Breaking News

मंदसौर छोटी बड़ी ख़बरे : 17 March 2019

मंदसौर जिला स्टेडियम की जांच में दोषियों को बचाने का प्रयास। आयुक्त उज्जैन कै निर्देश पर नहीं हो रही कार्यवाही।

मंदसौर. मंदसौर जिला स्टेडियम में कॉम्पलेक्स भवन एवं टेनिस कोर्ट निर्माण सहित स्टेडियम परिसर में पेवर ब्लाक लगाने,कुआं खुदाई बंधाई एवं आर. सी. सी. वाल के कार्य सहित विभिन्न सामग्री क्रय करने में स्टेडियम कमेटी के द्वारा सक्षम तकनीकी स्वीकृति नहीं लेने तथा नियमानुसार निविदा आमंत्रित नहीं कर मध्यप्रदेश क्रय नियमों का उल्लंघन कर कोटेशन पर बाजार दर से अधिक दर में कार्य करने एवं सामग्री क्रय करने के संबंध में गरोठ के सामाजिक कार्यकर्ता जगदीश अग्रवाल ने आयुक्त उज्जैन संभाग को शिकायत की थी।शिकायत की जांच हेतु आयुक्त अपर आयुक्त की अध्यक्षता में अधीक्षण यंत्री लोक निर्माण विभाग उज्जैन, अधीक्षण यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा उज्जैन एवं कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग (वि/यां) उज्जैन को सदस्य रखते हुए जांच समिति गठित कर जांच के आदेश दिये गये थे। जांच समिति ने जांच में शिकायत को प्रमाणित पाते हुए  अपना जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत किया था। जांच प्रतिवेदन के आधार पर आयुक्त उज्जैन ने दिनांक 13.11.17 को कलेक्टर मंदसौर को जांच प्रतिवेदन की प्रति भेजते हुए निर्माण कार्य करवाने एवं सामग्री क्रय करने में निर्धारित दर या बाजार दर से कितना अधिक भुगतान किया गया उसको आंकलित करने तथा स्टेडियम कमेटी के तत्कालिन अध्यक्ष, तत्कालिन सचिव जिला शिक्षा अधिकारी एवं तत्कालिन कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग को जांच प्रतिवेदन में उल्लेखानुसार स्पष्टीकरण लेकर स्पष्ट अभिमत सहित यथाशीघ्र प्रतिवेदन देने हेतु लिखा गया था।एक वर्ष से अधिक की समयावधि हो जाने के बाद भी कलेक्टर मंदसौर ने आयुक्त उज्जैन के पत्र में दिये निर्देशानुसार कोई कार्यवाही नहीं की है।तत्कालिन कलेक्टर ओमप्रकाश श्रीवास्तव ने जांच में दोषी अधिकारियों को बचाने के प्रयास में आयुक्त उज्जैन के निर्देश के विपरीत जांच समिति के अधिकारियों से कनिष्ठ अधिकारी कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग मंदसौर से जांच प्रतिवेदन के आपत्ति के बिन्दुओं पर उसके निवारण की तथ्यात्मक टीप तलब की गई जो अनुचित कार्यवाही है। कार्यपालन यंत्री स्वंय जांच में दोषी है उससे स्पष्टीकरण लेने के आयुक्त उज्जैन निर्देश दिये है तथा जांच उनसे वरिष्ठ अधिकारियों है तो उनसे टीप लेना है दोषियों को बचाने का प्रयास है। आयुक्त उज्जैन के निर्देशानुसार कार्यवाही नहीं किये जाने के साथ ही एक वर्ष से अधिक समय से जांच प्रतिवेदन पर  दोषियों पर कार्यवाही नहीं किये जाने को लेकर पत्रकार जगदीश अग्रवाल ने आयुक्त उज्जैन संभाग को अवगत कराकर पत्र लिखते हुए शीघ्रता से कार्यवाही करने का अनुरोध करने पर आयुक्त उज्जैन ने दिनांक 05 मार्च को पुन:कलेक्टर जिला मंदसौर को जांच प्रतिवेदन के आधार पर दिये निर्देशानुसार बिन्दुओं पर प्राथमिकता के आधार पर कार्यवाही कर वांछित जानकारी भेजने के निर्देश दिये गये है।


असंगठित एवं  संगठित क्षेत्र के मजदूरो के हितो की रक्षा हेतु विभिन्न यूनियनो का होगा गठन- श्री भाटी

भारत सरकार एवं मध्यप्रदेश शासन की श्रमिक योजनाओं के लाभ दिलाने हेतु बनेगी समिति

मंदसौर। जिले में एक बडी आबादी असंगठित  क्षेत्र में कार्य करते हुये जिविका उपार्जन करती है। कृषि क्षेत्र, गैर जौखिम भरे कारोबार के साथ ही औघोगिक क्षेत्र से जुडे श्रमिको के हितो की रक्षा हेतु मंदसौर जिले में विभिन्न यूनियनो का गठन करने के साथ ही मौजुदा श्रमिक यूनियनो को इंटक द्वारा सम्बध्दता प्रदान की जायेगी। असंगठित क्षेत्र के श्रमिको के हितो की रक्षा के अलावा संगठित क्षेत्र के श्रमिको का ध्यान रखते हुये श्रमिक वर्ग हेतु भारत सरकार एवं मध्यप्रदेश शासन की योजनाओं का लाभ दिलाने हेतु इंटक द्वारा समिति बनाकर कार्ययोजना बनेगी।

यह बात इंटक के नवनियुक्त जिलाध्यक्ष एवं सामाजिक कार्यकर्ता सुरेश भाटी ने प्रेस विज्ञिप्ति के माध्यम से दी। उन्होनें कहा कि मंदसौर जिले में एक बडी तादात असंगठित क्षेत्र से  ताल्लुक रखने वाले मजदूर वर्ग की है जो जानकारी के अभाव में कार्य के दौरान मिलने वाली सुविधाओं, शासन की योजनाओं के अलावा अहित की स्थिति में अपने अधिकारो से अनभिज्ञ रहते है। उन्होनें कहा कि मंदसौर जिले में असंगठित क्षेत्र में कार्य करने वाले जिसमें ऑटो रिक्शा चालक, टेम्पो चालक, घेरलु कामकाजी महिलाये, हाथ ठेला मजदूर, हम्माल आदी क्षेत्र के मजदूरो के अलावा संगठित क्षेत्र जिसमें आंगनवाडी कार्यकर्ता एवं सहायिकाये, आशा एवं उषा कार्यकर्ता एवं विभिन्न शासकिय विभागो में पदस्थ मस्टर कर्मियो के हितो की रक्षा हेतु इंटक द्वारा संबंधित वर्ग को जोडकर कार्य योजना बनायी जा रही है।

श्री भाटी ने मंदसौर जिले में श्रमिक  वर्ग हेतु भारत सरकार एवं मध्यप्रद्रेश शासन की मौजुदा जनकल्याणकारी योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन हेतु इंटक द्वारा जिला एवं ब्लॉक स्तर पर समिति बनाकर योजनाओं का लाभ दिलाने के साथ ही निगरानी की जायेगी ताकी संबंधित वर्ग को योजनाओ का लाभ मिल सके। उन्होनें  मंदसौर जिले में संगठित क्षेत्र या असंगठित क्षेत्र में कार्य करने वाले मजदूरो एवं संस्थाओं के पदाधिकारियो से मिलकर श्रमिक हित में कार्य करने का आव्हान किया हैं।


ऑटो रिक्शा – स्कूटी भिड़ंत, तीन गंभीर घायल

मंदसौर। रविवार की दोपहर सीतामउ फाटक के निकट स्थित शिवना पुल पर एक ऑटो रिक्शा एवं स्कूटी की भिड़ंत में स्कूटी पर सवार रतलाम निवासी गोवर्धन पिता कन्हैयालाल लौहार उम्र 48 वर्ष एवं उनकी पत्नी गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों में रिक्शा में सवार शहनाज 18 वर्ष निवासी मंदसौर भी घायल हुआ है। तीनों को घायल अवस्था में उपचार हेतु जिला अस्पताल लाया गया है। शाम 7 बजे तक शहर कोतवाली में घटना की कोई जानकारी नहीं थी।


एम.वाय. मेमोरियल ट्राफी टूर्नामेंट का टेस्ट मैच नर्मदापुरम ने एक पारी और 142 रन से जीता

मन्दसौर। मध्यप्रदेश क्रिकेट एसोसिऐशन द्वारा स्थानीय नूतन स्टेडियम में 14 से 17 मार्च तक आयोजित हुआ एम.वाय. मेमोरियल ट्राफी टूर्नामेंट (सीनियर) का चार दिवसीय टेस्ट मैच नर्मदापुरम ने उज्जैन को एक पारी और 142 रनों से हराकर जीत लिया।

उक्त जानकारी देते हुए जिला क्रिकेट एसोसिऐशन के प्रचार सचिव नवीन खोखर ने बताया कि मैच के  चौथे दिन उज्जैन की टीम पर पारी से हार के लिये 349 रन का विशाल पहाड़ सा स्कोर खड़ा था लेकिन इन रनों को उज्जैन टीम के बल्लेबाज नहीं बना पाये और 68.2 ओवर में 207 पर ही सभी खिलाड़ी आउट हो गये। इस तरह यह मैच नर्मदापुरम ने आसानी से अपने पक्ष में कर लिया।   उज्जैन की ओर से दूसरी पारी में अजय रोहेरा 61, पार्श्व साहनी 28 व अंकुरसिंह का 20 रन का योगदान रहा। नर्मदापुरम के गेंदबाज ऋत्विक दिवान ने 3, गौतम रघुवंशी, सुमित पटेल व पियुष गुर्जर ने 2-2 विकेट लिये। नर्मदापुरम ने इस जीत पर बोनस अंक भी प्राप्त किया।

मैच के पश्चात् आयोजित पुरस्कार वितरण कार्यक्रम में उज्जैन संभागीय क्रिकेट संगठन सचिव सुरेन्द्र काबरा, उपाध्यक्ष पं. शिवेन्द्र तिवारी, मैच के अम्पायर रमेश कुशवाह, राजेश कनोजिया, स्कोरर रूपेश प्रजापति द्वारा खिलाडि़यों को पुरस्कृत किया जिसमें मैच में बेहतरीन बल्लेबाजी कर दोहरा शतक लगाने वाले नर्मदापुरम के बल्लेबाज निशांत कुशवाह और उनका बखूबी साथ देने वाले यश दूबे को संयुक्त रूप से मैन ऑफ द मैच का खिताब दिया गया। नर्मदापुरम के तेज गेंदबाज पियुष गुर्जर द्वारा पहली पारी में 5 विकेट लेने पर उन्हें बॉल देकर सम्मानित किया गया।


 

खाटू श्याम की विशाल निशान यात्रा निकली

मन्दसौर। फाल्गुन शुक्ल पक्ष की ग्यारस रविवार को  खाटूू श्याम की विशाल निशान यात्रा तलाई वाले बालाजी मंदिर से शुरू हुई। यात्रा में महिला और पुरूष ध्वजा फहराते हुए खाटू श्याम बाबा के भजनों पर नाचते गाते हुए गांधी चौराहे बीपीएल चौराहे, महाराणा प्रताप बस स्टैंड, रामटेकरी चौराहे से मित्र वस्त्रालय, जनता कॉलोनी होते हुए खाटू श्याम मंदिर पर निशान यात्रा का समापन हुआ। खाटू श्याम समिति के ठाकुर अर्जुनसिंह राठौर, ठाकुर नरेन्द्रसिंह चौहान, दाउ भाई विजयवर्गीय,सुरेश आाजवानी, रमेश बत्रा, पत्रकार महावीर अग्रवाल,कुंवर शैलेन्द्रसिह राठौर एवं बडी संख्या में भक्तजन महिला और पुरूष शामिल हुए। यात्रा में मुख्य आकर्षक बाहर से आए कलाकारों में राधा-कृष्ण की भूमिका में नृत्य करते मन मोहक लग रहे थे। यात्रा के नगर के कई सामाजिक संगठनों और संस्थानों के द्वारा स्वागत किया गया। इस दौरान नगर का वातावरण धर्ममयी हो गया। जगह-जगह  फुलों की वर्षा कर बाबा की निशान यात्रा का स्वागत किया गया। यह यात्रा खाटू श्याम मंदिर के निर्माण के बाद पहली बार निकाली गई। शाम 7 बजे छप्पनभोग का आयोजन किया गया। उसके बाद रात 8 बजे सुंदरकांड का आयोजन किया गया। सुबह से शाम तक मंदिर में मंदसौर सहित आसपास के क्षेत्र के श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। वहीं मंदिर परिसर मे लग रहे मेले का लाभ भी श्रद्धालु ले रहे है।


नेती क्रियाओं से होते है शरीर के अवयव शुद्ध

दशपुर योग शिक्षा संस्थान ने निःशुल्क जलनेति क्रिया शिविर आयोजित किया

मंदसौर। दशपुर योग शिक्षा संस्थान द्वारा योग भवन पर निःशुल्क सामूहिक जलनेति-रबर नेति व कुंजल क्रिया शिविर रविवार की प्रातः आयोजित किया गया। शिविर में योग गुरू सुरेन्द्र जैन ने जल नेती, रबर नेती व कुंजल क्रिया सिखाई तथा इसके लाभ बताये। जिसका बड़ी संख्या में नागरिकों ने लाभ लिया।

योग गुरू श्री जैन ने शुद्धिकरण क्रियाओं के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि योग में कई क्रियाओं का उल्लेख मिलता है। जिसमें नेती क्रियाओं का मुख्य कार्य श्वसन स्थान के अवयवों को शुद्ध करना होता है। श्री जैन ने बताया कि ये क्रियाये नाक की नली को साफ के साथ ही कंठ के अंदर की गंदगी को भी दूर करती है। इससे जुकाम, नजला, सिरदर्द, अस्थमा, एलर्जी, ब्लड प्रेशर आदि रोग दूर होते हैं। वहीं आंखों की रोशनी भी बढ़ती है। कुंजल क्रिया अमाशय व पेेट का मल व रोगाणु बाहर निकलते है।

संस्था सचिव जितेश फरक्या ने बताया कि संस्थान द्वारा प्रतिवर्ष यह शिविर आयोजित किया जाता है। मौसम बदलने पर अक्सर नाक बंद होने,  छींक आने, आंखों में खुजली  आदि महसूस होने व कंजेक्स्शन की समस्या होती है, नेती क्रियाओं से इन समस्याओं का समाधान किया जा सकता है।

शुद्धिकरण के लिये आयोजित शिविर में ओम अग्रवाल, बीना गर्ग, विक्की बारभाया, राजकुमार अग्रवाल, जिनेन्द्र उकावत, अरूण अग्रवाल, धर्मदास संगतानी, मनोज खत्री, रंजना चौधरी, ज्योति चौरडि़या आदि ने नेती क्रियाओं को करने में सहायता प्रदान की।


जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स को दिया गया प्रशिक्षण

मंदसौर। लोक सभा निर्वाचन 2019 के दौरान गठित मतदान दलों को प्रशिक्षण देने वाले मास्टर ट्रेनर को भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों, मतदान प्रक्रिया तथा उपयोग की जाने वाली मशीने, ईव्हीएम, सीयू, वीयू तथा व्हीव्ही पैट के कनेक्शन, उनके रख रखाव तथा मशीनो के बदलने की प्रक्रिया, मशीनो की सीलिंग, मतदान की गणना की प्रक्रिया आदि के संबंध में प्रशिक्षण प्रदान किया गया। मास्टर ट्रेनर्स सभी मतदान दलों को प्रशिक्षण देते समय इस बात की ओर इंगित करें, कि सभी दल ईवीएम वीवीपैट मशीन ले जाने से पूर्व अच्छे से चेक कर ले। जिस मतदान केंद्र की जो मशीन है उसी को ले जाए। अन्य किसी मशीन को न ले जाए। सामग्री लेते वक्त भी अच्छे से चेक कर ले, किसी प्रकार की कोई कमी न रहे। मास्टर ट्रेनर प्रशिक्षण के दौरान तथा प्रशिक्षण के पश्चात निर्वाचन नियमों का अध्ययन करें तथा उसे यथोचित समय पर उपयोग में लाएं। सभी मास्टर ट्रेनर्स को प्रशिक्षण, प्रशिक्षण के नोडल अधिकारी श्री जयंत कुमार जैन द्वारा दिया गया।

प्रशिक्षण में बताया गया कि लोक सभा निर्वाचन 2019 को व्यवस्थित, शांतिपूर्ण, पारदर्शी बनाने के लिए निर्वाचन आयोग द्वारा जारी निर्देशों का अक्षरशः पालन करे। ईव्हीएम के कनेक्शन किसी भी परिस्थिति में आन करके नही किए जाने चाहिए। ओरिजनल पोल के पहले यदि मतदान हेतु उपयोग की जा रही मशीनों में से कोई भी यूनिट काम नही कर रही हो या खराब हो तो केवल खराब यूनिट बदली जाए। मतदान प्रारंभ होने के पूर्व माकपोल आवश्यक है। माकपोल के समय सेक्टर आफीसर अनिवार्यता उपस्थित रहे। सभी जोनल अधिकारियों को सीयू, बीयू, ईव्हीएम मशीन तथा व्हीव्हीपैट के कनेक्शन तथा उनमे आने वाले इरर की जानकारी अनिवार्य रूप से होनी चाहिए। जिससे मतदान दल की किसी भी समस्यां का वे निराकरण कर सके। प्रशिक्षण मे बताया गया कि व्हीव्हीपैट को परिवहन के समय ट्रांसपोर्ट बोर्ड पर ले जाना चाहिए। किसी भी परिस्थिति में मतदान प्रारंभ होने के पूर्व व्हीव्हीपैट मशीन को प्रारंभ नही किया जाना है और न ही अपने स्तर पर टेसिं्टग की जानी है। सेक्टर अधिकारियों को मतदान के दिन मतदान केंद्र पर किए जाने वाले निरीक्षण की जानकारी भी दी गई।

मतदाता को मतदान केंद्र में भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार समस्त नियमों का पालन आवश्यक है। यदि वह ऐसा नही करता है तो पीठासीन अधिकारी उसे मतदान करने से रोक सकेगा। पीठासीन अधिकारी को अपने सेक्टर आफीसर को पल पल की जानकारी देनी होगी। प्रशिक्षण मे बताया गया कि मतदान दल मतदान सामग्री प्राप्त करते समय सभी सामग्री का मिलान आवश्यक रूप से कर ले। आयोग के निर्देशानुसार मतदान पूर्व तैयारी एक दिन पहले ही कर लें। मतदान प्रक्रिया पूरी होने के बाद आयोग द्वारा जारी प्रपत्रों में सभी जानकारियां पूर्ण कर लें। जिससे उन्हें वापसी के दौरान किसी भी असुविधा का सामना नही करना पड़े।


लोक तंत्र में मतदान मतदाता का अधिकार, इसे नही करें बेकार

मंदसौर ।  लोक तंत्र में मतदान मतदाता का सबसे बड़ा अधिकार है। मतदाता को इस अधिकार का उपयोग अवश्य करना चाहिए, इससे लोकतांत्रिक व्यवस्था की जड़े और अधिक मजबूत होती है। जिले में मतदाता जागरूकता के अंतर्गत मतदाताओ को अनिवार्य रूप से मतदान करने की शपथ भी दिलाई जा रही है। सभी उम्र के मतदाता चाहे वे युवा हो या चाहे बुजुर्ग अथवा ऐसे मतदाता जो पहली बार निर्वाचन में मतदान के लिए तैयार है सभी मतदाता जागरूकता में सहभागिता निभा रहे है।


हजरत शाह विलायत चंदन चिश्ती की दरगाह पर उर्स का कार्यक्रम आयोजित

मंदसौर। सीतामउ फाटक स्थित हजरत शाह विलायत चंदन चिश्ती की दरगाह पर तीन दिवसीय उर्स का आयोजन दरगाह परिसर में किया गया। इस उर्स में हजारो की संख्या में हिन्दु मुस्लिम दोनो धर्मो के अनुयायियो के द्वारा सहभागिता की गयी। रविवार को उर्स के समापन के मौके पर कुल की फातिहा व लंगर का आयोजन हुआ। अजमेरी समाज के 24 खेडे के द्वारा इस मौके पर सभी के लिये लंगर की प्रसादी वितरित की गयी। शनिवार की रात्री को दरगाह परिसर में कव्वाली का आयोजन किया गया। मंदसौर के जाने माने कव्वाल नाहर खां शेर खां व बाहर से आयी अन्य कव्वाल पार्टियो ने कव्वाली की प्रस्तुति दी। देर रात्री तक कव्वाली को सुनने केलिये दरगाह मं जायरिनो की भीड लगी रही।

रविवार को आयोजित लंगर में अजमेरी समाज के वरिष्ठ राजु बा हाजी बादाखेडी, अययुब भाई सदर बाजखेडी, वजीर भाई दरगाह कमेटी, लालाभाई अजमेरी, फकरू भाई बादाखेडी, रिजवान भाई मुजावर, अययुब अजमेरी, सददाम हुसैन बाजखेडी, हाजी हबीब भाई बाजखेडी, शब्बीर भाई बाजखेडी, यूनूस भाई बाजखेडी एवं ज्ञानोदय शिक्षणण समिति के सदस्यगण भी उपस्थित थे। यह जानकारी लालाभाई अजमेरी ने दी।


राधा-कृष्ण के संग सभी महिलाओं ने मिलकर रास किया

मन्दसौर। श्री जांगड़ा पोरवाल महिला मंडल द्वारा पांच दिवसीय फागोत्सव-2019 के अंतर्गत प्रथम दिवस होली उत्सव पोरवाल छात्रावास रामटेकरी पर फूलों व प्राकृतिक रंगों से राधा-कृष्ण संग होली खेल मनाया गया। इस अवसर पर राधा-कृष्ण बने सुधा फरक्या-अलका मुजावदिया व ममता गुप्ता-संतोष मांदलिया के संग सभी महिलाओं ने मिलकर रास किया व एक दुसरे को गुलाल लगाकर होली की बधाई दी ।

मंडल अध्यक्ष कुसुम सेठिया ने उत्सव के महत्व को बताते हुए कहा कि यह उत्सव बुराई पर अच्छाई की जीत का उत्सव है। इस समय प्रकृति भी अपने पुराने पत्तों को त्याग कर नई पल्लवित होती हैं अतः हमें भी नई सोच के साथ आगे बढ़ना चाहिए।

इस अवसर पर संरक्षक गीता पोरवाल निर्मला मांदलिया, पुष्पा मरच्या, अध्यक्ष कुसुम सेठिया, सचिव रेखा उदिया, सीमा उदिया, विजयलक्ष्मी महाजन, प्रमिला संघवी, शिल्पा सेठिया, निर्मला सेठिया, गुणमाला धनोतिया, प्रिया फरक्या, ममता सेठिया, माला मोदी, किरण मांदलिया, कौशल्या गुप्ता, शकुन्तला मोदी, रेखा पोरवाल, विद्या सेठिया, सुजाता सेठिया, उषा रत्नावत, रानी रत्नावत, रिंकु सेठिया, रानु गुप्ता के साथ कई महिलाएं व बच्चे उपस्थित थे। मंडल सदस्या ममता गुप्ता की विवाह वर्षगांठ व किरण पोरवाल का जन्मदिन भी उन्हे गुलदस्ता भेंट कर मनाया गया। उक्त जानकारी मीडिया प्रभारी प्रिया फरक्या ने दी ।


डे केअर सेंटर पर हुआ खेल पुरस्कार वितरण

मन्दसौर। पं. दीनदयाल उपाध्याय वृद्धजन सेवा केन्द्र (डे केअर सेंटर) मंदसौर पर टेबल टेनिस, केरम एवं शतरंज की वार्षिक प्रतियोगिता में विजेता एवं उपविजेता को भेरूलाल पोरवाल के सौजन्य से प्राप्त पुरस्कार वरिष्ठ पत्रकार डॉ. घनश्याम बटवाल एवं लायंस क्लब गोल्ड अध्यक्ष सुरेश सोमानी के मुख्य आतिथ्य, पेंशनर महासंघ अध्यक्ष श्रवण कुमार त्रिपाठी की अध्यक्षता एवं डे केअर सेंटर व्यवस्थापक प्रमोद अरवन्देकर तथा समन्वयक डॉ. देवेन्द्र पौराणिक के सानिध्य में वितरित किये गये। जिसमें टेबल टेनिस में विजेता नन्दकिशोर राठौर, उपविजेता रमेश शर्मा, कैरम में विजेता राजेन्द्र पोरवाल, उपविजेता नन्दकिशोर अरोरा, शतरंज में विजेता शालिग्राम दिया, उपविजेता अशोक कुमार श्रोत्रिय को पुष्पमाला से सम्मानित कर मोमेण्टों प्रदान किये गये।

इस अवसर पर डॉ. बटवाल ने कहा कि, कहा जात है कि पहला सुख निरोगी काया है। यह बात सभी के लिये लागू होती है विशेषकर वृद्धजनों के लिये तो स्वस्थ रहना ही सुख है और सक्रियता से तन और मन दोनों स्वस्थ रहते है। सक्रियता के लिये खेल स्पर्धाए सर्वाेत्तम विकल्प है जिसका लाभ डे केअर सेंटर आने वालों को मिलता है, इसलिये यहां के सभी वरिष्ठों को मैं आदर्श मानकर प्रणाम करता हूँ।

श्री सोमानी ने कहा कि, खेल प्रतियोगिताओं के विजेता एवं उपविजेता ही नहीं बल्कि उनमें भाग लेने वाले सभी वरिष्ठजन बधाई के पात्र है जो इस उम्र में भी खिलाड़ी के रूप में अपनी पहचान कायम किये हुए है।

कार्यक्रम की शुरूआत अतिथियों के द्वारा माता सरस्वती एवं भारत माता के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन पश्चात् अजीजउल्लाह खान, सत्यनारायण श्रीवास्तव, नरेन्द्रसिंह राणावत, अम्बालाल चन्द्रावत, आर.पी. व्यास, नवनीत डाबी द्वारा अतिथियों का पुष्पहारों से स्वागत करने से हुई। कार्यक्रम का संचालन डे केअर सचिव राजेन्द्र पोरवाल ने किया और आभार सहायक डे केअर व्यवस्थापक ओमप्रकाश मिश्रा ने माना।


युवाओं को पारिवारिक मूल्यों और सामाजिक मूल्यों की शिक्षा से ही होगी समाज व राष्ट्र की प्रगति सुनिश्चित

राजा टोडरमलजी जयन्ती अवसर है राजा टोडरमल जी के स्थापित आदर्शों को आत्मसात करने और उन्हें चिरस्थायी बनाए रखने का। ज¨ आज के दौर में समाज के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती है क्योंकि इसका बीड़ा युवा कांधों पर हैं। वर्तमान परिपेक्ष्य में संस्कारों की बातें गौण हुई हैं और नैतिक और सामाजिक मूल्यों का पतन हुआ है। निश्चित ही इसके लिए दोषी सिर्फ शिक्षा-दीक्षा ही नहीं अपितु अभिभावक भी हैं जिन्होंने मानसिकता यह रखी है कि हमें जो अपने बचपन में नहीं मिला वो सब हम अपने बच्चों को दें उसकी हर इच्छा पूरी करें मगर अभिभावकों की यह सोच अपने बच्चों की सारी इच्छाएँ पूरी कर उसे भौतिक सुख-सुविधा और उच्च शिक्षा तो उपलब्ध करवा पा रही है मगर अच्छी परवरिश नहीं दे पा रही जिसके चलते बच्चों में सिर्फ स्वहित की भावना ही जीवन का लक्ष्य बन चुकी है उनमें त्याग की भावना और सर्वहित की भावना का विकास हो ही नहीं पा रहा है।

इसे समझने के लिए अगर हम गौर करेंगे तो पाएँगे कि हमारे बुजुर्गों ने हमें जो मितव्ययता, त्याग, परोपकार का पाठ पढ़ाया था वो सबक आज की पीढ़ी में देखने को नहीं मिल रहा है। वह भौतिकवादी चकाचैंध की होड़ की प्रतिस्पर्धा में इतने घिर चुके हैं कि परिवार तक से ही कटते जा रहे हैं और हमारे समक्ष चुनौती उन्हीं युवाओं को परिवार से जोड़े रखकर समाज से जुड़ने और समाज की प्रगति में भागीदार बनाने की है। ताकि युवा जिन्हें देश के कर्णधार की संज्ञा मिली हुई है वे परिवार फिर समाज और उसके बाद जिस धरा पर जन्म हुआ है राष्ट्र की प्रगति भी सुनिश्चित करने में भागीदार बन सकें।

उत्सव जीवन में नवऊर्जा का संचार करते हैं। रोजमर्रा की भागती-दौड़ती दिनचर्या से परे हमें आध्यात्मिक और संगठनात्मक रूप समृद्ध बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं ये उत्सवों के निर्माण का मूल है। मगर अब इसकी परिभाषा सिर्फ इंजाॅय ने ले ली है। हमें हमारी युवा पीढ़ी और समाज दोनो को आध्यात्मिक, संगठनात्मक रूप से समृद्ध बनाने की ठोस  शुरूआत इसी टोडरमल जयन्ती और होली से करनी चाहिए।

वर्तमान दौर लोकतंत्र के सबसे बड़े महायज्ञ चुनाव का भी है। आनेवाले समय में देश और क्षेत्र को एक ठोस नेतृत्व मिले और इसके लिए समाज व समाज के युवा निष्पक्ष सोच के साथ अपनी भागीदारी दें। सभी को आरोग्यपूर्ण व समृद्ध जीवन मिले इन्हीं मंगलकामनाओ के साथ राजा टोडरमल जयन्ती पर शुभकामनाएँ एवं बधाई।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts