Breaking News

मंदसौर छोटी बड़ी खबरे : 28 Dec 2019

बाढ़ प्रभावितों को छः महिनें तक राशन देने की मुख्यमंत्री की घोषणा झूठी साबित हुई

एक महिने बाद ही सरकार ने नही ली बाढ़ पीड़ितों की सूध

मंदसौर। प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान को मुंह चलाने वाला कहते है जबकि हकीकत यह हेै कि कांग्रेस सरकार के मुखिया खुद ही केवल मुंह चलाते है । मंदसौर जिलें में बाढ़ आपदा के दौरान मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बाढ़ पीड़ित परिवारों को 50 किलो गेहूं प्रतिमाह छः माह तक दिए जाने की घोषणा की थी लेकिन हकीकत यह है कि एक महिने के बाद ही बाढ़ पीड़ितों को इस घोषणा का लाभ नही मिल पाया ।

विधायक यशपालसिंह सिसौदिया ने बताया कि यह महत्वपूर्ण जानकारी सरकार के राजस्व मंत्री गोविन्दसिंह राजपुत ने पुछे गए प्रश्न के जवाब में विधानसभा में दी है जिसमें उन्होने स्वीकार किया कि मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मंदसौर जिलें के भ्रमण के दौरान बाढ़ प्रभावित लोगों को छः माह तक 50 किलो गेहूं दिए जाने के निर्देश दिए थे जिसके पालन में स्वीकृत प्रक्रियाधीन है । श्री सिसौदिया ने कहा कि बाढ़ पीड़ितों को सहायता की अभी आवश्यकता है और सरकार प्रक्रिया का खेल खेल रही है । जबकि मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुरूप प्रतिमाह 50 किलो गेहूं बाढ़ पीड़ितों को दिए जाने थे लेकिन तीन माह से बाढ़ पीड़ित गेहूं मिलने का इंतजार ही कर रहे है । श्री सिसौदिया ने कहा कि मंदसौर जिलें में कई ऐसे परिवार है जिनका बाढ़ के कारण सबकुछ तबाह हो गया उनके सामने जीवन चलाने का संकट खड़ा हो गया ऐसे में उन्हें सरकार से उम्मीद थी  लेकिन प्रदेश की कांग्रेस सरकार केवल प्रक्रिया में ही समय बिता रही है हकीकत में बाढ़ पीड़ितों को सरकार की तरफ से राशन की भी सहायता नही मिल पा रही है । श्री सिसोदिया ने कहा कि राजस्व मंत्री के जवाब के अनुसार मंदसौर जिलें में बाढ़ के कारण शासकीय एवं अन्य संपत्ति का 70.80 करोड़ रू. नुकसान हुआ है ।


पूर्व नपा परिषदों में हुए नामांतरणों की जाचं हो, फर्जी कागजात लगाकर हुए नामांतरण

कलेक्टर से कांग्रेस महामंत्री श्री जैन की मांग

मंदसौर। प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा प्रशासन को माफियाओं के विरूद्ध कार्रवाई करने के लिए पूरी स्वतंत्रता देने के बाद मंदसौर जिला प्रशासन ने अब तक काबिले तारीफ काम किया है जो आज तक के इतिहास में कभी नहीं हुआ वो आज कांग्रेस शासन में संभव हो पा रहा है व आम आदमी आज अपने आप को सुरक्षित व भयमुक्त महसूस कर रहा है। यह एक रामराज्य की ओर सरकार का पहला कदम है।

उक्त बात कहते हुए शहर कांग्रेस महामंत्री कमलेश जैन ने बताया कि पहले जिन माफियाओं को एक नोटिस तक देने में अधिकारी घबराते थे उन माफियाओं के विरूद्ध आज बड़ी – बड़ी कार्रवाईयों को अंजाम दिया जा रहा है।

श्री जैन ने बताया कि कलेक्टर श्री मनोज पुष्प को अब मंदसौर नगर पालिका के पूर्व की परिषदों की पीआईसी बैठकों में कई धन्नासेठ व भूूमाफियाओं ने मात्र शपथ पत्र व फर्जी वसीयत व दस्तावेंजों के माध्यम से नामांतरण करवाए है और बेशकिमती जमीनों को भाजपा शासित नगर पालिका के कारिन्दों से मिलीभगत कर अपने व अपने रिश्तेदारों के नाम पर नामांतरण करवाए है। अगर जांच दल गठन होता है तो ऐसे कई भूमियों के फर्जी नामांतरण सामने आ सकते है। श्री जैन ने कलेक्टर से मांग कि है की सक्षम अधिकारी के नेतृत्व में एक जांच दल का गठन किया जावें जो भाजपा के 15 वर्षो के कुशासन में हुए फर्जी नामांतरणों की जांच कर वे नामांतरण निरस्त किए जावें साथ ही जिन अधिकारियों व पूर्व जनप्रतिनिधियों ने इन कार्यो में अपनी सहभागिता की हैं उन पर भी कठोर कार्रवाई की जावें।


आज होगा रतलाम और उज्जैन के बीच फायनल

उज्जैन ने 491 रनों से जीत दर्जकर फायनल में किया प्रवेश

मन्दसौर। जिला क्रिकेट एसोसिएशन मन्दसौर द्वारा जिला स्तरीय सीनियर क्रिकेट प्रतियोगिता मंदसौर और उज्जैन के बीच द्वितीय दिवस का मैच हुआ। उज्जैन द्वारा बनाये 639 रनों के जवाब में मंदसौर टीम मात्र 148 रन बनाकर ही आल आउट हो गई। उज्जैन ने 491 रनों के विशाल अंतर से जीत दर्ज कर फायनल में प्रवेश किया। आज रतलाम और उज्जैन के बीच फायनल खेला जाएगा।

मंदसौर व उज्जैन के बीच द्वितीय दिवस के मैच में मंदसौर ने खेलते हुए 36 ओवर मंे 10 विकेट गंवाकर 148 रन बनाये। जिसमें चेतन ने 38, सम्मी पोरवाल ने 18, भरत चावड़ा ने 21, शैलेन्द्र चौईथानी ने 31 का योगदान दिया। उज्जैन के गेंदबाद शाहरूख लाला ने 5 और कप्तान सतीश ने 2 विकेट लिये। मैच के अम्पायर जितेन्द्र गोयल उज्जैन, वैभव अभयंकर देवास एवं स्कोरर अजमेश राय उज्जैन थे।

प्रतियोगिता में आज रतलाम और उज्जैन के बीच फायनल मैच प्रातः 9.30 बजे नूतन स्टेडियम में खेला जाएगा।


पेंशनर समाज ने किया 75वर्ष आयु पूर्ण करने वाले वरिष्ठों का सम्मान

मन्दसौर। म.प्र. भारत पेंशनर समाज का सम्मान समारोह सम्मेलन मनासा जिला नीमच के तत्वावधान में सम्पन्न हुआ। सम्मान समारोह में प्रांतीय अध्यक्ष श्री डी.पी.दुबे की अध्यक्षता में सम्मान समारोह में 75 वर्ष की आयु पूर्ण करने वाले सर्वश्री मांगीलाल ओझा, मोहनलाल कच्छावा, अब्दुल सत्तार पठान, कन्हैयालाल रावत, मोतीलाल खाबिया, यमुनाशंकर आचार्य, नानालाल मालवीय, मदनसिंह चन्द्रावत, बालारामदास बैरागी, छगनलाल चौहान, प्रभुलाल मालवीय. के.एल. पुरोहित को शाल, श्रीफल से सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम में प्रांताध्यक्ष की उपस्थिति में एस.के. स्थापक महामंत्री भोपाल, प्रांतीय सचिव डॉ. चन्द्रकुमार विश्नोई, संरक्षक ऋषभकुमार कोठारी मंदसौर, अध्यक्ष गोपालकृष्ण शर्मा मंदसौर, कार्यवाहक अध्यक्ष जे.सी. गुजरिया नीमच, तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ नीमच के अध्यक्ष कन्हैयालाल लक्षकार, डॉ. पुरन सहगल, राजेश दुबे मंदसौर, कमलकुमार जैन मंदसौर, तहसील शाखा मनासा के अध्यक्ष देवीलाल शर्मा, सचिव पुरनमल जैन, कोषाध्यक्ष कैलाश कुमावत मंचासीन थे।

कार्यक्रम में 200 सेवानिवृत्त साथियों ने भाग लिया। आयोजन को प्रांताध्यक्ष श्री डी.पी. दुबे ने गतिविधियों की जानकारी दी। इस अवसर पर डॉ. पुरनमल, एस.के. स्थापक, ऋषभ कोठारी, गोपालकृष्ण शर्मा, प्रांतीय सचिव डॉ. सी.के. विश्नोई, देवीलाल शर्मा, अर्जुन पंजाबी, कन्हैयालाल लक्षकार ने अपने विचार पेंशन कर्मचारियों के संबंध में रखे।


आज से तार बंगला मंदिर में 11 दिवसीय अखण्ड भक्तामर पाठ का आयोजन

मन्दसौर। आज से 8 जनवरी तक 11 दिवसीय अखण्ड भक्तामर पाठ का आयोजन श्री 1008 शांतिनाथ जिनालय  तार बंगला मन्दिर में आचार्य श्री 108 मुनि श्री सुनील सागर जी महाराज के मंगल आशीर्वाद से उनके सुशिष्य मुनि 108 श्री सम्बुद्ध सागर जी महाराज व मुनि 108 श्री सर्वार्थ सागर जी महाराज के पावन सानिध्य में प्रातः 7.30 बजे विजेंद्र कुमार सेठी के ध्वजारोहण के बाद शुरू हो रहा है।

तार बंगला मन्दिर के संयोजक अजय कुमार बाकलीवाल व सकल दिगम्बर जैन समाज के अध्यक्ष प. अरविंद जैन ने बताया की 29 दिसम्बर रविवार को प्रातः 7.30 बजे अखण्ड भक्तामर पाठ का शुभारंभ विजेंद्र कुमार सेठी द्वारा ध्वजारोहण के साथ होगा। प्रातः 8 बजे श्रीजी का अभिषेक व शांतिधारा होगी। 8.30 बजे मुनिश्री के उपदेश होंगे उसके बाद 9 बजे मंडप प्रतिष्ठा सकलिकरन होगा। 9.30 बजे नित्य नियम पूजन व विधि पूजन व 10.30 बजे संकल्प व पाठ का शुभारंभ होगा।

उन्होंने बताया कि 30 दिसम्बर से 8 जनवरी तक प्रतिदिन प्रातः 7.30 बजे मुनि श्री की श्रीमुख से शांतिधारा एव नित्य नियम पूजन व 8.30 बजे मुनि श्री के उपदेश होंगे।  श्री बाकलीवाल व प.जैन ने बताया कि कार्यक्रम के विधानाचार्य प.विजय कुमार गांधी व प.अरविंद जैन रहेंगे जबकि सहयोगी प.सुनील कुमार जेन एव अन्य विद्वजन ललितपुर रहेंगे।


पर्यटन विकास मंत्री श्री बघेल का किया स्वागत

मंदसौर। मध्यप्रदेश शासन के नर्मदा घाटी एवं पर्यटन विकास मंत्री सुरेन्द्रसिंह हनी बघेल के आगमन के दौरान नयाखेडा बायपास पर नपाध्यक्ष हनीफ शेख के नेतृत्व में नपा पदाधिकारियो ने भव्य स्वागत किया। श्री बघेल के नीमच आगमन के दौरान नयाखेडा बायपास पर नपा पदाधिकारियो एवं कांग्रेस नेताओं ने उनका भव्य स्वागत करते हुये उनसे चर्चा की।


कमलनाथ के नेतृत्व में अपराध मुक्त प्रदेश के लिये बढ रहे है कदम- श्री भाटी

मंदसौर। मध्यप्रदेश में कमलनाथजी के नेतृत्व में एक साल पूर्व बनी कांग्रेस सरकार ने जो उम्मीदे प्रदेश की जनता को थी उससे बढकर प्रदेश के मुखिया द्वारा कार्य किये जा रहे है। विरासत में मिले महिला अत्याचार एवं अपराध में अग्रणी प्रदेश को कमलनाथजी ने पटरी पर लाने हेतु अपराधियो, भूुमाफियो एवं खनिज माफियाओ के खिलाफ जो कदम उठाये है उसके कारण आमजन में प्रसन्नता का वातावरण है।

यह बात जिला कांग्रेस प्रवक्ता सुरेश भाटी ने प्रेस वक्तव्य के माध्यम से कही। उन्होनें कहा कि प्रदेश में एक समय था जब अपराधी भाजपा नेताओं के परछायी में छिपकर अपराध करके आराम से अपना जीवन पसर करते थे। अपराधियो के माध्यम से अपने कार्य करवाने वाले रसुखदारो के कारण प्रदेश अपराधो का गढ बन गया था किन्तु प्रदेश के मुखिया कमलनाथजी ने बिना संकोच के बिना पक्षपात के अपराधियो पर शिकंजा कसते हुये आर्थिक कमर तोड रही है जिसकी मंदसौर जिले में चर्चा के साथ ही राजनैतिक दलगत भावना से उपर उठकर आम नागरिक मुक्त कंठ से प्रशंसा करने के साथ ही प्रदेश सरकार के प्रति आमजन आभारी है।


मन्त्र-अमृतं तत्वार्थ महोत्सव तीसरा दिन

मन्त्रों की शक्ति से ही धर्म का संरक्षण हो सकता है-आचार्य हरेश

मन्दसौर। उच्चारण की शुद्धता पवित्र आचरण व श्रद्धा भाव से अभिव्यक्त मन्त्र सदैव फलदायी होते हैं। मन्त्रों की शक्ति से ही धर्म का संरक्षण हो सकता है। ये उद्गार पुराण मर्मज्ञ आचार्य श्री हरेश भाई जोशी ने मन्त्र-अमृतं तत्वार्थ महोत्सव के तीसरे दिवस व्यासपीठ से संबोधित करते हुए व्यक्त किये। आपने कहा कि विश्व का सबसे बड़ा मन्त्र ऊँ है इसमें ब्रह्मा, विष्णु महेश समहित है इस मंत्र में प्रातः मध्यान्ह और संध्या निहीत है यानि उसमें त्रिकाल समाया है। मन्त्र के साथ उनकी मुद्रा भी तय होती है ज्ञान मुद्रा के लिए अंगूठा प्रयोग में लिया जाता है जिसमें मां सरस्वती का निवास होता है बिना अंगूठे के सहारे हम लिख नहीं सकते। पहली उंगली में लक्ष्मी का व छोटी उंगली में महाकाली का निवास होता है।  यह शरीर ब्रह्मांड है जिसमें 14 लोक समाएं है मस्तिष्क से ह्रदय तक सात लोक और कटि से चरणों तक सात लोक। महा मृत्युजंय मन्त्र में मृत्यु को टालने की शक्ति होती है इस मंत्र से सभी रोग दूर हो सकते हैं। जिस घर में माता पार्वती की आराधना होती है उस घर में दाम्पत्य जीवन में कभी क्लेश  नहीं होता और जहां कलह नहीं होता वहां मां लक्ष्मी  का निवास होता है।आचार्य श्री ने कहा कि पत्नी, गुरु व बड़ी सन्तान को कभी नाम से नहीं बुलाना चाहिए। वेदों में एक भी अक्षर ऐसा नहीं जो मन्त्र नहीं हो। आपने कहा कि द्वादश अक्षरी मन्त्र ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय के मन्त्र जप से भगवान नारायण ने ध्रुव को अविचल राज का वरदान दिया इसीलिए ध्रुवतारा आज भी स्थायी है।  आचार्य श्री ने मातृ शक्ति का विवेचन करते हुए कहा कि उपनिषद का पहला मन्त्र ही मातृ देवोभवः है मातृ ऋण से कोई मुक्त नहीं हो सकता। मातृ शक्ति के बिना ईश्वर का भी कार्य पूरा नहीं होता इसीलिए अपनी लीला करने भगवान को राम रूप में माता कौशल्या और कृष्ण जन्म में यशोदा मय्या का मातृ सुख प्राप्त किया। घर में यदि मां प्रसन्न नहीं है तो उस घर में किसी मन्त्र का फल नहीं मिलता। एक मां ही है जो  दूसरों की तुलना में हमें 9 माह ज्यादा जानती है। आपने कहा कि शंख मुद्रा में ईश्वर के सामने हाथ जोड़ने से मन,बुद्धि व इन्द्री स्थिर रहती है। सूरदास को जब भगवान ने वरदान में दृष्टि दी तो सूरदास ने यह वर लौटाते हुए कहा प्रभु मुझे दृष्टि नहीं समष्टि चाहिये।

ये भी होते हैं यज्ञपुराण मर्मज्ञ आचार्य श्री हरेश भाई जोशी ने कहा कि अग्नि कुंड में मंत्राहुति ही यज्ञ नहीं है मन्त्रों का जाप करना भी यज्ञ ही है।अध्यापन कराना पितरों को याद करना है यह भी एक यज्ञ है जिससे अतृप्त पितृ जो शरीर में व्याधि उत्पन्न करते हैं वे शांत हो कर शुभाशीर्वाद देते हैं। अतिथि देवो भवो इस मंत्र के जाप के साथ किया गया अतिथि सत्कार भूत यज्ञ कहलाता है। हनुमन्त मन्त्र जप यज्ञ से व्यक्ति विषाद (डिप्रेशन) से मुक्त होता है ।
’इन मन्त्रों से दूर होते हैं ये कष्ट’व्याख्यानमाला के तीसरे दिन आचार्य श्री ने वे मन्त्र बताए जो मानव जीवन के अनेकों कष्टों को दूर करते हैं-’श्री उमायेय  नमः’-इस मंत्र का जाप करने से गृह क्लेश खत्म हो जाता है।’जय श्री कृष्णः’- यह जीवन मन्त्र है जो हर कार्य को सिद्ध करता  है ’श्री कार्तिकेय नमः’-इस मंत्र के जप करने से पुरुषार्थ जागृत होता है,विद्यार्थियों का बुद्धि कोशल बढ़ता है’ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय’- ये मन्त्र जपने से मनुष्य हर विपत्ति से मुक्त हो जाता है।’श्री प्रद्युम्नाय नमः’- यह मन्त्र जपने से मन शांत व संयमित रहता है जो कई दुखों से छुटकारा दिलाता है।’श्री अनिरुद्धाय नमः’- इस मंत्र जाप से बुद्धि चातुर्य में वृद्धि होती है।’श्री शंकर्षणाय नमः’-यह मन्त्र जपने से व्यक्ति अहंकार मुक्त हो जाता है।’श्री वासुदेवाय नमः’- इस मंत्र जप से चित्त व इंद्रियां संयमित रहती है।


जन सरोकार एवं मीडिया विषय पर कार्यशाला सम्पन्न

मन्दसौर की मीडिया सक्रिय एवं दमदार मीडिया – कलेक्टर श्री पुष्प

जनसरोकार के हित में सूचना के अधिकार का प्रयोग हो- श्री सनोलिया

मंदसौर। जिला जनसंपर्क कार्यालय मंदसौर द्वारा जन सरोकार एवं मीडिया विषय पर एक दिवसीय मीडिया संगोष्ठी आयोजित की गई। संगोष्ठी का प्रारंभ माँ सरस्वती की तस्वीर पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलन के पश्चात किया गया। संगोष्ठी के दौरान कलेक्टर श्री मनोज पुष्प द्वारा कहा गया कि मंदसौर जिले की मीडिया बहुत ही सक्रिय एवं दमदार मीडिया हैं। यहां के समाचार पत्र हमेशा सकारात्मक रवैया अपनाते हैं। यहां के मीडिया की दिशा भी सकारात्मक है। यहां की मीडिया जो समाचार चयन करती है। वह बहुत ही अच्छा है। उन्होंने विशेष तौर पर कहा कि जिले में सरकार की मंशा के अनुरूप अनेक कार्य किए जा रहे हैं। प्रशासन के द्वारा अच्छों के साथ अच्छी एवं बुरे लोग साथ बुरी कार्यवाही लगातार की जा रही है।

संगोष्ठी के दौरान पुलिस अधीक्षक हितेश चौधरी द्वारा कहा गया कि किसी भी कार्य को करने से पहले सतर्कता बहुत जरूरी है और वह सतर्कता का कार्य मीडिया करता है। किसी कार्य को करने से पहले सूचना अगर कोई देता है, तो वो है मीडिया।

जन सरोकार के रूप में सूचना के अधिकार का प्रयोग किया जाए। यह बात संगोष्ठी के दौरान ब्यूरो चीफ कैलाश सनोलिया द्वारा कहीं गई। उन्होंने कहा कि सूचना के अधिकार का प्रयोग करना चाहिए। ऐसी कोई सूचना नहीं है जिससे कोई वंचित रह सके। जानकारी के लिए इस एक्ट का प्रयोग करना चाहिए। इसके माध्यम से योजनाओं के क्रियान्वयन में भी सरकार को मदद मिलेगी। उन्होंने विशेष तौर पर कहा कि पत्रकारिता यूनिक रूप में होनी चाहिए। हमेशा पत्रकारिता में कुछ नया करते रहना चाहिए। नई खोजी पत्रकारिता है। आजादी के पूर्व एवं आजादी के पश्चात पत्रकारिता के क्षेत्र में व्यापक बदलाव हुआ है।

प्रेस संगोष्ठी के दौरान फ्री प्रेस समाचार पत्र के जिला ब्यूरो निरुक्त भार्गव द्वारा कहा गया कि मंदसौर शहर पत्रकारिता के क्षेत्र में संपादक की नगरी के रूप में जाना जाता है। यहां से बहुत अधिक मात्रा में समाचार पत्र प्रकाशित होते हैं।

सोशल मीडिया के माध्यम से मंदसौर की जितनी भी घटनाएं जो पिछले दिनों घटित हुई। उन सभी घटनाओं ने विश्व स्तर पर अपना स्थान बनाया है। उन्होंने विशेष तौर पर कहा कि पत्रकारिता एक पवित्र पेशा है।

संयुक्त संचालक रश्मि देशमुख द्वारा कहा गया कि जनसंपर्क विभाग पत्रकारों के लिए सदैव सहयोगात्मक रवैया रखता है। जनसंपर्क की ओर से कभी भी पत्रकारों की उपेक्षा नहीं की जाती है।

संगोष्ठी में कलेक्टर मनोज पुष्प, पुलिस अधीक्षक हितेश चौधरी, संभागीय जनसंपर्क कार्यालय से संयुक्त संचालक रश्मि देशमुख, पत्रकार कैलाश तनोरिया, निरित भार्गव, सहायक जनसंपर्क अधिकारी हरिशंकर शर्मा सहित जिले के प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के प्रतिनिधिगण शामिल हुए। कार्यक्रम का संचालन ब्रजेश जोशी द्वारा एवं आभार जनसंपर्क अधिकारी ईश्वरसिंह चौहान द्वारा माना गया।


धरती पर जैन धर्म मौजूद है इसमें बहुत बड़ा सहयोग भक्तामर का है

मन्दसौर। मन्दसौर की धरती पर अखण्ड भक्तामर के पाठ का आयोजन ऐतिहासिक क्षण है। इसमें बैठने का मुझे सौभाग्य मिलने वाला है। धरती पर जैन धर्म मौजूद है इसमें बहुत बड़ा सहयोग भक्तामर का है।

उक्त विचार मुनि 108 श्री संबुद्ध सागरजी महाराज ने व्यक्त किये। वे णमोकार महामंत्र साधना केंद्र बही से विहार कर मंदसौर तार बंगला स्थित 1008 श्री शांतिनाथ जिनालय पहुचे जहां आपके सानिध्य में 29 दिसम्बर से 8 जनवरी तक अखण्ड भक्तामर के पाठ का आयोजन होने जा रहा है।
मुनिश्री ने कहा कि भक्तामर पाठ के ऐतिहासिक क्षण के लिये सभी का साथ और सहयोग जरूरी है। यह जैन समाज का सौभाग्य है। 11 दिवसीय पाठ हो रहे है लेकिन भावना 48 दिन की है । इसके लिये सभी की प्रेरणा आवश्यक है।

मुनि श्री संबुद्धसागरजी महाराज उपस्थित श्रावको से कहा कि अखण्ड भक्तामर पाठ में जो प्रतिदिन सबसे अधिक समय देगा उसका सम्मान होगा। भक्तामर पाठ की विशेषता बताते हुए आपने कहा कि यह दिगम्बर -श्वेताम्बर में कोई भेदभाव नही बताता है। भक्तामर के अखण्ड पाठ से समस्याओं का समाधान हो जाता है।

मुनि द्वय के विहार के दौरान डॉ एस एम जैन, अभय जैन, राजकुमार पाटनी, प्रदीप जैन,हेमंत जैन, नरेश पाटनी, अशोक बड़जात्या, सोनू जैन ,राजमल गर्ग सहित अनेक पुरूष व महिलाएं थे।


स्वतंत्रता संग्राम व देश के नव निर्माण का श्रेय कांग्रेस को है

कांग्रेस स्थापना दिवस पर आयोजन समपन्न

मंदसौर। कांग्रेस स्थापना दिवस एवं सेवा दल स्थापना दिवस के अवसर पर समारोह का आयोजन किया गया। जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रकाश रातडिया ने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम व देश के नव निर्माण का श्रेय कांग्रेस को है। कांग्रेस के नेतृत्व में सत्य अहिंसा आधारित आन्दोलन चला व क्रांतिकारी गतिविधिया  चली. लोकतंत्र,समाजवाद व धर्म निरपेक्षता पर देश का विकास कांग्रेस ने निर्धारित किया। आज इन राष्ट्रीय  मूल्यों को चुनोती दी जा  रही है। इसका सामना करना समय की आवश्यकता है।

इस अवसर पर पूर्व विधायक पुष्पा भारतीय, प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष राजेन्द्र सिंह गोतम, महामंत्री मुकेश काला, महेंद्र सिंह गुर्जर, तरुण खिची, नगर पालिका अध्यक्ष मोहम्मद हनीफ शेख, प्रीतिपाल सिंह राणा ने अपने विचार व्यक्त किये।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts