Breaking News

मंदसौर जिला जेल में ठूंस-ठूंस कर भरे बैरक में कैदी

मंदसौर। जिला जेल की जितनी क्षमता है। उससे डेढ़ गुना बंदी जिला जेल में है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि किस तरह से जिला जेल में बंदियों को रखा जाता है। वहीं बंदियों के स्वास्थ्य संबंधी समस्या को लेकर भी स्थाई हल नहीं है। जिला जेल में डॉक्टर होना चाहिए। लेकिन यहां पर जिन डॉक्टरों की चिह्ंित दिनों के लिए डयूटी लगाई गई है।वे सिर्फ माह में दो चार बार ही आते है। जिम्मेदारों से जब बंदियों के अधिक होने की बात पूछी तो उन्होंने कहा कि शासन से २५ एकड़ की जमीन नईजिला जेल के लिए मांगी गई है।जैसे ही वह मिलेगी जिला जेल बनाईजाएगी। जिससे समस्या का हल हो जाएगा।

१४० सजायाफता बंदी और ४४५ विचाराधीन 
जिला जेल से मिली जानकारी के अनुसार जिला जेल मेंं वर्तमान में ५८५ बंदी है। इनमें से १४० बंदी सजायाफता है। और ४४५ विचाराधीन है। जिला जेल में १२ बैरक है। यानि की एक बैरक में ४८ से ४९ बंदियों को रखा जाता है।इससे सहज अंदाजा लगाया जा सकता है कि किस तरह से एक बैरक में यह बंदी रहते है। जानकारी के अनुसार मंदसौर जेल को जिला जेल में परिवर्तित होने पर बंदियों की संख्या में वृद्धि हुईहै।

१० दिन आना डॉक्टर को लेकिन आते दो से तीन बार 
जिला जेल से मिली जानकारी के अनुसार जिला जेल में डॉक्टर होना अनिवार्य है। लेकिन डॉक्टरों की कमी के कारण डॉक्टर नहीं है।इसलिए जिला अस्पताल से एक डॉक्टर को माह में दस दिन जिला जेल में डयूटी लगाई गई है। लेकिन जिला अस्पताल में भी डॉक्टरों की कमी होने के कारण डॉक्टर जिला जेल में केवल दो से चार बार ही जा पाते है। ऐसे में मरीजों को स्वास्थ्य संबंधी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

२५ एकड में बनना है जिला जेल 
जिला जेल के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जिला जेल के लिए शासन से करीब २५ एकड़ जमीन मांगी गइ है। इस प्रक्रिया को भी लंबा समय हो गया है। लेकिन अभी तक जिला जेल प्रशासन को शहर में या आसपास में शासकीय जमीन नहीं दी गई है।जिससे नई जेल का निर्माण कार्य शुरु ही नहीं हो पाया है।

फैक्ट फाइल जेल-जिला जेल 

कुल बंदी-585
बैरक-12
सजायाफता बंदी-140
विचाराधीन बंदी-445

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts