Breaking News

मंदसौर जिले में 500 करोड़ का पूॅंजी निवेश होगा!

केंद्र सरकार ने मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले की दलोदा तहसील में 500 करोड़ रुपये की लागत वाले मेगा फूड पार्क स्थापित करने की स्वीकृति दी है। प्रदेश के लिये यह एक अहम उपलब्धि है, जो किसानों की आय को दोगुना करने के लक्ष्य को पूरा करने में मददगार होगी। आधिकारिक तौर पर आज यहां दी गयी जानकारी के अनुसार भारत सरकार के खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय ने देश के 7 राज्यों में मेगा फूड पार्क को स्वीकृति प्रदान की है, जिनमें मध्यप्रदेश एक है। इस फूड पार्क की स्थापना का काम मेसर्स चेतक इंटरप्राइजेस लिमिटेड कम्पनी द्वारा किया जायेगा। इसमें करीब 500 करोड़ रपये का निवेश होगा। इस परियोजना में डाबर, झाण्डू, फार्मास्यूटिकल्स और पतंजलि जैसी बड़ी कम्पनियों को भी जोड़ा जायेगा। इस पार्क के स्थापित होने से मालवा अंचल के किसानों के साथ ही प्रदेश की सीमा से लगे राजस्थान के जिले के किसान भी लाभान्वित होंगे।
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा मंदसौर जिले में खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों को बढावा दिये जाने घोषणा पर अमल प्रारम्भ हो गया है। मंदसौर जिले में एक बडा मेगा फूड पार्क स्थापित होने जा रहा है। यह मेगा फूड पार्क जिले की दलौदा तहसील में बनेगा। भारत सरकार के खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय के डायरेक्टर द्वारा इस आशय का पत्र जिला कलेक्टर श्री स्वतंत्र कुमार सिंह को दिया गया है। देश में कुल 7 स्थानों में यह मेगा फूड पार्क बनेंगे, जिनमें मध्यप्रदेश के एकमात्र मेगा फूड पार्क हेतु मंदसौर जिले का चयन किया गया है। मंदसौर में मेगा फूड पार्क की स्थापना का काम भारत सरकार द्वारा मेसर्स चेतक इन्टरप्राईसेस लिमिटेड कम्पनी को दिया गया है।
चेतक इन्टरप्राईसेस दलौदा तहसील में बडे पैमाने पर (करीब 500 करोड़ रुपये का पूंजी निवेश कर) यह मेगा फूड पार्क स्थापित करेगी। इस बडे प्रोजेक्ट में डाबर, झन्डू फार्मास्यूटिकल्स और पतंजलि जैसी बडी कम्पनियों को भी जोडा जायेगा। कलेक्टर श्री सिंह ने भारत सरकार और राज्य सरकार के संयुक्त उपक्रम के रुप में मंदसौर जिले में मेगा फूड पार्क की स्थापना होने संबंधी पत्र मिलने की जानकारी देते हुये बताया कि इससे मालवा अंचल के सभी जिलो के किसानों को अत्यन्त लाभ मिलेगा। यही नहीं, मध्यप्रदेश की सीमा से लगे राजस्थान के चित्तौड़गड प्रतापगढ, झालावाड जिलो के किसान भी इससे लाभान्वित होंगे। कलेक्टर श्री सिंह ने बताया कि भारत सरकार से मेगा फूड पार्क संबंधी पत्र मिलने के बाद अब प्रस्तावित स्थान का मुआयना किया जायेगा। चयनित कम्पनी के अधिकारी जल्द ही अपनी डीपीआर तैयार कर भारत सरकार को भेजेंगे। कम्पनी अपना प्रेजेन्टेशन भी देगी। भारत सरकार से करार करने के उपरान्त फील्ड में काम शुरू होगा। मेगा फूड पार्क स्थापना के लिये जिला प्रशासन द्वारा कम्पनी की मांग के अनुसार अतिरिक्त भूमि भी मुहैया करायी जायेगी। मालूम हो कि मंदसौर जिले में कृषि फसलों के अलावा बडी मात्रा में उद्यानिकी, मसाला व औषधि निर्माण में उपयोग होने वाली फसलों का उत्पादन होता है। फूलों की खेती भी यहां बहुतायत में की जाती है। यहीं कारण है कि भारत सरकार ने मेगा फूड पार्क के लिये मध्यप्रदेश के 51 जिलों मे से मंदसौर जिले को चुना है। मंदसौर मे मेगा फूड पार्क बनने से सर्वाधिक लाभ तो यहां के किसानों को मिलेगा ही, साथ ही यहां औद्योगिक विकास और रोजगार के नये अवसर पैदा होँगे। मेगा फूड पार्क से मंदसौर जिले के विकास को नई गति मिलेगी और इससे जिले के व्यापार, व्यवसाय, वाणिज्यिक गतिविधियों के साथ-साथ सम्पूर्ण अर्थव्यवस्था को बेहद लाभ होगा।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts