Breaking News

मंदसौर छोटी बड़ी ख़बरे : 10 Jun 2019

लगातार को रहे दुष्कर्म को लेकर विश्व हिन्दु परिषद मातृशक्ति द्वारा दिया गया ज्ञापन

मंदसौर। विश्व हिन्दु परिषद मातृशक्ति दुर्गावाहिनी द्वारा गृहमंत्री, भारत सरकार, नई दिल्ली के नाम जिला कलेक्टर को आये दिन मासूम बच्चियों के साथ हो रहे दुष्कर्म, दरिंदगी व हत्या करने पर भी शासन व प्रशासन द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाने के संबंध में ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन में उल्लेख किया गया कि जिस देश में कन्याओं को देवी का दर्जा दिया जाता है, उन्हें पूजा जाता है, आज हैवानियत ने इतनी हदें पार कर दी है कि आये दिन गांव हो या शहर, मात्र हवस के नशे मेंचूर कुछ दरिंदे उन्हीं देवी समान मासूम बच्चियों की बेरहमी व दरींदगी से हवस का शिकार बनाते हुए मौत के घाट उतार रहे है और चिंता इस बात की है कि इसी देश का कानून जहां कई बेटियों ने बलिदान दे दिया वहां इन दरिंदो के लिए कोई ऐसा कानून नहीं जिससे दरिंदो को सबक सिखाया जा सके। पूर्व में लगातार बढ़ती जा रही दरिंदगी व बलात्कार की घटनाओं के बाद अब अलीगढ़ में एक ढाई वर्ष की मासूम बच्चीय ट्वींकल शर्मा के साथ दरिंदे जाहिद, असलम व उसके साथी ने न सिर्फ हवस का शिकार बनाया बल्कि हेवानियत की सारी हदें पार करते हुए उस मासूम बच्ची की आंखे निकालकर उसके आंतरिक अंगो को क्षत विक्षिप्त कर हमेशा के लिए मौत की नींद सुला दिया । इसी प्रकार 07.06.2019 को पुनः ग्राम आवर तह. आगर जिला आगर मालवा की एक मासूम गरीब परिवार की बच्ची को उज्जैन में सोते हुए से ले जाकर कुछ अज्ञात दरिंदो ने हैवानियत का शिकार बनाकर बुरी तरह से ईटध्पत्थर से कुचलकर मारकर नदी में फेंक दिया परन्तु प्रशासन मौत साधे बैठा हुआ है। शायद प्रशासन की किसी बड़ी अनहोली के इंतजार मेंए.सी. कमरो में बैठा है।

उपरोक्त घटनाओं के अतिरिक्त भी अनेक घटनाएं है, जिनमें कई मासूम बच्चियों के साथ व महिलाओं को कुछ विशेष वर्ग समुदाय के दरिंदो द्वारा हवस का शिकार बनाया गया है और इन अत्याचारों के कारण आज देश की कई बेटियों को आत्महत्या के लिए विवश होना पड़ रहा है तथा अपने घर से बाहर अकेली नहीं निकल पाती है।

ज्ञापन देने में मातृशक्ति दुर्गावाािहनी की जिला संयोजिका विद्या उपाध्याय, दुर्गावाहिनी जिला संयोजिका कांता ग्वाला, सह संयोजिका ज्योतिप्रिया शर्मा, सीमा नागर, अरूणा राठौर, आरती खिची, योगेश्वरी वात्रा, रमा माथुर, मेनाजी टेलर, चंचल राठौर आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे। ज्ञापन का वाचन जिला सहसंयोजिका ज्योतिप्रया र्श्मा ने किया।


कन्या को पूजने वाले इस देश में मासूम बेटियों की अस्मिता को क्रुर नजरों से बचाने की जरूरत- कोठारी

मंदसौर। एक बार फिर हमारे हाथों में कैंडल होगा उस मासूम नवजात अबोध बालिका के लिए जो दुष्कर्म का शिकार हुई है। हमारी आंतरिक सवेदना का जलजला एक बार फिर उस वहशी दरिंदे के लिए हमारी नसों में खून खोल रहा होगा। जिसने एक मासूम जिंदगी को अपनी बदनीयती और हैवानियत का शिकार बना के लहूलुहान हालात में हत्या कर किसी अनजान जगह फेक दिया होगा। हैवानियत दरिंदगी के नर पिशाचो के बढ़ते कदमों से अकस्मात कब, किस मासूम बच्ची पर कब क्या कहर ये वहशी दरिंदे ढहा दे कुछ कह नहीं सकते। उक्त बात समाजसेवी कमल कोठारी ने प्रेस नोट के माध्यम से कहते हुए बताया कि मेरठ, अलीगढ़, भोपाल में जिस तरह का जघन्य दुष्कर्म का कांड हुआ है। उसने प्रशासन की लापरवाही की भी कलाई खोल दी हैं। समय रहते पुलिस प्रशासन जाग जाता तो शायद इस घटना को रोका जा सकता था। कानून की काली पट्टी में इन्हें दिन का उजाला भी दिखाई नही देता है। इस तरह की घटना कोई पहली घटना नही है इसके पूर्व भी ना जाने कितनी अबोध मासूम बच्चियों के साथ इस तरह की घटना घटित हो चुकी है। 2016 नेशनल क्राइम रिपोर्ट के मुताबिक पूरे देश मे हर एक घटे में 4 बलात्कार की घटना घटित होती है। 2016 में मध्यप्रदेश में सर्वाधिक बलात्कार की घटना घटित हुई। कोई 4842 मामले विभिन्न थानों में दर्ज किए गए। 2016 की एक और रिपोर्ट की मुताबिक पूरे देश मे बलात्कार के 152165 मामले दर्ज हुए हैं, जिसमें से मात्र 25 का ही निपटारा हो पाया हैं । ऐसे कई मामले है जो कानूनी पेचिदगियों की वजह से न्यायालय तक पहंुच ही नही पाते हैं, क्योंकि पीडिता से सवाल जवाब में उसकी आबरू को वहाँ भी तार-तार किया जाता है या फिर उसे इंसाफ के लिए लंबे समय तक इंतजार करना होता है। महिला और कन्याओं को देवी के रूप में पूजने वाले इस देश में छोटी-छोटी मासूम बेटियों की अस्मिता को क्रुर नजरों से बचाने के लिये अब जरूरत है प्रशासन, कानून के साथ-साथ समाज स्तर पर कठोर कदम उठाने की। वरना डर की वजह से कहीं माता-पिता अपनी बेटियों को घर से बाहर निकालना ही छोड़ देंगे।


प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनाए तथा हर्बल गार्डन का निरीक्षण किया

नाहरगढ।  प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को  जनमानस की भावना को देखते हुए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनाया जावे। इस स्वास्थ्य केंद्र पर तीन तहसील सीतामऊ, मंदसौर व मल्हारगढ के साथ दो विधानसभा क्षेत्र सुवासरा व मल्हारगढ के मरीज यहां पर अपनी आते है। स्वास्थ्य केन्द्र पर निरीक्षण के साथ ही व्यवस्था को देखा। डॉक्टर बी एस भाटी मेडिकल ऑफिसर नाहरगढ़ द्वारा बताया गया कि भारत शासन द्वारा कायाकल्प अभियान के अंतर्गत प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नाहरगढ़ जिला मंदसौर को वर्ष 2017 -18 से लगातार तीन वर्ष तक स्वच्छता का अवार्ड प्राप्त कर रहा है। सोमवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नाहरगढ़ पर पत्रकार टीम व पुलिस विभाग के कर्मचारी ने निरीक्षण किया। जिसमे  टी.आर. राठौर, राजू  सोनी  तथा पुलिस विभाग के कर्मचारी द्वारा चिकित्सालय की व्यवस्था का निरीक्षण किया गया है। भ्रमण के दौरान स्वच्छता व अच्छी व्यवस्था पर प्रसन्नता व्यक्त की। साथ ही  हर्बल गार्डन का अवलोकन भी किया।  श्री कंपाउंडर नरवरिया द्वारा स्वच्छता के बारे में जानकारी दी तथा  कुछ दिन पहले गायत्री परिवार नाहरगढ़ द्वारा चिकित्सालय का भ्रमण किया गया था। जिसमें उन्होंने चिकित्सालय की व्यवस्थाओं के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त की और अंत उन्होंने मेडिकल ऑफिसर डॉ बीएस भाटी एवं पूरे स्टाफ की प्रशंसा की है।


श्री कांकरवा बालाजी में चल रही है श्रीमद् भागवत कथाजीर्णोद्धार में सहयोग देने वाले दानदाताओं का हुआ सम्मान

मन्दसौर। श्री कांकरवा बालाजी में गौभक्त भीमाशंकरजी शर्मा (शास्त्री) के मुखारविन्द से श्रीमद् भागवत कथा का शुभारंभ 6 जून को हुआ जो 12 जून गंगा दशमी तक चलेगी। इस अवधी में श्री राम मारूति पंचकुण्डीय 21वां महायज्ञ 8 जून से प्रारंभ होकर 12 जून को गंगादशमी पर पूर्णाहूति है।
श्री कांकरवा बालाजी मंदिर के जीर्णोद्धार में श्रीमद् भागवत कथा के दौरान वास्तु दोष का निवारण कैसे किया जाये इसका स्पष्ट उल्लेख किया गया। मंदिर निर्माण में 5 हजार रू. से अधिक की राशि की घोषणा जिन भक्तों के द्वारा की जायेगी उन्हें श्री कांकरवा बालाजी का फोटो सम्मान कर दिये जाने की घोषणा इंजि. बी.एस. सिसौदिया एवं ठा. अर्जुनसिंह राठौर के द्वारा की गई। 9 जून को श्री कांकरवा बालाजी मंदिर में कलश आरोहण हेतु पांच लाख रू. देने की घोषणा दलपतसिंह ग्राम मेहंदी द्वारा की गई। मंदिर के जीर्णोद्धार के लिये पिन्टू बना सरपंच पटलावद के द्वारा 21 हजार रू., ब्रह्मानंद पाटीदार ग्राम हतुनिया के द्वारा 15 हजार रू., श्रीमती रूकमणबाई नंदाजी ग्राम रिंगनोद के द्वारा 11 हजार रू., रूपनारायण जोशी से.नि. नायब तहसीलदार मंदसौर के द्वारा 5100 रूपये, पप्पूसिंह ग्राम लामगरा के द्वारा 5 हजार रू., उदयलाल ग्राम झिरकन के द्वारा 5 हजार एवं नरेन्द्र पाटीदार के द्वारा 5 हजार रू. की घोषणा की। सभी दानदाताओं का सम्मान श्री कांकरवा बालाजी का फोटो भेंटकर व्यासपीठ पर विराजित पं. भीमाशंकर शर्मा (शास्त्री) के द्वारा किया गया। 12 जून को गंगादशमी पर्व पर दोपहर 3 बजे से हरी इच्छा तक श्री कांकरवा बालाजी मंदिर परिसर में भण्डारे का आयोजन समिति के द्वारा किया गया।

मंदिर समिति के सदस्यगण विजयसिंह श्रीमाल, ब्रह्मानंद पाटीदार, इंजि. ठा. बी.एस. सिसौदिया, ठा. अर्जुनसिंह राठौर, अम्बालाल पाटीदार आदि ने धर्मालुजनों से अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित होकर धर्मलाभ लेने की अपील की है।


जेपीएल का फायनल मैच सिंधी इंडियन ने जीता

मन्दसौर। सिंधी युवा संगठन द्वारा आयोजित बेटी बचाओं-बेटी पढ़ाओं के संकल्प के साथ तीन दिवसीय झूलेलाल प्रीमियम लीग जे.पी.एल.-3 के समापन पर दिनांक 9 जून को रात्रि 9 बजे फायनल मैच सिंधी रॉयल्स और सिंधी इंडियंस के बीच खेला गया। जिसमें सिंधी इंडियन ने जीत दर्ज कर जेपीएल-3 पर कब्जा किया।

समापन पर मुख्य अतिथि के रूप में जिला पंचायत की अध्यक्ष प्रियंका गोस्वामी, जिला सहकारी बैंक पूर्व अध्यक्ष मदनलाल राठौर, भाजपा जिला महामंत्री महेन्द्र चौरडि़या, विश्व हिन्दू परिषद् नेता प्रकाश पालीवाल, धीरज पाटीदार, डॉ. प्रीतिपालसिंह राणा, नरेन्द्र बंधवार, विक्की गोसर सहित अपना घर की बालिकाएं मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थी। कार्यक्रम की शुरुआत में पधारे हुवे मुख्य अतिथियो के द्वारा भगवान झूलेलाल के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्वलित कर की गई। अतिथियों स्वागत सिंधी युवा संगठन के अध्यक्ष शंकर ककनानी, जगदीश पारवानी, नीतिन जैसवानी, आदि ने किया।

फायनल मैच में सिंधी रॉयल्स की टीम के कप्तान अजय रोचवानी ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला लिया। बल्लेबाजी करने उतरी सिंधी इंडियंस की टीम निर्धारित 18 ओवर में 132 रन बनाए सिंधी इंडियंस की टीम के खिलाड़ी दिलीप साधवानी (शु पॉइंट) सर्वाधिक रन बनाकर मैन ऑफ द मैच का खिताब जीता। दूसरे छोर से रनों का पीछा करने उतरी रॉयल सिंधी की टीम ने जल्द ही अपने बड़े विकेट खो दिए और 83 रनों पर ही सिमट कर रह गई।
इस अवसर पर अपना घर की बालिकाओं को सिंधी युवा संगठन द्वारा खेल के उपकरण स्केटिंग कैरम बोर्ड रैकेट जंपिंग रोप वॉलीबॉल आदि मनोरंजन के साधन हाई साई फूड डबल की ओर से दिए गए।  झूलेलाल प्रीमियर के सभी खिलाडि़यों एवं समाज जनों द्वारा इस कार्यक्रम को सफल बनाने वाले शंकर ककनानी, किशोर लवाणी, जग्गू पारवानी, हितेश मूलचंदानी, निलेश कोठारी आदि का करतल ध्वनि से हार्दिक अभिनंदन किया गया।


आज निरंकारी सत्संग का आयोजनआज निरंकारी सत्संग का आयोजन

मंदसौर। मानव कल्याण के उद्देश्य को लेकर संत निरंकारी मण्डल मंदसौर के तत्वाधान में सांय 4.30 से 6.30 तक आज 11 जून 2019 मंगलवार को कुमावत धर्मशाला रामटेकरी में विशाल निरंकारी सत्सग का आयोजन रखा गया है। कार्यक्रम की मुख्य अध्यक्षता दाहोद गुजरात के संयोजक महात्मा भूपेन्द्र भाई करेगे। सभी समाजजनों से इस सत्सग में भाग लेने की अपील की है। यह जानकारी मिडिया सहायक शीतलदास कोतक ने दी।


सामाजिक न्याय विभाग 21 प्रकार की दिव्यांगता का प्रचार प्रसार करें – कलेक्टर श्री पुष्प

साप्ताहिक अंतर विभागीय समीक्षा बैठक संपन्न

मन्दसौर। कलेक्टर मनोज पुरुष द्वारा सप्ताहिक अंतर विभागीय समीक्षा बैठक का आयोजन सभी जिलाधिकारियों के साथ कलेक्ट्रेट भवन स्थित सभाकक्ष में ली गई। बैठक के दौरान सामाजिक न्याय विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि दिव्यांगता के जो 21 प्रकार नवीन संशोधन के साथ जारी हुए हैं। उनका व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए। पंचायत एवं नगरी निकाय स्तर पर विशेष कार्यशाला का आयोजन भी किया जाए। लोक कल्याण शिविरों के माध्यम से भी इसका व्यापक प्रचार-प्रसार करें। जिससे सभी प्रकार के दिव्यांग व्यक्ति लाभ उठा सके। बैठक के दौरान सीईओ जिला पंचायत श्री आदित्य सिंह, अपर कलेक्टर श्री अनिल कुमार डामोर सहित सभी जिला अधिकारी मौजूद थे।

अमानक खाद बीज पर प्रभावी कार्यवाही शुरू करें

उपसंचालक कृषि विभाग को निर्देश देते हुए कहा कि अमानक खाद बीज के संबंध में आवश्यक कार्यवाही तत्काल प्रारंभ करें तथा रिपोर्ट कलेक्टर कार्यालय को प्रेषित करें। जिला आपूर्ति अधिकारी एएसओ एवं जिएसओ से रिपोर्ट प्राप्त कर, इस बात का निर्धारण करे की राशन पात्र व्यक्ति को अनिवार्य रूप से मिले, कोई भी पात्र व्यक्ति राशन से वंचित नहीं रहना चाहिए। विभाग की योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार भी करें। पीआईयू विभाग पेंडिंग केस तुरंत पुटअप करें। जिससे आगे की कार्यवाही तुरंत की जा सके। जिला एवं स्वास्थ्य अधिकारी पीसीपीएनडीटी की बैठक तुरंत आयोजित करें। जिला अस्पताल में डिम्फ फ्रीजर जो काफी समय से पढ़े हैं। ये फ्रिजर खराब ना हो जाए, इस बात का विशेष तौर पर ध्यान रखकर इन का सही उपयोग करें। आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत जिन पात्र लोगों को इसका लाभ मिलना चाहिए। उन्हें अनिवार्य रूप से लाभ प्रदान करें। योजनाओं का व्यापक प्रचार हो। राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य मिशन की क्या स्थिति है। इसके बारे में भी जानकारी ली गई। नवीन योजनाओं के संबंध में निर्देश देते हुए कहा कि सभी को लाभ मिले इसका विशेष तौर पर ध्यान रखें। कोई शिकायत किसी दूसरे विभाग को मार्क हो जाने पर उस शिकायत को आगामी साप्ताहिक समीक्षा बैठक से पूर्व संबंधित विभाग को पहुंचा दे। जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि कोषालय के जितने भी प्रकरण हैं उनको तुरंत क्रॉस चेक करके जानकारी भेजें। विधानसभा का सत्र शुरू होने वाला है, इस बात का विशेष तौर पर ध्यान रखें कि पिछले विधानसभा प्रश्नों को निकाल ले। नगर पालिका सीएमओ नगरी क्षेत्रों में पानी सप्लाई होने से पूर्व उसकी जांच अनिवार्य रूप से करवाये, जिन जिन क्षेत्रों में जांच नहीं हो रही है, वहां पर यह व्यवस्था तुरंत शुरू करवाए।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts