Breaking News

मंदसौर छोटी बड़ी खबरे 24 April 2020

छूट के समय का दुर्पयोग, अवैध तरीके से तम्बाकू ले जाते हुए दो को पकड़ा, वैन जब्त

मंदसौर। प्रशासन ने ग्रामीण क्षेत्र में किराना सामान की पूर्ति होती रहें इसके लिए रात्रि 9 बजे से 2 बजे तक मंदसौर की कुछ चिन्हित थोक दुकानों को ग्रामीण क्षेत्रों के किराना दुकानदारों के लिए खोलने की अनुमति दे रखी है। लेकिन ऐसे में कुछ लोग इसका दुर्पयोग भी कर रहे है। गुरूवार को कयामपुर के कुछ लोग अवैध तरीके से बड़ी मात्रा में तम्बाकू ले जा रहे थे जिसे वायडी नगर पुलिस ने श्री कोल्ड चौराहे पर चेकिंग के दौराना पकडा।
प्राप्त जानकारी के अनुसार कलेक्टर मनोज पुष्प ने सम्पूर्ण जिले में गुटखा, तम्बाकू की बिक्री ओर परिवहन पर प्रतिबंध लगा रखा है। लेकिन गुरूवार को किराना सामान के छूट के समय में पंकज पिता रामचंद्र महाजन उम्र 25 वर्ष निवासी कयामपुर, पवन पिता कैलाश महाजन उम्र 30 वर्ष निवासी कयामपुर और भेरूलाल पिता शंकरलाल रत्नावत निवासी बरखेड़ा पंथ को वायडी नगर थाने में पदस्थ एसआई बापुसिंह बामनिया ने रंगेहाथों पकड़ा। श्री बामनिया ने बताया चैंकिग के दौरान आरोपी मारूति ओमनी वेन कं्र एमपी 09 एमडी 2962 में 10 कट्टों में तम्बाकू भरकर ले जा रहे थे। जिसकी कुल कीमत 27 हजार नौ सौ रूपये है। जिन्हें पकड़ा गया है। तीन आरोपियों में से दो को गिरफ्तार किया जा चुका है। तीनों पर धारा 188 और 269 भादवि में प्रकरण दर्ज किया गया है।

गाड़ोलिया लौहार समाज के लोग लहसुन और प्याज बेचकर भर रहें है अपना पेट

मंदसौर। नगर में कढ़ाई, तवा, चिमटा,खुरपा, संडासी आदि बनाने वाले गाडोलिया लोहार समाज की महिलाएं इन दिनों गलि मोहल्लों में पैदल घुमकर लहसुन, प्याज, आलू व अन्य सब्जियां बेच रही है। जिससे होने वाली आमदानी से यह लोग अपना घर चला रहे है।

गाडोलिया लोहार समाज के महिलाएं व पुरूष घरों में उपयोग होने वाले लोहे के उपकरण बनाते है। व मूलतः नगर के नूतन स्टेडियम के बाहर कच्चे झोपड़ों में निवास करते है। घरेलू लोहे के उपकरण बनाने वाले यह लोग एक माह से तालाबंदी के कारण परेशानी में आ गए है। व्यापार – व्यवसाय नहीं हो पा रहा है जिससे परिवार चलाने का संकट खड़ा हो गया है। इसलिए इस समाज की महिलाएं इन दिनों लहसुन, प्याज व अन्य सब्जियां बेच रही है।

गाड़ोलिया लौहार समाज के भेरूसिंह ने बताया कि अभी तक सुबह और शाम को कुछ लोग आते थे और भोजन के पैकेट दे जाते थे लेकिन अब वे भी बंद हो गए है। हम लोग तो रात कमाने व रोज खाने वाले लोग है हमारे पास को राशन भी भरा हुआ नहीं रहता। परिवार में बच्चे भी है इसलिए घर चलाने के लिए सब्जियां बेच रहे है।

महिलाओं का कहना है कढ़ाई, खुरपा अभी बंद में कौन खरीदेगा हमको पेट और परिवार दोनों पालना है इसलिए हम लोग गली मोहल्ले में घूम घूम कर लहसुन, प्याज, आलू बेच रहे हैं। हमारा परंपरागत धंधा अभी बंद हो चुका है इसलिए हमने यह नया धंधा शुरू किया है।

गर्मी: मटकों को टक्कर देने आ गई है सूरत की मिट्टी की बोतलें

मंदसौर। अप्रैल का अंतिम दौर चल रहा है। गर्मी भी अपने पूरे शबाब पर आ गई है। गर्मी में यदि सबसे ज्यादा किसी की मांग होती है तो वह है ठंडा पानी। मिट्टी को मटकों को गरीबों का फ्रीज भी कहते है। इन दिनों गर्मी के तल्ख मिजाज को देखते हुए नगर में मटकों की दुकाने सज गई है। हालांकि तालाबंदी के कारण ग्राहकों का अभाव है लेकिन मटके बेचने वालों को विश्वास है कि जल्द तालाबंदी खुलेगी और उनकी ग्राहकी अच्छी होगी।

इन दिनों नगर में बांसवाड़ा के मिट्टी के मटकों को टक्कर देने के लिए सूरत की मिट्टी की बोतले भी बाजार में आ गई है। सूरत से लाई गई इन बोतलों की कीमत 100 रूपये से 120 रूपये तक है। इनमें एक से डेढ़ लीटर तक पानी आ जाता है। हालांकि मटकों में पानी ज्यादा आता है लेकिन खूबसूरत रंग बिरंगी होने के कारण इन बोतलों की भी अच्छी खासी डिमांड बताई जा रही है। भाव में भी यह सामान्य मटकों से दुगुनी कीमत की है। एक सामान्य मटका जहां 50 से 60 रूपये में आ जाता है वहीं इन रंग – बिरंगी बोतलांे की कीमत 100 से 120 रूपये तक है।

3 मई के उपरांत लोक डाउन नही बढाया जाये- श्री रातडिया

मंदसौर। कोरोना वायरस व इससें होने वाली कोविद 19 बीमारी से बचाव के लिए 22 मार्च को जनता कफर््यू का आह्वान किया गया था, मध्यप्रदेश सहित कई अन्य प्रान्तों में 23 व 24 मार्च को लॉक डाउन किया गया व 25 मार्च से देश व्यापी लॉक डाउन घोषित किया गया। बाद में इसें बढ़ाकर 03 मई 2020 तक जारी रखनें का कहा गया हैं। इस प्रकार आज 24 अप्रेल 20 को भारत के लागों को घरों में रहतें हुए 34 वॉ दिन हैं, 03 मई को 43 दिन पूरें हो जायेगे। भारतीय नागरिको की आर्थिक स्थिति एवं परिवेश के चलते आगामी दिनो में ओर लोक डाउन राहत की बजाय नागरिको के लिये आर्थिक कारणो से संकटकारी होगा ऐसे मे आगामी 3 मई से लोक डाउन से हटाते हुये नागरिको को नियमो के पालन हेतु प्रेेरित किया जाना चाहिये।

जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रकाश रातडिया ने बताया कि भारतीय नागरिको ने कभी कल्पना नही की थी कि उनके जीवन में कभी ऐसा समय भी आएगा, जबकि उन्हें इस तरह घर में रहना होगा। उद्योग, व्यापार, कारोबार, रोजगार सब बंद हैं। आय भी बंद हैं। जीवन निर्वाह के खर्चें जारी हैं। गरीब व मध्यम वर्ग के परिवार की समस्या विकट हैं। कोरोना बीमारी का भय आंतकित कियें हुए हैं। निरन्तर प्रसारित हो रहें बीमारों एवं मृतकों के आंकडे मन मस्तिक को कलुषित किये हुए हैं। सरकार के आदेश रोग से बचाव की मनोकामना व सब के साथ से अब तक लॉक डाउन का पालन किया गया हैं, किन्तु यह कब तक रहेगा, इसका जवाब किसी के पास नही हैं। प्रधानमंत्र जी कब टीवी पर प्रकट होंगें व कब घोषणा करेंगे, यह रहस्यमय होता हैं। स्थितियों ने जनसाधारण को केवल आर्थिक, सामाजिक व शारीरिक रूप सें ही प्रभावित नही किया हैं, बल्की मानसिक बोझ से भी व्यथित कर रखा हैं। यह कोई कहनें की स्थिती में नही हैं कि कब तक लॉक डाउन निरन्तर रहनें से कोरोना से मुक्ति सम्भव हैं, बल्की नीत नयें अभिमत सामनें आतें हैं, जिसमे कहा जा रहा हैं कि कोरोना संकट जारी रहेगा, ठीक हुए रोगी भी पुनः संक्रमण शिकार हो सकतें हैं, कई महिनों तक यह जारी रहेगा, आगे स्थिति और भयावह होगी।

नपा द्वारा सफाई कार्य को प्राथमिकता से किया जा रहा है पूर्ण बडे नालो की सफाई प्रारंभ

मंदसौर। नपाध्यक्ष राम कोटवानी के निर्देश पर प्रतिदिन मंदसौर नगर पालिका के द्वारा मंदसौर नगर में नपा के स्वास्थ्य अमले के द्वारा सफाई का कार्य किया जा रहा है। नपाध्यक्ष श्री कोटवानी के निर्देश पर मंदसौर नगर पालिका के कर्मचारी मंदसौर नगर में प्रतिदिन अपने अपने वार्डो में सफाई का कार्य कर रहे हे। शुक्रवार को नपा अमले के द्वारा सभी 40 वार्डो मे सफाई दरोगाओ ने अपने अपने वार्डो में सफाई का कार्य करवाया तथा सफाई के दौरान निकले कुडा करकट को टेचिग ग्राउण्ड पर भिजवाने की व्यवस्था की। नपा परिषद के कर्मचारी पुरी तत्परता से सफाई कार्य को प्राथमिकता से पूर्ण कर रहे है। ताकि सफाई के अभाव में कोई बिमारी न फैले । विगत दिनो वार्ड क्र 1 व 40 के मध्य किटयानी डुप्लेक्स केसामने के नाले की विशेष सफाई की गयी तथाा यहॉ निकले मलबे को हटाने की व्यवस्था सुनिश्चित की गयी। विगत कई दिनो से बस स्टेण्ड पर भाग की दुकान से लेकर सरोवर भोजनलाल तक बडे नाले की सफाई का कार्य किया जा रहा है। यह नाला लम्बे समय से साफ नही होने के कारण गाद जमा हो गयी थी। हटाने के लिये नपा के सफाई अमले ने विशेष प्रयास किये और नाले पर ढकी फर्शीयों को हटाकर गाद को निकलने का कार्य किया।

तालाबंदी के कारण रूपनी चौपाटी पर पसरा सन्नाटा

नाहरगढ। कोरोना ओर पुलिस के भय के कारण बाजार में शहर से लेकर ग्रामीण अंचल मे भी कोई दिखाई नही दे रहा है। व्यक्ति सिर्फ आवश्यकता होने पर ही बाहर निकल रहा है। सभी जागरूक होकर घर पर ही सुरक्षित रहना पसंद कर रहे है। कोरोना के कारण ग्रामीण क्षेंत्रों में भी कोई मांगलिक कार्यक्रम नहीं हो रहे है। सभी शासन -प्रशासन के साथ सहयोग कर इस कोरोना के युद्ध को जीतना चाहते है। इन दिनों लोगांे की चहल पहल और भीड़ से भरा रहने वाला रूपनी चौराहा पर भी सन्नाटा पसरा हुआ है।

21 दिन बाद घर पहुचे, पत्नी ने काटा केक, बाहर ही खड़े रहे

मंदसौर। मंदसौर कोरोना सेंटर पर पदस्थ पिपलिया के डॉ. राजेश बोराना 21 दिनों बाद पत्नी का जन्मदिन होने पर घर पहुचे, लेकिन वे घर के बाहर ही खड़े रहे, पत्नी ने बाहर स्टूल पर केक काटा। उल्लेखनीय है बोराना पिपलिया के निवासी होकर वर्तमान में मंदसौर के यश नगर में निवासरत कोराना क्वारंटाइन सेंटर रेवास-देवड़ा मंदसौर में तैनात है। उल्लेखनीय है कि इन दिनों एक और जहां कई डॉक्टर कोरोना के डर से घरों में बैठ गए है। एसे में कई डॉक्टर परिवार को छोड़कर सेवाएं दे रहे है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts