Breaking News

मंदसौर छोटी बड़ी खबरे – 3 April 2020

अष्टमी की तरह रामनवमी का पर्व भी मना घरों में

मंदसौर। लॉकडाउन के तहत पूरा शहर बंद है। सभी प्रकार के सामाजिक और धार्मिक आयोजनांे पर प्रतिबंध लगा हुआ है। जिसके चलते जहां बुधवार को अष्टमी के पर्व पर माता मंदिरों से भक्त नदारद रहे वहीं घरों पर ही रहकर श्रद्धालुआंे ने मां की आराधना की थी। ठीक उसी प्रकार गुरूवार को रामनवमी का पर्व भी लोगांें ने अपने – अपने घरों में ही मनाया। कई लोगों ने घरों में ही कन्या पूजन और हवन के आयोजन किए। वहीं नगर के प्रमुख मंदिरों में भगवान श्रीराम की आरती शुभ मुहूर्त में पुजारी द्वारा उतारी गई।

कुमावत समाज के श्रीराम जन्मोत्सव समिति के अध्यक्ष सुरेन्द्र कुमावत ने बताया कि प्रतिवर्ष श्रीरामनवमी के अवसर पर एक विशाल चल समारोह और महाआरती का आयोजन समाजजनों द्वारा किया जाता रहा है। लेकिन इस वर्ष सभी ने पूर्व में ही सभी आयोजन जनहित के चलते निरस्त कर दिए थे। गुरूवार रामनवमी के पर्व पर सभी ने अपने – अपने घरोें में रहकर ही भगवान राम की पूजा आराधना की।


सीनियर फोटो जर्नलिस्ट संघ लगा है मानव सेवा में

मंदसौर। कोरोना से जंग की इस लड़ाई में हर कोई व्यक्ति जरूरतमंद की मदद करने से पीछे नहीं हट रहा है। इसी कड़ी में नगर के सीनियर फोटो जर्नलिस्ट संघ द्वारा भी लगातार मानव सेवा की जा रही है। संघ के सदस्यों द्वारा गुरूवार को भी नगर के विभिन्न क्षेत्रों में भोजन के पैकेट बांटे गए। संघ के सदस्यों ने बताया कि स्टेशन क्षेत्र, स्टेडियम, बस स्टैंड के पीछे अन्य क्षेत्रों में ऐसे कई लोग है जिन के पास लॉकडाउन के दौरान भोजन की व्यवस्था भी नहीं हो पा रही है। ऐसे लोगों तक नगर के अन्य समाजसेवियों की सहायता से भोजन के पैकेट पहंुचाए जा रहे है। इस कार्य में संघ के संजय जैन, पंकज परमार, जितेंद्र शर्मा, रमेश चौहान, जितेंद्र देवड़ा आदि लगे है।


नपा के द्वारा शहर क्षैत्र में सफाई अभियान चलाया गया

मंदसौर। नपा परिषद के द्वारा 31 मार्च से विशेष सफाई पखवाडा चलाया जा रहा है। नपाध्यक्ष राम कोटवानी के निर्देश पर प्रारंभ हुये इस विशेष सफाई पखवाडे के अंतर्गत प्रतिदिन मंदसौर नगऱ के कई वार्डो में सफाई का कार्य कराया जा रहा है। कल गुरूवार को नपा परिषद के द्वारा शहर किला रोड, भैसा पहाड, मर्दादिन मोहल्ला, भोईवाडा क्षैत्र में सफाई अभियान चलाया गया। वार्ड क्र 24 व 25 में इस सफाई अभियान के अंतर्गत इन क्षैत्रो में नालियों की विशेष सफाई करायी गयी। सडको के दोना किनारो पर जमा घुल मिट्टी हटायी गई। साथ ही इन क्षैत्रो में कचरा एकत्रित करने के स्थान में भी कचरे को हटाने के प्रबंध किये गये।


नपाध्यक्ष श्री कोटवानी ने खानपुरा क्षैत्र का आकस्मिक निरिक्षण किया

मंदसौर। नपाध्यक्ष राम कोटवानी ने कल बुधवार को खानपुरा में चलाये गये विशेष अभियान में हुई सफाई को देखने के लिये आकस्मिक निरिक्षण किया। उन्होने यहा के सफाई दरोगागण नरेश परमार, रोहित कोडावत, उमेश दलौट से सफाई अभियन के संबंध में चर्चा की तथा सफाई के सम्बंध में उन्हे आवश्यक दिशा निर्देश दिये। नपाध्यक्ष ने सभी सफाई दरोगाओं को कहा कि सभी सफाई कर्मचारी अनिवार्य रूप से सफाई कार्य में लगे तथा जो सफाई कर्मचारी अनुपस्थित है उनकी जानकारी मुझे दे ताकि आवश्यक कार्यवाही की जा सके।


उज्जवला योजना के हितग्राहियों को मिलेंगे 3 माह में 3 सिलेंडर निशुल्क

मन्दसौर। देश में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम हेतु घोषित लॉक डाउन के कारण भारत सरकार ने 3 महीने यानी अप्रैल 2020 से जून 2020 के बीच कुल 3 मुफ्त रिफिल उज्जवला योजना के हितग्राहियों को देने की घोषणा की है… जिला नोडल अधिकारी आकाश सिंह सिंदल के अनुसार इस योजना के तहत प्रत्येक उज्वला ग्राहक अप्रैल से जून तक 3 महीने में 3 सिलेंडर प्राप्त करने का हकदार है। ग्राहक अंतिम रिफिल प्राप्त होने के 15 दिन बाद ही अगली रिफिल बुक करा सकेंगे।

उज्जवला योजना के लाभार्थियों के लिंक किए गए खातों में मुफ्त एलपीजी खरीदने के लिए एक रिफिल की पूरी राशि अग्रिम हस्तांतरित कर दी जाएगी.। उपभोक्ता इस राशि का उपयोग गैस एजेंसी से रिफिल लेने में करेगा इसके लिए बुकिंग आईवीआरएस या पंजीकृत मोबाइल द्वारा की भी जा सकेगी। एक रिफिल प्राप्त करने के बाद ही दूसरी रिफिल का पैसा बैंक खाते में आएगा यदि उपभोक्ता बैंक में पैसा आने के बाद रिफिल प्राप्त नहीं करता है तो अगली रिफिल का पैसा बैंक खाते में नहीं आएगा। एलपीजी की सप्लाई चलती रहेगी एवं एलपीजी का पर्याप्त भंडारण है इसके लिए बुकिंग आईवीआरएस या पंजीकृत मोबाइल द्वारा की भी जा सकेगी।


स्वास्थ्य केंद्र पर स्वास्थ्य विभाग की टीम 24 घंटे तैयार

नाहरगढ। कोरोनो वायरस की महामारी से सभी परेशान हो रहे है। ऐसे मे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नाहरगढ पर डॉक्टर बी एस भाटी व कम्पाउंडर यू एस नरवरिया अपनी गंभीर जवाबदारी को बखूबी निभा रहे है। टीम भावना लेकर स्वास्थ्य केन्द्र पर आने वाले सभी लोगांे का स्वास्थ्य परीक्षण व स्क्रीनिंग कि जा रही है। इस कार्य मंे संजय दुबे, विशाल शर्मा, श्रीमती दर्पणा काले, श्रीमती श्यामा कुवंर तोमर, श्रीमती भावना भाटी, श्रीमती मीना बैरागी, हंसा कुमावत व माया नागोर, जगदीश कमलवा की टीम लगी है। सभी को जांच पड़ताल के बाद उचित परामर्श के साथ समय-समय पर जांच कराने तथा घर पर ही सुरक्षित रहे की सलाह दी जा रही है। बाहर से आने जाने वाले से दुर रहे व हमे सूचना देकर उसका स्वास्थ्य परीक्षण कराने का बोले।


विद्युत वितरण कम्पनी मंदसौर वृत ने राजस्व संग्रहण में प्राप्त किया प्रथम स्थान

मंदसौर। म.प्र.विद्युत वितरण कम्पनी लिमिटेड मंदसौर वृत ने माह मार्च 2020 में बेहतर उपभोक्ता सेवा व सतत विद्युत आपूर्ति करने के साथ ही वैश्विक महामारी कोरोना के कारण टोटल लॉक डाउन होने के बावजूद ’राजस्व संग्रहण’ में कम्पनी द्वारा निर्धारित लक्ष्य का 95 प्रतिशत राजस्व संग्रहण कर पश्चिम क्षेत्र कम्पनी में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। कम्पनी प्रबंध निदेशक विकास नरवाल (आईएएस) व कमर्शियल डायरेक्टर मनोज झंवर ने इस उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए सभी कर्मचारियों व अधिकारियों की तारिफ करते हुए कहा कि विपरीत परिस्थितियों में भी मंदसौर वृत के कर्मचारियों व अधिकारियों ने जो उल्लेखनीय कार्य किया हैं वह सराहनीय है। वृत के कर्मचारियों, अधिकारियों ने जो उत्कृष्ट प्रदर्शन किया इसका श्रेय बेहतर उपभोक्ता सेवा एवं दूरदर्शी प्रबंधन को जाता हैं टोटल लॉक डाउन के बावजूद विद्युत विभाग ने उपभोक्ताओं से मोबाइल पर सम्पर्क कर ऑनलाइन पेमेंट हेतु प्रेरित किया गया।


सेवा ही संकल्प: तरूण परिषद ने अब तक 9100 भोजन पैकेट वितरित किए

मंदसौर। त्रिस्तुतिक जैन समाज के गुरूदेव श्री राजेन्द्र सूरिश्वर मसा जी के सिद्धांत मानव सेवा ही सर्वोपरी के पथ पर चलते हुए राजेन्द्र जैन तरुण परिषद द्वारा लॉक डाऊन के दौरान शहर में भोजन वितरण की सेवा शुरूआती दिनों में आपस में सहयोग कर प्रारंभ की गई थी ताकि गरीब व्यक्ति को समय पर भोजन मिल सकें। लेकिन उनके इस पुनित कार्य में नगर के कई लोग जुड़ गए और जिसके बाद भोजन वितरण का कार्यक्रम निरंतर चल रहा है। तरूण परिषद के सदस्यों द्वारा गुरुवार को 700 भोजन के पैकेट वितरित किए गए। अभी तक परिषद द्वारा 9100 भोजन के पैकेट वितरण किया जा चुके हैं। परिषद के अध्यक्ष आयुष डोसी और सचिव यश बाफना ने बताया कि शुरूआत छोटे स्तर पर की गई थी हमें लग रहा था कि दो चार दिन की व्यवस्था करना पड़ेगी जो कर देंगे। लेकिन लॉकडाउन 21 दिन का हो गया। लेकिन हमारा हौसला हमारे बड़ों ने नहीं टूटने दिया और लगातार खाद्य सामानों के साथ – साथ अर्थ की भी व्यवस्था होती रही और आज गुरूवार 2 अप्रैल तक हमने 9100 भोजन के पैकेट वितरित कर चुके है और यह भोजन का वितरण लॉकडाउन के अंतिम दिन तक चलता रहेगा। ताकि हमारे नगर में कोई भूखा न सों सके। यह सब हमारे गुरूदेव श्री राजेन्द्र सूरिश्वरजी मसा की असीम कृपा से संभव हो सका है। दोनों ने बताया भोजन बनने के बाद यह नहीं देखा जाता कि भोजन देने कितनी दूर जाना है हमें सूचना मिलते ही उक्त व्यक्ति को भोजन पहंुचाने हेतु सदस्य निकल जाते है।

श्री डोसी व श्री बाफना ने बताया कि प्रतिदिन सेवा देने वालो में राजकुमार चपरोत, महेंद्र छिंगावत, कमलेश सालेचा, जयेश डागी, राकेश डोसी, अंकुश सगरावत, मनीष सगरावत, मंगलम डोसी, अमन डोसी, अक्षय खाबिया, दीपक कोठारी, अनिमेष पोरवाल, ललित बाहेती, अनिल सांखला, मानू सिंधी, सत्यनारायण अग्रवाल, दुर्गा सिंधी अपना सहयोग प्रदान कर रहे है।

दशपुर बीसा पोरवाल सोश्यल ग्रुप की कर रहा है निरंतर मानव सेवा प्रकल्प

कोरोना नामक वायरस के प्रकोप में लॉकडाउन के दौरान मानव सेवा के अंतर्गत जरूरत मंद लोगो को दशपुर बीसा पोरवाल सोश्यल ग्रुप द्वारा ’सर्वजन हिताय, सर्वजन सुखाय’ के मंत्र को आत्मसात करते हुए ग्रुप द्वारा प्रथम चरण में 200 नग राशन सामग्री की किट बनवाई थी जिसके बाद गुरूवार को दूसरे चरण में 150 किट और बनवाई गई जिसमें नमक, आटा, दाल, तेल, मीर्च, जिरावन का 1 पैकेट , दो डेटॉल और एक कपड़े धोने का साबुन है रखा गया है। दशपुर बीसा पोरवाल सोश्यल ग्रुप द्वारा 29 मार्च से छ दिनों में 237 जरूरतमंद परिवारों को राशन सामग्री की किट घर घर जा कर प्रदान की है।


युवति को संाप ने काटा बाद में सांप भी मरा दोनों का किया अंतिम संस्कार

तुरकिया। ग्राम डोरवाड़ा में बुधवार शाम को 5 बजे पूजा पिता भेरूसिंह सोंधिया राजपूत अपने खेत पर गेहू निकाल रही थी। तब अचानक पाल के निचे बेठे सर्प ने पूजा को काट लिया। जिसे उपचार हेतु जिला चिकित्सालय मंदसौर ले जाया गया वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया है। गुरूवार सुबह पीएम कर शव परिजनों को सौप दिया। उसके पश्चात ग्रामीण शव लेकर दाह संस्कार के लिये शमशान जा रहे थे तभी 17 घंटे बाद भी उसी जगह सर्प वही मरा हुआ पड़ा था। ग्रामीणों ने उसको उठाकर कुछ दूर सर्प का भी दाह किया गया है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts