Breaking News

मंदसौर जिले में 70 प्रतिशत से अधिक हुआ मतदान, कहीं कोई अप्रिय घटना नहीं, प्रशासन ने ली राहत की सांस 

मंदसौर। मंदसौर – नीमच – जावरा संसदीय क्षेत्र में 19 मई को हुए मतदान में शाम 6 बजे तक जिले में 70 प्रतिशत से भी अधिक मतदान होने के समाचार प्राप्त हुए है। मंदसौर जिले में शांतिपूर्ण ढंग से हुए मतदान के बाद प्रशासन ने राहत की सांस ली है। भीषण गर्मी के बावजूद भी 70  प्रतिशत से अधिक मतदान होना सभी को आश्चर्यचकित कर रहा है। हालांकि यह खबर शाम 6 बजे तक की है। इसका प्रतिशत और भी बढने की संभावना है।

कलेक्टर ने आदर्श मतदान केंद्र पर किया मतदान

कलेक्टर धनराजू एस ने आदर्श मतदान केंद्र क्रमांक 61 सिंचाई विभाग उत्तर पूर्वी भाग मन्दसौर में मतदान किया। आदर्श मतदान केंद्रों की माध्यम से जिले में मतदाताओं की मतदान के प्रति रूचि बड़ी है। पहले मतदाताओं को लाइन में लंबी कतार के माध्यम से खड़ा होना पड़ता था, लेकिन इस बार मतदाताओं को इस प्रकार की असुविधा का सामना नहीं करना पड़ा। आदर्श मतदान केंद्र पर आए मतदाता कहते हैं कि यहां पर उनके बैठने के लिए सोफे लगाए गए हैं। टेंट की व्यवस्था की गई है। पानी की व्यवस्था की गई हैं। यह आराम से मतदान के लिए रेस्ट करके मतदान कर सकते हैं। अधिकाधिक मतदाताओं द्वारा मतदान करना। इस आधार को मजबूत किया है आदर्श मतदान केन्द्रों ने। कईं मतदान केन्द्रों पर मतदाताओं को लम्बी लाइन में लगना पड़ता था, ऐसा सोच कईं मतदाता मतदान की उपेक्षा करते थे। जिला निर्वाचन अधिकारी धनराजू ने मतदाताओं को मतदान के लिए प्रेरित करने तथा असुविधाओं को समाप्त करने के दृष्टिकोण से आदर्श मतदान केन्द्र की अवधारणा पर कार्य किया। इसमें जिले की चारों विधानसभाओं में 40 आदर्श मतदान केन्द्र स्थापित किये गये थे। इन मतदान केन्द्रों पर मतदाताओ के लिए टेंट में कुर्सियां, पेयजल, शौचालय व्यवस्था के साथ साथ बच्चों के लिए खेलकूद व्यवस्था भी की गयी। बूथ क्रमांक 61 मंदसौर के प्रतीक्षा कक्ष में बैठे मतदाता कहते हैं कि अच्छी व्यवस्था है। नहीं तो घण्टों धूप में खड़े रहकर अपनी बारी का इंतजार कष्टप्रद होता था।

दिव्यांग अब्दुल व्हील चेयर की सुविधा से किया मतदान
मंदसोर जिले में निर्वाचन कर्मचारियों द्वारा दिव्यांग मतदाताओं का चयन किया गया है। दिव्यांग मतदाताओं द्वारा मतदान को लेकर काफी उत्साह का वातावरण दिख रहा है। इसी वातावरण को बरकरार रखा है। मुल्तानपुरा के दिव्यांग मतदाता अब्दुल मुल्ला दत्ता ने। ये मतदाता अपने मुल्तानपुरा मतदान केंद्र पर सबसे पहले मतदान करने पहुंचे।
ये बताते है कि मतदाताओं को सुगम्य पास प्रदान किए गए जिससे सभी मतदाताओं को कतार में प्राथमिकता मिली एवं वे सहजता से मतदान कर पाए। ये सतत रूप से यह जिम्मेदारी निभाते रहे है, आगे भी निभाते रहेंगे।

लगती रही लम्बी लम्बी कतारें 
विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र को मजबूत करने में कोई भी वर्ग आज के समय में पीछे नहीं है। लोकतंत्र को मजबूत करने में महिला हो या पुरुष या हो दिव्यांग या हो थर्ड जेंडर कोई भी पीछे नहीं है। सब चाहते हैं कि देश का लोकतंत्र बहुत ही मजबूत बने। इसका उदाहरण आज इन्होंने मतदान केंद्रों पर लंबी लाइन में लगकर अपनी बारी का इंतजार करके जाहीर कर दिया। लोकतंत्र की गाड़ी के दूसरे पहिए ने अपनी जिम्मेदारी निभायी मतदान में सहभागिता के मामले में वे महिलाएं भी पुरुषों से पीछे नही रहीं। कई मतदान केंद्रों में तो महिला मतदाताओं की कतार पुरुष मतदाताओं की कतार से भी लम्बी। हर आयु वर्ग की महिलाओं, शहरी व ग्रामीण, युवा मतदाता सभी श्रेणियों में महिला मतदाताओं की उपस्थिति दिखी। प्रातः 7 बजे से ही मतदान केंद्रों में लम्बी कतारें दिख रही।

फोर्स ने शतायु मतदाताओं को सुगम्य तरीके से कराया मतदान
जिले के शतायु मतदाता बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। उन मतदाताओं को सहयोग प्रदान करने के लिए वहां पर तैनात फोर्स भी पूरा – पूरा सहयोग प्रदान कर रही थी। उनके इस सहयोग से शतायु मतदाता बहुत ही सहज एवं सरल तरीके से अपने मत का प्रयोग कर पा रहे थे। इस विषय में व्रद्ध मतदाताओं का कहना है, कि फोर्स के सहयोग से हमारे हौसले बुलंद होते हैं। फोर्स मतदान केंद्र के बाहर से ही हमारा हाथ पकड़ लेती है तथा मतदान कक्ष तक ले जाती हैं, इस वजह से मतदान करने में बहुत आसानी होती है। मतदान करने के बाद ससम्मान तरीके से फोर्स हमें मतदान कक्ष से बाहर तक छोड़ती है। मतदान कक्ष में बैठने के लिए सोफे, कुर्सियां की व्यवस्था की गई है। अगर प्यास लगती है, तो इसके लिए शुद्ध पेयजल की भी व्यवस्था की जा रहा है। वही छाव के लिए टेंट की व्यवस्था है एवं गर्मी लगे इसके लिए बेहतर पंखे की व्यवस्था भी की गई है।

पहली बार मतदान करने वाले युवाओं ने दिखाया उत्साह
मतदान को लेकर युवाओं के अंदर काफी उत्साह है। मतदान करने के पश्चात युवा मतदाता में इतनी खुश हैं, कि उनकी खुशी देखने को बनती है। मन्दसौर के जागरूक युवाओं ने मतदान में बढ़चढ़कर हिस्सा लिया। वह चाहे युवा मतदाता विधानसभा क्षेत्र मंदसौर, मल्हारगढ़, गरोठ या सुवासरा या किसी भी क्षेत्र के हो उनके अंदर उत्साह दिखा। सुबह से ही महिलाओं एवं पुरुषों के साथ युवाओं की यह फौज भी मतदान करने डेरा लगाए हुए थे।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts