Breaking News

मंदसौर छोटी बड़ी ख़बरे : 17 July 2019

बच्चे की पानी में डूबने से मौत

मंदसौर। महू नीमच रोड़ स्थित एलआईसी ऑफिस के सामने पानी के गढ्ढे में डूबने से एक बच्चे की मृत्यु हो गई। वायडीनगर पुलिस के अनुसार बुधवार को मदनलाल पिता बापुनाथ 15 वर्ष निवासी आलोट हाल मुकाम बीमा ऑफिस के सामने नाहने के लिए गढ्ढे में भरे पानी में गया था कि उसकी डूबने से मृत्यु हो गई। पुलिस ने बच्चे का पीएम करवाकर शव परिजनों को  सौंप दिया।


मनुष्य अपने जीवन की महत्ता समझे, जीवन को सार्थक बनाने का प्रसाय करे- सुप्रसन्नाश्रीजी

मंदसौर। मनुष्य को मानव जीवन का क्या महत्व है इसका ज्ञान होना बहुत जरूरी है जैन शास्त्रो का मत है कि मनुष्य भव देवों के भव से महान है जो काम स्वर्ग के देवता नही कर सकते यह कार्य मानव कर सकता है। प्रभु महावीर ने मनुष्य को देवताओं से भी महान कहा है हम जब तक अपने जीवन की महत्ता अर्थात वेल्यु नही समझेगे तब तक मनुष्य जीवन को सार्थक नही कर पायेगे।

उक्त उद्गार परम पुण्य साध्वी श्री अनंतगुणाश्रीजी मसा की पावन निश्रा में आयोजित धर्मसभा में साध्वी श्री सुप्रसन्नाश्रीजी मसा ने कहे। आपने बुधवार को चौधरी कॉलोनी स्थित रूपचॉद आराधना भवन में आयोजित धर्मसभा में कहा कि देवता स्वर्गलोक का सुख भोग सकते है लेकिन मोक्ष में नही जा सकते है देवता मन में जो कामनाये करते है वे शीध्र ही पूर्ण हो जाती है लेकिन वे मनुष्य से महान नही है। मनुष्य धर्म आराधना तप तपस्या कर जीवन को मोक्ष मार्ग और प्रवृत्त कर सकता है लेकिन देवता सवर्ग का सुख भोगते हुये तप तपस्या नही कर सकते इसी कारण वे जन्म मरण में ही उलझे रहते है। जैन शास्त्रो का मत है कि मनुष्य भव देवताओं से भी महान है।

साध्वी श्री सुप्रसन्नाश्रीजी मसा ने कहा कि भगवान महावीर ने मनुष्य जीवन की जो महत्ता बतायी यदि हम उसे समझे और जीवन को भोग विलस परिवार में उलझाने की बजाय आत्मकल्याण के मार्ग पर अग्रसर करे तो मनुष्य जीवन को देवताओं से भी महान बनाया जा सकता है। आपने कहा कि भगवान महावीर ने उत्तरध्यन सुत्र में जीवन में विनय का क्या महत्व है इसकी पुरी बात कही है जीवन में यदि हमे ज्ञान नही है तो विनय नही आ सकता है जवीन में आज्ञानता ही सबसे बडा शत्रु है। ज्ञानी व्यक्ति कर्मो से तोड आत्मक्लयाण का मार्ग अपना सकता है। आपने कहा कि जिन शासन ज्ञान की महत्ता को समझने में सक्षम है प्रभु महावीर ने ज्ञान की महत्ता बतायी है।
21 को भण्डारी परिवार की ओर से शिविर- दिनांक 21 जुलाई रविवार को साध्वी  श्री आत्मप्रसन्नाश्रीजी मसा के जन्म दिवस के उलपक्ष्य में उनके सांसरिक परिवार रणजीतसिंह, विरेन्द्र कुमार, अप्रेश कुामर, मोक्ष एवं क्रिया भण्डारी ने बाल संस्कार शिविर के लाभार्थी होने का लाभ लिया है यह शिविर  रविवार को प्रात 8.45 से 11 बजे तक रूपचॉद आराधना भवन में लगेगा। इस शिविर में 8 से 20 वर्ष तक की आयु के बच्चे व किशोर युवक युवति भागीदारी करेगे।


जैन दिवाकर स्वाध्याय भवन में प्रतिदिन हो रहे है प्रवचन, सैकडो धर्मालुजन ले रहे धर्मलाभ

मंदसौर। जैन दिवाकर स्वाध्याय भवन शास्त्री कॉलोनी में उपध्याय श्री मनोहरमुनिजी मसा व साध्वी श्री कुसुमलताजी मसा की शिष्या साध्वी डॉ सुभाषाश्री मसा व साध्वी श्री आंकाशाजी मसा चातुर्मास हेतु विराजित है। दोनो साध्वीजी की पावन निश्रा में प्रतिदिन प्रात 9 से 10 बजे तक तक प्रवचन हो रहे है। इन प्रवचनों को श्रवण करने के लिये पुरे मंदसौर नगर से स्थानकवासी जैन समाज के साथ ही नगर के गणमान्य नागरिकगण भी पधारे रहे है। साध्वी डॉ सुभाषाजी मसा की पावन प्रेरणा व निश्रा में प्रतिदिन प्रात 6 से 7 बजे तक भक्ताबर प्रार्थना व ध्यान क्रिया भी हो रही है।

बुधवार को डॉ सुभाषाजी मा की पावन निश्रा में आयोजित धर्मसभा में साध्वी श्री आकाशांजी मसा ने कहा कि जीवन में किसी भी  अंहकार का अवगुण नही होना चाहिए। यदि जीवन में किसी के अहंकार धमण्ड आ जाता है तो व्यक्ति का यश कम हो जाता है आपने कहा कि जब राम ने हनुमान को सीता को देने के लिये अंगुठी दी थी ताकि वह अंगुठी को देख कर रामदूत को पहचान सके। हनुमान के पास जैसे ही वह अगंुठी आयी हनुमान के मन में भी अहंकार आ गया। हनुमान के मन में आया कि वह कितना महत्वपूर्ण व्यक्ति है जिसे राम ने यह जिम्मेदारी सौपी है मै जो कार्य करने जा रहा हूॅ यह कार्य ऐसा है जो कोई नही कर सकता । हनुमान को मार्ग में जब प्यास लगी तो वे एक पर्वत पर ़ऋषि के आश्रम में रूके और उन्हे सरोवर से पानी पीने तक यह  अंगुठी संभालने के लिये दी। ऋषि ने यह अगुठी कमण्डल में डाल दी जब हनुमान आये तो ऋषि ने कमण्डल आगे कर दिया हनुमान ने देखा की कमण्डल में एक नही कई अगुठीया है तब ऋषि ने उन्हे बताया कि आप जैसे और भी भक्त हे अपनी भक्ति पर अंहकार करना ठीक नही है तब हनुमान को अपनी भुल का अहसास हुआ।


भविष्य के लिए चिंता वर्तमान का आनंद नहीं लेने देती-आरती जैन

‘‘वर्तमान में खुश रहो’’ विषय पर सेमिनार का आयोजन

मन्दसौर। बड़े साथ ओसवाल महिला मंडल उपाध्यक्ष हेमा हिंगड़ ने बताया कि मंडल द्वारा  ‘‘वर्तमान में खुश रहो’’ विषय पर सेमिनार का आयोजन किया गया। जिसमें शिक्षाविद् श्रीमती आरती जैन  ने प्रभावी स्पीच देकर सदस्यों को सदैव खुश रहने की प्रेरणा दी।

श्रीमती जैन ने कहा कि वर्तमान में जीओ और खुश रहो, वर्तमान ही सत्य और असल है। भविष्य के लिए चिंता आपको अपने वर्तमान क्षण का आनंद लेने नहीं देगा। आपने कहा कि नारी सबका ध्यान रखती है लेकिन नारी का ध्यान रखने वाला कौन? महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा आप सबके लिए जीते हैं आप अपने लिए भी वक्त निकालिए और अपने लिए भी जिए। वर्तमान में जीना सीखें खुश रहना सीखें ।

इस दौरान शशि मारू, प्रमिला लोढ़ा व निधि संघवी द्वारा तंबोला खिलाया। महिला मण्डल ने सेल्फी झोन बनाया जिसका सब ने लुत्फ उठाया। इस अवसर पर राष्ट्रीय व मध्यप्रदेश स्तर के पदाधिकारियों का सम्मान किया गया। आशा श्रीमाल द्वारा जीरावाला पार्श्वनाथ यात्रा संघ के पदाधिकारियों का बहुमान किया। विनीता सिंघवी द्वारा धार्मिक पाठशाला का प्रथम पुरस्कार इंदु चौधरी को दिया गया।


दलित, पीडि़तों पर अत्याचार के विरोध में आज सीतामऊ में अनशन-जंगीबाबू तंवर

मन्दसौर। पूज्य महात्मा गांधी ग्राम विकास एवं दलित विकास समिति के द्वारा 18 जुलाई, गुरूवार को दोप. 12 बजे सीतामऊ के तहसील परिसर में सत्याग्रह आंदोलन एवं अनशन किया जाएगा।

उक्त जानकारी देते हुए  हरिजन सेवक संघ के अध्यक्ष जंगीबाबू तवर ने बताया कि प्रशासन के बहरे कानों में पीडि़तों, वंचितों के प्रकरणों की व्यथा, कथा पहुंचाकर निराकरण हेतु आज गांधीवादी तरीके से आंदोलन किया जाएगा। जिसमें सीतामऊ तहसील के दलित एवं गरीब वर्ग के परिश्रमजीवी लोग यत्र तत्र निहित स्वार्थियों द्वारा बुरी तरह सताये जा रहे है। प्रशासन के द्वार पर अर्जिता द्वारा दस्तक देने पर भी पीडि़तों की सुनवाई नहीं होती। गांव-गांव में कंस और रावण पंथी चन्द अत्याचारी और स्वार्थी व्यक्ति सत्ता से जुड़े लोगों के साथ साँठ-गाँठ कर मतलब साधने से बाज नहीं आ रहे है और उनके काले कारनामों की फेहरिश्त दिनों दिन बढ़ती जा रही है। हरिजन सेवक संघ के कार्यालय में ऐसे अनेक दीन दुःखी दलित, धनगर, मुसलमान और अनाचार पीडि़तों की व्यथा कथाएं अर्जियों के रूप में विद्यमान हैं जिन के निराकरण हेतु यथा समय संबंधित अधिकारियों और कार्यालयों से सम्पर्क साधकर अनुनय विनय की गई। इस संकल्प की पूर्ति हेतु सभी समस्या ग्रस्त दलित धनगर आज सत्याग्रह अनशन सीतामऊ तहसीलदार परिसर पर गांधीवादी शांतिपूर्वक आंदोलन करेंगे। सभी अवश्य उपस्थित होवे।


एडिफाय में नवनियुक्त छात्रसंघ का हुआ अलंकरण समारोह, छात्रों को दिलाई कर्तव्य निर्वाहन की शपथ

मन्दसौर। शिक्षा के साथ ही अत्यंत आवश्यक है कि बच्चे जीवन की हर कला में पारंगत हो। इन्हीं विविध कलाओं में से एक नेतृत्व क्षमता में बच्चों को पारंगत बनाने के लिए शहर की प्रख्यात शैक्षणित संस्था एडिफाय स्कूल में विद्यार्थियों का नेतृत्व क्षमता के गुर से परिचय करवाया गया। दरअसल विद्यालय में हैड बॉय, हैड गर्ल सहित तमाम छात्र संघ का मनोनयन किया गया। इसी में मनोनीत तमाम छात्र-छात्राओं का एक भव्य अलंकरण समारोह विद्यालय परिसर में आयोजित किया गया। इस दौरान छात्रसंघ को कर्तव्य परायणता की शपथ भी दिलाई गई।

बतौर मुख्य अतिथि समारोह को संबांधित करते हुए जिले के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनकामना प्रसाद ने कहा कि अभी तो सफर की शुरूआत है अभी मंजिल कहां ? संघर्ष जीवन को मांझता है, तराशता है, जिससे जीवन में निखार आता है। अतएव विकट परिस्थितियों से कभी घबराना नहीं चाहिए बल्कि साहस के साथ सामना करना चाहिए। मुझे स्वयं को अपने छात्र जीवन में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने के उपरांत भी अपने लक्ष्य को हांसिल करने के लिए संघर्ष करना पड़ा तब मंजिल मिली। स्वागत संस्कार की परंपरा को स्कूल प्राचार्य डॉ. हितेन्द्र सिंह चुण्डावत द्वारा पूर्ण किया गया। स्कूल प्रबंधन समिति के चेयरमेन विजय सुराना, सचिव मयूर सुराना एवं डायरेक्टर आदित्य सुराना का स्वागत स्कूल परिवार द्वारा किया गया। चेयरमेन विजय सुराना ने अपने उद्बोधन में कहा कि आने वाला समय छात्रों के लिए बहुत चुनौती पूर्ण होगा उसके लिए अभी से छात्रों को तैयार होना पड़ेगा तभी वे लक्ष्य को हांसिल कर पाएंगे। स्कूल द्वारा छात्रों को यह जिम्मेदारी इसलिए दी जाती है कि स्कूल परिवार व समाज के प्रति वे कर्त्तव्य निभा सके।

परिषद के नव निर्वाचित हेड बाय भव्य संघवी एवं हेड गर्ल दीया नैनवानी तथा विभिन्न सदनों के कप्तानों को सेशे व ध्वज द्वारा सम्मानित किया गया तथा उन्हें स्कूल के मान सम्मान अनुशासन व गौरव को कायम रखने का सन्देश दिया गया। समारोह के दौरान एक खास बात यह भी रही कि एएसपी श्री प्रसाद ने कक्षा 10वीं, 12वीं के विद्यार्थियों सहित तमाम स्पोर्ट्स टीम को फिजिकल लेक्चर भी दिया, जिसमें उनने बच्चों को बताया कि खेल, व्यायाम तथा फिजिकल एजुकेशन जीवन में बहुत ही आवश्यक है। छात्र संघ के सभी पदाधिकारी व सदस्य बच्चों के अभिभावकों को उनकी पोस्ट के साथ सम्मानित किया गया।


जर्जर सड़क को लेकर क्षेत्रवासी उतरे सड़कों पर धरना प्रदर्शन कर दिया ज्ञापन

मंदसौर। वार्ड नं. 37 का मुख्य मार्ग जो कि हीरा की बगीची से अम्बा रिसोर्ट, सत्यम विहार एवं श्री जी पार्क को जोड़ने वाले मुख्य मार्ग की खस्ता हालत को लेकर 17 जुलाई, बुधवार को क्षेत्रवासियों का सब्र का बांध टूट गया और करीब 1 घण्टे तक बड़ी संख्या में महिलाओं, पुरूषों एवं युवाओं ने सड़क पर धरना देकर आंदोलन किया और नगरपालिका प्रशासन को चेतावनी दी कि यदि 15 दिवस में क्षेत्र की इस मुख्य सड़क को नहीं सुधारा गया तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। साथ ही इस क्षेत्र पर बढ़ते हुए यातायात के दबाव को देखते हुए एक नवीन वैकल्पिक मार्ग राजेन्द्र रिसोर्ट के समीप से जांगीड़ मोटर्स होता हुआ नयापुरा रोड़ पर खोले जाने की भी मांग की गई। एक घण्टे तक चले धरना प्रदर्शन आंदोलन में क्षेत्रवासियों ने क्षेत्रिय पार्षद एवं नगरपालिका के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए अपनी विभिन्न मांगों के संबंध में एक ज्ञापन प्रभारी मुख्य नपाधिकारी के.जी. उपाध्याय सौंपा। इस अवसर पर नपा उपयंत्री जी.एल. गुप्ता सहित नपा के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

सौंपे गये ज्ञापन में उल्लेख किया कि वार्ड क्रमांक 37 का मुख्य मार्ग जो कि हीरा की बगीची से सीधे अम्बा रिसोर्ट से सत्यम विहार ,श्रीजी पार्क होता हुआ, नरसिंहपुरा, जीवागंज, मदारपुरा,रामटेकरी ,हनुमान नगर ,भागवत नगर,सिद्ध चक्र विहार,श्याम नगर ,राजेन्द्र रिसोर्ट,नाकोड़ा नगर,जमींदार कालोनी सहित अनेक कालोनियों ओर क्षेत्रो को जोड़ने वाला प्रमुख मार्ग हो गया है।

यातायात के दबाव को कम करने के लिये इस क्षेत्र से एक वैकल्पिक मार्ग श्याम नगर राजेन्द्र रिसोर्ट के समीप से सरकारी नाले के उपर सड़क का निर्माण कर जांगीड़ मोटर्स के यहां से सीधे नयापुरा रोड़ को जोड़ा जाये। वार्ड में कचना अड्डा जो स्थापित कर रखा है उसे तत्काल बंद किया जावे।

ज्ञापन का वाचन नरेन्द्र अग्रवाल ने किया।  धरने में क्षेत्रवासी सर्वश्री नंदकिशोर अग्रवाल, नरेन्द्र अग्रवाल, अरविन्द गुप्ता, उज्जवल मेहता, अजय फांफरिया, नरेन्द्र गर्ग, श्याम जैन, सुरेशचन्द्र पंवार, सुंदरलाल फगवार, आशुतोष अग्रवाल, टी.डी. पारिख, नीतिन जैन, रमेश पारिख, दिलीप अग्रवाल, प्रहलाद पारिख, पी.एस. चंदवानी सहित बड़ी संख्या में क्षेत्रवासी उपस्थित थे।


दशपुर विद्यालय में गुरूपूर्णिमा महोत्सव मनाया गया

मन्दसौर। दशपुर विद्यालय में प्रातःकालीन सभा में गुरू पूर्णिमा महोत्सव मनाया गया। विद्यालय के प्राचार्य वर्गीस पी.वी.जी. के निर्देशन में विद्यालय के हेडब्वॉय प्रांजल जाखेटिया व हेड गर्ल वंदना पाटीदार ने वेद व्यास की तस्वीर के सम्मुख दीप प्रज्जवलित कर माल्यार्पण किया। इसके पश्चात् सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं का सम्मान चंदन का तिलक लगाकर व पुष्प देकर किया गया। कक्षा 10वीं की छात्रा दर्शिनी डोसी ने गुरूपूर्णिमा पर्व की महत्ता बताते हुए उद्बोधन दिया, साथ ही कक्षा 12वीं के विद्यार्थियों द्वारा मधुर गीत की प्रस्तुती दी गई।
कार्यक्रम का संचालन छात्र हर्षल जारौरी द्वारा किया गया। संपूर्ण कार्यक्रम के समय विद्यालय के प्राचार्य श्री वर्गीस पी.वी. के साथ समस्त शिक्षक-विद्यार्थी उपस्थित थे।


नमः का सही उच्चारण ही धर्म की सही शुरूआत है-श्री संबुद्धसागरजी

मन्दसौर। रहन कई होते है जिन्हें व्यक्ति अपनी क्षमता के अनुसार धारण करता है किन्तु असली रहन तो साधुओं के पास होते है इसलिये वे पूज्यनीय होते है। नमः का सही उच्चारण करें सही उच्चारण ही धर्म मार्ग की पहला सही कदम होता है। पहले माता-पिता परिवार में बच्चों का रहन-सहन और पहनावा तय करते थे किन्तु आज बच्चे फिल्में देखकर रहन-सहन और पहनावा तय करते है जो उचित नहीं हैं हमें अपने संस्कार नहीं भूलना चाहिए।

उक्त विचार मूर्ति श्री 108 संबुद्धसागरजी ने सन्मति कुंज लक्कड़पीठा में आयोजित महती धर्मशाला को संबोधित करते हुए व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि जो अपने पापों का क्षय कर आत्मा से गंदगी निकाल देता है वह पूज्यनीय एवं नमन के योग्य होता है व उसे ही अर्न्तरंग लक्ष्मी की प्राप्ति होती है।

इस अवसर पर 108 मुनि श्री सर्वाथ सागरजी महाराज ने कहा कि बेटी अपना भाग्य लेकर जन्म लेती है उसे बोझ ना समझे। आज बेटिया सभी क्षेत्रों में आगे है जो दो परिवारों का नाम रोशन करती है और दोनों परिवारों के प्रति समर्पित होती है। कार्यक्रम का शुभारंभ श्रीमती ज्योति दोशी एवं कविता मिण्डा द्वारा प्रस्तुत मंगलाचरण से हुआ। चित्र अनावरण एवं दीप प्रज्जवलन दीपक भूता परिवार द्वारा किया गया।


गुप्ता के हत्यारों को शिघ्र पकड़ने की मांग को लेकर पोरवाल समाज ने दिया ज्ञापन

मन्दसौर। जांगड़ा पोरवाल समाज मंदसौर द्वारा 17 जुलाई को अशोक गुप्ता हत्याकांड के आरोपियों को शिघ्र गिरतार करने की मांग को लेकर महामहिम राज्यपाल के नाम एक ज्ञापन एएसपी मनोकामना प्रसाद को पुलिस अधीक्षक कार्यालय में दिया गया।

ज्ञापन में मांग की गई की 14 जुलाई की रात्रि में अज्ञात व्यक्तियों द्वारा सुवासरा के युवा व्यवसायी अशोक गुपता की नृशंस अत्या कर दी गई थी। जिनके हत्यारे अभी भी पुलिस गिरत में नहीं है। इसलिये हत्यारों को शिघ्र गिरतार कर पीडि़त परिवार को उचित न्याय दिलाया जाये।

इस अवसर पर पोरवाल समाज अध्यक्ष प्रवीण गुप्ता, सचिव जगदीश पोरवाल, राजेन्द्र गुप्ता, महेश मण्डवारिया, दिनेश पोरवाल, अशोक सेठिया, मनोज रत्नावत, सुधाकर गुप्ता, सौरभ रत्नावत, राम गुप्ता सहित अनेक समाजजन उपस्थित थे। उक्त जानकारी समाज मीडिया प्रभारी जितेश फरक्या ने दी।


गौशालाओं को गुणवत्ता पूर्वक, निर्धारित मापदंड व समयावधि में पूर्ण किया जाये – कलेक्टर पुष्प

जिला स्तरीय गौशाला समन्वय समिति की बैठक सम्पन्न

मन्दसौर। कलेक्टर मनोज पुष्प की अध्यक्षता में जिला स्तरीय गौशाला समन्वय समिति की बैठक संपन्न हुई। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत मंदसौर, कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा मंदसौर, उप संचालक पशु चिकित्सा सेवाएं मंदसौर एवं अन्य संबंधित विभाग के अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत मंदसौर ने बताया कि जिले में 25 गौशालाओं के निर्माण की स्वीकृति जारी कर 23 गौशालाओं का कार्य  प्रारंभ कर दिया है। जिस पर कलेक्ट र ने  स्वीकृत गौशाला में से शेष रही दो गौशालाओं के निर्माण कार्य तत्काल प्रारंभ करने के निर्देश दिए।

बैठक में कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा मंदसौर को निर्देश दिए कि गौशालाओं को गुणवत्ता पूर्वक एवं निर्धारित मापदंड व समयावधि में पूर्ण किया जाये। गौशाला निर्माण में लगने वाली आवश्यक सामग्री निर्धारित गुणवत्ता की हो यह सुनिश्चित किया जाए। जो सामग्री कार्य एजेंसी द्वारा गौशाला में लगाई जानी है उसकी उपलब्धता स्थानीय बाजार में सुलभ उपलब्ध हो उसका परीक्षण किया जाए यदि कोई सामग्री बाजार में उपलब्ध ना हो तो स्थानीय स्तर के बिल्डरों के साथ एक बैठक आयोजित कर सामग्री की सुलभ उपलब्धता हो यह सुनिश्चित किया जाए। गौशाला निर्माण में प्रस्तावित सभी घटकों की कार्य समानुपात से प्रारंभ कर समय-सीमा में पूर्ण किए जाएं। गौशाला निर्माण एजेंसी कार्य की तकनीकी जानकारी एवं समयावधि में कार्य करने हेतु तकनीकी अमले एवं कार्य एजेंसी के मध्य एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन करें।

बैठक में उप संचालक पशु चिकित्सा मंदसौर को निर्देश दिए कि गौशाला निर्माण के पश्चात गौशाला संचालन हेतु ग्राम पंचायत स्तर पर स्वयं सहायता समूह, ग्राम समिति, इच्छुक संस्था  जो गौशाला में रुचि रखती है उनकी नियमानुसार समिति का गठन कर समिति का पंजीयन कराना सुनिश्चित करें। जिले में पूर्व से संचालित गौशाला एवं प्रस्तावित नवीन गौशालाओं के पशुओं के उपचार हेतु मेपिंग करे, क्षेत्रवार पशुओं के उपचार हेतु दिन निर्धारण कर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए तथा की गई कार्यवाही की प्रगति से प्रतिमाह अवगत कराएं।

बैठक में निर्देश दिये की शासन के निर्देशानुसार गठीत खंड स्तरीय गौशाला समन्वय समिति की समय समय पर बैठक आयोजित कर गौशाला निर्माण की मानिटरिंग करें। स्वीकृत गौशालाओं में प्रस्तावित पेयजल कूप को भी गौशाला निर्माण के साथ-साथ पूर्ण करें ताकि समय अवधि में पेयजल की उपलब्धता हो सके।  स्वीकृत गौशालाओं के निर्माण में समय-समय पर संबंधित जनपद पंचायत के सहायक यंत्री एवं उपयंत्री ग्राम पंचायतों में चल रहे कार्यों का निरीक्षण कर कार्य की गुणवत्ता एवं आवश्यक मार्गदर्शन प्रदान करना सुनिश्चित करें तथा प्रगति से प्रति सप्ताकह अवगत करायेंगे। स्वीकृत गौशालाओं के संबंधों में प्रगति, समस्या के समाधान हेतु संबंधित कार्य एजेंसी व अधिकारियों का व्हाट्सएप ग्रुप तैयार करने के निर्देश दिये।


जिलास्तरीय शांति समिति की बैठक 19 जुलाई को

मन्दसौर। माह जुलाई-अगस्ता में श्रावण मास, इदुज्जुहा, भगवान श्री पशुपतिनाथ महादेव की शाही सवारी, रक्षाबंधन, जन्मााष्टंमी एवं गोगानवमी आदि पर्व परम्परागत रूप से शांति पूर्वक मनाये जाने के संबंध में जिलास्तरीय शांति समिति की बैठक 19 जुलाई को शाम 5 बजे पुलिस कन्ट्रो ल रूम में आयोजित की गई है।


विश्व हिन्दु परिषद की प्रांत बैठक मंदसौर में

मंदसौर। विश्व हिन्दु परिषद के जिला मंत्री जितेन्द्र राठौर ने बताया कि विश्व हिन्दु परिषद की प्रांत की बड़ी बैठक का आयोजन  आगामी 20 जूलाई से 22 जूलाई तक मंदसौर जिले के दलौदा प्रखण्ड में बालाजी रिसोर्ट दलौदा चौपाटी पर रखी गई है । प्रांत बैठक में विश्व हिन्दु परिषद के केर्न्द्रीय अधिकारी, क्षेत्रीय अधिकारी एवं प्रांत अधिकारी के साथ – साथ मालवा प्रांत के 7 विभाग व  28  जिलो के पदाधिकारी इस प्रांत बैठक में उपस्थित रहेंगे । बैठक में पिछले हुए कार्यक्रमों का वृत तथा आगामी आने वाले कार्यक्रमो की रूपरेखा बनाई जाएगी । समाप्ति पश्चात 1 दिवसीय अभ्यास वर्ग का भी आयोजन किया जायेगा ।

बैठक की व्यवस्था को लेकर विश्व हिन्दु परिषद के मालवा प्रांत के संगठन मंत्री नंददासजी, प्रांत मंत्री नंदकिशोर उपाध्याय, प्रांत संयोजक महेश आंजना सहित विभाग अधिकारी एवं जिला अधिकारीयों ने बैठक की रूपरेखा तैयार कर बैठक की व्यवस्था लेकर कार्यकर्ता की एक बैठक ली गई जिसमें सभी कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारीा सौंपी गई जिनमें भोजन व्यवस्था, जल व्यवस्था, विद्युत व्यवस्था, सुरक्षा व्यवस्था, बोद्विक व्यवस्था, यातायात व्यवस्था,  आदि व्यवस्थाएं बांटी गई ।


अध्यात्म विज्ञान सत्संग केन्द्र ने गुरूपर्व मनाया गया

मन्दसौर। अध्यात्म विज्ञान सत्संग केन्द्र जोधपुर शाखा मंदसौर द्वारा संजीत नाका पटेल नगर मंदसौर में दीप प्रज्जवलित कर गुरू पर्व मनाया गया। कार्यक्रम की शुरूआत सद्गुरूदेव श्री रामलाल सियाग की पूजा अर्चन कर गई। जिसमें गुरूदेव की वाणी में संजीवती मंत्र सुनाकर 15 मिनिट का ध्यान किया गया। सभी साधकों को अलग-अलग अनुभूतियां व यौगिक क्रियाएं हुई जो विज्ञान के लिये एक चमत्कार है।


वेतन कटोती को आक्रोशित हजारों आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका ने बनाई मानव श्रृंखला

मन्दसौर। बुलंद आवाज नारी शक्ति आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सहायिका संगठन द्वारा आज अपनी मांगों को लेकर मंदसौर में जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान हजारों कार्यकर्ताओं ने दशपुर कुंज से बीपीएल चौराहा होते हुए गांधी चौराहे पहुंचे जहां मानव श्रृंखला बनाई तथा मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन नायब तहसीलदार वैभव जैन को दिया। जिला स्तरीय इस प्रदर्शन में गांधीसागर, भानपुरा, गरोठ, शामगढ़, सुवासरा, सीतामऊ, मंदसौर, मल्हारगढ़, दलौदा सहित पूरे जिले की कई ब्लॉक की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बसों एवं गाडि़यों से मंदसौर पहुंची तथा मांगों के समर्थन में जोरदार नारेबाजी की।

उक्त जानकारी देते हुए बुलंद आवाज नारी शक्ति आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका संगठन के प्रदेश के संरक्षक श्याम सोनावत एवं जिलाध्यक्ष चेना गुर्जर ने बताया कि ज्ञापन में संगठन ने माग की कि प्रदेश की हजारों आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका संगठन की रीढ़ की हड्डी की तरह अपनी ईमानदारी से कार्य करती है। जिनको समय-समय पर वेतन नहीं दिया जा रहा है, जिससे उनके परिवार के भरण पोषण में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। राज्य सरकार के द्वारा जो आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं व सहायिकाओं के बढ़े हुए मानदेय में कटौत्री की गई है, उसको पुनः शिघ्र बढ़ाया जाये। बीएलओ एवं अन्य विभाग का कार्य नहीं दिया जाये। मिनी आंगनवाड़ी को मेन आंगनवाड़ी में बदला जावे। समस्त आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं को शासन के नियमों अनुसार नियमित किया जावे जो वचन पत्र में उल्लेखित वचन को पुरा किया जावे। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता का 20 हजार रू. एवं सहायिकाओं का 15 हजार रू. के मान से वेतन दिया जावे। पांच वर्ष तक के कम उम्र के बच्चों को किसी भी स्कूल में प्रवेश न दिया जाये, ताकि उन बच्चों को आंगनवाड़ी में ही भेजने का नियम लागु किया जावे। शासन के कर्मचारी नियमानुसार आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं को भी अवकाश दिया जावे। शासन द्वारा मांगे नहीं मानने पर हजारों कार्यकर्ता एवं सहायिका उग्र आंदोलन व धरना प्रदर्शन करने के लिये मजबूर हो जावेगी। इसकी समस्त जवाबदारी म.प्र. शासन की होगी।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts