Breaking News

मंदसौर छोटी बड़ी ख़बरे : 11 Jun 2019

बिजली की बेहिसाब कटौती के विरोध में श्री राम युवा सेना ने फूंका कमलनाथ सरकार पुतला

मन्दसौर। मध्यप्रदेश में विद्युत मण्डल द्वारा मेंटननेस के नाम पर प्रतिदिन बेहिसाब विद्युत कटौती की जा रही है। जिससे इस भीषण गर्मी में आमजनों का जीना दुश्वार हो गया है। जिसको लेकर श्री राम युवा सेना के प्रदेश अध्यक्ष सरदार कुणाल श्रीवास्तव के नेतृत्व में 11 जून, मंगलवार केा स्थानीय गांधी चौराहा पर प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री कमलनाथ सरकार का पुतला दहन किया गया।

श्री राम युवा सेना के प्रदेश अध्यक्ष सरदार कुणाल श्रीवास्तव ने बताया कि आये दिन विद्युत विभाग द्वारा बिजली कटौती की जा रही है। जिससे लग  रहा है कि कांग्रेस सरकार सत्ता संभाल नहीं पा रही है और पुनः मध्यप्रदेश में लालटेन का युग आ गया है। ग्रामीणजनों को कृषि करने के लिये लाईट उपलब्ध नहीं हो पा रही है जिससे उनकी फसलों को नुकसान हो रहा है। नगर में भी लाईटे नहीं होने से उद्योग एवं दुकानदारों को काफी परेशानी हो रही है। आमजन भी परेशान है। घरों में लाईटे नहीं होने से जीना दुश्वार हो गया हैं। लाईटे आती भी है तो उसमें वाल्टेज कम ज्यादा होने से इलेक्ट्रानिक सामान खराब हो रहे है। शिकायत करने पर बिजली विभाग के कर्मचारी संतोषजनक जवाब नहीं देते है। जिससे लगता है कमलनाथ सरकार पुरी तरह विफल हो गई है। जिसके कारण श्रीराम युवा सेना ने प्रदेश सरकार का पूतला फूंका है।

इस अवसर पर पुलिस द्वारा सरदार कुणाल श्रीवास्तव, सन्नी कपुर, रविराज राठौर को पकड़कर ले जाया गया।

इस अवसर पर श्री राम युवा सेना के राजेश माली, रघुनंदन उपाध्याय, बलवंतसिंह शक्तावत, ललित माली, गोविन्दसिंह, अम्बाराम कुमावत, ऋषिराज पंवार, पीरूसिंह, दीपक पायक, अर्पित जैन, जीतु पाटीदार, संदीप कुमावत, देवीलाल कुमावत, शानु बन्ना, सुनिल माली, लोकेश गायरी, संजय खराड़ी आदि उपस्थित थे।


महेश जयंति पर्व पर निकली शोभायात्रा

मन्दसौर। मंगलवार को माहेश्वरी समाज के वंशोत्पत्ति दिवस महेश जयंति का पर्व धूमधाम से मनाया गया। मंगलवार को मंदसौर में महेश जयंति पर्व पर निकली शोभायात्रा आकर्षण का केन्द्र थी। गाजे बाजे के साथ निकली शोभायात्रा में माहेश्वरी समाज के सदस्यों ने शामिल होकर जमकर जय महेश के जयकारे लगाये। माहेश्वरी युवा संगठन के प्रचार मंत्री सोनू गुप्ता ने बताया कि पुरूष सफेद कुर्ते पजामे और महिलाएं केसरिया परिधान में शामिल हुए और गरबा नृत्य प्रस्तुत किये। जगह-जगह विभिन्न सामाजिक संगठनों ने पुष्पवर्षा के साथ शेाभायात्रा और समाजजनों की जोरदार अगवानी भी की गई। भगवान की पूजा अर्चना कर समाजजनों को महेश नवमी पर्व की बधाई भी दी। इस दौरान समाजजनों के लिये ठण्डाई की व्यवस्था भी गई। इसके बाद शाम को शेष बची हुई प्रतियोगिता पार्सल पास सम्पन्न हुई।

इस अवसर पर अध्यक्ष मदनलाल कालानी एवं माहेश्वरी युवा संगठन अध्यक्ष पवन माहेश्वरी, सचिव राकेश मंत्री, कोषाध्यक्ष अजय लढ्ढा, उपाध्यक्ष सचिन सोमानी, कमल सोडानी, अनुप बाल्दी, सहसचिव प्रत्यक्ष मालू, विनय मुंदड़ा, प्रचार मंत्री सोनू गुप्ता,संरक्षक, परामर्शदाता एवं कार्यकारिणी सदस्य उपस्थित थे।

माहेश्वरी बंधन ने की शोभायात्रा की आगवानी

माहेश्वरी समाज के वंशोत्पत्ति दिवस महेश जयंति का पर्व धूमधाम से मनाया गया। इस दौरान समाज के ही माहेश्वरी बंधन ग्रुप ने सक्रिय सहभागिता दर्ज कर भगवान श्री महेश की शोभायात्रा का जोरदार स्वागत सत्कार किया। साथ ही जमकर थिरके और जयकारे भी लगाये।
मंगलवार को मंदसौर में महेश जयंति पर्व पर निकली शोभायात्रा आकर्षण का केन्द्र थी। गाजे बाजे के साथ निकली शोभायात्रा में समाज के ही कपल ग्रुप माहेश्वरी बंधन के सदस्यों ने भी शामिल होकर जमकर जय महेश के जयकारे लगाये। इस दौरान सफेद कुर्ते पजामे और केसरिया परिधान में शामिल हुए युगलों ने गरबा नृत्य प्रस्तुत किये। आजाद चौक पर माहेश्वरी बंधन ग्रुप की ओर से पुष्पवर्षा के साथ शेाभायात्रा और समाजजनों की जोरदार अगवानी भी की गई।


सुवासरा नगर पंचायत के सफाई कर्मचारियों की मांगों के संबंध में सीएमओ से चर्चा की

मुख्यमंत्री एवं नगरीय प्रशासन मंत्री को भी कराया अवगत

मन्दसौर। सुवासरा नगर पंचायत में सफाई कर्मचारियों द्वारा अपनी मांगों को लेकर आंदोलनतरत है। जिसको लेकर वहां के कर्मचारियों ने हड़ताल भी रखी। जिसकी जानकारी मिलने पर अखिल भारतीय सफाई मजदूर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष पटेल मुकेश चनाल ने सुवासरा पहंुचकर हड़ताल कर रहे सफाई कर्मचारियों से उनकी समस्या जानी तथा उनके समाधान को लेकर नगर पंचायत सुवासरा के सीएमओ से चर्चा की। चर्चा में सीएमओ ने समस्याओं के समाधान का आश्वासन दिया। जिस पर सफाई कर्मचारियो ने हड़ताल समाप्त की।

अखिल भारतीय सफाई मजदूर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष पटेल मुकेश चनाल ने बताया कि नगर पंचायत सुवासरा के सफाई कर्मचारियों ने नियमित करने सहित पूर्व में 2009 में जो पंचायत में नगर परिषद् में 10 कर्मचारी में 6 कर्मचारी आफीस व 4 सफाई कर्मचारी का नियमितीकरण ग्राम पंचायत में किया गया।

साथ ही मुकेश चनाल ने नगर परिषद् सुवासरा से सूचना के अधिकार के तहत वर्ष 2017 में 27 सफाई कर्मचारियों की सूची मांगी गई। जिस पर उन्होनंे 7 तारीख तक जानकारी देने की बात कही।

श्री चनाल ने बताया कि वे सफाई कर्मचारियों की मांगों के निराकरण को लेकर निरंतर प्रयासरत है तथा इस संबंध में उन्होनंे मुख्यमंत्री, नगरीय प्रशासन मंत्री को पत्र भी लिखा है। तथा उनसे निरंतर सम्पर्क में है। जल्द ही सफाई कर्मचारियों की मांगों के संबंध में सकारात्मक परिणाम दिखाई देंगे।


भारत पेंशनर समाज एवं पेंशनर एसो. ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

मन्दसौर। भारत पेंशनर समाज एवं पेंशनर एसोसिऐशन शाखा के पदाधिकारी अध्यक्ष गोपालकृष्ण शर्मा, धर्मवीर गुप्ता, ठा. अर्जुनसिंह राठौर, ऋषभकुमार कोठारी एवं प्रांतीय सचिव डॉ. सी.के. विश्नोई द्वारा नवागत कलेक्टर मनोज पुष्प का गुलदस्ता भेंटकर एवं मालाएं पहनाकर स्वागत किया गया एवं जिले में पंेशन फोरम की बैठक आयोजित करने एवं जिला स्तर पर आयोजित होने वाला पेंशन सम्मान समारेाह पुनः चालु करने हेतु ज्ञापन प्रस्तुत किया तथा न्यायालयीन निर्णयों के बावजूद जिला शिक्षा अधिकारी मंदसौर द्वारा जिले के सेवानिवृत्त शिक्षकों के प्रकरणों में आदेश जारी नहीं किये जा रहे जबकि अन्य जिलों में यह जारी हो चुके है। महेश नागर ए.डी.ई.ओ. भानपुरा ने स्वेच्छिक सेवानिवृत्ति लेने के पश्चात् भी लगभग दो वर्ष कर समय व्यतीत होने जा रहा है का निराकरण मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत भानपुरा द्वारा नहीं किया जा रहा है जिसके कारण जब नागर की पारिवारिक स्थिति दयनीय हो गई है। इस पर नवागत कलेक्टर महोदय द्वारा समस्याओं का निराकरण किये जाने हेतु संगठन को आश्वस्त किया।


वरिष्ठता को सक्रियता की हद तक ले जाए-सांसद सुधीर गुप्ता

मन्दसौर। सेवानिवृत्त एवं पेंशनर नागरिक महासंघ जिला मंदसौर के वरिष्ठ नागरिक महासंघ अध्यक्ष श्रवण कुमार त्रिपाठी, डे केअर सेंटर व्यवस्थापक प्रमोद अरवन्देकर एवं जिला कार्यकारिणी सदस्य रमेशचन्द्र चन्द्रे के नेतृत्व में लोकसभा चुनाव 2019 में पुनः निर्वाचित हुए सांसद सुधीर गुप्ता का स्वागत करने हाथों में मालाएं लिये सांसद के निवास स्थान पर पहुंचे। मोहनलाल गुप्ता, जगदीश न्याती, प्रमोद अरवन्देकर, रमेशचन्द्र चन्द्रे, वरिष्ठ पत्रकार डॉ. घनश्याम बटवाल, अशोकसिंह शक्तावत से  माला पहनने के बजाय उन्हीं को माला पहनाकर वरिष्ठजनों का सम्मान करते हुए कहा कि भारतीय संस्कृति में वरिष्ठ एवं बुजुर्गों से आशीर्वाद लेने की परम्परा है। आज मैं भी 60 वर्ष की उम्र पाकर वरिष्ठ नागरिक की जद में आ गया हूँ और आप सभी मुझसे उम्र में बड़े एवं वरिष्ठ है। इसलिये आशीर्वाद दे, लेकिन बदले हुए स्वरूप में, सबसे पहले सेवानिवृत्त अपने आपको सेवा से निवृत्त नहीं माने। उम्र के इस मुकाम तक जो भी अनुभव या कार्य आपने अर्जित किया उसे समाज एवं देश में सेवा के रूप में बांटे और यह सेवा भी प्रतीक के रूप में नहीं सक्रिय रूप में करे। प्रत्येक वरिष्ठ यह तय करे कि रिटायर्ड के रूप में घर में बच्चों, बहुओं के कामों में दखल देकर जनरेशन गेप को बढ़ाए या शिक्षा स्वास्थ्य और स्वच्छता के कार्यों में सक्रियता से भागीदारी करे। वह तय करे कि प्रतिमाह किस रूप में सेवा से जुड़कर सक्रिय रह सकते है। सक्रियता में उम्र को बाधक नहीं माने।इस अवसर पर संगठन सचिव मोहनलाल गुप्ता ने सुधीर  गुप्ता को संगठन का सदस्य बनाया। सांसद श्री गुप्ता सहित सभी सदस्यों का समय देने के लिये जिला सचिव नन्दकिशोर राठौर ने आभार माना।


त्याग की पराकाष्ठा का ग्रंथ है रामायण- भीमाशंकर शास्त्री

तेज गर्मी के बावजूद बड़ी तादाद में कथा में उमड़ रहे है श्रद्धालु

मन्दसौर। लगभग 300 से अधिक वर्ष प्राचीन जंगल में स्थित श्री कांकरवा बालाजी में 21वां पंचकुण्डीय मारूती महायज्ञ के उपलक्ष्य में आयोजित संगीतमय भागवत कथा में राम जन्मकथा प्रसंग में कथा व्यास परम गौभक्त पं. भीमाशंकर शास्त्री (धारियाखेड़ी) ने कहा कि रामायण एक ऐसा ग्रंथ है जहां त्याग की पराकाष्ठा तो है ही त्याग की परस्पर ऐसी स्पर्धा कहीं देखने को नहीं मिलेगी। कैकेयी ने 14 वर्ष का वनवास केवल राम को और  राज्य अपने पुत्र के लिये दशरथ से वरदान में मांगा था, परन्तु सीता ने पत्नि धर्म का हवाला देकर राम के साथ वनवास जाने की जहां जिद्द पर उतारू हो गई वहीं लघु भ्राता लक्ष्मण भी हठकर बडे़ भाई की सेवा में रहने, सीता-राम के साथ वनवास को चले गये। इन तीनों के त्याग से बढ़कर भरत का त्याग जो राज्य का उत्तराधिकारी घोषित होने के बाजवूद 14 वर्ष तक राज्य सिंहासन पर न बैठकर राम की तरह वनवासी बनकर कुटिया बनाकर अयोध्या से बाहर नन्दी ग्राम में रहे। सबसे छोटा भाई शत्रुघ्न का त्याग भरत से अधिक रहा जो भरत की कुटीया के बाहर टीले पर बैठकर भरत की आज्ञा का अनुसरण करने को तत्पर रहते थेे। सबसे बड़ा त्याग भरत, लक्ष्मण, शत्रुघ्न की उन धर्मपत्नि देवियों का है जिन्होनंे राजमहल में  रहते हुए आश्रम की सन्यासियों की तरह 14 साल तक तपस्या मय जीवन बिताया।

श्री शास्त्री ने दहेज को घोर अभिशाप और कलंक बताते हुए युवाओं को इससे दूर रहने की अपेक्षा की। विवाह भी शास्त्रानुसार वैदिक विधी विधान से ही होना चाहिए। अमृत मंथन में अमृत और मदिरा दोनों निकले परन्तु देवताओं ने अमृत स्वीकार किया जबकि देत्यों ने मदिरा को। इसलिये जो मदिरा पान करते है उन्हें मदिरा त्याग कर अपने को देवताओं के श्रेणी में सम्मिलित कर लेना चाहिए।

प्रहलाद ने राक्षस कुल में जन्म लेने के बाजवूद गर्भावस्था में मॉ कदायू का नारद मुनि के आश्रम मंे रहने से प्रहलाद में भक्ति के संस्कार गर्भावस्था में ही जम गये थे जो पैदा होते ही उजागर हो गये थे इसलिये हमारे कमरों में हमेशा भगवान के, राष्ट्रवीरों-महापुरूषों के ही चित्र लगाना चाहिए। अजामिल यद्यपी दुराचारी पापी था परन्तु सन्तों के द्वारा उसके पुत्र का नाम नारायण रखने से अन्त समय में यमदूतों को सामने देखकर घबराहट में पुत्र नारायण का नाम उच्चारण होने से यमदूतों द्वारा उसे नरक में न जाते भगवान के देवदूत उसे स्वर्ग में ले गये। नाम के लिये व्यक्ति किसी धर्मादे अथवा भण्डारे में 500 रू. का दान करते है परन्तु अपने नाम का प्रचार प्रसार मंच पर माईक से करवाने और अखबारों में छपवाने में पीछे नहीं रहते। वै धन्य है जो बिना प्रचार प्रसार के हजारों लाखों रूपये का गुप्त दान करते है। कथा में कृष्ण जन्मोत्सव बडे धूमधाम से मनाया गया। सजीव झांकी में वसुदेव बने पात्र ने पालने में बैठकर कृष्ण बने नन्हें वाला शिशु को मंच पर व्यास मंच पर भक्ति नृत्य करते हुए लाये।

इस अवसर पर  ब्रह्मानंद पाटीदार, एड. विनयसिंह श्रीमाल, बालूसिंह सिसौदिया, दलपतसिंह, अम्बालाल पाटीदार, श्याम सेठ, नारायणसिंह, पत्रकार शैलेन्द्रसिंह, विनर क्लब मंदसौर संस्थापक अध्यक्ष ब्रजेशसेन मारोठिया, संदीप मण्डोवरा, गायत्री परिवार आदि उपस्थित थे। पू. यज्ञाचार्य पं. कमलाशंकर शर्मा के नेतृत्व में प्रतिदिन प्रातः 8 से 11 बजे तक 5 कुण्डीय मारूति महायज्ञ हो रहा है जिसकी पूर्णाहूति 12 जून को होकर प्रसादी भण्डारा होगा।


जनसुनवाईं में आज 133 आवेदकों की हुई सुनवाई

मन्दसौर। मंगलवार को जिला कलेक्ट्रेट (सुशासन भवन) में साप्ताहिक जनुसनवाई कार्यक्रम आयोजित किया गया। जनसुनवाई कार्यक्रम में जिले भर से आए 133 आवेदकों ने अपनी समस्याध्शिकायतध्मांगध् आर्थिक सहायता संबंधी आवेदन दिये। जनसुनवाई में वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों ने सभी आवेदकों से आवेदन पत्र प्राप्त कर उन पर समुचित कार्यवाही के लिये विभाग प्रमुखों की ओर प्रेषित किया। जनसुनवाई में बीपीएल सूची में नाम जुडवाने, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत आवास मंजूर करने, निजी भूमि पर अवैध अतिक्रमण, भूमि विवाद, बीमारी सहायता, आपसी विवाद, शिक्षा ऋण दिलाने, सामुदायिक सुविधा घर (कम्युनिटी टायलेट) बनवाने आदि विषयों के आवेदन प्राप्त हुये। जिनके निवारण हेतु संबंधित विभागाधिकारियों को निर्देश दिये। जनसुनवाई के दौरान कलेक्टर श्री मनोज पुष्पर, सीईओ जिला पंचायत श्री आदित्या सिंह एवं अपर कलेक्टार श्री अनिल डामोर मौजूद थे।


अतिवृष्टि एवं बाढ  से निपटने के संबंध में बैठक आज

मन्दसौर। अतिवृष्टि एवं बाढ से निपटने के लिए जिला स्तूर पर बाढ एवं अतिवृष्टि की स्थिति में संबंधित विभागों द्वारा पूर्व तैयारियां एवं बचाव व उपाय के संबंध में 12 जून सुबह 11 बजे सुशासन भवन स्थित सभाकक्ष में आयोजित की गयी है।


छात्राओं को महाविद्यालयीन प्रवेश पंजीयन में सभी चरणों में पोर्टल निशुल्क

मन्दसौर। राज्य शासन ने प्रदेश के शासकीय एवं अशासकीय महाविद्यालयों में इस शैक्षणिक सत्र में स्नातक तथा स्नातकोत्तर कक्षाओं में छात्राओं को ऑनलाइन प्रवेश पंजीयन के लिये सभी चरणों में पोर्टल शुल्क से पूर्णतरू छूट दी है। छात्राओं को महाविद्यालयों में प्रवेश संबंधी ऑनलाइन पंजीयन केलिये पोर्टल निरूशुल्क उपलब्ध रहेगा। छात्रों के लिये यह शुल्क 50 रुपये प्रति छात्र यथावत रहेगा। छात्राओं के संपूर्ण पोर्टल शुल्क एवं छात्रों के अतिरिक्त पोर्टल शुल्क की एम.पी. ऑनलाइन को प्रतिपूर्ति राज्य शासन द्वारा की जाएगी।


भीषण बिजली संकट के विरोध में भाजपा की चिमनी यात्रा आज

मन्दसौर। प्रदेश में कमलनाथ सरकार की नाकामी के कारण भीषण बिजली का संकट उत्पन्न हो गया है, आम नागरिक हैरान-परेशान है। भारतीय जनता पार्टी जिलाध्यक्ष  राजेन्द्र सुराणा ने बताया कि मध्यप्रदेश में भाजपा सरकार के समय पर्याप्त बिजली थी नियमित रुप से प्रदेश के प्रत्येक नागरिक को आपूर्ति की जा रही है। आज मध्यप्रदेश में बिजली को लेकर हालात बेहद दुर्भाग्य पूर्ण है। जहॉ सरकार पानी और बिजली जैसी समस्याओं पर भी अपनी जिम्मेदारिया निभाने के बजाये अधिकारियों को कोसती है तो कभी बिजली उपकरणो की गुणवत्ता पर प्रश्न खडे करती है। इसी बिजली संकट को लेकर के भाजपा प्रदेश नेतृत्व के निर्देशानुसार जिला मुख्यालय पर भारतीय जनता पार्टी आम नागरिकों के साथ चिमनी यात्रा निकालेगी। भाजपा जिला मीडिया प्रभारी राजेश नामदेव ने बताया कि 12 जून 2019 बुधवार को साय 07 बजे चिमनी यात्रा भाजपा कार्यालय से प्रारम्भ होकर बस स्टेण्ड, निलम होटल, कालाखेत, उत्तम टेलर से जाटो का मंदिर, शुक्ला चौक, गणपति चौक जनकुपूरा, बडा चौक, धानमण्डी, सदर बाजार से घण्टाघर होती हुई भाजपा जिला कार्यालय पर समापन होगा। भाजपा जिलाध्यक्ष राजेन्द्र सुराणा, जिला महामंत्री अजयसिंह चौहान, महेन्द्र चौरडिया, नरेश चंदवानी, नरेन्द्र पाटीदार ने भाजपा के समस्त कार्यकर्ताओं व आम नागरिको से निवेदन किया है कि अधिक से अधिक संख्या में चिमनी यात्रा में सम्मिलित होकर सोई सरकार को जगाने में भागीदार बने।


पेय जल संकट को लेकर गरोठ विधायक धाकड़ ने राजस्थान मुख्यमंत्री एवं प्रभारी मंत्री को पत्र लिखकर समस्या से अवगत करवाया

मन्दसौर। गरोठ विधायक देवीलाल धाकड़ ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गेहलोद को पत्र के माध्यम से अवगत करवाया कि मध्यप्रदेश के पॉच ग्राम कालाकोट, संधारा, लेदी, बोरदा व भैसोदा में भवानीमण्डी पेयजल योजना के माध्यम से पानी सप्लाय होता था। इस योजना के क्रियावयन हेतु एक करार हुआ था कि इन पॉच गॉवो में एक-एक पाईट देना होगा और उस करार अनुसार पानी सप्लाय होता रहा है विगत चार-पॉच माह से पर्याप्त मात्रा में पानी सप्लाय न होने के कारण इन गॉवो में पिने के पानी का संकट उत्पन्न होने लगा है। विधायक देवीलाल धाकड़ ने पत्र के माध्यम से निवेदन किया है कि राजस्थान सीमा में उण्डवा ग्राम से इस पाईप लाईन में पर्याप्त पानी छोडे ताकि इन पॉच ग्रामो की जनता को इस भीषण गर्मी में पानी समस्या से निजात मिल सकें। वहीं विधायक श्री धाकड़ ने लेदी तालाब कि दिवार को मरमत किये जाने की मॉग को लेकर पत्र के माध्यम से मॉग की है कि भानपुरा तहसील के गॉव लेदी में सिचाई विभाग द्वारा निर्मित तालाब है जिसमें प्रतिवर्ष ग्राम लेदी, औसरना, मोखमपुरा, औसारा सहित कई ग्रामो की लगभग 2000 हेक्टर भूमि सिंचित होती है। गत वर्ष तालाब में पानी ज्यादा मात्रा में एकत्रित होने पर दिवाल फुट गई थी जिससे तालाब का पूरा पानी बह गया था। जिसके कारण कृषको को पर्याप्त मात्रा में पानी उपलब्ध नही हुआ। इस तालाब की मरमत नही कि गई तो क्षेत्र के किसानो को भारी नुकसान उठाना पडेगा व वर्षा प्रारम्भ होने के बाद इसकी मरमत असंभव होगी।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts