Breaking News

मंदसौर छोटी बड़ी खबरे : 26 Dec 2019

सूर्य ग्रहण खत्म होने के बाद मंदिर में उमड़ी भीड़

मंदसौर/सीतामऊ। गुरुवार को अमावस्या पर सूर्य ग्रहण के कारण सभी मंदिरों के कपाट प्रातः 11 बजे तक बंद रहे। ग्रहण के पूर्व बुधवार को ही लगभग सभी मंदिरों के कपाट बंद कर दिए गए थे। वहीं ग्रहण के बाद 11 बजे मंदिरों के दरवाजे खोले गए और मंदिरों को साफ पानी से धोया गया। मंदसौर के भगवान पशुपतिनाथ मंदिर में ग्रहण के बाद श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। कई लोगों ने ग्रहण के चलते दान पुण्य कर और गौशाला पहंुचकर पुण्य भी अर्जित किया। वहीं सीतामउ में ग्रहण को लेकर नागरिकों विशेषकर युवाओं में बड़ी जिज्ञासा रही। धूप के चश्मे पहन कर कई युवाओं ने प्रकृति के इस अद्भुत नजारे को देखा। कई श्रद्धालुओं प्रदेश के प्रमुख नदियों में स्नान हेतु धर्म नागरियो में भी पहुंचे दोपहर तक दान पुण्य कार्यों का सिलसिला जारी रहा।


रेडक्रास को कम्बल प्रदान किये

मन्दसौर। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन के उपलक्ष्य में इनरव्हील क्लब मंदसौर द्वारा शहर के जरूरतमंद व्यक्तियों को ठण्ड से बचाव के उद्देश्य से द्वारा  रेडक्रोस सोसाइटी मन्दसौर को कंबल उपलब्ध कराए गए। उक्त जानकारी देते हुए क्लब अध्यक्ष मनीषा गर्ग ने बताया कि अटलजी हर व्यक्ति, हर समाज के उत्थान के प्रयास किये। उनकी याद में क्लब द्वारा जरूरतमंदों की सेवार्थ यह प्रकल्प आयोजित किया गया है। इस अवसर पर क्लब अध्यक्ष मनीषा गर्ग सहित क्लब की सदस्या रत्ना बसेर, गीता झवर, रचना दोशी आदि उपस्थित थे।


सेन समाज युवा संगठन का प्रतिभा सम्मान समारोह 11 जनवरी को

मन्दसौर। मंदसौर जिला सेन समाज युवा संगठन द्वारा समाज के प्रतिभावान छात्र-छात्राओं का सम्मान समारोह 11 जनवरी 2020, शनिवार को सुवासरा में आयोजित किया जाएगा।

उक्त जानकारी देते हुए जिला सेन समाज युवा अध्यक्ष अंतिम देवड़ा ने बताया कि समाज की युवा पीढ़ी को प्रोत्साहित करने हेतु प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी प्रतिभा सम्मान समारोह आयोजित किया जा रहा हैं जिसमें जिले के ऐसे छात्र-छात्राएं जिन्होंने वर्ष 2019 में कक्षा 10वीं एवं 12वीं में 75 प्रतिशत से अधिक अंकों के साथ उत्तीर्ण की है या ऐसे विद्यार्थी जिन्होंने अपना ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन 80 प्रतिशत अंकों के साथ पूर्ण किया है। या ऐसे विद्यार्थी जिन्होंने उच्च अध्ययन के अंतर्गत कोई डिग्री या डिप्लोमा में टॉपर रहे है। उनका सम्मान किया जाएगा। साथ ही ऐस व्यक्ति विशेष जिन्होनंे सरहद पर भारत मॉ की सेवा करते हुए अपने कर्तव्य का निर्वहन किया है या वर्तमान में सेवारत है एवं समाज की विशिष्ठ पर्सनॉलिटी जिन्होंने सामाजिक, राजनीतिक या अन्य सांस्कृतिक क्षेत्र में विशिष्ठ उपलब्धि प्राप्त की है उनका भी सम्मान होगा।


मन्त्रों की शक्ति जीवन को दिव्य बनाती है

शंकराचार्य जी के सानिध्य में मन्त्र-अमृतं तत्वार्थ महोत्सव का शुभारम्भ हुआ

मन्दसौर। भारत की वैदिक संस्कृति  ने हमें वह आध्यात्मिक विरासत सौंपीं है जिसके माध्यम से मनुष्य अपने जीवन को सार्थक और दिव्य बना सकता है। ये उद्गार भानपुरा पीठ के शंकराचार्य स्वामी श्री ज्ञानानन्द जी तीर्थ महाराज ने व्यक्त किये।आप श्री बालाजी भक्तमण्डल द्वारा आयोजित मन्त्र अमृतं तत्वार्थ महोत्सव के शुभारम्भ अवसर पर संबोधित कर रहे थे। आपने कहा कि हमारे शास्त्रों में वर्णित मंत्र मन के मेल को धोते हैं। हमें जीवन का वह दिव्य ज्ञान प्रदान करते हैं जिससे मनुष्यों में सदाचार,समर्पण,संयम,सत्संग व साधना के गुण सृजित होते हैं।शंकराचार्य जी ने रजोगुण, तमोगुण व सतोगुण की विस्तृत व्याख्या की। स्वामीजी ने कहा कि महत्व कागज का नहीं वरन उस पर लिखे मन्त्रों का होता है. हमारा जीवन तो कागज के ही समान है हमारी वैदिक विरासत व संस्कृति का ज्ञान ही जीवन को वास्तविक ऊर्जा प्रदान करता है। पूज्य शंकराचार्य जी ने नगर के गौरव अंतराष्ट्रीय भागवताचार्य गोलोकवासी प.मदनलाल जोशी शास्त्री का भी स्मरण किया व कहा कि प.जोशी की  विद्वता का देश-विदेशों में सम्मान हुआ है।

सोमनाथ विश्वविद्यालय के आचार्य डॉ. नरेन्द्र भाई पण्ड्या ने कहा कि मन्त्रों की शक्ति ही मनुष्य के चंचल मन को संयमित करती है, मन्त्र शक्ति से  जीवन के सभी चरणों व अवस्थाओं  को सार्थक किया जा सकता है।यदि मनुष्य को अध्यात्म का ज्ञान प्राप्त हो जाए तो वह सभी दुखों को अपने विवेक से सहन कर सकता है। मन्त्रों से हमारे अंदर निहित प्रतिभा मुखर होती है।  मन्त्रों के अमृत का पान कर एक संस्कारित समाज व सुदृढ़ राष्ट्र का निर्माण कर सकते हैं।

मंत्र अमृतं तत्वार्थ महोत्सव की 8 दिवसीय व्याख्यानमाला के मुख्य वक्ता संस्कृत विश्वविद्यालय के आचार्य पुराण मर्मज्ञ प.हरेश भाई जोशी ने शुभारम्भ दिवस पर कहा कि प्रत्येक शब्द व अक्षर ब्रह्म है इसीलिए इनसे मन्त्र बनते हैं। हमारे शास्त्रों वेद,पुराण,भागवत, रामायण,गीता में वर्णित मन्त्रों को आत्मसात करने व आचरण में लाने से मनुष्य जीवन के हर चरण में  सन्मार्ग प्राप्त होता है।

महोत्सव का शुभारम्भ मंचासीन विद्वतजनों ने श्री तलाई वाले बालाजी की तस्वीर पर माल्यार्पण व दीप प्रज्वलित कर किया। पूज्य शंकराचार्यजी व अतिथि वक्ताओं का स्वागत पूर्व मंत्री नरेन्द्र नाहटा, विधायक यशपाल सिंह सिसोदिया, मदनलाल राठौर, प्रकाश रातडि़या, हरिओम सिंह तोमर, डॉ.घनश्याम बटवाल, नरेन्द्र अग्रवाल, संजय वर्मा, संजय लोढ़ा, विक्रम विद्यार्थी, ब्रजेश जोशी, नारंग, नाहरू भाई ,श्री कुरेशी आदि ने किया। श्री कृष्ण गोपाल सोमानी ने रामनाम लिखी तस्वीर शंकराचार्य जी को भेंट की। श्रीबालाजी भक्तमण्डल व हरिकथा आयोजन समिति द्वारा पूज्य शंकराचार्य जी व डॉ. पण्ड्या का शॉल श्रीफल भेंट कर सम्मान भी किया। संचालन ब्रजेश जोशी ने किया ,आभार जयप्रकाश सोमानी ने माना।


नगर में प्रथम बार श्रीनाथ जी की ध्वजा का होगा पदार्पण

मन्दसौर। पुष्टी मार्गीय परम्परा की हवेली श्री गोवर्धननाथजी मन्दिर जीवागंज में प्रथम बार श्री नाथद्वारा के श्रीनाथजी की ध्वजा जी का पदार्पण हो रहा है।पुष्टिमार्गीय परम्परा में ध्वजा जी को ही श्रीनाथ जी का ही स्वरूप माना जाता है। श्री गोवर्धनाथ मन्दिर ट्रस्ट व श्री वैष्णव मित्रमंडल द्वारा ध्वजा जी की अगवानी की जाएगी 28 दिसम्बर को सायंकाल 4 बजे ध्वजा ही का आगमन होगा. अग्रवाल धर्मशाला नेहरू बस स्टेंड से ध्वजा जी कीशोभायात्रा निकलेगी जो कालाखेत हो कर जीवागंज श्री गोवर्धनाथ मन्दिर पहुंचेगी जहां ध्वजा जी के दर्शन सभी श्रद्धालुजन करेंगे। श्री गोवर्धनाथ मन्दिर ट्रस्ट व श्री वैष्णव मित्र मंडल ने नगर व अंचल के श्रद्धालुओं से अनुरोध किया है कि ध्वजा जी दर्शन लाभ लेवें।


1 जेसीबी, 2 ट्रैक्टर ट्रॉली खनिज विभाग ने किए जप्त

मंदसौर। खनिज विभाग की टीम ने नाहरगढ़ क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम पित्याखेड़ी, तुम्बड़ नदी के पास दबिश देकर अवैध खनन करते हुए एक जेसीबी मशीन ओर दो ट्रैक्टर ट्रॉली जब्त किए। तीनो वाहनों को नाहरगढ़ थाना पुलिस की अभिरक्षा में खड़ा किया गया है। ये कार्यवाही कलेक्टर मनोज पुष्प के आदेशानुसार खनिज अधिकारी मेजरसिंह जमरा व निरीक्षक द्वारा की जा रही है। आने वाले समय में अवैध खनन करने वाले माफियाओं के खिलाफ सक्रिय कार्यवाही लगातार की जाएगी। जिले से अवैध खनन करने वाले माफियाओं को पूरी तरह से साफ कर दिया जाएगा।


मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान मद से 50 हजार रूपये स्वीकृत

मंदसौर। मुख्यंमंत्री कमलनाथ ने मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान मद से मंदसौर जिले कि निवासी हरिपुरा के दीपक रोग पीडित के उपचार हेतु कुल 50 हजार रूपये स्वीकृत किये है। कलेक्टर मनोज पुष्प ने मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान मद से यह आर्थिक मदद मंजूरी आदेश भी जारी कर दिये है। जारी आदेशानुसार जिले की निवासी हरिपुरा के दीपक पिता गोवर्धनलाल को 50 हजार रूपये उपचार हेतु मुख्यमंत्री स्वेाच्छानुदान से स्वीकृत किये गये है।


ध्यान रोग शिविर में भाग लेंगे टांक

मन्दसौर। पतंजली संगठन जिला कोषाध्यक्ष ठा. अर्जुनसिंह राठौर ने प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि विश्वप्रसिद्ध योग महर्षि स्वामी रामदेव तथा आयुर्वेदाचार्य आचार्य बालकृष्ण के सानिध्य में 28 दिसम्बर से 30 दिसम्बर तक आयोजित समस्त प्रांतीय एवं जिला प्रभारियों की अखिल भारतीय राष्ट्रीय कार्यशाला तथा ध्यान योग शिविर में पतंजली संगठन के जिलाध्यक्ष बंशीलाल टांक भाग लेंगे। इस कार्यशाला में भाग लेने के लिये श्री टांक ने 26 दिसम्बर को मन्दसौर से प्रस्थान किया।

रतलाम ने 173 रनों से जीत दर्जकर फायनल में किया प्रवेशआज होगा मंदसौर और उज्जैन के बीच सेमीफायनल
मन्दसौर। जिला क्रिकेट एसोसिएशन मन्दसौर द्वारा जिला स्तरीय सीनियर क्रिकेट प्रतियोगिता रतलाम और देवास के बीच द्वितीय दिवस का मैच हुआ। जिसमें रतलाम ने पहली पारी की बढ़त के आधार पर देवास को 173 रनों से हराकर फायनल में प्रवेश किया। आज मंदसौर और उज्जैन के बीच सेमीफायनल खेला जाएगा।

रतलाम व देवास के बीच द्वितीय दिवस के मैच में रतलाम ने खेलते हुए 59 ओवर मंे 6 विकेट के नुकसान पर 275 रन बनाये। जिसमें अजमेरसिंह ने 80 रन, पराग जैन ने 35, नवनी गवली ने 30 रनों का योगदान दिया। देवास के गेंदबाद वैभव पांडे ने 4 और हार्दिक सिंह ने 2 विकेट लिये।  मैच के अम्पायर जितेन्द्र गोयल उज्जैन, अरविन्द कुमार उज्जैन एवं स्कोरर रूपेश प्रजापत उज्जैन थे।

प्रतियोगिता में आज मंदसौर और उज्जैन के बीच सेमीफायनल मैच प्रातः 9.30 बजे नूतन स्टेडियम में खेला जाएगा। जिला क्रिकेट एसोसिएशन ने सभी क्रिकेट प्रेमियों से प्रतियोगिता में उपस्थित होकर खिलाडि़यों का हौंसला बढ़ाने की अपील की है।


महान क्रांतिकारी उधमसिंह की 121वीं जयंती मनाई

मन्दसौर। अमर शहीद उधमसिंह जनमंच द्वारा प्रति वर्षानुसार इस वर्ष भी अमर शहीद उधमसिंह की 121वी जयंती मनाई। इस दौरान शहीद उधमसिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उनकी देशभक्ति को याद किया।

इस दौरान जनमंच पदाधिकारियों ने बताया कि महान क्रांतिकारी शहीद-ए-आजम अमर शहीद उधमसिंह को उन महान क्रांतिकारियों में माना जाता है जिन्होंने जलियांवाला बाग हत्याकांड के दोषी जनरल डोली ईयर को सात समुंदर पार जाकर भरी सभा के अंदर गोली मारकर हमारे देश के हजारों बेगुनाहों को न्याय दिलाया। इस अवसर पर अमर शहीद उधम सिंह जनमंच के अध्यक्ष नागेश्वर सूर्यवंशी, डॉ आंबेडकर जागृति मंच के प्रदेश संयोजक रामलाल लोदवार, जीवन गोसर, गुलाब गोयल, रघुनंदन, अमर शहीद उधम सिंह जनमंच सचिव नरेंद्रकुमार बुज, पवनकुमार रविदास, शैलेंद्र आचार्य, राकेश परमार आदि उपस्थित थे।

 

 

 

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts