Breaking News

मंदसौर छोटी बड़ी ख़बरे 05 Dec 2018

छत के साथ मुफ्त में ईलाज देने वाली भाजपा पहली सरकार – सांसद गुप्ता

सांसद ने मंदसौर विधानसभा में दलौदा मंडल के प्रवास पर शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं को लेकर ग्रामीणों से चर्चा की

मंदसौर-केन्द्र की भाजपा सरकार गरीबों को छत तो दे रही है साथ ही मुफ्त में ईलाज भी करा रही है। ऐसा करने वाली भाजपा पहली सरकार है। हर गरीब के सिर पर छत हो और अच्छे हास्पीटल में उसका उपचार मुफ्त में हो सके इसके लिए भाजपा सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना और आयुष्मान भारज जैसी महत्ती योजनाएं लागू की। आज आयुष्मान भारत योजना के तहत कोई भी गरीब देश के किसी भी अच्छे हास्पीटल में 5 लाख तक का मुफ्त में उपचार करवा सकता है। प्रदेश में करीब 1 करोड़ 40 लाख परिवारों को इस योजना से जोड़ा जाएगा। वहीं 2022 तक हर व्यक्ति को अपने सपनों का घर देने के संकल्प के साथ आगे बढ़ रहे है। उक्त बात सांसद सुधीर गुप्ता ने मंदसौर विधानसभा दलौदा मंडल के ग्रामों में प्रवास के दौरान ग्रामीणों और कार्यकर्ताओं से कहीं। सांसद गुप्ता ने कहा कि भाजपा सरकार ने स्वास्थ्य योजनाओं पर विशेष रूप से कार्य किया है। आज मातृत्व मुत्युदर में 42 फिसदी घटी है वहीं शिशु मृत्युदर में भी 45 फिसदी गिरावट आई है। संस्थागत प्रसव में 300 फिसदी की वृद्धि हुई है।  सांसद सुधीर गुप्ता ने दलौदा मंडल के ग्राम लसूडि़या, पलासिया, निंबोद, खोड़ाना, बालोदिया, हरचंदी, भावगढ़, माऊखेड़ी, धंधोडा, बनी, कटलार, भंडारिया, सगवाली, मजेसरा के ग्रामीणों एवं कार्यकर्ताओं से चर्चा की। इस अवसर पर मंडल अध्यक्ष चन्द्रशेखर मण्डलोई, पूर्व विधायक राजेन्द्र सिंह सिसोदिया, भाजपा जिला मंत्री गणपत सिंह आंजना, मंडल महामंत्री गजेंद्र सिंह सिसोदिया, फतेहसिंह आंजना, जिला पंचायत सदस्य पूनमचंद गमेतिया, पूर्व सरपंच जितेंद्र सिंह सिसोदिया, भाजपा मंडल मंत्री सुबोध जोशी , अल्पसंख्यक मोर्चा मंडल अध्यक्ष हारून कुरेशी, श्रीरामप्रताप वाकतरिया, घनश्याम बग्गड़ सांसद प्रतिनिधि युवा मोर्चा मंडल उपाध्यक्ष दीपक बैरागी, युवा मोर्चा मंडल मंत्री संतोष धनगर एवं भाजपा के समस्त पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे।


रोगी कल्याण समिति की बैठक आज

मंदसौर।  जिला अस्पताल रोगी कल्याण समिति मंदसौर की कार्यकारिणी समिति की बैठक कलेक्टर एवं समिति के अध्यक्ष महोदय की अध्यक्षता में 6 दिसंबर  को  दोपहर 12ः30 बजे मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जिला मंदसौर कार्यालय के मीटिंग हाल में  आयोजित की गई है।


आज अंबेड़कर पुण्यतिथि को परिणय दिवस के रूप में मनाया जाएगा।
मंदसौर। भारतीय जनता पार्टी अनुसूचित जाति मोर्चा जिला अध्यक्ष बसंती लाल मालवीय ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी जिलाध्यक्ष चन्दरसिंह सिसोदिया के नेतृत्व में 06 दिसंबर बाबासाहेब भीमराव अंबेड़कर पुण्यतिथि को परिणय दिवस के रूप में मनाया जाएगा। बाबासाहेब की पुण्यतिथि को प्रातः 10ः00 बजे अंबेडकर चौराहा मंदसौर पर पहुंचकर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। आप समस्त जिले में निवास प्रदेश/ जिला/ मंडल पदाधिकारी कार्यकर्ता गण जनप्रतिनिधि समय पर उपस्थित होकर कार्यक्रम को सफल बनावे।


मनुष्य आत्मशांति में बाधक कार्यों से जुड़ रहा है-सुभूषणमति माताजी

सर्वतोभद्र महामंडल विधान के चतुर्थ दिवस हुई घातकी खंड की पूजा

मन्दसौर। मनुष्य जन्म में वक्त गुजरता रहता है मगर कुछ लोग अपने कार्यों से छाप छोड़ जाते है। यह संदेश पूज्य श्री सुभूषणमति माताजी ने पार्श्वनाथ जिनालय बंडीजी के बाग में आयोजित 9 दिवसीय भव्य सर्वतोभद्र महामंडल विधान के चतुर्थ दिवस दिया। पूज्य माताजी ने बताया कि जिनेन्द्र भगवान के द्वारा जो प्रतिपादित है उसे पाक्षिक करते है। पंचमकाल में शुक्ल ध्यान नहीं होता। तीर्थंकरों को हमने देखा नही है फिर भी हम उनहें मानते है, पूजते है। आज लोग आत्मशांति के कार्यों से दूर होते जा रहे है, जबकि आत्मशांति में बाधक कार्यों से जुड़ते जा रहे है।

हूमड़ समाज मंदसौर के सचिव राकेश दोशी ने बताया कि विधान के चतुर्थ दिवस घातकी खंड की पूजा प्रारंभ हुई। आज के चक्रवर्ती का सौभाग्य कांतिलाल कियावत राणायरा वालों को प्राप्त हुआ। मांडलिक राजा नंदकिशोर अग्रवाल बने। चित्र अनावरण, दीप प्रज्जवलन, पूज्य माताजी का पाद पक्षालन, शास्त्र भेंट एवं देव शास्त्र गुरू की आरती का लाभ श्री सतेन्द्रकुमार, अंजली जैन खतौली वालों ने लिया।

इस अवसर पर दीपक भूता, शरद गांधी, सनत गांधी, निर्मल मेहता, विशाल गोदावत, महिपाल  भूता सहित समस्त इन्द्र इन्द्राणी एवं श्रावकों द्वारा विधान पूजन किया एवं धर्मलाभ लेकर पुण्यार्जन किया।


दशपुर इनरव्हील क्लब ने विद्यालय में उपलब्ध कराई डिक्शनरी की सुविधा

मन्दसौर। दशपुर इनरव्हील क्लब मंदसौर के तत्वावधान में गोद लिए स्कूल शासकीय माध्यमिक विद्यालय, चंबल कॉलोनी मंदसौर में पूजा जितेन्द्र बग्गा के सहयोग से डिक्शनरी की सुविधा उपलब्ध कराई गई। जिससे वहां अध्ययनरत बच्चों को शब्दों को समझने एवं विद्याध्ययन करने में सहायता मिलेगी। साथ ही बच्चों को इको फ्रेण्डरी पेंसिल भी उपलब्ध कराई गई। जिसका उपयोग करने के बाद उसका पौधा उगाया जा सकता है।  इस अवसर पर क्लब अध्यक्ष तेजल चौरडि़या ने बच्चों को पर्यावरण की सुरक्षा की जानकारी दी गई और अपने विद्यालय, घर व आसपास के वातावरण को स्वच्छ रखने हेतु समझाईश दी।


अम्बेडकर चौराहा पर शाम 5 बजे पुष्पाजंली कार्यक्रम आयोजित

मंदसौर। भारतीय संविधान निर्माता डॉ.भीमराव अम्बेडकर की पुण्यतिथी के अवसर पर भीम शक्ति संगठन म.प्र. के बेनरतले अम्बेडकर चौराहा पर आज 6 दिसम्बर को शाम 5 बजे सभी संविधान प्रहरीयो की उपस्थिति मे भारत रत्न बाबा साहब को पुष्पाजंली अर्पित करने हेतु भीम शक्ति संगठन के प्रदेश संयोजक राजेश परमार ने सभी से आहवान किया है।


दलितों को मंदिरों के चक्कर में नहीं पड़ना चाहिए : पुजारियों को नियम कानून के दायरे में लाने का प्रयास हो

धर्म संस्था के संचालकों की समाज में बहुत ज्यादा प्रतिष्ठा भी है, वे एक तरह से समाज में विचारों के नियंता भी हैं, दलितों के चाहने भर से धर्म और उसकी सत्ता के केंद्र खत्म नहीं हो जाएंगे, इसलिए ज़रूरी है कि उनके संचालन में विविधता यानी डायवर्सिटी हो, इसलिए दलितों की लंबे समय से मांग रही है कि उन्हें भी पुजारी बनाया जाए। इसी मांग बतौर वोट बैंक को साधने के उद्धेष्य को दृश्टीगत रखते हुए राजस्थान की एक चुनावी सभा में जब यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हनुमान को दलित कहा। इसे लेकर अम्बेडकरवादियों के एक खेमे से ये प्रतिक्रिया आई कि ये दलित आंदोलन का भटकाव है, दलितों को शिक्षा पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए और संगठित होकर लोकतांत्रिक संस्थाओं और संसद पर कब्जा करने की कोशिश करनी चाहिए। ऐसे लोगों का कहना है कि मंदिरों के चक्कर में दलितों को नहीं पड़ना चाहिए क्योंकि आखिरकार इससे धर्म की ही सत्ता मजबूत होती है, जो जातिवाद का स्रोत है। कई दशको पुर्व कुछ जातियों ने एक समय में ढेर सारे देवता आपस में बांट भी लिए थे, यादवों ने कृष्ण को ले लिया और कृष्ण को यदुवंशी घोषित कर दिया, तो कुशवाहा ने कुश से संबंध जोड़ लिया, कुर्मियों ने लव को पकड़ लिया तो कहारों ने जरासंघ को अपना पूर्वज बताया। लोहारों ने विश्वकर्मा के साथ संबंध जोड़ा, दलितों की एक जाति ने वाल्मीकि से अपना नाता जोड़ा वहीं कुम्हारों का संबंध ब्रह्मा से माना। तमाम जातियों को कोई न कोई देवता या कुलदेवता या ऋषि पूर्वज के तौर पर मिल गए, सदियों की वंचना और अपमान से छुटकारा पाने का ये जातियों का अपना तरीका था। शूद्र और अतिशूद्र होने के अपमान से मुक्ति पाने के लिए ऐसा किया गया, ये जाति व्यवस्था से विद्रोह भी था और ऊंची जातियों की तरह बनने की लालसा भी। इसे लेकर अम्बेडकरवादियों के एक खेमे से ये प्रतिक्रिया आई कि ये दलित आंदोलन का भटकाव है, दलितों को शिक्षा पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए और संगठित होकर लोकतांत्रिक संस्थाओं और संसद पर कब्जा करने की कोशिश करनी चाहिए। ऐसे लोगों का कहना है कि मंदिरों के चक्कर में दलितों को नहीं पड़ना चाहिए । इस विवाद के बीच ये जान लेना उपयोगी होगा कि संविधान की ड्राफिं्टग कमेटी के चेयरमैन और देश के पहले कानून मंत्री बाबा साहेब भीम राव आंबेडकर मंदिरों में पुजारियों की नियुक्ति के बारे में क्या कहते है कि कुछ लोगों को ये नियम कड़े लग सकते हैं, लेकिन जब हर पेशे के लिए कायदे कानून हैं तो पुजारियों के लिए क्यों नहीं. पुजारी ही एकमात्र ऐसा व्यवसाय है जिसके लिए किसी योग्यता की जरूरत नहीं, पुजारियों को नियम कानून के दायरे में लाया जाए और उनके कर्तव्य निर्धारित किए जाएं।


24  दिसंबर को मनाया जायगा राष्ट्रीय ग्राहक दिवस- ग्राहक पंचायत

मंदसौर :- 24 दिसम्बर को राष्ट्रीय ग्राहक दिवस मनाया जायगा| जिसके चलते शहर व आसपास के क्षेत्रो स्कुल व् विधालयो  में मनाया जायगा| इस तारतम्य में आज जिला कार्यालय पर बैठक सम्पन्न हुयी, जिसमे यह निर्णय लिया की 15 दिसम्बर से 30 दिसम्बर तक नगर के विभिन्न विधालय, कॉलेज व प्रमुख चौराहे पर ग्राहक जागरूकता पखवाड़ा मनाया जायगा| अखिल भारतीय ग्राहक पंचायत के जिला संयोजक नवनीत शर्मा ने बताया कि जागरूकता पखवाड़ा के अंतर्गत नुक्क्ड़ नाटक के माध्यम से जागरूकता का सन्देश आम नागरिक तक पहुंचाया जायगा, विधालय में छात्रों को जागरूकता हेतु कंजूमर क्लब का गठन किया जायगा, जिससे छात्रों में जागरूकता की बढ़ोतरी हो और वो अपने घर परिवार तक जागरूकता का सन्देश पंहुचा सके, शहर में विभिन्न चौराहे पर जागरूकता के लिए बैनर लगाए जायेंगे| बैठक में उपस्थित प्रान्त कार्यकारणी सदस्य मिथुन वपता, विजय कोठरी, वीरेंदर चौहान, रंजीत जायसवाल, आशीष भाटिया, श्याम ग्वाला व दिनेश जी उपस्थित थे|

पाकिस्तान की नीयत साफ नहीं है करतारपुर गलियारे पर।

करतारपुर गलियारे के शिलान्यास के 24 घंटे के अंदर ही पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने इमरान खान की उपस्थिति में जिस प्रकार से कश्मीर के विषय को उठाया है। उससे इमरान खान का दोगलापन सामने आ गया है। हमारे लिए यह कोई नई बात नहीं है। हमें इस दोगलेपन की आदत सी पड़ गई है। दुनिया भर में कटोरा लेकर भीख मांग रहे पाकिस्तान को समझ में आएगी ये आशा करना भी व्यर्थ है। करतारपुर गलियारे के माध्यम से गुरु नानक देव जी को सम्मान देने में रुचि जब पाकिस्तान द्वारा दिखाई गई तो हम भारतीयों को विश्वास नहीं हुआ। ऐसा लगा कि पाकिस्तान इससे जुड़े आर्थिक फायदे को प्राप्त करना चाहता है। जो उसे दुनिया भर में फैले सिख अनुयायियों से हो सकता है। परंतु करतारपुर गलियारे के शिलान्यास आयोजन में खालिस्तान समर्थक गोपाल चावला की उपस्थिति ने पाकिस्तान सरकार के मंसूबों को पूरी तरह से उजागर कर रख दिया है। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान भले ही करतारपुर गलियारे के साथ पाकिस्तान के प्रसिद्ध शिव मंदिर कटास राज और पाक अधिकृत कश्मीर के शारदा पीठ को जोड़कर धार्मिक पर्यटन सर्किट की बात कर रहे हों लेकिन इसके समकक्ष चल रही घटनाएं इमरान खान की बदनीयती को दर्शाती है। हमारा दुर्भाग्य है कि हमारे पास नवजोत सिंह सिद्धू जैसे लोग हैं जो भारतीय होकर भी पाकिस्तानी विचार में सुर मिलाते नजर आते हैं। तो मन आशंका से भर जाता है। कि यह गठजोड़ कैसा ? क्या भारत के या पंजाब के लिए यह गठजोड़ कहीं आत्मघाती तो नहीं ? ऐसे कई विचार भारतीयों के मन में उठने लगे हैं। गुरुनानक देव जी को लेकर सिख समुदाय की धार्मिक श्रद्धा भावनाओं की आड में खेले जा रहे इस घिनौने खेल को समझ कर सावधानी बरतने की आवश्यकता है। – डाॅ.क्षितिज पुरोहित 9425105610


अर्जेंटीना के जी – 20 शिखर सम्मेलन में भारत की हुंकार 

अर्जेंटीना के ब्यूनस आयर्स में सम्पन्न संपूर्ण विश्व के सर्वाधिक ताकतवर 20 देशों के संगठन जी-20 समूह की बैठक में एक बार फिर भारत नें अपनी सशक्त और उपयोगी भूमिका प्रस्तुत की  है। वैसे भी भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की दूरगामी सोच के कायल विश्व के सभी नेता हैं और इस जी 20 शिखर सम्मेलन में भारत ने जो 9 सूत्रीय एजेंडा प्रस्तुत किया है आने वाले वर्षों में कितना प्रभावी सिद्ध होगा इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि भारत के द्वारा रखे एजेंडे पर अधिकांश देश सहमत दिखे और संभावना है शिखर सम्मेलन के बाद जारी संयुक्त घोषणा पत्र में भारत की अधिकांश सिफारिशें मंजूर कर ली जावे विशेषकर आर्थिक अपराध के भगोड़े अपराधियों के संबंध में जो की गई है। आमतौर पर विश्व के सभी देश अपने यहां होने वाले आर्थिक अपराध और अपराधियों से परेशान हैं और उन पर कार्यवाही करने में संकट का अनुभव करते हैं। जहां इसका कारण एक और एक दूसरे देशों की प्रत्यर्पण संधियाॅ  हैं वहीं दूसरी ओर कई देशों के आर्थिक व्यवहारों में दिखाई देने वाली विसंगतियां। विश्व के अधिकांश देशों के अपने अपने वैश्विक एजेंडे हैं।जिन पर उन देशों की विदेश नीतियां काम करती हैं। ऐसी स्थिति में भारत द्वारा प्रस्तुत 9 सूत्रीय एजेंडा संपूर्ण विश्व को राह दिखाने का काम कर सकेगा ऐसा विश्वास किया जाना चाहिए। कहने को तो यह आर्थिक अपराध और अपराधियों पर अंकुश लगाने वाली कार्यवाही होगी लेकिन इससे विश्व भर में फैले आतंकी संगठनों को की जाने वाली आर्थिक मदद की पूर्ति पर रोक लगाने में भी अप्रत्यक्ष रूप से मदद मिलेगी। तो, भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी एक बार पुनःविश्व  मंच पर सफल हैं। उन्होंने जी 20 शिखर सम्मेलन में मौका देख कर चौका लगाया है और एक तीर से दो निशाने लगाने में सफलता प्राप्त की है। 2022 में होने वाला जी 20 शिखर सम्मेलन भारत में आयोजित करने का आमंत्रण देना और उसकी स्वीकृति लेना भी एक बड़ी सफलता है। इन सफलताओं के लिए भारत के प्रधानमंत्री को बधाई दी जानी चाहिए।
– डाॅ. क्षितिज पुरोहित 9425105610


ईवीएम की चौकीदारी के नाम पर नौटंकी कर रही कांग्रेस- श्री शुक्ला

मंदसौर । कांग्रेस को जनता पर विश्वास नहीं है ,कांग्रेस के नेता खुद जान गऐ है कि जनता उनको एक सिरे से ख़ारिज कर चुकी है, जनादेश भाजपा के साथ है, इसलिए अपने कर्मो के कारण होने वाली हार का ठीकरा ईवीएम के सर फोड़ना चाहती है। कांग्रेसजन चौकीदारी के नाम पर नौटंकी कर रहे है । 60 सालों तक  देश पर एक छत्र राज करने वाली कांग्रेस अगर जनता के हितों की चौकीदारी करती तो आज ईवीएम की चौकीदारी करने  का दिखावा करने की आवश्यकता नहीं पड़ती । लगातार सत्ता में रहने के बाद जनता के हितों पर डाका डालने वाली  जन हीत के धन की चोरी करने वाली कांग्रेस आज चौकीदारी कर नौटंकी कर रही है।
उक्त बात भारतीय जनता युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष हितेश शुक्ला ने एक प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कांग्रेस पर तीखे प्रहार करते हुए कहीं । उन्होंने  कहा कि कांग्रेस ने 60 सालों तक जनता का शोषण किया इसलिए जनता उनको फिर से करारा जवाब देगी ,कांग्रेसी शासन में बिजली, पानी और सड़क के लिए मोहताज रही मध्य प्रदेश की जनता खुद शिवराज सिंह सरकार की ओर से चौकीदारी कर रही है  जनता  का विश्वास भाजपा के साथ है । जनहितैषी भाजपा सरकार को कायम रखने के लिए मध्य प्रदेश की जनता स्वयं भाजपा की और से सरकार के  समर्थन में  विपक्षियों के सामने ढाल बनकर खड़ी हुई है जिसे कांग्रेस तो क्या पूरे देश की राजनैतिक पार्टीयाँ मिलकर चाहे जितना षडयंत्र, धन और बाहुबल लगा ले, जनादेश भाजपा के साथ है इसलिए भाजपा को हरा नही सकते इसलिये कांग्रेस अब पूरी तरह नौटंकी पर उतर आई है । कांग्रेस को मालूम है कि अबकी बार भारतीय जनता पार्टी फिर से मध्य प्रदेश में सरकार बना रही है जनता भाजपा शासन में हुए जनहितेषी कार्यों पर मोहर लगा चुकी है ।  इससे डरकर कांग्रेस अपनी हार का ठीकरा ईवीएम पर फोड़ने पर उतारू है ।
श्री शुक्ला ने कांग्रेस से प्रश्न किया कि जब चुनाव आयोग ने दिल्ली में सार्वजनिक रूप से पत्रकार वार्ता कर ईवीएम हैक करने का चैलेंज  देश के सभी तकनीकी विशेषज्ञों, राजनैतिक दलों को दिया था, तब ईवीएम पर उंगली उठाने वाली कांग्रेस कहाँ थी ?  कर्नाटक, पंजाब में कांग्रेस को बहुमत खराब ईवीएम ने कैसे दे दिया ?
श्री शुक्ला ने कहा कि हताश- निराश हार मान चुकी कांग्रेस लगातार प्रदेश और देश में तोड़ने की राजनीति कर रही है । कभी जाति के नाम पर कभी धर्म के नाम पर कभी मजहब के नाम पर, तोड़कर सत्ता प्राप्ति की जुगत लगा कर रही है। लेकिन एक बार फिर मध्य प्रदेश की जनता ने विकास को चुना है । जोड़-तोड़ की राजनीति कांग्रेस की एक सिरे से खारिज कर दी है  यह 11 दिसम्बर को सबके सामने होगा । श्री शुक्ला ने दावा किया कि मध्य प्रदेश में फिर से  शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनेगी एवं मंदसौर जिले की चारों सीटों पर भाजपा प्रत्याशीयों की प्रचंड मतो से विजय होगी ।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts