड़ी के पशुओं के लिए भूसा वितरित किया गया

मंदसौर। जिले की सीतामऊ तहसील के डूब प्रभावित ग्राम बेटिखेड़ी व पायाखेड़ी के पशु पालकों के लिए कलेक्टीर के मार्गदर्शन में भूसा उपलब्ध कराया गया है। जरूरत पडने पर ओर भी भूसा उपलब्ध कराया जाएगा। यह भूसा बाढ़ प्रभावित परिवारों के पशु पालकों के पशुओं के लिए वितरित किया जा रहा है।


कलेक्टर के निर्देश के बाद चीफ इंजीनियर ने सड़क एवं पुल की मरम्मत का कार्य किया प्रारंभ

झारड़ा ब्रिज एवं मंदसौर सीतामऊ रूपवाली सड़क को किया ठीक

मंदसौर। कलेक्टर मनोज पुष्प द्वारा पीएस पीडब्ल्यूडी, एमपीआरडीसी से चर्चा करने के बाद बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों में पुल पुलिया एवं सड़क मरम्मत का कार्य युद्ध स्तर पर प्रारंभ हो चुका है। आज पीडब्ल्यूडी, एमपीआरडीसी, पीएमजीएसवाई द्वारा कई सड़क एवं पुल की मरम्मत की गई। जिसमें झारड़ा ब्रिज को आज पूरी तरह से ठीक कर दिया गया। वहीं मंदसौर सीतामऊ रोड से 16 किमी नजदीक रूपवाली सड़क को भी ठीक कर दिया गया। आगे भी यह कार्य लगातार तक जारी रहेगा।


मन्दसौर पतंजलि योगपीठ ने बाढ़ प्रभावितों को प्रदाय की राहत सामग्री

मन्दसौर। क्षेत्र में आई बाढ़ को लेकर पतंजलि योगपीठ हरिद्वार से आई राहत सामग्री को वितरित करने के लिए भोपाल से भारत स्वाभिमान के राज्य प्रभारी राजेंद्र आर्य पतंजलि युवा भारत के राज्य प्रभारी प्रेमाराम पूनिया व राज्य कार्यकारिणी सदस्य विक्रम डूडी, राजू बाहेती, महेंद्र तिवारी के साथ मन्दसौर जिला प्रभारी महेश कुमावत,अरुण मेहता, राकेश केलवा ,हीरालाल परमार,विशाल वर्मा ,विक्रम सिह पंवार, बालचंद आर्य दुर्गाशंकर पाटीदार , राकेश कुमावत,गजेंद्र शर्मा,श्याम लौहार बाबू भाई, दीपक काला आदि कार्यकर्ता राहत सामग्री आटा, दाल, बेसन, फल, ज्यूस, साडि़या आदि कपड़े सुदूर गांवों में पहुंचने के लिये कार्यकर्ताओं को सीतामऊ से ही 2 दलों में विभाजित किया गया।  पहला दल गरोठ, शामगढ़ व् गांधीसागर की ओर रवाना हुआ तथा दूसरा दल सीतामऊ, मंदसौर के बाढ़ प्रभावित गांवों के लिये रवाना हुआ। सबसे पहले गांव नाटाखेड़ी श्यामपुर, बेटीखेड़ी, देवरी, सुलतानिया, पायाखेड़ी,कोवली से होते हुए,रूपली चौपाटी कचनारा रामदेव जी मंदिर में लगे राहत कैंप चिकला, गलियारा,जाकली, रामाखेड़ी, खेड़ा, पोटलिया, चकतिया, गुड़बेली, साताखेड़ी, मुंडलाफोजी, कुचड़ोद, आवरा, आक्या, उचाबडि़या, बकाना, मोलाखेड़ी, मोरडी आदि गांवों में कार्यकर्ताओं ने प्राप्त सामग्री, दवाइयां, आटा, नूडल से लेकर पतंजलि के फ्रूट जूस, नमक, कपड़े आदि राहत सामग्री पहुंचाई।


आराधना भवन श्रीसंघ द्वारा गिरनारजी की भावयात्रा का आयोजन सम्पन्न

मंदसौर। रविवार को संजय गांधी उधान में श्री सहस्त्रफणा पार्श्वनाथ श्वेताम्बर मंदिर आयोजित पार्श्वनाथ श्वेताम्बर मंदिर आराधना भवन ट्रस्ट चातुर्मास समिति व नवरत्न परिवार के संयुक्त तत्वधान में गिरनारजी महातीर्थ की भावयात्रा का अदभुत आयोजन किया गया। हजारो की संख्या में उपस्थित श्रावक श्राविकाओं को मुम्बई से आये संजय भाई भाउ व संगीतकार केवल शाह मुम्बई ने गिरनारजी महातीर्थ की अपनी वाधी के द्वारा एलईडी के माध्यम से भाव यात्रा करायी।

जैन संत श्री मुनिरत्नसागरजी व श्री पवित्ररत्नसागरजी मसा की पावन प्रेरणा व निश्रा में मंदसौर में चातुर्मास हेतु विराजित सभी श्वेताम्बर जेन आमनाओं की साध्वियों की पावन उपस्थिति में गिरनारजी की भावयात्रा का यह अदभुत आयोजन हुआ। मंदसौर में पहली बार हुये इस आयोजन में श्रावक श्राविकाओं ने बढचडकर भागीदारी की तथा एलईडी पर मुम्बई से आये संजय भाई भाउ ने शब्दों के माध्यम से गिरनारजी महातीर्थ की भावों के माध्यम से यात्रा की । इस भाव यात्रा के सहलाभार्थी पुरनमल नवीनकुमार विनोद कुमार कुकडा परिवार तथा एक गुरू भक्त परिवार रहे भावयात्रा के उपरांत श्रीसंघ से जुडे परिवारों तथा यात्रा में शामिल सभी श्रावक श्राविकाओं का सहधर्मी स्वामिवात्सल्य भी हुआ।

इस भावयात्रा में संजय भाई भाउ ने तीर्थकरों की तारक भूमि साधना की स्मारक भूमि प्रभु नेमीनाथ जी की साधना भूमि गिरनारजी तीर्थ के पुरे इतिहास व यहा स्थापित मंदिरों व उनकी प्रतिमाओं का विस्तार पूर्वक भावों में अपनी बासुरी के स्वरों से भावयात्रा को स्वर प्रदान किये। यह भावयात्रा प्रातः 9.30 बजे प्रारंभ हुई तथा दोपहर 12.30 बजे तक इस यात्रा का गुणानुवाद हुआ। संजय भाई भाउ ने बताया कि भगवान आदिनाथ के पुत्र भरत चक्रवती के समय से लेकर 22 वे तीर्थकर प्रभु नेमीनाथजी तक इस पावन तीर्थ भूमि पर कई तीर्थकरों की साधना हुई। गिरनारजी तीर्थ सभी तीर्थो में श्रेष्ठ है।

इस भावयात्रा में आराधना भवन श्रीसंघ अध्यक्ष दिलीप  रांका, सचिव महेश जैन, कोषाध्यक्ष अनिल धींग, अमित छिगावत, शेखर धींग, विजय बम्बोरिया, समाजसेवी सीए प्रतीक डोसी, निलेश जैन, सौधर्म डोसी, चन्द्रकुमार रांका मानमल जेन सीएम सुशील डोसी, पारसमल मेहता, अशोंक कुमठ पिपलियामण्डी, अशोक जैन बहीवाला, सुरेश चौरडिया, राकेश दुग्गड, शिखर रांका, उज्जवल कोठारी, शरद  धींग, उज्जवल कोठारी, विमल छिगावत, संदीप धींग, पंकज खटोड, दिलीप संधवी, वरूण किर्लोस्कार, त्रिलोक जैन प्रवीण धींग, अनिल कियावत, अजय लोढा, राजेश सोनी, विरेन्द्र भण्डारी, कांितलाल रातडिया, मनोज जैन, शिखर कासमा, मनोहर जैन लोकेन्द्र हिगड, आदि उपस्थित थे।


तीन दिवसीय ध्यान शिविर सम्पन्न

मंदसौर। श्री जैन दिवाकर स्वाध्याय भवन शास्त्री कॉलोनी में दिनांक 20,21व 22 सितम्बर को तीन दिवसीय ध्यान शिविर का आयोजन किया गया। रविवार को इस ध्यान शिविर का समापन हुआ। परम पूज्यजन साध्वी सुभाषाजी मसा व श्री आकांशाजी मसा की पावन प्रेरणा व निश्रा में यह ध्यान शिविर तीन दिवस तक दो पारियों में आयोजित हुआ। प्रात 10 से 11 बजे तक तथा दोपहर 3 से 4.30 बजे तक इस ध्यान शिविर में लगभग 100  से अधिक श्रावक श्राविकाओं ने सहभागीता की । 100 से अधिक श्रावक श्राविकाओं में हरियाणा, गुजरात, राजस्थान, महाराष्ट्र सहित देश भर से आये 40 श्रावक श्राविकाओं भी इसमें शामिल हे। श्री वर्घमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ नई आबादी, नवुयवक परिषद मंदसौर आल इण्डिया जैन स्थानकवासी जैन कांफेस के संयुक्त तत्वधान में आयोजित इस शिविर में अतिथि सत्कार का लाभ राजीव नरेन्द्र मेहता परिवार ने लिया। इस ध्यान शिविर में गुजरात से आयेपरम पूज्य बापूजी के सानिध्य में सभी 100 श्रावक श्राविकाओं नेध्यान साधना क्ी कला सिखी।

 

 

 

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts